2018 बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी फिल्म एक्स एक्स एचडी

तस्वीर का शीर्षक ,

ससुर बहू का सेक्सी हिंदी: 2018 बीएफ, अब तो मैं पूरी जान लगाकर उसका दूध पी रहा था और साथ साथ मेरा एक हाथ उसकी जाँघों पर और दूसरा पेट पर था.

इंडिया वर्सेस पाकिस्तान t20

अब उसकी एकदम क्लीन शेव चुत बिल्कुल मेरे मुँह के पास थी, उसमें से एक अजीब मनमोहक खुशबू आ रही थी. सेक्सी वीडियो इंग्लिश सेक्सी फिल्मइतना सोचने के बावजूद भी न जाने क्यों मेरे दिमाग में सरोज चाची को चोदने की बात नहीं आई थी, जबकि मैंने कई कई बार उनको गांड हिलाकर मटक मटक कर चलते देख कर मुठ मारी थी.

शायद जल्दबाजी में सलवार के नाड़े की गांठ उलझ गयी थी या फिर मेरे ऊपर लेटे होने के कारण उससे वो नाड़ा खुल‌ नहीं रहा था. हिंदी भाभी की सेक्सी मूवीअंकल ने उसकी धुआंधार चुंदाई चालू कर दी, उनका पूरा लंड अरुणा की चूत में अन्दर बाहर हो रहा था.

फिर मैं उसके ऊपर झुक गया और उसकी नाभि के पास किस करने लगा, जिससे वो सिहर उठी.2018 बीएफ: फिर मैं जाने लगा तो उसने मुझे गले से लगा कर एक किस दी … और मैं आ गया.

मेरे पूरे शरीर में कामुक लहरें दौड़ रही थीं, पर मुँह में कपड़ा होने के कारण मेरे मुँह से सिसकारियां नहीं निकल पा रही थीं.बैठते ही लता बोली- हेमा के साथ कहाँ तक पहुंचे हो?मैंने कहा- जहाँ तक आपने देखा था.

मौसी की चुदाई सेक्सी वीडियो हिंदी - 2018 बीएफ

फिर उसने मेरे होंठों पर किस करते हुए एक ज़ोरदार धक्का लगाया जिससे उसका आधा लंड मेरी चूत में समा गया जिसके कारण मुझे बहुत दर्द हुआ और उम्म्ह… अहह… हय… याह… मैं दर्द के मारे छटपटाने लगी.सलोनी ने भी तुरंत रेस्पॉन्स किया और वो भी मेरे नीचे को होंठों को चूसने लगी.

इससे ये तय हो गया कि गिरने से उसकी टांग में जोर की चोट आ गई है और उसे चलने फिरने में दर्द हो रहा है. 2018 बीएफ जैसा कि गर्मी का मौसम था और हमारी रंगरलियों से पहले भूखे प्यासे जानवरों को खिलाना पिलाना भी ज़रूरी था.

राहुल भी अब मुझे ज्यादा मज़ा लेकर नहीं चोदता है लेकिन मेरी चूत की खुजली मुझे आराम से बैठने नहीं देती.

2018 बीएफ?

वो मेरी तरफ देख कर मुस्कुराई और मुझसे बोली- तुम भी मुझे बहुत अच्छे लगने लगे हो जानू. करण ने मेरी बीवी के बाल जोर से पकड़े और लंड उसके मुँह की तरफ करते हुए कहा- ले चूस मेरी रंडी मेरा लंड चूस … साली कुतिया … मेरे टट्टे भी चाट साली …उसके ऐसा कहते ही अनु ने मेरी तरफ देखा, शायद उसे अचानक कुछ अजीब लगा कि संजय के सामने कैसे इसका लंड मुँह में लूँ?फिर मैंने उसे इशारा किया कि कोई बात नहीं … लंड चूस लो … कोई बात नहीं. हम्म …”फिर मैंने पूछा कि आप लड़की वालों की तरफ से हैं या लड़के वालों की तरफ से?वह बोली- लड़की वालों की तरफ से हूँ और आप?मैंने बताया.

ये बंगाली बाबू, जिन्हें मैं भैया कहता था, कोई लगभग 48 साल के थे और उनकी पत्नी, जो बला की खूबसूरत थी, उनसे उम्र में बहुत ही छोटी थी. वो मेरी कमर पर पैर लपेट कर और मेरे गले में बांहों को कस कर लिपट गयी. मैंने उससे कहा- मुझे भी अपनी भाभी की स्टाइल में चोदो, तो वो राजी हो गया.

मैंने उनकी एक न सुनी और उनकी चूत में दो उंगलियां डाल दीं और उनकी चुत को अपनी उंगलियों से चोदने लगा. मैंने रमेश की ओर देखते हुए- क्यों काका मज़ा आया?रमेश बोलता उसके पहले ही रूपा बोली- मालिक इसका तो पता नहीं, पर मुझे बहुत मज़ा आया. तब भी दीदी के घर के नजदीक होने से मेरा अब दीदी के घर आना जाना चलने लगा था.

मैंने तब भी हिम्मत जुटाते हुए कहा- क्या कर रहे हो?मेरी बात सुनकर मेरी बीवी उठ गई … लेकिन करण पाल वहीं बैठा रहा. ये सोचकर मेरा जोश और भी अब बढ़ गया, मैंने अपना एक हाथ उसके घाघरे में घुसा दिया और उसकी चिकनी जांघों को सहलाते हुए धीरे धीरे ऊपर उसकी‌ चुत की‌ तरफ बढ़ने लगा.

अब मुझे कुछ सुनाई नहीं पड़ रहा था सिवाए इसके कि इस डिल्डो को अन्दर बाहर किया जाए.

उन्होंने स्कर्ट की इलास्टिक पकड़कर पूरी नीचे उतार दी और बोले- यह समीज और अपना ऊपर की टी-शर्ट भी उतार दे.

रूपा अपने दोनों हाथों की उंगलियों को मेरे बालों में घुमाते हुए सिसकारी भरी- ओह्ह सीईईईई मालिक बससस्स ओर्रर्रह बर्दाश्त नहीं हो रहा, आप जल्दी से पेल दीजिए ओह्ह्ह्ह्ह. वैसे एक बात पूछूँ … इतने समय बाद आप ये सब ख्याल मन में क्यों ला रहे हैं?”मैंने जरा मुस्कुरा कर ताना कसा- क्या बताऊं कौशल्या जी, सब आपकी चाय की गलती है. मेरी फैंटेसी भी पूरी हो रही थी और साथ ही उसकी गांड चोदने का मज़ा भी मिल रहा था.

कुछ देर के बाद मेरे जेठ ने अपना हाथ मेरे सीने पर रखा, कुछ देर मेरे ब्लाउज के ऊपर से मेरे मम्मे मसलने के बाद उन्होंने मेरे ब्लाउज के हुक खोलना शुरू कर दिए. तुम भी तो चिकनी हो क्या?” उसने पूछा।मैंने कहा- वो तो आपको मिलने के बाद ही पता लग सकता है. उनके होंठ रखते ही जाने कैसी गर्मी मुझे होने लगी और उनकी सांसें मेरी सांसों से गरम-गरम अन्दर जाने लगी.

मैंने भी अब एक लम्बी सी सांस अन्दर खींची और तेज़ी से अपनी पूरी जीभ उसकी चूत में डाल कर अन्दर बाहर करने लगा.

इस सेक्स स्टोरी में बहन की चुदाई को मसालेदार बनाने में कुछ डायलॉग जोड़े गए हैं. मैं एक बार एक रिश्तेदार की शादी में जाने के लिए तैयार हुआ और किसी कारण से इस शादी में मुझे अकेले ही जाना पड़ा. बिल्कुल चिकना बदन … एक रोयां तक नहीं था उसके बदन पर … तभी मेरा ध्यान उसकी चिकनी चुत ने खींच लिया, जिसको देखने के लिये तो मैं मरा जा रहा था.

चूँकि मैं एक अमीर घर का लौंडा हूँ इसलिए घर में कम रहता था और दोस्तों के साथ घूमता रहता था. वो फ़ोटो खिंचवाने के लिए मेरे और पति के बीच में बैठे और मेरे गले में उन्होंने अपना हाथ डाला. मेरी पिछली कहानीमेरी प्यासी चूत में जीजू का लंडकी तारीफ़ बहुत सारे पाठकों ने की.

फिर मैंने उसके लोवर के अन्दर हाथ डाल कर उसकी गांड को दबाना चालू कर दिया, क्या मस्त मखमली गांड थी.

मैंने आगे को सरकते हुए मामा जी के लंड का गुलाबी मोटा सुपाड़ा अपने मुँह में भर लिया. फिर अजय ने मुझे बेड पर लेटा दिया और खुद मेरे बूब्स पर किस करते-करते मेरी चूत तक आ पहुंचे और मेरी चूत को चाटने लगे.

2018 बीएफ कार चल रही थी और सुनील मेरी चूत के अन्दर लंड डाले धक्के मारने में लगा रहा. अब तक की इस रसभरी चुदाई की कहानी में आपने पढ़ा था कि मैं अपने बड़े चाचा और चाची की चुदाई देख कर मुठ मार चुका था.

2018 बीएफ सोनल की जीभ उसके होंठों से बाहर निकली और दादाजी के लंड के सुपारे पर घूमने लगी. मैंने जब से अपनी जवानी में कदम रखा है तब से ही मैं उनका दीवाना हूँ.

उसने मेरे बाल पकड़कर मेरे कूल्हों में दो थप्पड़ भी लगाए और पूरा लंड सैट करके एक झटके में घुसा दिया.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी एचडी वीडियो

जिससे प्रिया और भी जोरों से झुंझला उठी और गुस्से में उसने नाड़े को अपने दोनों हाथों से पकड़कर इतनी जोरों से खींच‌ दिया कि टक् …” की आवाज के साथ नाड़ा ही टूट गया. अब हम दोनों एक दूसरे को किस करने लगे और उसके कुछ देर बाद मैं नंगी ही बाथरूम में गयी और पेशाब करने लगी. शायद जल्दबाजी में सलवार के नाड़े की गांठ उलझ गयी थी या फिर मेरे ऊपर लेटे होने के कारण उससे वो नाड़ा खुल‌ नहीं रहा था.

मैंने अब कसके अनवर को बांहों में पकड़ लिया और अपनी कमर आगे पीछे करने लगी. उसके बाद हमने एक एक पैग और सिगरेट पी और फिर उसने मुझे मेज़ पर लिटा दिया. लंड के मुँह से चुसाई का आनन्द मिल रहा था … साथ ही उनकी मादक आवाज़ ‘गुप् हूप जीप उम्म अअअअ मुहां … अह उउम्म …’ इतनी अधिक कामुकता बरस रही थी कि मैं उसी पल आंटी के मुँह में ही झड़ गया.

मैंने लंड को मुँह से बाहर निकालने की कोशिश की, लेकिन उनके मज़बूत हाथ के दबाव के आगे मेरी एक ना चली और मैं घबराकर तड़पने लगा.

इसके बाद मैंने उसके करीब आकर उसे अपनी बांहों में ले लिया और उसके होंठों को चूसने लगा. इस बार मैंने उसका एक पैर अपने कंधे पर रखा और बिना कंडोम का लंड एक ही झटके में सीधा चूत में पेल दिया. तुम मुझे फ्रेंड मानती हो?उसने कहा कि कल जब हम चले जाएंगे तब क्या करोगे?मैंने उससे कहा- मैं तुमको बहुत चाहता हूं और जिंदगी भर चाहूंगा.

तो मैंने पहले तो ना कर दी फिर पापा ने भी मुझे चलने को कहा तो मैंने हाँ कर दी. तब मैं बोली कि अंकल तुम जो चाहो अभी कर लो, मेरा बहुत मन बिगड़ गया है. फिर मैं जाने लगा तो उसने मुझे गले से लगा कर एक किस दी … और मैं आ गया.

प्रियंका ने मेरे सामने शर्त ऱखी थी कि अगर मैं उसके साथ यह सब करना चाहता हूँ तो मुझे शादी के बाद ही करना होगा. बीस मिनट की धुआंधार चुदाई के बाद हम दोनों बेड पर ढेर हो गए और एक दूसरे से चिपक कर सो गए.

”इतना क्यों सोचती हो कौशल्या, मैंने भी पत्नी के गुजरने के बाद कभी किसी स्त्री से सम्बन्ध नहीं बनाए हैं. मैं- अच्छा, फिर तुम क्या करती हो?सरिता- जाने दो, मुझे नहीं बोलना, तुम खुद ही समझ लो. लेकिन मामा ने अबकी बार कोई एतराज़ नहीं किया और मैंने हल्के-हल्के पेंट के ऊपर से ही लंड को सहलाना शुरू कर दिया.

सुबह हो गई तो नुपूर मुझसे पहले उठकर फ्रेश हो गई और फिर उसने मुझे उठाया.

फिर उन्होंने घुटनों के बल बैठ मेरी टांगें कंधो पर टिका कर कुछ देर और मेरी चूत को चाटा और अपना लंड चूत पर रख झटका दिया. मैं- जेठ जी, मैंने आपको तो कब का माफ कर दिया है, अब मुझे आपके मूसल लंड से मेरी चुत की कुटाई करवानी है, जल्दी से आ जाओ, अब मुझे मत तरसाओ. मेरे मुँह से एकदम से आह निकल गई- आह मर गई!जेठ जी ने हंसते हुए धीरे धीरे धक्के देने शुरू कर दिए.

झड़ जाने के बाद मैं थोड़ा सा शांत हो गयी थी, तभी मेरे देवर ने अपना लंड मेरे मुँह में डाल दिया और मेरी मुँह में अपना लंड डाल कर मुझे अपना लंड चूसने के लिए बोलने लगा. मैं- भाभी, तुम भी न … बच्ची को बेकार में डांट देती हो।सुशीला- अब वो बच्ची नहीं रही … और तुम दोनों जो कर रहे हो … वो ठीक नहीं है.

वो मेरे सिर को अपनी छाती पर दबाने लगी और मैंने भी रूपा के निप्पल को चूसते हुए एक और जोरदार धक्का मार कर अपना पूरा का पूरा लंड रूपा की चूत की गहराई में उतार दिया. फिर मेरी बहन को मेरे जीजाजी चोदने लगे और मैं मेरी बहन की चूत के ऊपर हाथ से जीजाजी का लंड हिलाने लगी. उस दिन के बाद हमारी बहुत बार मोबाईल पर बातें हुई और मैं जान गया कि वह मुझे चाहने लगी है.

सेक्सी फिल्म चाहिए ब्लू

उसके कुछ लड़कों के साथ की चुदाई के वीडियो पूरे कॉलेज में वायरल हो गए थे.

इस तरह से मैंने अपने आप को पूरी तरह से संभालने के लिए घर से कुछ टाइम भी माँग लिया ताकि कोई कुछ ना कहे. इस कहानी को पढ़कर सभी भाभी लोग मेरे लंड के नाम की अपनी चुत में उंगली करेंगी. उनके पैर अब मेरी जांघों तक चढ़ गए और जोरों से सिसकारियां भरते हुए उन्होंने अब खुद भी नीचे से धक्के लगाने शुरू‌ कर दिए.

हम दोनों रसोई में ही फर्श पर एक दूसरे से सट कर बैठ गए और एक दूसरे को छेड़ते हुए चाय की चुस्की ले रहे थे. तो वो बोली कि जब मैं खुद तुम पे फिदा हो गयी तो और बेचारियों की तो क्या हालत कर रखी होगी. किन्नरों का सेक्सी वीडियो दिखाइएइस दौरान मैंने नोटिस किया कि मेरे छूने से कौशल्या को कोई परेशानी नहीं हुई.

मैंने मुस्कुरा कर कहा- ह्म्म्म ये बहुत बढ़िया काम किया … चल रूपा मेरे लंड पर कंडोम लगा दे. तभी कुछ देर बाद राहुल का फ़ोन आ गया और उसने कहा- 2 दिन बाद स्कूल में ऐनुअल फंक्शन है.

कुछ देर बाद हम दोनों के अंदर की चुदास फिर से जाग गई और मैंने अजय के मोटे लौड़े को हाथ में लेकर सहलाना शुरू कर दिया. तभी अचानक मेरे फोन पे एक कॉल आया … और वो कॉल किसी और का नहीं बल्कि कोमल भाभी का था. वो हर एक दिन छोड़ कर आता और मेरी बीवी को रगड़ रगड़ के चोद कर चला जाता.

तभी मुझे कुछ अजीब सा लगा, मैंने अपने हाथों को और अच्छी तरह से सहला कर देखा तो पाया कि प्रिया ने पेंटी भी नहीं पहनी हुई थी, इसका मतलब था कि वो पूरी तैयारी के साथ ही मेरे पास आई थी. उससे मुझे रगड़ते हुए पहले मेरी नाभि और पेट को सहलाया, फिर पीछे तरफ से ही हाथ को सीधे ऊपर किया, जहां से अंकल ने अपने हाथ इस हाथ को मेरी समीज के ऊपर से मेरे मम्मों पर पहुंचा दिया और धीरे से एक को दबा दिया. सोनल का हाथ अपने लंड पर देखकर उन्होंने अपनी आंखें बड़ी की, पर उन्होंने उसके हाथ को अपने लंड से हटाया नहीं.

मैं कमरे से बाहर निकला और मीनाक्षी के कमरे की तरफ गया, वहां मुझे हल्की गुनगुन गुनगुन की आवाज आ रही थी.

जब मेरा लंड उसकी चूत में जा रहा था तो वह थोड़ी सी आवाज़ करने लगी क्योंकि मेरा लंड काफी मोटा था और उसकी चूत में फंसता हुआ जा रहा था. दीदी के खराटे लेने ई आवाज आने लगी थी, तो हम दोनों ने तय किया कि ट्रेन के टॉयलेट में चल कर चुदाई की जाए.

उसने मुझे बताया कि मेरी बहन का एक ब्वॉयफ्रेंड तो हमारे घर भी आता है और मेरी बहन मेरे घर वालों से बोलती है कि वो उसका दोस्त है. साथ ही मैंने नीचे चुत में दो उंगली डालने की कोशिश की, लेकिन कसावट के कारण नहीं गईं. वैसे ये अच्छा मौका भी था, मेरा वेतन भी काफी बढ़ रहा था और हमारा परिवार अब बढ़ने वाला भी था तो मैंने हां कह दी.

तो वंदना बोली- अब यहीं खड़े-खड़े सुहागरात मनाओगे क्या?? बेड पर भी चलोगे या नहीं?मैंने उसे गोद में उठा कर बेड पर लेटाया और जो अपने साथ बाजार से गोल्ड रिंग लेकर आया था, वह उसको दी. क्या पता उस वक्त वह नींद में ना हो और उसे पता चल गया हो कि दादाजी उसके साथ क्या कर रहे थे. फिर मैंने भी उसकी किसिंग और उसके प्यारे-प्यारे, गोल-गोल, गोरे-गोरे मम्मों को दबाना शुरू कर दिया.

2018 बीएफ एक घण्टे बाद उसने चोदना बंद करके अपने लंड को नेहा के मुँह में डाल दिया. चूंकि मैं एक बार झड़ चुका था तो अबकी बार मुझे टाइम लगना स्वभाविक था.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी भेजो

पर असल में अरुणा को मजा आ रहा था उसने अपना हाथ अंकल के शरीर पर रख दिया था. कभी उसको अपने होंठों में दबा देता, तो कभी चूसता, तो कभी उसके पूरे बूब को मुँह में ले के चूसता. अब मुझे बहुत तकलीफ हो रही थी क्योंकि मैं अरुणा से बहुत प्रेम करता था.

रिक्शा वाला अपने कपड़े पहन कर 200 रूपये नेहा के मम्मों पर फेंक कर बोला- जानू रंडी से ज्यादा मज़ा तेरी चुत में है. आनन्द भी मेरे जैसे उसकी चूत में उंगली डालकर उसका पानी निकाल रहा था. দুবাই সেক্সफिर उसने अपना लंड नेहा की चूत में डाला और तेजी से अन्दर बाहर करने लगा.

हम दोनों की चुदाई से और हम दोनों के लंड चूत के पानी से बिस्तर पूरा गीला हो गया था.

इईईई … श्श्शशश … आआह्ह्ह … इईईई … श्श्शश … आआह्ह्हह … महेश्श्शश … खा जाओ मेरी चुत को …” प्रिया ने उत्तेजना के जोश में आकर सिसकियां भरते हुए कहा. छोड़ो भी ना …” सुबह के बारे में उससे कैसे बात करूँ … कुछ समझ में नहीं आ रहा था.

थोड़ी देर कमरे में बैठा टीवी देख रहा था तो सिगरेट पीने की तलब हुई, मुझे ड्रिंक के साथ स्मोक करने की आदत है पर मैं परिवार वालों के सामने स्मोक नहीं करता. लिहाजा नीना ने खुद ही अपनी पैंटी नीचे सरका दी और शुरू हो गई खास चुदाई की अनोखी सेरेमनी. वो उत्तेजित होकर बोली- अहह … मस्त मजा आ रहा हैवो चुदासी सी आवाज निकाल रही थी.

इतना सोचने के बावजूद भी न जाने क्यों मेरे दिमाग में सरोज चाची को चोदने की बात नहीं आई थी, जबकि मैंने कई कई बार उनको गांड हिलाकर मटक मटक कर चलते देख कर मुठ मारी थी.

प्रिया की बहन नेहा की चुत को उस रात मैंने देखा तो नहीं था मगर हाथों से महसूस जरूर किया था. थोड़ी देर में उस माल की चूत ने पानी छोड़ दिया और उसकी पेंटी गीली हो गयी. पुनीत ने अंग्रेजी में उन दोनों को कुछ बोला, उसका मतलब शायद यही था कि मैं पागल हो रही हूं.

साड़ी वाली सेक्सी वीडियो भोजपुरीमामी की चूत में लंड डाल दिया और मामी ज़ोर-ज़ोर से चिल्लाने लगीमामी के मुंह से कामुक सिसकारियाँ निकल रही थीं. जब तक फ़िल्म चालू नहीं हुई, तब तक वह मेरे चुचों से खेलती रही और मेरे ग़ालों पर किस करती रही.

मारवाड़ी भाभी की चूत

मेरी सहेली का पति मेरी चूत चाटने के बाद अपना लंड मुझे चूसने के लिए कहने लगा तो मैं उसका लंड चूसने लगी. वो हमेशा मेरी चुचियों को देखता रहता था, जब मैं उनके कमरे में जाकर झाड़ू लगाती थी. हम दोनों कभी कभी मिल तो लेते हैं, लेकिन चाची के संग दुबारा सेक्स सिर्फ़ एक बार ही करने का मौका मिला था.

उसने मुझसे पूछा कि मेरी कोई गर्लफ्रेंड है?तो मैंने उसको बोल दिया कि अभी तक तो कोई नहीं है. इस तरह उस दिन मैंने मकान मालकिन के आने से पहले ऊषा को एक बार और चोदा. उनकी रखैल बनने के बाद सारी उम्र राज करेगी और जैसे जीना चाहेगी जियेगी.

मैं और मेरी पत्नी बहुत खुले विचारों के हैं, हमको अगर कोई लड़की या शादीशुदा औरत इस तरह की मिलती है तो हम दोनों ही साथ में उसकी चुदाई करते हैं. लेटते ही मैंने फेसबुक खोला तो देखा उसने रेखा ने रिक्वेस्ट ले ली थी और इस वक्त ऑनलाइन थी. क्या बात हो गई?तभी मामी ने आंख मारी और मुस्करा कर बोली- मेरे यहाँ पर मेरी एक प्यारी भान्जी है, हम तीनों ही मज़े करेंगे.

हाय दोस्तो, मैं विराट आप सबके लिए अपनी कहानी को आगे बढ़ाते हुए एक बार फिर से हाजिर हूँ. बस तेरे दूध थोड़े छोटे हैं पर आज रात ही उन्हें दबा दबा कर बड़ा कर देंगे, तू चिंता मत कर!वो मेरी नाभि में अपनी उंगली चलाने लगा और एक हाथ से मेरे दूध दबाने लगा.

इस पर पर जोर से बोलने लगी, इस पर मैंने उसे चुप कराया और कहा कि पहले तू सही से सुन … बाद में बोलना.

मैंने अपना हाथ मेरी पैंटी के ऊपर रखा, तो वह पूरी गीली हो गई थी, जैसे कि मैंने पेशाब कर दी हो. ढाका सेक्सीमैंने भी उसके लंड पर लिक्विड चॉकलेट लगाई और खूब देर तक उसका लंड चूसा. సెక్స్ వీడియోస్ కేరళतो वंदना बोली- अब यहीं खड़े-खड़े सुहागरात मनाओगे क्या?? बेड पर भी चलोगे या नहीं?मैंने उसे गोद में उठा कर बेड पर लेटाया और जो अपने साथ बाजार से गोल्ड रिंग लेकर आया था, वह उसको दी. रवि मामा का लंड झटके मार रहा था और मैं उसके काम रस को पीने को उतावला था.

सलोनी सिर्फ मैरून कलर की ब्रा और पैंटी में थी जबकि मैं नीचे अभी भी कपड़ा पहने था.

मैं- आप खूब गन्दी गन्दी बातें करती रहो चाची और मैं आपको चोदता रहूँगा. लाइट स्काई ब्लू कलर की जीन्स की कैप्री, जो बिल्कुल उसकी टांगों के साथ चिपकी हुई थी, जिसमें से उसके उठे हुए चूतड़ बड़े मस्त लग रहे थे. मैं उसके अहसास को महसूस करने लगा था और मेरा लण्ड पैंट में तनाव में आना शुरू हो चुका था.

हमारी जो उम्र की अवस्था है, जिसमें हम ज्यादा उत्तेजित और कामुक समय काल में होते हैं, उसमें जीवन साथी की क्या भूमिका होती है?”हां … मैं समझ सकती हूँ, आपके पास जीवन साथी न होने का दुःख है और मुझे जीवन साथी होके भी वो सुख नहीं है. इतना मदमस्त बदन था कि मैं परेशान हो गया कि क्या चूसूं और क्या चाटूं … क्या मसलूँ. साथ ही चुदाई के समय चूत को लगातार सिकोड़ती और छोड़ती रहती है, जिससे लंड पर चूत का तगड़ा ग्रिप बना रहता है.

भारतीय टिचर hot xxx

आपने मेरी पिछली कहानियां पढ़ीं और सराहा उसके लिए आपका दिल से धन्यवाद. मैं किसी भी तरह की झूठी कहानी लिखना नहीं चाहती थी इसलिए मैंने अपने पति के साथ अपनी सच्ची चुदाई की कहानी लिखना ठीक समझा. बातों के बढ़ते ही उसने फिर से मुझे अपने प्रति रिझाने के प्रयास शुरू कर दिया और खुद ही उसने कह दिया कि यह बात सिर्फ हम दोनों के बीच ही रहेगी.

मैं चुपचाप उसके फ्लैट पे पहुंच गया, तो सुरभि भी कॉलेज जाने के लिए तैयार थी.

तीसरी बोली- साले से कल कहा था कि अपने पेरेंट्स से बात करो तो बोला नहीं अभी बड़े भाई की शादी होनी है, फिर बहन की होगी … तब मेरा नंबर आएगा.

मैंने बहुत सारी क्रीम लगा कर अपने अंगूठे को सन्नी की मस्त गांड के छेद में बड़े ही प्यार से घुसेड़ रखा था. मैं कल ही इधर शिफ्ट हुई हूँ, अभी फिलहाल स्कूल स्टाफ क्वॉर्टर में ही रुकी हूँ. सेक्सी वीडियो जीजा साली की चुदाईथोड़ी देर बाद मैं थोड़ा आराम से करने लगा, जिससे उन्हें भी पूरा मजा आने लगा.

मैंने देख कर बोला- ब्यूटीफुल!मैंने धीरे से बारी बारी उसके निप्पलों पे किस किया. हमने रिज़ॉर्ट मैनेजर से बात की और गार्डेन में ही ड्रिंक्स का मज़ा लेने लगे. जैसा कि हम लोग खेत के पास ही थे, इसलिए आवाज़ से नानाजी की नींद खुल गयी, वो खड़े हुए और खांसते हुए उन्होंने अपनी टॉर्च चालू कर दी.

अब वो अपनी चुत मेरे मुँह पर ऐसे मारने लगी, जैसे वो मेरे मुँह को चोद रही हो. अब तक मैं कपड़े पहन चुका था तो वो जोर से सांस लेते हुए बोली- लोग केवल बोलते रहते हैं और कपड़े पहन कर कमरे में बैठे रहते हैं.

अभी तक तो मैं सिर्फ एक बार ही चुदी हूँ … वो भी अठारह साल की उमर में … और अभी मैं 23 साल की हूँ.

सुनील जो अब तक मेरी चूत चाट रहा था, वो उठा और बोला- सच में यार, भैन की लौड़ी बहुत गर्म माल है. चलो वो सब भूल जाओ … जो हो गया सो हो गया … अब एक पोर्न फिल्म देखते हैं, मैं यह फ़िल्म खास राकेश के पास से लाई हूँ. दो पल बाद उसको कुछ सांस सी आई और वो मुझे लंड बाहर निकालने को कहने लगी.

काजल अग्रवाल के सेक्सी फोटो यह मेरी पहली कहानी है, कुछ गलती हुई हो तो अपनी गीली चूत से माफ कर देना. मेरे पति ने मुझे एक दो बार अपने बॉयफ्रेंड्स से बात करते हुए देख लिया था, इसलिए हम दोनों लोग के बीच झगड़ा होने लगा था.

जहां तक तुम्हारी बात है तो मुझे ऐसा लगता है कि तुम्हारी उम्र की औरतें जैसा मजा दे सकती हैं वैसा कोई जवान औरत नहीं दे पाती. मैं बोल ही रही थी कि जेठ जी ने एक ही झटके में अपना पूरा लंड मेरी चुत में पेल दिया. उधर बाहर मैं अपना गाउन ऊपर उठा कर मेरे चुत के दाने को ज़ोरों से घिसना शुरू कर दिया था.

ப்ளூ ஃபிலிம் எக்ஸ் வீடியோ

अब उन्होंने अपने हाथ मेरे त्रिकोणीय क्षेत्र पे ले जाते हुए, मेरी चुत को छेड़ना शुरू कर दिया. सारा ज्ञानपीठ, समझ बूझ, आत्मसंयम सब दरकिनार हो जाता है और मैं वासना की भूख में डूब जाता हूँ. मैंने अब एक उंगली चाची के मुंह में डाल दी और चाची मेरी उंगली को लंड समझ कर चाट रही थी.

मुझे उसकी चूत बड़ी टाइट लगी, मैंने जैसे तैसे दो इंच लंड उसकी चूत के अन्दर किया. जब उसका लण्ड नहीं गया मेरी चूत में तो वो चूतिया आदमी उठकर गया और सरसों के तेल की शीशी उठा लाया और उसने वह तेल अपने लण्ड पर लगाया और मेरी चूत पर भी लगाया।फिर उसने अपना लण्ड पकड़ कर मेरी चूत के मुँह पर लगाया और अपनी लुल्ली को मेरी चूत में आगे-पीछे करने लगा.

मैं पानी लेने आई और सोचने लगी कि बुड्ढा कब जाएगा और चोदने के लिए कौन आएगा.

मेरे हाथ से भी ज्यादा मोटा और करीब 10 से 12 इंच से भी लंबा लंड फनफना रहा था. इस चूची काटने के दर्द के दौरान उसे यह नहीं पता चला कि उसकी चुत में मैंने पूरी उंगली डाल दी. तभी बगल वाले अंकल जगत के कान में बोले- यार भैया आप इधर आ जाओ, थोड़ा उधर मैं तुम्हारी जगह हो जाता हूं यह बहुत मस्त सेक्सी लड़की है, मुझसे रहा नहीं जा रहा है.

जब मेरी नज़र भाभी की ब्रा पर पड़ी तो मेरे लंड ने भी अपना मुंह उठाना शुरू कर दिया. थोड़ी ही देर में उसके मुँह की गर्मी से मेरे लंड में जान आ गयी और वो 3 इंच से बढ़ कर 7 इंच का हो गया. फिर उन्होंने मुझे पकड़ा और बीच वाली लंबी सीट पर वहीं मुझे पकड़ कर पूरा लिटा दिया.

प्रमिला दीदी- चलो देखते हैंवो मेरे रूम में आयी और उसने कहा- प्रकाश चलो तेरे रूम का थोड़ा रिनोवेशन करवा लेते हैं.

2018 बीएफ: इसी बीच कम्बल के सहारे से कुछ ऐसी स्थिति बन गई कि जीजाजी मेरी चूत को चाटते रहे और मैं उनके लंड को चूसती रही. वो मुझे चूमते हुए बोली- तेरा स्टैमिना तो तेरे जीजा से बहुत ज्यादा है.

उसके बाद अचानक उसने पैंटी फाड़ कर अपना मजबूत हाथ नेहा की चूत में डाल दिया. सुखबीर वैसे भी बहुत आकर्षक मर्द था, मुझे उसके साथ कोई आपत्ति नहीं थी, पर केवल प्रीति के लिए मैं उससे दूर रहती थी. उसकी खुली हुइ चूत मेरे लंड के ठीक सामने थी और मेरे लंड को आमंत्रित कर रही थी.

अब मैं झड़ने वाला था- मजा आ रहा है!मानसी- बहुत …मैं- अब हाथ हटाओ मेरे लंड से … नहीं तो मैं झड़ जाऊँगा.

जो नए पाठक हैं उनके लिए बता दूँ कि मैं चंदन रेवाड़ी हरियाणा का रहने वाला हूँ. रवि मेरी चूत में पूरी ताकत से लंड डाल के अन्दर बाहर रगड़ रगड़ कर चुदाई करने लगे. मैंने अजय को पकड़ कर अपनी तरफ ऊपर खींच लिया और उसके होंठों को चूसने लगी.