हिंदी में बीएफ पिक्चर वीडियो में

छवि स्रोत,देहाती औरत का सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

बहन के साथ सेक्स: हिंदी में बीएफ पिक्चर वीडियो में, ये सब मैं भी देख रहा था कि ऑफीसर रवि अपनी उंगलियों को ऋतु की गांड के आस पास घुमा रहा था.

सेक्स वीडियो hd

बोल तो ढूंढना शुरू कर दूँ तेरे लिए?मैं- मम्मी जी, इतना बड़ा फैसला लेने के लिए मुझे कुछ वक्त चाहिए, मैं आपको एक दो दिन में सोच कर बताती हूँ. राजस्थानी सेक्स वीडियो ओपनजब उसका लिंग मेरी योनि से स्वयं ही बाहर आ गया तो उसने उठते हुए अपने मोबाइल में टाइम देखा.

तो उसने ये सुनते ही नीचे से मेरा लहंगा पकड़कर ऊपर उठाना शुरू किया और मुझसे धीरे से बोला- पूरा डॉगी स्टाइल में झुक जा. पति-पत्नी को कब मिलना चाहिएसमय बर्बाद न करते हुए मैं आता हूँ अपनी कहानी पर।वो कहते हैं न कि प्यार कहीं भी किसी से भी हो जाता है वैसे ही मुझे भी प्यार हो गया था.

मैं अब जल्द से जल्द चूत में उसका लण्ड डलवा लेना चाहती थी पर वो बस मुझे तड़पाए जा रहे थे।वो मेरी चूत की पंखुड़ियों के बीच अपने लण्ड को रगड़े जा रहे थे। मुझे बहुत मजा आ रहा था।अब मैंने राहुल से कहा- प्लीज … अब मुझसे बर्दाश्त नहीं होता, जल्दी से अपना लण्ड मेरी चूत के अन्दर डालो और मेरी चूत का कीमा बना दो.हिंदी में बीएफ पिक्चर वीडियो में: मैं- अरे यार ट्रेनिंग पे थक जाता हूँ, अब उठ गया हूँ तो खाना खाने बाहर जाऊंगा.

मैंने आँखों पर हाथ रख लिया और आँखें खोलकर देखने की कोशिश की पर अंधेरे की वजह से कुछ ठीक से दिखा नहीं.मैंने कहा- दीदी क्या मैं आपकी चुत चूस लूँ?दीदी ने कहा- हां क्यों नहीं … लेकिन तू उसे चुत मत बोल, मुझे अच्छा नहीं लगता … तू उसे बिल्ली बोला कर.

wwwxxxl com r134a réfrigérateur ch - हिंदी में बीएफ पिक्चर वीडियो में

तीन चार दिन यूं ही निकल गए लेकिन कुछ नहीं हुआ, सिर्फ चड्डी सुंघ कर मुठ मार लेता था.उसने पूछा कि क्या करना है आगे?मैं बोला- जो तुम चाहो, मैं सब कर सकता हूं.

लगभग 25 मिनट तक उसकी चूत और गांड को पेलने बाद भी लंड लोहे की रॉड जैसे खड़ा था. हिंदी में बीएफ पिक्चर वीडियो में मैंने भाभी को सामने से बाँहों में भरकर ऊपर उठा लिया और अपना लण्ड कपड़ों के ऊपर से ही उनकी चूत पर टिका दिया.

रमेश जी लंड खड़ था, सीधा सुजाता की चूत के अन्दर घुस गया और सुजाता एक बार को सिहर गई लेकिन उसने जल्दी ही पूरा लंड खा लिया.

हिंदी में बीएफ पिक्चर वीडियो में?

जब वो दोनों डिस्क में चले गए तो मैं भी उनके पीछे से घुस गया और एक कोने में सीट लेकर बैठ गया. कहता है टाइम नहीं मेरे लिए, भड़वा कहीं का … मुझे चोदने में उसको पैसा तो लगता नहीं, फिर क्यों कमीना इतनी गरज दिखा रहा है. पहले तो मुझे भरोसा नहीं हुआ, जब शौहर ने खुद ये बात पक्का कर दी, तो मानो सारी उम्मीद खत्म हो गईं.

भाभी मेरे कान के पास बोलीं- रोहित प्लीज चुत चाट न … इसके पहले कभी ऐसा एहसास किसी ने नहीं दिया था. मैं कसमसा गयी और उसे देखने लगी।वो बोला- ऐसे क्या देख रही है?मैंने कहा- आराम से दबाओ।वो हंसने लगा और फिर उसने मेरे दोनों बूब्स ज़ोर से भींच दिये. उन्होंने अपना ओवरकोट, स्वेटर, साड़ी उतारी तो देखा कि उनके हाथ और कंधों पर हल्की चोट लगी थी.

भाभी मस्त हो गईं और मुझे चूमते हुए बड़े प्यार से बोलीं- सच्ची … अले मेला बेटू … चल कल ले अपनी मस्ती. फिर पंकज ने मुझे बेड के साथ में खड़ी कर लिया और मेरे शर्ट को उतारने लगा. एक बार तो मिशिका पीछे की तरफ हटी लेकिन रिशु ने फिर से उसको अपनी तरफ खींच लिया.

उसने कमरे में ले जाकर मुझे बेड पे लिटा दिया और खुद भी मेरे ऊपर आकर कुछ इस तरह से छा गया कि मैं पूरी की पूरी उसके नीचे ढक गई थो. आंटी उचक गई- आअह्ह … क्या कर रहा है हरामी? कहां उंगली डाल रहा है?आंटी ने मुझे पीछे धकेलते हुए कहा.

खैर उस पोजीशन में गांड मारना तो आसान नहीं था, तो मैंने ऐसे ही उंगली से ही उसे मज़ा दिया.

उसने मेरे लंड पर हाथ रखा तो मैंने दूसरे हाथ से उसकी चूची को पकड़ लिया और हल्के हल्के से सहलाने लगा.

उसने एक मुक्त सी हंसी बिखेरी और बोली- पहले टेस्ट होगा, फिर काम पक्का होगा. मैं बाथरूम में गया ही था कि पीछे से भाभी अपनी नंगी जवानी को लिए अन्दर आ गईं. कुछ देर के बाद मिशिका ने रिशु के कान के पास ले जाकर उसके कान में कुछ कहा.

वह इतनी जोर से चिल्लाई थी कि मुझे लगा शायद उसकी आवाज को पूरे घर ने सुना होगा, वह इतने जोर से चिल्लाएगी, इसका मुझे जरा भी अंदाजा नहीं था, वरना मैं पहले ही उसके मुँह पर हाथ रख लेता. इसके बाद मैं मामी के ऊपर आ गया और अपने लंड को उनकी चूत की फांकों में रख कर चुदाई के लिए तैयारी करने लगा. मैंने कोमल के सामने बात तो छेड़ दी थी मगर फिर वह भी मेरे पीछे ही पड़ गई थी क्योंकि हम दोनों में बहुत अच्छी बनती थी.

तभी वह मेरे नीचे मेरी नंगी टांगों से लिपट कर एक उंगली, मेरी चुत की जो रेखा थी, उस पर चलाने लगे और बोले- हां तू मेरी सेक्सी भांजी है.

डॉली ने हैंड शावर ले कर लंड पर लगे झाग को साफ किया और फिर लंड पर टूट पड़ी. अब जो मैं बोल रहा हूँ, वो कर … वरना मेरे पास और भी तरीके है काम करवाने के. उस वक्त रात के 11:30 हो रहे थे, मैं फटाफट 2-3 छत कूद कर उसके छत पर आ गया और एक कोने में छुप गया.

शीला के चुचे और चूत में मैं इस कदर खो गया कि मुझे ध्यान ही नहीं रहा कि पद्मा ने कितनी बार मेरे लंड का पानी पिया. कुछ देर बाद आंटी मेरे बाल पकड़ कर मेरे सर को अपनी चूत पर दबाने लगी- आआह ऊऊह. बार-बार सलोनी अपनी कमर को उछाल कर अपनी चूत को मेरे होंठों के पास लाती और फिर से नीचे ले जाती.

एक लड़के से मेरी दोस्ती हो गई और हम दोनों एक दूसरे से खुलकर बातें करने लगे.

आखिर एक कुंवारी लड़की कब तक इतना सहन करती, वो भी दो तीन हल्की सी चीखें मार कर एवं अपनी कमर को झटके मार कर झड़ गई और हाम्फने लग गई और मुझे ‘आई लव यू भाभी …’ और ‘प्यारी दोस्त’ बोल कर गले से लगा लिया. वे लोग बोले- ठीक है, सब जमा ले, हम लोग भी बाद में कहीं मजे ले लेंगे.

हिंदी में बीएफ पिक्चर वीडियो में ये सुनते ही उसने मुझे जकड़ लिया और कहने लगी- आह … शुभ मैं भी तुमको बहुत चाहती हूँ. मैं आप सबको अपनी चुदाई की कहानी बताने जा रही हूँ और ये कहानी मेरे और मेरे पड़ोसी की है.

हिंदी में बीएफ पिक्चर वीडियो में रमेश जी लंड खड़ था, सीधा सुजाता की चूत के अन्दर घुस गया और सुजाता एक बार को सिहर गई लेकिन उसने जल्दी ही पूरा लंड खा लिया. राहुल ठोकर पर ठोकर मार रहे थे और मेरी चूत फचफचा रही थी। राहुल मैं झड़ रही हूँ … आहह्ह्ह … ठोको अपना लंड … चोदो … फाड़ दो मेरी चूत.

ऐसे करते करते जब सहन शक्ति तीसरी बार पूरी हो गई एवं शरीर ने साथ छोड़ दिया तो मैंने मारे गुस्से के उसकी योनि को हल्का सा काट दिया.

डबल एक्स एक्स वीडियो

बारात में आए लड़कों ने उन लड़कियों को देखकर सीटी मारना शुरू कर दिया. अब मेरे जिस्म में चार चार लंड एक साथ चल रहे थे और मैं बिल्कुल नशे में चूर पागल सी हो रही थी. मीशा के मुख पर थोड़ी दर्द भरी रेखाएं उभर आयी और उसके मुख से निकला- उम्म्ह… अहह… हय… याह…देखो तुम्हारी चूत में मेरी उंगली जा रही है.

मेरी स्पीड बढ़ती जा रही थी और उसकी गांड उछलने की लय भी लंड के साथ मिलने लगी थी. हालाकि सब लहंगे के ऊपर से हो रहा था, पर अब बिल्कुल होश मेरा गुम होने लगा और मेरा पूरा ध्यान अब वहां द्वारपूजा से हटकर निहाल की हरकत पर नजर और ध्यान हो गया. मेरी सीत्कारें निकल रही थीं आआहहह … उम्म्ह… अहह… हय… याह… ऊऊह …अब राहुल केवल मेरे होंठों को चूसे जा रहे थे.

पहले मैंने तय किया था कि रात ही उसे आइसक्रीम खिलाने के बहाने ऑटो से ले जाऊँगी। इस बीच बिना ब्रा के ब्लाउज पहनूंगी और ऑटो में उससे इतने सट कर बैठूंगी कि उसे मम्मों के स्पर्श समेत शरीर की गर्माहट मिलती रहे; साथ ही उसकी जांघ पर भी हाथ फेरूंगी कि उसका लंड खड़ा हो और मैं उसके खड़े होने पर बहाने-बहाने बात कर सकूँ।लेकिन यह प्लान तब धरा रह गया जब ससुर जी उसे साथ ले के कहीं चले गये.

मैं आप से कुछ पूछना चाहती हूँ और ख़ास इसीलिए आज मैं आपके पास आई हूँ. उसकी पतली कमर और मोटी गांड देखते ही रवि ने बोला- आज तो कमाल लग रही हो ऋतु डार्लिंग … बिल्कुल सेक्सी रंडी की तरह दिख रही हो. जब तक अभी मम्मी लेंगी नहीं, तब तक कैसे होगा?मैं उन दोनों से अब बात करने लगी.

अब मेरी गांड के छेद में मुझे डेविड का दस इंच वाला मूसल लंड चुभता सा महसूस हो रहा था. तुम्हारे खड़े लंड को मैं यहाँ से देख सकती हूँ, इसको इस नामुराद लुंगी से आज़ाद करो और अगले तीन दिनों तक इसको मेरी चूत में, मेरे मुँह में समां जाने दो. यह शायद वायग्रा का ही असर था कि मेरा लंड कुछ ही मिनट के बाद फिर से खड़ा होना शुरू हो गया था.

उसके एक धक्के में उसका लगभग 6 इंच लंड मेरी टाइट चुत को चीरता हुआ अन्दर घुस आया. आह्हः अह्ह्ह नहीं करो … ना ना उफ्फफ्फ्फ़ ओ … ह … ह्ह … ह्ह!कितना मुलायम-सा, मखमल-सा बदन, उसकी जांघों के बीच का त्रिभुज जिस पर मैरून पेंटी थी, उस अनमोल ख़ज़ाने को छुपा कर रख रही थी, जहाँ एक गीला सा स्पॉट ये बता रहा था कि सलोनी की चूत पानी छोड़ रही है.

मैंने भाभी के स्कर्ट के इलास्टिक में हाथ डाला और स्कर्ट को नीचे निकाल दिया, भाभी ने अपनी पैंटी पहले ही उतार दी थी. हम दोनों क्लास में चले गए उसने मुझे क्लास में भी ज्यादा नहीं बात की और क्लास खत्म होते ही सीधा घर पर चले गए. लेकिन मैंने भी सीधे गांड में लंड ना डाल कर उस पर पहले शैम्पू डाला और उसकी पीठ पर मालिश करने लगा.

उसकी पैंटी को हाथ से सहलाया तो पता चला वह पहले से ही गीली हो चुकी थी.

रात के वक्त सास-ससुर खाना खाकर सोने चले गए और मैं तथा भाभी सब काम खत्म करके अपने बेडरूम में सोने चले गए. सुजाता झटके से रमेश की गोद में आ गिरी, रमेश झट से सुजाता के मम्मों को दबाने लगा. कई चक्कर लगाने के बाद भी जब काम ना मिला, तो एक दिन मैं उदास हो कर यूं ही फरीदाबाद स्टेशन के पास बैठा था.

अब आगे:आशीष ने मेरी जींस के बटन खोल कर जैसे ही जिप को खोला, मैं एकदम से उठने को हुई. मैं- कैसी हो?प्रमिला दीदी- मैं ठीक हूँमैं- जो हुआ वो …प्रमिला दीदी ने लिखा- क्या हुआ कुछ भी तो नहीं … तू कहां है? चल जाके नहा ले … घर के काफी काम बाकी हैं.

भाभी बोली- बस करो जीतू … मार ही डालोगे तुम तो आज मुझे … आज तक तुम्हारे भाई ने भी मुझे इतना मज़ा नहीं दिया. क्योंकि मैं जानता था कि अभी लंड निकाल लिया, तो ये फिर से डालने नहीं देंगी, इसलिए मैंने लंड बाहर नहीं निकाला. मैंने उसका एक पैर अपने हाथ में पकड़ कर ऊपर उठा लिया ताकि उसकी चूत सही पोजीशन में आ जाए.

स्टील बोतल

उनके शरीर के भार और धक्कों के फोर्स के कारण पूरी टेबल सरकने लगी थी.

उसने मेरी चूत को चाटने के बाद अपना पूरा लंड एक बार में डाल दिया और मेरी चूत को चोदने लगा. बोल तो ढूंढना शुरू कर दूँ तेरे लिए?मैं- मम्मी जी, इतना बड़ा फैसला लेने के लिए मुझे कुछ वक्त चाहिए, मैं आपको एक दो दिन में सोच कर बताती हूँ. कुछ देर बाद हम दोनों का सेक्स करते करते पानी निकल गया और उसके बाद होटल के बाथरूम की तौलिया से अपना पानी साफ़ किया.

मेरा लंड अब बर्दाश्त नहीं कर पा रहा था, मैंने भाभी को लंड मुँह में लेने को कहा, लेकिन भाभी ने मना किया. मैं अपना लंड निकालने लगा, तो दीदी ने आपने हाथों से मेरी गांड पकड़ ली और कहा- अन्दर ही डाल दे अपना पानी मेरे छेद में … ओह मजा आ रहा है … प्लीज़ अन्दर ही सिंचाई कर दे. फिल्म वीडियो सेक्सी फिल्मअभी मेरे लंड का टोपा ही अन्दर गया था कि एकता ने अपने मुँह से तेज आवाज निकाल दी- आआआह … मर गई.

इधर नीचे मेरा लंड भी अपने आकार में आ गया था, जो डॉली के हिप्स पर महसूस हो रहा था. मैंने देखा कि मिशिका के फोन में रिशु नाम के एक लड़के का मैसेज आया हुआ था.

इस बार चुदाई का खेल लम्बा चला और आंटी ने अपनी चूत की खुजली मिटवा कर ही छोड़ा. उसके चेहरे पर संतुष्टि के चिह्न दिख रहे थे, पर मुझे गुस्सा आने लगा था. इसलिए मैं अपनी कामुक आवाजों को मुंह से बाहर न आने देने की पूरी कोशिश कर रही थी.

अभी बना लेते हैंमैंने कहा- अब बनो मत, मैंने सब खाना वगैरह के पैकेट खोल कर गर्म कर खाना लगा दिया है. वो कपड़े मुझ पर एकदम सही बैठ रहे थे, शायद इसी वजह से मैं ज्यादा कामुक दिख रही थी. उसे दर्द भी हो रहा था, लेकिन पट्ठी लंड को पूरा लेने के लिए कोशिश कर रही थी.

अपने रूम में गे पॉर्न देखकर मुट्ठ मारना या फिर किसी गे डेटिंग ऐप पर सारा दिन चैट में लगे रहना.

मैं बार बार उनके लंड की तस्वीर को चूम लेती और अपनी फुद्दी को रगड़ने लगती. पापा ने उसे बालों से पकड़ा और खींचते हुए हॉल में ला कर बोले- मेरी बेटी को हाथ लगाओगे साले कुत्ते की औलाद.

फिर ऊपर से नीचे तक नीना के बदन पर टावेल घुमा दिया ताकि गीलापन न रहे. उसने कहा- आप जितना चाहो … जैसे चाहो चोद लो … लेकिन गांड में कुछ मत करो प्लीज़. अचानक वो झुकी तो उसकी चुनरी सरक गई … और मेरी नज़र तुरंत उसके उभारों पर पड़ी.

कुछ देर बाद गर्मी कम हुई, तो हम दोनों ने सेक्स करते करते चादर ओढ़ लिया. मदन- सब ठीक है ना शंकर सर, ओ हो आपको तो बहुत गर्मी लग रही है … लाइए मैं आपका कोट उतार देता हूँ. धीरे धीरे मैं अपने हाथ को उसकी कमर से नीचे उसके चूतड़ों तक ले गया और उसके चूतड़ों को दबाने लगा.

हिंदी में बीएफ पिक्चर वीडियो में मामी अपने बैग में से सामान निकालने लगी और मुझे अपने कपड़े दिखाने लगी. मैंने बाथरूम में जाकर सुनील के नंबर को अमन के नाम से सेव किया औऱ उनको कहा कि लोकेशन भेजो.

एक्स एक्स एक्स एक्स एक्स एक्स डॉट कॉम

हां … इन 29 सालों में इतना तो किया कि मजदूरी करने से ऊपर उठकर एक 10′ गुणा 20′ का एक आशियाना बना लिया, जहां पहली मंजिल पर मैं रहता हूँ और नीचे छोटी सी दुकान चलाता हूँ. मुझे अभी भी लंड के सिवा कुछ नहीं सूझ रहा था, क्योंकि मैंने अभी जस्ट आधी अधूरी चुदाई करवाई थी. थोड़ी देर तक चूत के मुँह पर ही रख कर ऊपर नीचे किया, फिर एक झटके से अन्दर डालने की कोशिश की.

फिर मैं उसे अपनी चूत में डालने की कोशिश करने लगीगाजर के आगे का भाग पतला था, करीब एक इंच तक तो जाने में कुछ ज्यादा दिक्कत नहीं हुई, पर जैसे ही उससे ज्यादा डालने की कोशिश करती, मुझे दर्द होने लगता. क्या मस्त लग रही थी वो … कुर्ते के नीचे उसकी नंगी गोरी गोरी जांघें बहुत सेक्सी लग रही थीं. रिटायरमेंट पर मंच संचालनअब तक आपने पढ़ा था कि शादी के माहौल में मेरे मौसेरे भाई निहाल ने मेरे साथ हरकत करनी शुरू कर दी थी.

मैंने अपने एक हाथ से भाभी को उठाये रखा और दूसरा हाथ उनके पेट पर फिराने लगा.

उसने बताया कि वह पास के गांव का ही है, जो यहां से 15 किलोमीटर दूर है. वो कसमसाती रही, लेकिन जैसा कि नेचुरल है किसी भी चूत को एकदम से लंड लेने में दर्द होता ही है, बाद में चूत लंड लंड करने लगती है.

अरे वाह मास्टर जी, मैं हमेशा से सेक्स की गोली खा कर चुदना चाहती थी, पर मेरे पति बहुत बोरिंग किस्म के इंसान हैं. नैना फिर से गर्म हो चुकी थी तो उसने भी अपनी कमर आगे पीछे हिलानी शुरू कर दी. उसने मेरी कमर में कस के हाथ लगा कर अपना लंड मेरी गांड के छेद में रख दिया और फिर मुझसे बोला कि अब संभल जा!जैसे ही उसने मेरी गांड में अपना लौड़ा टच कराया, तो मुझे लगा कि इसका लंड तो अब और बड़ा हो गया है.

मैं फौरन दौड़ती हुई भीतर भाग चली, मैंने सुखबीर को पलट कर भी नहीं देखा और सीधा अपने घर में घुस गई.

कमला अपने पैर फैला कर मेरा लौड़ा अपनी चूत के छेद में रख कर दबाने लगी. मेरी सहेली ने मेरे घर वालों से झूठ बोल दिया कि हम दोनों बाहर बाजार में सामान लेने जा रहे हैं. सारा घर खाली होने की वजह से हमारी चुदाई की आवाज़ भी सारे हॉल में गूँज रही थी.

सेक्सी वीडियो हिंदी बोलने वालीदेखते ही देखते उसका गाउन ज़मीन पे गिर गया, अब वो सिर्फ़ ब्रा और पेंटी में थी. वह मेरे लंड से चुदकर इतना आनंद ले रही थी कि उसने मुझे बुरी तरह अपने से चिपका लिया.

देसी गांव की एक्स एक्स एक्स

उसने ऋतु के बाल पकड़ कर उसके मुँह को अपनी लंड की तरफ घुमा दिया और बोला- चल रांड लंड चूस … आज तुझे ज़न्नत का मज़ा दिलाता हूँ … रंडी साली … बहुत गांड मटका मटका कर चलती है … भैन की लौड़ी … आज तेरी गांड की सील तोडूंगा. पर था वो भी बाकियों की तरह ही, पर कुछ ज़्यादा ही दिलचस्पी दिखता था. पर जब भी मैं उसे सेक्स के बारे में कहता, तो वो डर जाती और मना कर देती थी.

हां हां … लंड पूरा चला जायेगा, तुम कहो तो अभी अपना लंड तुम्हारी चूत में डाल के तुम्हें विश्वास दिला दूँ? और इसमें तुम्हें मजा भी आएगा. वैसे तो मैं शाम को अक्सर बाहर निकलता था क्योंकि लक्ष्मी नगर में स्टूडेंट बहुत रहते हैं और शाम को बहुत चहल-पहल भी रहती है तो घूमने में मन भी लगता था और इसी तरह मेरे दिन कट रहे थे. उसने अपनी बेल्ट खोलकर जिप खोला, तो उसका फूला हुआ हिस्सा मुझे दिखने लगा.

फिर संध्या बोली- अमित तुम लेट जाओ, मैं तुम्हारे मुंह पर बैठ जाती हूँ, फिर चूसो मेरी चूत को. वाणी तो जैसे तैयार ही बैठी थी, फ़ौरन से उठी और उसके बराबर में घोड़ी बन गयी. मेरा दोस्त भी हंस हंस कर उसे चोदता था और मुझे आवाज देकर मजाक करता था.

तभी आशीष बोला- तुम तो पसीना पसीना हो रही हो क्या हुआ?मैं बोली- कुछ नहीं … बस ऐसे ही फ्रैश होने बाहर गई थी, इसीलिए पसीना आ रहा होगा. अब कल मेरा भाई आएगा, वो तेरी सवारी करेगा, अगली बार तेरी मम्मी उसका लंड अपने अन्दर घुसवायेगी, फिर तेरी बहन है, मेरे डैडी हैं.

तभी मेरा मंदबुद्धि भाई जिगर बाहर से इतना आवाज सुनकर अन्दर घर में आ गया और घर में सबको देखने लगा.

उसने दूसरा हाथ भी मेरे हाथ पर रख दिया और मेरी बगल में आकर बैठते हुए मेरे हाथ को सहलाते हुए बोला- कितनी प्यारी हथेलियां हैं तुम्हारी रीना. गली दिसावर की खबर सट्टे कीमैं भी बोल रहा था- यस मेरी हॉट दीदी मैं आज तुझे चोद चोद कर रंडी बना दूँगा … आह ले मेरी दीदी मेरा लंड ले आह. सेक्सी फिल्म वीडियो एचडी मेंमैं इस झटके को सह न पाई और मैंने आगे कुर्सी में बैठी रंजना दीदी को जकड़ लिया. वैसे तो यहां लोगों को एक-दूसरे के सुख-दुख से ज्यादा कुछ लेना देना नहीं होता मगर एक-दूसरे की टांग खींचने में दिल्ली के लोग शायद सबसे आगे होंगे.

यह लाइन बार-बार सुनने के बाद मुझे अंत में कहना ही पड़ा- तुम क्यों परेशान हो रही हो.

मैक अब मेरे ऊपर पूरा चढ़ गया और उसके लंड से तेजी से बहुत गरम गरम लावा पिचकारी की तरह मेरी चूत में भरने लगा. मैंने बात की तो वो बोले- सॉरी जान … मैं शायद आज नहीं आ पाऊंगा क्योंकि बाहर मौसम बहुत खराब है. लेकिन वक्त के साथ मैंने मान लिया अब मेरा शौहर कभी वापस लौटकर नहीं आएगा.

उसके बाद लगभग पच्चीस मिनट तक ऐसे ही मिशिका की चूत की चुदाई चली और रिशु एकदम से मिशिका की चूत लंड को बाहर निकाल देता है. मैंने बैग से कंडोम का पैकेट निकाला और एक कंडोम अपने लंड पर चढ़ा लिया. तेरा प्रमोशन पक्का हो जाएगा … मैं इसे फिर से चोदने आऊँगा, अभी मेरी बीवी मुझे फ़ोन कर रही है, तो जा रहा हूँ.

लड़कियों के बीएफ हिंदी में

)इसके बाद जब भी हमारी चुदाई के दरमियान वह पहले झड़ जाती, तो मैं उसकी गांड मारता. जब मैं उसके लंड को हिला रही थी, तब वो अपनी आंखें बंद करके मजा ले रहा था. फिर मैंने उनसे कहा- बुरा ना मानें आप तो एक बात पूछूँ? कम से कम आप लोगों को सरकार की बात माननी चाहिए.

उन्होंने हल्के से चुत को मेरे अपने दोनों हाथों से फैलाये और फिर अपनी जीभ को जैसे ही चुत में टच कराया, मैं उछल पड़ी.

उसने चड्डी के ऊपर से ही मेरे लंड पर हाथ फेरना शुरू किया और चूमने लगी.

छीलने के बाद उन्होंने एक टुकड़ा निकाला और आधा अपने होंठों में दबा लिया और मेरी तरफ इशारा किया. नाग नागिन के जोड़े से लिपटे हुए हम दोनों एक दूसरे में समाने की जद्दोजहद में लगे थे. योगा सेक्स विडियोमैंने बिना देर किए मामी जी डॉगी स्टाइल में करके उनकी गांड पर अपने लंड का सुपारा धर दिया और मामी की गांड के फूल जैसे छेद को लंड की नोक से टहोकने लगा, रगड़ने लगा.

अगले कदम पर थोड़ी देर बाद प्रशांत ने नीना को एक झटके से अपनी गोद में लेकर खुशी के मारे आंगन के कई चक्कर काट डाले. यह कह कर राजा अंकल ने अपनी पूरी जीभ मेरी गांड में डाल दी और चलाने लगे. मेरी बातें सुनने के बाद मम्मी जी ने एक लंबी सांस ली और बोलीं- तू जानती है बेटा, पिछले 3- 4 दिन से मैं इसी बात का इंतजार कर रही थी कि तू कब मेरे पास आएगी.

होटल के रूम में पहुंचकर हम दोनों कुछ देर सामान्य बातें करने लगे और फिर वह उठकर बाथरूम में फ्रेश होने चली गयी. मैंने टी-शर्ट निकाल दी और भाभी ने जैसे ही मेरा लोअर नीचे किया, मेरा 8 इंच लंबा और 3 इंच मोटा लंड फनफनाता हुआ बाहर आकर झूलने लगा.

वह मुझे धन्यवाद कह रही थी कि अगर मैं नहीं होता तो रात में उसके साथ कुछ भी ग़लत हो सकता था.

मैंने उसके मुँह पर अपने होंठों का ढक्कन लगाया और जोर से लंड को पेला. फिर अपनी एक टांग उठा कर उसने खुद ही मेरा लंड अपनी चुत में घुसा लिया और धक्के मारने लगी. फिर जिसका लंड मुंह में लेने के लिए मैं बेताब हो जाता उससे बातें शुरू कर देता था.

यूपी सेक्सी व्हिडिओ उसने मेरी चूत पर जीभ को लगाया, तो मैं एकदम से चीखने लगी उम्म्ह… अहह… हय… याह… क्योंकि मुझे बहुत मजा आ रहा था. अगली सुबह हम काफी देर से जगे और उठकर दोनों ने एक दूसरे को गुड मॉर्निंग विश किया.

इसलिए हमारे पति यही समझते हैं आज भी कि हम सिवा उनके लंड के किसी और को देखती भी नहीं. हम दोनों 15 मिनट तक ऐसे ही एक दूसरे के ऊपर नंगे पड़े रहे और फिर मुझे बगल वाले कमरे में कुछ बर्तनों की आवाज सुनाई दी. ‘ओह आमिर … बहुत मज़ा आ रहा है, अब और मत तड़पाओ, जोर-जोर से करो, आआ आहहहह.

बीएफ देखने से क्या होता है

यह कह कर अब्दुल ने उठाकर मुझे टेड़ा कर दिया और अपना लंड मेरी चूत को चौड़ा करके डाल दिया. जैसे ही कमर से नीचे खिसकाया, उसका बहुत कड़क लंबा हिलता हुआ लौड़ा मेरी आंखों के सामने आ गया. कुछ देर लंड को चूत के दाने पर रगड़ने के बाद भाभी कहने लगी- राज, अब ज्यादा मत तड़पाओ और इसको अंदर डाल दो.

वह अपने हाथ से अपनी बुर को मींजे जा रही थी तथा मुँह से अजीब अजीब आवाजें निकाले जा रही थी ‘आआआह … ऊउम्म्म म्म्मम … आईईई … सीईईईईसीई. हम दोनों 15 मिनट तक ऐसे ही एक दूसरे के ऊपर नंगे पड़े रहे और फिर मुझे बगल वाले कमरे में कुछ बर्तनों की आवाज सुनाई दी.

अब मैं और डेविड झड़ने वाले थे और फच्च फच्च की आवाज़ बदल कर अब लिक लिक लिक की आवाज आने लगी.

इधर थोड़ी देर बाद बारात आने लगी, तभी मेरे पास अंकित और मौसी का बड़ा लड़का निहाल आए. नैना बहुत खुश थी, वो बोली- आज का दिन मेरे लिए हमेशा मेमोरेबल रहेगा, इससे पहले कभी भी इतना प्यार, ऐसा सेक्स नहीं मिला और ऐसे बर्थडे सेलिब्रेट नहीं किया. उसकी इन गर्म बातों को सुनकर मैं अपनी सहेली से बोली- मुझे भी किसी से चुदवाने का मन करता है.

मेरा भाई उसको पहले से जानता था, इसलिए जल्दी ही हमारी फाइल वहां पर लग गई। हम अपनी फाइल निकलवाकर अपने नम्बर का इंतज़ार करने लगे।जब हमार नम्बर आया तो मैं और मेरा भाई अंदर चले गये. मैं पुराना कमीना ठहरा, सो किसी न किसी तरह से फायदा ही उठा लेता हूँ. बॉस के इशारे पर उस औरत ने मेरी बीवी के ब्लाउज के हुक खोलने शुरू कर दिए मेरी बीवी की चूचियां एकदम खड़ी थीं और ब्लाउज के खुलते ही अन्दर से उसकी पिंक ब्रा दिखाई देने लगी.

कहते हैं न कि समय का फेर कब किस करवट ले ले, किसी को कुछ पता नहीं होता.

हिंदी में बीएफ पिक्चर वीडियो में: उसने मुझे देख लिया और बोली- जी आप कौन?मैं हिचकिचाते हुए बोला- मैं राज … और आप कौन?तो उसने बोला- मैं बिरजू की साली हूँ. मैं उसकी इस खुशी का असली कारण नहीं जान पाई, मैंने तो यही समझा कि शायद छुट्टियां हैं इसलिए वो इतनी खुश लग रही है।लेकिन उसकी खुशी का राज मुझे कुछ दिनों बात ही पता चला गया जिस दिन हम दोनों हमारी पुरानी रंगत में आ गयी। मेरी ननद के मेरी ही हम उम्र यानि करीब 19-20 साल की होने के कारण हम दोनों ननद भोजाई कम, हम बहन जैसी सहेलियाँ ज्यादा बन गई.

’मैंने कल्पना के माथे और होंठों को चूमते हुए कहा- कुछ भी नहीं होगा, बस दो मिनट में दर्द चला जाएगा. मैं- जब भी उदास हो, मुझसे अपना दुःख शेयर करोगी? एक सच्चा दोस्त होने के नाते अपना दुख साझा कर सकती हो?प्रिया- ओके ओके … ज़रूर आप बहुत अच्छे इंसान हो. फिर थोड़ा सा खींच कर एक जोर का धक्का मारा और मेरा लंड उसकी उसकी चूत में जड़ तक समा गया.

मेरे मामा, मामी और मेरी जान … कोमल!कोमल की उम्र 19 साल थी और मेरी उम्र 24 साल.

इस छोटी सी बात को भी प्रशांत ने खास अंदाज में लिया और सामने पड़ी टावेल उठा कर नीना के चेहरे और बालों पर कुछ ऐसे फेरा, जैसे वह उसे रानी बनाकर चोदना चाह रहा हो. कभी गाल पर, कभी गर्दन पर, कभी छाती पर … भाभी पूरी गर्म हो गयी थीं और पागलों की तरह चूमे जा रही थीं. वो उस सख्त चीज को मेरी जांघ के बीच में सलवार के ऊपर से ही जहां मेरी फूली जगह थी, वहां आगे पीछे कमर करके झटके मार मार कर रगड़ रहे थे.