सेक्स बीएफ हिंदी मूवी

छवि स्रोत,बीएफ में वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

హాట్ సెక్స్: सेक्स बीएफ हिंदी मूवी, अभी जॉब की तालाश में हूँ।मैं दिखने में खुद को हैंडसम तो नहीं बोलूंगा लेकिन हां, मैं एवरेज लुक्स वाला हूं और देखने में ठीक-ठाक दिखता हूं।यह मेरी पहली कहानी है सड़क पर गर्लफ्रेंड की चुदाई की.

चुदाई वाली ब्लू फिल्म हिंदी में

सपना- कुत्ते साले भोसड़ी वाले … मेरी चुत में क्यों अपना मुँह घुसा दिया था … मुझको लंड से चोद … तेरी माँ की चुत हरामी. सोने के बीएफमैंने भी उनकी चूची के निप्पल को अपने होंठों में दबाया और चूचे चूसने में लग गया.

वहां पर मैंने देखा कि एक औरत दूसरी औरत के साथ सेक्स वाली क्रियाएं कर रही थी. हिंदी सेक्सी बीएफ हिंदी सेक्सीमैं- सपना तुमने तो मुझको अपना पति बना लिया … और अभी पति जैसा कुछ किया भी नहीं.

मैंने उसकी कमर पर हाथ फेरते हुए उसे कस कर बाँहों में ले लिया जैसे मैं उसे अपने अन्दर समा लेना चाहता हूँ.सेक्स बीएफ हिंदी मूवी: 10 मिनट की डबल चुदाई के बाद वे दोनों खड़े हुए और दोनों ने अपना लंड मेरे मुंह के सामने कर दिया और मैं लोलीपोप के तरह दोनों का लंड चूसने लगी बारी बारी!करीब 2 मिनट के बाद दोनों मेरे मुंह में झड़ गये और मैंने उन दोनों की सारी मलाई चाट ली.

और दूध को मसलते हुए बोले- गजब के दूध पाये हैं तुमने! मुझे तो दीवाना बना दिया.वो थोड़ा सा नीचे खिसक गयी जिससे कि उसकी चूत मेरे लंड से टकराने लगी.

एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ एचडी हिंदी - सेक्स बीएफ हिंदी मूवी

मैंने एक बार ही नजर उठा कर दीदी को देखा, वो मुझे बहुत ही ललचाई नजरों से घूर रही थीं.दोस्तो, मेरी रण्डी बनने की क्सक्सक्स कहानी में आपने पढ़ा कि एक फार्म हाउस में तीन कॉलेज गर्ल रण्डी बन कर पासी कमाने के लिए तीन मर्दों से चुद रही थी.

मैं चाह रही थी कि आज मेरी चूत से लंड के घर्षण से उत्पन्न मादकता में मेरी चूत का पानी छूट जाये. सेक्स बीएफ हिंदी मूवी नहीं तो आजकल की लड़कियों का कुछ पता नहीं चलता कि कब अपनी बुर की सील तुड़वा लें.

आलिया की इस हॉट फिगर को देखकर मुझे ऐसा लग रहा था कि अभी उसके मम्मों को दबा डालूं और उसको अभी चोद डालूं.

सेक्स बीएफ हिंदी मूवी?

उफ्फ़ … मैं तो ऐसी हालत में थी कि ना तो वहाँ से हिल सकती थी और ना ही खुल कर मज़ा ले सकती थी. मैंने मौके का फायदा उठाते हुए उससे कहा- ये क्या कर रही थी तुम मेरे लैपटॉप में?मैं जानता था कि वो भी सेक्स कहानियों का मजा ले रही थी. दो साल बाद मेरी भी शादी हो गयी, पर इतने दिनों में उन लोगों ने चुदायी का पूरा पाठ कंठस्थ करवा दिया था.

मैं समझा कि कहीं स्कूल में किसी से तू तू मैं मैं हो गयी होगी तो प्रीति कुछ गुस्से में होगी. मैंने उसकी ब्रा उतारी और मम्मे को पीने लगा, तो वो मेरे सर पर हाथ फेरने लगी. जब सुबह मेरी नींद खुली तब 10 बज रहे थे तो मैं बाथरूम में फ्रेश हुई और तैयार होकर उन अंकल से विदा ली.

उसने लंड का स्पर्श चुत पर पाया तो अपनी गांड को उठाते हुए मुझे आंख मारी. दिन का समय, तो जैसे तैसे कट गया, लेकिन शाम को परमीत से मिलने की व्याकुलता होने लगी. तो उन्होंने मुझे कहा- सलवार उतार और बेड पकड़ कर झुक जा!मैं झुक गयी और उन्होंने लंड डाल कर चुदायी शुरू बस एक मिनट में ही ढीले हो गये और बोले- चल भाग यहाँ से!चुपचाप सलवार उठा के मैं बाथरूम में गयी और अपनी चूत में उगंली करने लगी और फिर नहा धोकर आगे वाले कमरे में आकर लेट गयी।अब मैं अकेली थी तो मुझे संजय का ख्याल आने लगा.

अब जीजा से भी रहा न गया और वो मेरी मोटी गांड को अपने हाथ से दबाने लगे. दीदी- तुम्हारे पास इतने पैसे आए कहां से?मैं- थे मेरे पास … मम्मी ने दिए थे और पापा ने दिए थे … वो सारे पैसे रखे थे.

कुछ देर की चुप्पी के बाद मैंने पूछा- पर यार, सगे भाई के साथ कैसे हो सकता है ये सब?मैं इससे आगे कुछ कहती इससे पहले ही वो बोल पड़ी- अरे बहुत फायदे हैं … देख! पहले तो घर मे ही लौड़ा मिल जाएगा.

मैंने कहा- बाबू … एक बार मेरे लंड को मुंह में लेकर इसको अच्छे से टाइट और गीला तो कर दो.

अगले दिन मैं आफिस गया तो बॉस के पास छुट्टी का बोलने जा ही रहा था तो मेरे केबिन में चपड़ासी आया और बोला- आपको बॉस ने बुलाया है. सब विभा मैम पर टूट पड़े मैं और सर मैम की दोनों चूची चूस रहे थे, मैम की सहेली नाज़िमा मैम की चूत चाट रही थी।फिर सर ने अपना लण्ड विभा मैम के मुँह में डाल दिया. तो जैसे ही उसने मुझे देखा तो प्रीति ने मेरी आँखों में पढ़ लिया कि मुझे क्या चाहिए.

कुछ ही पलों बाद मैंने उसका टॉप निकाल दिया और उसकी ब्रा के ऊपर से उसको मम्मों को चूसने लगा. मैंने कहा- तो मैं इसमें क्या कर सकती हूँ?ये बोले- तुमको मेरे सीनियर से सेक्स करना पड़ेगा. मैं पहली नजर में ही ताड़ गया कि चोदने के लिए मजबूत सामान है, बस जाल बिछाने की जरूरत है.

मैं भी थोड़ा उत्तेजना में था, तो मैंने उससे कहा कि अगर मालिश शुरू करनी है, तो मुझे तुम्हारे मम्मे चैक करने पड़ेंगे.

दरवाजे के बिल्कुल पास में पहुंच कर परदे के पीछे से मैंने दरवाजे के अंदर झांक कर देखा. पर मेरे को जल्दी थी, तो मैंने उसकी शर्ट को फाड़ दिया और निधि के मम्मे सामने आ गए. इस पर वो बोली- ठीक है, ये महीना खत्म होने दो … फिर मैं शिफ्ट हो जाउंगी.

हम दोनों ऐसे ही पड़े रहे और मैं उसके सर के बालों पर हाथ घुमा कर प्यार करती रही. प्रोफाइल चैक करते करते मैंने पांच भाभियों और आंटियों को मैसेज भेज दिया और सो गया. मैंने बिना कुछ कहे उसके होंठों को अपने होंठों की गिरफ्त में ले लिया.

कुछ देर तक उसकी चूचियों को पीने के बाद मैंने उसकी पतली कमर पर किस किया.

वो बोला- कुछ नहीं … बस वायरल फीवर है … दो तीन दिन में ठीक हो जाएगी. मेरा दिल जोरों से धड़क रहा था, क्योंकि मैं बहुत बड़ा कदम उठाने जा रहा था.

सेक्स बीएफ हिंदी मूवी पर शायद मुझे संदीप से ज्यादा जल्दी थी, सो मैंने प्रेम क्रीड़ा के दौरान ही संदीप के कान में कहा- तुम मुझे धोखा नहीं दे रहे हो संदीप, मैं बिना शादी के भी तुमसे चरम सुख पाना चाहती हूँ. खैर छोड़ो … ये बताओ कि तुम उससे संतुष्ट हुई कि नहीं?इस बात पर संजू नार्मल हो गई और खुश होकर बोली- हां बहुत ज्यादा मजा आया.

सेक्स बीएफ हिंदी मूवी मैं- आ रहा हूँ मेरी कुतिया … जरा रुक जा … अभी डालता हूँ … बस तेरी चुत ही तो मेरा निशाना है. मैंने कहा- तो फिर वहां पर कैसे क्या होता है?दीदी बोली- वहां पर अगर तुम्हारे साथ कोई सेक्स करता है तो उसके साथ मजा तो मिलता ही है, साथ में कई सारे गिफ्ट्स भी मिलते हैं.

मैंने कहा- क्या उस लौंडे ने तुमको चार बार झाड़ दिया?वो चहकते हुए बोली- हां, पता है वो आज कोई सेक्स की गोली खा कर आया था इसलिए उसका झड़ ही नहीं रहा था.

ओड़िया बीएफ बीएफ

मगर समझ नहीं आ रहा था उसको अपने दिल की बात कैसे बताऊं कि मैं उसके साथ ये सब करना चाहता हूं. मैंने मालकिन को धीरे से कहा- मालकिन तेल की वजह से मेरी अंडरवियर पूरी गीली हो चुकी है … मैं अंडरवियर निकाल दूँ?मालकिन- हां निकाल दे सुरेश … मैं भी तुझे यही कहने वाली थी. वो झड़ने लगी और उसके कुछ अन्तराल पर ही मेरे लंड से भी वीर्य निकल पड़ा.

अब जब उससे मिलने का मौका मिलेगा या कोई और सच्ची घटना घटेगी तो आप लोगों को जरूर बताऊंगा. जब सुबह उठ कर देखा, तो मेरी सेक्सी चाची के चेहरे पर एक विजयी मुस्कान थी. मैंने उससे एक दो बातें भी की तो मुझे लगा कि किसी ने गलती से फोन मिला दिया होगा.

देख! ना मत कर वसु … आइंदा जिंदगी में फिर ये मौका नसीब नहीं होने का … !”मेरे स्वर में गहरी गुहार का पुट पाकर वसुंधरा ने दो पल मेरी आँखों में एकटक देखा और फिर वसुंधरा के होंठों के कोरों पर एक गुप्त सी मुस्कान प्रकट हुई.

अन्तर्वासना जैसी विश्वप्रसिद्ध सेक्स कहानी वाली एक मात्र साईट से अपना प्यार बनाए रखें. उसके बाद हम लोग वहां से निकल लिये क्योंकि वहां पर रुकने का कुछ फायदा नजर आ ही नहीं रहा था. यहाँ पर ड्राइवर पहले से ही मुझे पकड़ने की ताक में खड़ा था उसने अंधेरे का फ़ायदा उठाते हुए मुझे अपनी बांहों में भर लिया और मेरे होंठों को अपने होंठों में डाल कर चूसने लगा.

मुझे आज असीम आनन्द की प्राप्ति हो रही थी और मैंने खुद से कहा कि गीत तुमने इसी असीम आनन्द की अनुभूति के लिए थोड़ा सा दर्द सहा है. मेरा भाई मेरी ब्रा पैंटी पहने हुए था और लैपटॉप पर गे वाली पोर्न देख रहा था. दूसरे दिन फिर उसी तरह घुड़सवारी करते हुए फॉर्म हाउस आ गये, मालिश वाला लड़का आ गया.

खासकर जब सामने कोई आंटी होती है या भाभी, तो मैं पूरी मस्ती से चुसाई करता हूँ. वो जब चलती थी तो उसके 38 के हिप्स ऐसे हिलते थे जैसे वो कोई पोर्न स्टार हो.

अविनाश- तुम दोनों ने जितना दिन भर हमें परेशान किया था … उसका मजा हमारी बारी ने चुका दिया है. फिर मैडम ने मुझसे पूछा- बेटा तुमको भूख लग रही होगी?मैंने अपना सर हिला कर हां में प्रतिक्रिया दी. इसलिए उसके लंड को रास्ता मिलते ही उसने अपनी पूरी ताकत लगा दी और मेरी झूठी चीख वाली नौटंकी असल हो गई.

फिर मैंने कहा- गांड मारने का बहुत मन है क्या?इस पर उसने कहा- लाजवाब खूबसूरत गोरी गदराई नंगी गांड सामने हो, तो गांड मारने का मन तो करेगा ही, तुम्हारी उछलती गांड देखकर ना जाने मैंने कितनी बार मुठ मारी है.

नातिन की चूत से निकल रही कामरस की बूंदें उसकी उत्तेजना की गवाह थीं. रात हो गई यही सोचते हुए कि आखिर भाभी मेरी तरफ देख कर क्यों मुस्करा रही थी. कुछ देर हम दोनों शॉपिंग करते कॉफ़ी शॉप पर रुक गए, वहां कॉफ़ी पीने लगे.

दीदी के उरोजों में थिरकन शरीर में कंपन और स्वर में लबरेज मादकता को मैं स्पष्ट महसूस कर रही थी. थोड़ी देर बाद मैं उन दोनों को देखने अपने रूम में गई, तो आदी को प्रीत बेड पर झुका कर उसकी गांड मार रहा था.

एक दिन हुआ यूं कि मुझे लगा कि शायद अन्दर चाचा वाले कमरे में कोई घुसा है. आलिया- राज, मुझसे शादी कब करनी है?मैं- इस बार जाकर मॉम-डैड से बात करता हूं. अपने दायें हाथ का अंगूठा मैंने अपने मुंह में डाला और थूक से गीला करके उसकी बुर में डाला तो आसानी से चला गया.

सेक्सी बीएफ हिंदी औरतों की

फिर एक बार मेरे डैडी और मम्मी किसी रिश्तेदार के यहां शादी में गए थे.

जब होटल में पहुंचे तो होटल मैनेजर ने पहले ही कह दिया कि लाइट बारिश रुकने के बाद ही आयेगी. मैंने अब तक लेस्बियन सेक्स को ही चखा था, किसी पुरुष के संपर्क का प्रथम अहसास मुझे रोमांचित कर रहा था. ”मैं समझ रहा था कि मेरी बीवी को भी दुःख है कि मुझे पुरानी चुदी हुई चूत मिली.

दीदी के फीगर की बात करूं तो उसके बूब्स का साइज 36 का है जबकि उसके हिप्स 38 के हैं. मैं कार के पास जाकर उसमें छुपाया गुलाब बाहर निकाल लाया और पीछे करते हुए अन्दर आ गया. क्सक्सक्स हिंदी विडोसजवान लड़की की नंगी चूचियां जैसे ही मेरे सामने आईं मैं उन पर टूट पड़ा.

एक तरफ तो मेरा मुंह उसकी चूत में था और दूसरी तरफ वो मुझे लंड चुसवाने का मजा दे रही थी. बीच बीच में वो कभी मेरे मुँह को चोदने लगता … और कभी मैं खुद उसके लंड को अपना सर आगे पीछे करके अपना मुँह चुदवाने लगती.

तभी मेरे दोस्त ने एक लड़की से पूछा- प्रीति कहां है?उस लड़की ने कहा- बस वो आ रही है. अंदर आकर मैंने देखा तो संजय नीचे खुले में खड़ा आंख बन्द किये लंड को हिला रहा था।मैं चुपचाप खड़े उसके लंड को देख रही थी और वो मस्ती में आंख बन्द किया लंड हिला रहा था. अब तक शायद वो भी ये समझ चुकी थी कि मैं क्या चाहता हूँ … और वो क्या चाहती है … मुझे भी पता था.

मैं सोच रही थी कि मेरी चूत की पहली चुदाई से निकलने वाले खून और कामरस के निशान चादर पर होंगे. अब पिंकी मेरे सामने पूरी अनावृत हो चुकी थी, खजुराहो की सेक्सी मूर्ति के तरह उसका सेक्सी बदन मेरे सामने था. चूत के नशे के आगे राजा महाराजा छोटा बड़ा अमीरी गरीबी जात पात सब फेल है.

इधर पैन्ट में मेरा लंड लंबा कड़क होकर सावधान पोजिशन में खड़ा हो चुका था.

उधर उसके जिस्म के सारे गैरज़रूरी बालों को रिमूव करवा के वैक्सिंग और मसाज करवा दिया. मुझे उम्मीद है कि आपको लेस्बियन सेक्स की यह कहानी पढ़ कर मजा आया होगा.

उसके बाद मैंने खुद उससे बातें करनी कम कर दीं … क्योंकि उसको एक अच्छा पति मिल गया था. ”चलो एक सिम्पल सी बात बताओ?” इतना कहकर मैंने हनी की चूची दबाते हुए पूछा- ये चूचियां क्यों बनाई गई हैं?हनी शांत रही तो मैंने कहा- बेटा मैंने पहले ही कहा था, शरमाना मत. मैं भी लंड को अन्दर बाहर करने लगा और भाभी की चुदाई जोर जोर से करने लगा.

मां ने कहा- अच्छा ऐसी बात है, पार्टी तक तो ठीक है … पर देर मत करना. लेकिन आलिया की हालत इतनी पतली हो गई थी कि वो पैग भी नहीं मार पाई … बस ऐसे ही लेटी रही. स्वीटी आंटी ने भी अपनी स्पीड बढ़ा दी और जोर जोर से ऐसे आह ओह करने लगीं … मानो वो मुझे बोल रही थीं कि मैं इस तरह से चुदाई करवाती हूँ, तुम्हें चुत की चुदाई करनी आती है क्या.

सेक्स बीएफ हिंदी मूवी ”मैं समझ रहा था कि मेरी बीवी को भी दुःख है कि मुझे पुरानी चुदी हुई चूत मिली. मॉम बोली- शर्मा जी, आज तो आपने मेरी जवानी की प्यास बुझा दी पर मेरी गांड में आग ही लगा दी.

हीरोइनों का बीएफ

(दरअसल सुमित मेरे बचपन का दोस्त था और उसको मैंने बताया हुआ था कि मुझे लड़के पसंद हैं. और आलिया फिर से जोरों से चिल्लाने लगी- आहहह राज, स्टॉप इट … आह यू हर्ट मी … राज स्टॉप इट … प्लीज बाहर निकालो … मुझे दर्द हो रहा है. राकेश ने फटाफट कपड़े और मुझे घर के बैकडोर के पास छोड़कर बोला, कपड़े पहनकर यहां से भाग जाना, शाम को मिलूंगा.

संदीप के भाई ने एक मेमने का जिक्र किया, वो उसके साथ खेल कर बहुत खुश रहता था. ये कहानी आज से 3 साल पहले की हैमेरी गर्लफ्रेंड का नाम अंशी (बदल हुआ नाम) है, वो बहुत ही सुंदर माल है. गांव की लड़कियों की देसी बीएफमैंने उसको कल ऑफिस जाने से मना कर दिया और बोला कि आप मेरे घर पर आ जाना.

उम्र के इस पड़ाव में आने के बाद मेरे पति का मन मेरी ओर से भर गया था.

आपको मेरी यह कहानी पसंद आई या नहीं … मुझे नीचे दी गई मेल आइडी पर मैसेज करें. कुछ देर में ही उनका लंड दुबारा खड़ा हो गया तो वो मुझे बोले- देखो, ये फिर तैयार हो गया.

कभी ना सोची हुई बात मेरे साथ सच हो चुकी थी।फिर हम दोनों एक दूजे को किस करके नंगे ही साथ में सो गए. कुछ देर बाद चाची को गांड चुदाई में मजा आने लगा तो वे भी आगे पीछे होकर मेरा साथ दे रही थी और आवाज निकाल रही थी- आह … उह … सीशस!इस तरह से मुझे और भी मजा आ रहा था।पूरे कमरे में बेड हिलने से कच पच की आवाज आ रही थी और हम दोनों मदमस्त हो रहे थे।फ़िर करीब 20 मिनट की गांड चुदाई के बाद मैं झड़ गया और अपना पूरा गर्म गर्म लावा मैंने चाची की गांड में ही छोड़ दिया. वो बोला- अच्छा … ये लो बाकी के कंडोम तुम लेती जाओ, रात में मिलते नहीं हैं.

मैंने उनको खूब मजा दिया उनके लंड को खा जाने की कोशिश करने लगी जिससे मजा जल्दी आने लगे.

कुछ देर बाद हम अलग हुए तो भाभी ने मेरे गाल पर चुटकी काटी और अपने कपड़े ठीक करके घर का काम करने लगीं. अपनी पिछली कहानीपड़ोसी भैया ने प्यार से मुझे चोदाके माध्यम से भी मैंने अपने जिस्म के बारे में बताया था. जिस दिन प्रकाश जा रहे थे तो रात को तुम्हारे बीच कुछ झगड़ा हुआ था तो तुम बाहर आंगन में घूमते हुए देर रात सिगरेट पी रहीं थीं.

सौतेली मां बीएफउस दिन शाम तक मैंने अपने सारे काम जल्दी से जल्दी निपटा लिए और रात को उस अन्दर के कमरे में जाकर बैठ गया. मैंने पूछा- क्या बात है भाभी?वो बोली- तुम्हारे भैया घर पर नहीं है … इसलिए मुझे अकेले में डर लगता है, क्या आज रात में तुम मेरे साथ सो जाओगे?मैंने मज़ाक़ में कहा- भाभी मुझे क्या परेशानी है.

बीएफ ब्लड वाला

आपकी प्रतिक्रियाएं मुझे आपके लिए और भी गर्म कहानी लिखने के लिए प्रेरित करेंगी. ये जानकर मन में थोड़ा दुख हुआ, पर उससे ज्यादा खुशी इस बात की हुई कि मुझे एक अनुभवी चोदने वाला मिला है. मेरा दूसरा हाथ एकदम उसकी चुत की फांकों पर पहुँच गया और मेरी उंगलियाँ उसकी गीली चुत के अंदर जाने के लिए रास्ता ढूंढने लगी.

हमारे घर में सब उसे बहुत प्यार करते हैं और सबसे ज्यादा मैं करती हूं. वो भी मेरी जांघों को पकड़ कर अपनी ज़ुबान को मेरी फुदी के अंदर तक घुसेड़ रहा था. उसके बाद बाद मैंने तेज तेज झटके मारे क्योंकि मेरा भी निकलने वाला था।उस टाइम मैंने लण्ड को उस की चूत से निकाला और उसके मुँह में दे दिया। थोड़ी देर उस के चूसते ही पानी सारा उस के मुँह में भर दिया। वो सारी पानी पी गई।हम ने एक दूसरे की ओर देखा, दोनों एकदम तृप्त थे।हमने कपड़े पहने और दोनों बैठ के पढ़ने का नाटक करने लग गए क्योंकि पढ़ाई तो क्या होनी थी।बस हम दोनों बात कर रहे थे.

तो मैंने उससे कहा- डर क्यों रही हो?उसने कहा- ये आप क्या कर रहे हैं?मैं बोला- तुम्हें अच्छा नहीं लग रहा क्या?वो कुछ नहीं बोली. मैंने उनको आगे बोला- जो ख़ुशी तुम्हें तुम्हारा पति नहीं दे पाया, मैं तुम्हें दूंगा. एक और बात! कभी गौर कीजियेगा पाठकगण! पुरुष आँखें खोल कर अभिसार करना पसंद करता है और स्त्री आँखें बंद कर के.

मैंने इतनी लड़कियां चोदीं, अपनी बीवी को भी चोदा, पर मेरा लंड चूस कर कोई माल निकाल दे, ऐसा तेरे अलावा कोई नहीं कर सकती. फिर वह मेरे पेट पर किस करते हुए मेरी चूत तक चला गया और मेरी चूत को चाटने लगा.

श्वेता दीदी- क्या हुआ प्रिया आज तुम्हारा चेहरा मुरझाया हुआ क्यों है?दीदी- कुछ नहीं.

इसके बाद अंकल ने दीदी की कमर को पकड़ कर जोर जोर से तीन झटके मारे, तो दीदी पूरी तरह से छटपटा उठीं. xxx video 📸मैंने उनके चिकने मदमस्त बदन को देखते हुए अपनी शर्ट और पैन्ट निकाल कर मालकिन के कपड़ों के ऊपर ही रख दिए. एचडी चुदाई सेक्सी वीडियोवो बोली- यहीं करोगे?मैंने कुछ नहीं कहा और जिया को उठाकर हॉल में ले आया. मैंने कहा- शैली आज मेरा भी पढ़ाने का मन नहीं था, आज दिल बहुत उदास हो रहा था, तेरी दादी की बहुत याद आ रही थी इसलिए तुझे बुला लिया.

दोस्तो, यह सेक्स कहानी है एक लड़की के इस संसार की तड़क भड़क और चकाचौंध में बह जाने की.

प्रीति की चूत मुझे साफ साफ दिखाई दे रही थी कि प्रीति की चूत से पानी निकल रहा था. मैंने कहा- क्यों।ये बोले- मजे करने हैं और तुमको जरूर आना पड़ेगा।मैंने कहा- मजे करना हमेशा जरूरी नहीं होता, साफ साफ कहो कि क्या बात है?ये बोले- यार मेरी नौकरी खतरे में है. ”मैं समझ रहा था कि मेरी बीवी को भी दुःख है कि मुझे पुरानी चुदी हुई चूत मिली.

तो वो मान गया और अपना लंड मेरी फुदी में से निकाल कर मेरे साथ ही लेट गया. फिर मैं स्नेहा भाभी की कमर में किस करने लगा और हाथ को प्यार से उनकी कमर पर सहलाने लगा, जिससे स्नेहा भाभी को और भी मजा आने लगा था. इसके बाद अंकल दीदी के पास आए और दीदी के तने हुए मम्मों को बारी बारी से दबाने लगे.

बीएफ ब्लू बीएफ मूवी

मेरे धक्के लगाने से पिंकी भी अब अब जोर से कराहें लेने लगी, उसकी चूत भी कामरस से भरी थी और उसने‌ भी मेरा पूरा साथ देना‌ शुरु कर दिया।उसकी कराहें भी अब आनन्द भरी सिसकारियों में बदल गयी और वो भी मेरे साथ साथ अब नीचे से जल्दी अपने‌ कूल्हों को‌‌ उचकाने लगी जिससे मेरा जोश अब और भी बढ़ गया।मेरे धक्के धीरे-धीरे बढ़ते गए और हम दोनों के बदन गर्म होने लगे. मुझे सेक्स कहानियों के अंत में पाठकों के जबरदस्त संदेश दिखे और उनके संदेशों ने मुझे लोवर टी-शर्ट उतार फेंकने पर विवश कर दिया. खैर … चुत को ढकने में कुर्ती काम कर रही थी, नहीं तो बाहर रास्ते में ही चोदू लोग मुझे अपने लंड की गर्मी निकालने के लिए उठा ले जाते.

इसके बाद मैं 69 की पोजीशन में आकर उसकी बुर चाटने लगा और उससे कहा कि मेरा लण्ड मुंह में ले ले.

चाची गांड दबाते हुए चिल्ला रही थीं- आह मेरी जान … अब बस करो … पहले लंड डाल दो … बस जल्दी करो.

बातों बातों में यह भी पता चला कि उसकी वापिसी की फ्लाइट भी थोड़ी देर बाद थी. साथ ही साथ पीछे से मेरी गांड में अभय का मोटा तगड़ा लन्ड रगड़ खा रहा था और सामने से विवेक का लंड खड़े-खड़े मेरी चूत में रगड़ खा रहा था. सेक्सी ब्लू वीडियो चुदाईइससे मेरी हिम्मत बढ़ गयी और मैंने दूसरी बार फिर से अपनी कोहनी उसके मम्मों पर कुछ जोर से दबाई.

मैं बोला- नींद आ रही है क्या?वो बोली- नहीं, बच्चे के कपड़े प्रेस करने हैं. जब उनका लंड मेरी चूत में अंदर जाकर टकराता था तो मुझे काफी आनंद मिल रहा था. वो मुझसे अपनी चुदाई में हुए दर्द को लेकर बता रही थी कि कई दिनों बाद लंड अन्दर लिया है न … इसलिए दर्द ज्यादा हुआ.

उसने मेरी पैंटी के ऊपर से ही मेरी चूत को चूमा और अपने लबों को मेरी चूत पर रखने लगा. फिर मैंने दीदी को देख कर सॉरी कहा- दीदी ने कहा- कोई गल नहीं, सब चलता है … चलो अब तुम लोग भी कपड़े बदल कर फ्रेश हो जाओ, फिर खाना बनाते हैं.

’इससे पहले हम दोनों उठ कर वहां से चलते वो पूछने लगा- कुछ काम करते हो या पढ़ाई कर रहे हो?दोनों के मुंह से एक साथ निकला- पढ़ाई.

उस दिन के बाद से हर लड़की मुझसे मेरे भाई विशाल के बारे में ही पूछती रहती थी. जब उससे बर्दाश्त नहीं हुआ तो कामिनी मुझसे अलग हो गई और झट से मेरी पैंट को खोलकर मेरी जांघों को चूमने चाटने लगी. आज सपना इतनी खुश थी कि उसने मेरे गाल पर एक जोरदार किस किया और मेरे गले से लग गई.

हिंदी बीएफ हिंदी चुदाई मालकिन की भारी भरकम भरी हुई जांघें मेरी नजरों के सामने से हट ही नहीं रही थीं. फिर वसुंधरा ने प्लेट के खाने में से एक कौर तोड़ा और उसमें सब्ज़ी भर कर मेरे होंठों के आगे किया.

हर कौर के साथ-साथ मैंने बारी-बारी से वसुंधरा की हथेली समेत हाथ की सभी उँगलियों को प्यार से चूमा भी और चूसा भी. मालकिन तूफानी ताकत से लंड पर हिल रही थी … और ऐसे हिलते समय उनके बड़े बड़े दोनों स्तन ऊपर नीचे झूल रहे थे. अब आगे:नीतू की बात पर मैंने कहा- जरूर मेरी जान … पर तुम पहले मेरे लंड को थोड़ा चूस तो दो.

हिंदी सेक्सी बीएफ मुस्लिम

मनु की बात काटते हुए परमीत ने कहा- तुम मेरा नाइटसूट पहन लो और गीत दीदी के कपड़े पहन लेगी. अब वो गुस्से में बोली- मेरे इतने वीडियो बना लेते हो … वो क्या कम पड़ जाते हैं … जो इन रंडियों को देख रहे हो. पुहा यार … तुम अपना मजा लो, मीना सो रही है, उसके जागने की चिन्ता न करो.

उसके बदन का कोई हिस्सा ऐसा नहीं था जो मैंने अपने होंठों से चूसा या काटा न हो. मीना और दिलीप हर शनिवार को नाइट शो मूवी देखने जाते थे, रात को 9 बजे से 12 बजे के बीच के समय का मुझे सदुपयोग करना था.

इसके बाद भाभी मेरे करीब आईं और मुझसे पूछने लगीं- हैलो डार्लिंग … कैसी हो … आज तो तुम बहुत खूबसूरत लग रही हो, आज मैं तुम्हें बहुत प्यार करूंगा.

कभी उनके पास से गुजरती जैसे गांव में पानी लाने या कभी खेत में जाते समय तो वे मजनूं मुझे बात मारते थे- क्या माल है … एक रात मिल जा तो कती फाड़ दयूँ।मतलब बुरी से बुरी बात करते पर मैंने किसी को भाव नहीं दिया।लेकिन 2019 में इस उम्र में मैं बहक ही गई. तय योजना के अनुसार रात करीब बारह बजे कमरे में जल रहे नाइट लैम्प की रोशनी में मैंने अपनी पत्नी पूजा का गाउन ऊपर खिसकाया और पैन्टी उतारकर उसकी चूत को थोड़ा सहलाया. मैं- ओके मैं आ जाऊंगा, पर कब आना है?सपना- तुम सोमवार को सुबह 10 बजे ईदगाह बस स्टैंड पर मिलना, मैं वहीं मिलूंगी.

सपना बोली- सब यहीं करना है? बेडरूम में चलो!हम दोनों नंगे ही बेडरूम में चले गए. हमारी चुदाई पारंपरिक तरीके से लेट कर हो रही थी, इसलिए संदीप चुदाई के वक्त भी मेरी जीभ चुभला रहा था. मैम थोड़े दर्द और थोड़े आनन्द से कराह रही थी।मैंने माम की चूत चुदाई की गति बढ़ा दी तो मैम ने अपने पति का लंड चूसने की स्पीड बढ़ा दी।तब तक रमेश बाबू का पानी निकल गया था.

रंजीत ने भी तारीफ की, पर साथ में ही उन्होंने मेरी इस फोटो को हटा देने को कहा.

सेक्स बीएफ हिंदी मूवी: पर मुझे ये जानने की बहुत जिज्ञासा हो रही थी कि वो मेरी से क्या मांग रहा था. तुम रहोगी तो मुझे साथ मिल जाएगा और तुम्हारे हॉस्टल के पैसे बच जाएंगे.

वो तो उषा ने प्रीति को चुदाई के बारे में बता बता कर उसको चुदाई के लिए इतना प्रेरित कर दिया कि प्रीति को लंड की चाहत होने लगी थी. मुझे शुरुआत करने में हिचक हो रही थी। तभी रमेश सर उठे और अपना शर्ट और पैंट उतार दिया. मैंने चाची को चूमते हुए कहा- आप खुद देखो चाची … कितनी सुन्दर चुत है … अब से आप इसे क्लीन ही रखना.

मुझे भी उस रात चुदने का बहुत मजा आया, मेरी चूत, गांड मुँह सब चुद गये थे.

थोड़ी ही देर में पिचकारी की तरह गाढ़ा वीर्य का फव्वारा निकला, जो उसके मुँह के ऊपर, उसके चूचियों पर, कंधों पर गिरा. मैं किचन में गई, उसके लिए दूध लेकर आदी को उसके कमरे में जाकर दे दिया. एकदम से नर्म और मुलायम, जैसे कह रहे हों कि इनके रस की एक-एक बूंद को निचोड़ लो.