सेक्स बीएफ हिंदी साड़ी वाली

छवि स्रोत,काजल अग्रवालxxxx

तस्वीर का शीर्षक ,

नंगा डांस हिंदी में: सेक्स बीएफ हिंदी साड़ी वाली, मैंने कहा- एक बार उनको फिर से लंड दिखाना है ताकि वो खुद ही चुदने के लिए तैयार हो जाये.

पोर्न वीडियो

[emailprotected]इंडियन देसी सेक्स कहानी का अगला भाग:मामी ने भाभी की चूत दिलवाई- 2. सेक्सी ठोकाठोकीभाभी- अच्छा वो सब छोड़ो, ये बताओ मैं कैसी दिख रही हूँ?मैं तो बस यही सोच रहा था कि सब सच बोल दूं, पर मैंने बात को घुमा कर बोला- भाभी आप तो आज कहर ढा रही हो, मुझे तो बस भैया के चेहरे की खुशी देखना है, जब वो आपको ऐसे देखेंगे.

कुछ देर की चुदाई के बाद हम दोनों अलग हुए और मैं फिर से फ्रेश होकर वापस आयी. বিএফ দেখতে চাইमैंने कहा- पोर्न देख कर और क्या क्या सीखा है जान?वो हंस दी और मेरे गालों को फिर से चूमने लगी- मुझे तुम बहुत अच्छे लगते हो.

मॉम के मुंह से सिसकारियां निकल पड़ीं- आह्हह … रवि … आराम से … यहीं हूं मैं … मजा लेकर भींच बेटा … आह्हह … धीरे से … पूरा मजा ले.सेक्स बीएफ हिंदी साड़ी वाली: जबमेरी गांडपूरी तरह ठीक हो गयी, उसके बाद मैं और विक्रम अंशुमन के आने तक रोज ही चुदाई करने लगे थे.

मैंने बीच में कहा- तुम कुछ लोगी?सिमरन ने कहा- क्या मतलब?मैंने कहा- मैं जब मूवी देखता हूं, तो मुझे कुछ पीने का लेता हूँ.अब मैं उसकी मैक्सी को उतारने लगा और उसके हाथ ऊपर करवाकर मैंने उसकी मैक्सी को सिर के ऊपर से निकाल कर उसके जिस्म से अलग कर दिया.

गूगल लेंस - सेक्स बीएफ हिंदी साड़ी वाली

मैंने कैंची उठाई और नीचे की सिलाई के पास से कट लगाया और उसकी जांघ से चूत के ऊपर तक जींस को चीर दिया.मेरे मम्मों ने उसके सामने उछल उछल कर मस्ती दिखाई, तो राहुल ने मेरे एक बोबे को अपने मुँह में लिया और उसे चूसने लगा.

अब आगे की विलेज गर्ल की चूत कहानी:गीता- क्या बात है काका … मुझे क्यों बुलाया है?मुखिया- क्यों तुझे बुला लिया, तो कोई आफ़त आ गई क्या. सेक्स बीएफ हिंदी साड़ी वाली मैं लेट गया और जैसे मैंने उसके बदन को चूमने और चाटने के बाद उसकी सेक्सी चूत को चाटा था, वैसे ही उसने भी किया.

मैंने करीब जाकर उससे पूछा- क्या हुआ मैम?आप तो जानते है कि मैं होटेलियर हूँ.

सेक्स बीएफ हिंदी साड़ी वाली?

अब तो हाल ऐसा है कि बस क्या बताऊं आपको!सुरेश- अच्छा तो ये बात है, अब मैं सब समझ गया. मैंने उसे बालों से पकड़ कर मेरी चूत पर और ज्यादा दबाव बना दिया और उसकी पीठ पर अपनी टांगों की कैंची सी बना दी. जब मैं कहूं, उसी कलर के डिब्बे से दवा निकाल देना … ठीक है ना!मीता- ये अपने अच्छा किया बाबूजी, अब मैं आपको शिकायत का मौका नहीं दूंगी.

मैंने पूछा कि अरे तुम रो क्यों रही हो … क्या हुआ?अंकिता बोली- मुझे लगा कि आप नहीं आओगे. अब मेरी अम्मी बिस्तर पर चित लेट गईं और धीरज मेरी अम्मी की चूत में लंड डालने लगा. उसकी जवानी का रस भर भरकर उसके बदन से टपक रहा था जिसको चूसने वाला कोई नहीं था.

उस वक्त मुझे सेक्स करने से ये सोचकर डर लगता था कि अगर बच्चा हो गया तो फिर मेरी शामत आ जायेगी इसलिए मैंने बुर में लंड लेना शुरू नहीं किया था. कल तक तो मेरे सामने पूरी नंगी घूमा करती थी, आज थोड़ी सी बड़ी क्या हो गई, मुझसे ही शर्माने लगी. गांड में गैस बनने लगी थी और नीचे अवनी मेरे आंडों में मुंह दिये हुए पड़ी थी.

मेरी गर्लफ्रेंड की बुआ की लड़की है संजना! एक बार वो भोपाल आई हुई थी. अब तक की सेक्स कहानीगांव की चुत चुदाई की दुनिया- 10में पढ़ा कि हरी पक्का चोदू था.

मेरी अम्मी अब्बू से कह रही थीं कि मुझे छेड़ो मत वरना पूरा निचोड़ कर रख दूंगी.

मेरी चूत और मेरी गांड दोनों से ही खून और वीर्य का मिश्रण निकल रहा था.

बाद में अवनी ने मुझे पूरी बात बताई कि उसने मामी को हम दोनों भाई-बहन की चुदाई वाली बात बता दी है. जैसे ही मैं झड़ने वाला था, मैंने उसके मुँह में अपना लंड ठांस दिया और उसके मुँह को चोदने लगा. पैंटी के ऊपर से ही मैंने उसकी चूत के मोटे मोटे होंठों को चूमा और एकदम से मुंह में भर लिया.

मैंने उसको पकड़कर लिटा दिया और उसके ब्लाऊज को खोलते हुए बोला:मेरे हवाले अब कर दे अपना पूरा बदन,आज रात तुझे चोद मैं बन जाऊंगा तेरा सजन!उसके बूब्स को मैं चाटने लगा. आह ऐसे चुत में उंगली करोगे तो ये लंड मांगेगी … उहह फिर तुम मेरी चुदाई मजे से कर पाओगे क्या!साये ने अपना मुँह सुमन के कान के एकदम करीब किया और धीरे से कहा. उसकी पेशाब की धार की तेजी देखी तो मैं सोचने लगा कि इसका लन्ड कितना मज़बूत है! इतना तेज़ धार मार रहा है.

मगर मैं सबसे नीचे वाले तल पर रहता था और आंटी दूसरे माले पर।उनकी बालकनी के बाजू में उनका किचन था और वहीं अन्त में एक पानी की टंकी रखी हुई थी.

सिमरन ने कहा कि आपने मेरी पूरी फैमिली की बातें सुनी!मैंने कहा- हां मगर तुमने झूठ क्यों बोला कि तुम किसी फैमिली में हो. यदि आपने मेरी पिछली कहानियांजवान भतीजी की कुंवारी बुर का चोदनभतीजी की सहेलियां भी चोदीपढ़ी हैं तो आपको मेरे बारे में मालूम होगा. मेरे झांट और मेरी लंड की गोटियां अभी भी बनियान के नीचे छुपी हुई थीं.

वो जैसे ही टॉवल उठाने झुकी तो ओह्हहह ये क्या दिखा दिया सिमरन ने … उसकी टाइट चूत और टाइट गांड के छेद दिख गए. वो बोली- तुझे मैं अच्छी लगती हूं ना?मैं बोला- नहीं मॉम ऐसी बात नहीं है. मैंने कहा- सिमरन अब तुम मेरी मेहमान हो, तुम बैठो … मैं तुम्हारे लिए कुछ खाने को लाता हूँ.

अचानक उसका सब्र का बांध टूट गया और उसकी चूत से नमकीन पानी का सैलाब निकल गया.

पांच मिनट चुदाई के बाद भाभी को यकीन हो गया था कि अब मैं झड़ने के बाद ही शांत होऊंगा, इसलिए वो मेरी पीठ को पकड़कर मेरे झटके झेल रही थीं. मेरा लंड अभी भी बहुत दर्द दे रहा था मगर मैं उसकी चुत के पानी निकलने के बाद भी धीरे धीरे चुदाई करने में लगा रहा.

सेक्स बीएफ हिंदी साड़ी वाली उसकी कोहनी महेश की जांघों के जोड़ यानि लंड के बिल्कुल पास लगी और उसकी कोहनी टच होने से महेश की चीख निकल गई. अम्मी बोलीं- हां कहो!आंटी बोलीं- दीदी, कुछ कॉलेज के लड़के मिलना चाहते हैं, वो हमारी चुदाई करेंगे और पैसे भी देंगे.

सेक्स बीएफ हिंदी साड़ी वाली पहले तो मैं पीछे हटा लेकिन फिर मुझे लगा कि चूत मिल रही है तो …सभी पाठकों को मेरा नमस्कार. मैंने उसके गालों पर थपथपाया और कहा- तू ही तो कह रही थी साली रंडी कि चोद लो.

वो दीवार से टिक कर बेड पर बैठ गया और मैंने उसका लंड चूसना शुरू कर दिया.

देसी पिक्चर सेक्स

उसने मेरे लंड को मेरी फ्रेंची के ऊपर से सहलाया और फिर मेरी निक्कर का बटन खोलने लगी. अब जो उन्हें समझना हो सो मुझे समझते रहें, मैं कौन सा वहां चरित्र प्रमाणपत्र बनवाने गयी थी. वजन उठाने के कारण फिर से उसके पैर में दर्द बढ़ गया और उसने जोर से चीख मारी और नीचे गिर गयी.

वो शांत थी मगर अंदर से प्यासी लग रही थी। मैं धीरे से उसकी तरफ बढ़ा तो उसने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। इससे पहले मैंने किसी के साथ चुदाई नहीं की थी लेकिन पता नहीं मेरे अंदर उस दिन वो हिम्मत कहां से आ रही थी. मैंने कहा- ठीक है, शाम को जब वो ऑफिस से लौटेंगे तो हम दोनों ही आपसे फोन पर बात करेंगे. अब मैं 26 साल की हूं और चुदाई का चस्का मेरे अंदर वैसा का वैसा ही है.

वो जब भी अपने हाथ को उन लटों को ठीक करने के लिए उठाती, तो उसके बूब्स भी हिलते हुए दिखते.

मैं इस हालत में इतनी मस्त हो गयी कि दिमाग समझ ही नहीं पा रहा था कि कौन सा मर्द ज्यादा अच्छी चुसाई कर रहा है. कुछ देर बाद मैं लेट गया और ब्रा और पैंटी को अपनी निक्कर में डाल कर दीदी को चोदने का सपना देखने लगा. उसके मुंह से अब चुदाई की मस्ती से बहुत ही कामुक सिसकारियां निकल रही थीं- आह्ह … राज … आह्ह … चोदते रहो … अम्म … आह्ह … और चोदो, पूरी रात चोदते रहो.

मैंने फ़ोन को लॉक मोड से हटा दिया था और स्क्रीन टाइम बढ़ा दिया था ताकि फ़ोन बार बार लॉक और स्क्रीन ऑफ़ ना हो. अपनी चूत को ऊपर उठा उठा कर मैं लंड को पूरी गहराई तक चूत में लेने लगी. मैं ये सोच सोचकर ही चुदासी हो जाती थी कि कोई जवान लड़का जब कामवाली को इतने बुरे तरीके से चोद सकता है तो मेरी चूत की क्या हालत करेगा.

उससे बोला कि मुखिया ने गांव की सारी लड़कियां चोद चोद कर खराब कर दीं. मैं देखना चाह रही थी कि मॉम की चूत में ऐसी क्या आग है जो वो इतने मर्दों के लौडो़ं को खा जाती है.

फिर पैसे भी मिलने लगे तो मैंने अपनी सहेलियों को इसका मजा दिलवाना शुरू कर दिया है. मुझे ये सब बहुत अच्छा लग रहा था और मैं भी उसका पूरा साथ दे रहा था।हम लन्ड से लन्ड रगड़ रहे थे. पूरी तरह से ठीक-ठाक होकर हम दोनों एक एक करके उस कच्चे घर से बाहर निकले.

उसकी चूत भी पानी पानी हो रही थी, जिसे मैंने चाट चाट कर साफ कर दिया.

सुमन- मेरे राजा आज तुमने गोली लेकर बहुत मस्त चुदाई की है, इसी लिए अब लंड को चूस कर और ऐसी आवाजें निकाल रही हूँ ताकि आपको जल्दी से जोश आ जाए और ये लंड फिर खड़ा हो जाए. मैंने उसकी चूत पर अपना सांप की तरह फुंफकार मारता लंड रखा और अपनी साली की चुत की फांकों रगड़ने लगा. सुमन ने नाइटी निकाल कर सुरेश के मुँह पर फेंकी और नंगी धीरे धीरे उसके पास गई.

मधु ने संजना से कपड़े उतारने को कह कर उसको नंगी कर दिया और मेरे लंड पर आकर बैठने को कहा. मैं बैठा तो मेरे बैठते ही मेरे पीछे एक गोरी सी लड़की लंगड़ाती हुई आई और वो भी ऑटो में आकर बैठ गयी.

मैंने कहा- पोर्न देख कर और क्या क्या सीखा है जान?वो हंस दी और मेरे गालों को फिर से चूमने लगी- मुझे तुम बहुत अच्छे लगते हो. जब से मेरी अम्मी दुकान पर बैठने लगी थीं, तब से हमारी दुकान और भी अच्छे से चलने लगी थी. वो अब सिसकारते हुए चुदने लगी – आह्ह … हरामी … तू तो असली भेनचोद भाई निकला … मेरी चूत चोद ही दी तूने … आह्ह … और चोद … साले … आह्हह … अपनी बहन की चूत को फाड़ दे … आह्ह और तेज। मुझे अपने बच्चे की मां बना दे और तू पापा बन जा … आह्ह … चोद जय।मैं उसकी ये कामुक बातें सुनकर हैरान था लेकिन मजा लेकर चोद भी रहा था.

सेक्सी बीएफ पिक्चर दाखवा

सर ने एक धक्का दिया मैं जोर से चीखी- आईई मां … फट गयी … ईईईई … आईई.

अब मैं भी चाहती थी ये दोनों मिलकर मेरी चूत को भी वैसे ही चोद दें … रातभर मुझे बेरहमी से पेलें. करीब 2 इंच ही अंदर गया होगा और वो चिल्ला उठी- उफ्फ … मर गयी, निकालो इसको … जल्दी।फिर मैंने उसका ध्यान हटाने के लिए उसके होंठों को अपने होंठों में लॉक कर लिया और जब उसका ध्यान लिप किस में चला गया तो मैंने एक जोर का झटका मारा और लिंग उसकी सील को तोड़ते हुए अंदर घुस गया. उस दिन उसने मुझे एक बात और बताई थी कि वो कभी मेरे साथ चुदाई नहीं करना नहीं चाहती थी.

मेरा मन कर रहा था कि अभी भाभी को बेड पर पटक कर शुरू हो जाऊं, लेकिन यह सही समय नहीं था. मुझे तो सिर्फ उसके रसीले फूले होंठ ही दिख रहे थे।वह आगे बोली- अपनी पैंट-शर्ट को खोल लीजिए. फैंसी साड़ी डिजाइन फोटोउसने आह्हह … करते हुए एकदम से मेरे सिर को अपनी चूत में दबा लिया और अपनी टांगों को मेरे सिर पर लपेट लिया.

उसने कहा- अब डाल भी दो न … क्यों तड़पा रहे हो?मगर मैं भाबी को तरसाता रहा और उसकी चूत पर लंड को रगड़ता रहा. आज तू उससे चुदवाने चली जाना … ठीक है!गीता- नहीं नहीं मुखिया जी, ऐसा ज़ुल्म मत करो.

अब मुझे फिर मस्ती छाने लगी और मैं सर की गोदी में ही बैठी बैठी उनसे कस कर लिपट गयी. देसी हिंदी कहानी लड़की का सेक्स के पिछले भागदीदी की ननद की कुंवारी सहेली की चुदाई- 1में आपने अब तक पढ़ा था कि मैं अंकिता के साथ सेक्स करने में मस्त था. न जाने कितने महीनों से मैंने अपनी चुत में मूली खीरा भी नहीं डाला है.

ट्रेन सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने एक अनजान जवान भाभी को चलती रेलगाड़ी चोद दिया. मैं स्वयं से बोला- आंनद मेहता … 50 साल के हो गए हो लेकिन जवानी अभी गई नहीं तुम्हारी. तुम्हारे ऑफिस के रास्ते में जिनके घर पड़ते हैं, उनको ये कार्ड तुम्हें पहुंचाने होंगे.

वो अलग बात है कि आंखों को पसंद आने वाली हर चीज हर किसी को नहीं मिल पाती है.

तीसरे वाले में गया तो वहां एक बूढ़ा आदमी, जिसकी उम्र पचास-पचपन के आस पास थी, पेशाब कर रहा था. हॉट सेक्सी मॉम स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपनी मां के साथ बाइक पर घर आ रहा था.

न्यूयार्क से आने के दूसरे दिन में सुबह को उठकर मैं फ्रेश हुआ और अपने कमरे से बाहर आया. मैंने कैंची उठाई और नीचे की सिलाई के पास से कट लगाया और उसकी जांघ से चूत के ऊपर तक जींस को चीर दिया. वो लंड के नीचे लटक रही मेरी गोटियों को भी चॉकलेट लगा आकर अच्छे से चूसने लगी.

सुरेश- ये क्या है सुमन! घर का सब सामान कहां गया?सुमन- वो सब बाद में, पहले ये बताओ इतनी देर से क्यों आए? कब से आपका यहां बैठकर इन्तजार कर रही हूँ. उन्होंने शायद बगल कुछ 10-15 दिन पहले साफ की थीं, क्योंकि उसमें छोटे से रोयेंदार बाल उगे थे. एकाएक राहुल ने मुझे पेट के बल पलट दिया और मेरी पीठ पर किस करने लगा.

सेक्स बीएफ हिंदी साड़ी वाली धीरे धीरे मेरा हाथ भाभी की चुत की तरफ बढ़ रहा था … जिसका उन्होंने कोई विरोध नहीं किया. बलराम- साला कैसा गांव है, ये कुछ समझ ही नहीं आता कि क्या हो रहा है.

लड़की चूत कैसे मरवाती है

कुछ देर भाभी ने अपनी सहेली से बातें की और हम दोनों सोने की तैयारी करने लगे. आखिरी पैग खत्म करके वो फिर से मेरे ऊपर चढ़ गया और एक बार फिर से मेरी गांड में उसके लंड की धक्कम पेल होने लगी. लगभग पांच घंटे की चुदाई के खेल के बाद मेरा जिस्म एकदम से हल्का हो गया था.

फिर एक एक करके उसके सारे कपड़े निकाल दिए और नीचे बैठ कर लंड को मुँह में भर कर चूसना शुरू कर दिया. तो मेरे प्यारे दोस्तो, आपको मेरी यह देसी चूत की इंडियन चुदाई कहानी कैसी लगी मुझे इसके बारे में अपने सुझाव जरूर भेजें. देसी लड़की फोटोकुछ दिन हम लोग गाँव में रहे और उसके बाद दिल्ली आ गए और अपना जीवन खुशी से जीने लगे.

उसका चुदने के लिए बहुत मन कर रहा था इसलिए वो जरा भी हिचक नहीं रही थी.

मैंने उसकी कमर से उसको पकड़ लिया और ऊपर नीचे होने में उसकी मदद करने लगा. लंड को चूत पर रखकर मैंने अपने दोनों हाथों को उनकी बगल से डालकर उनके दोनों कंधों को कसकर पकड़ लिया.

पर मैं उसे यह कह कर मना करके रोक देता था कि मैंने पहले कभी गांड नहीं मरवाई, तुम्हारा लंड मोटा है. शाम को ड्यूटी से आने के बाद मैं मोनिषा से नज़रें नहीं मिला पा रहा था. उसकी कोहनी महेश की जांघों के जोड़ यानि लंड के बिल्कुल पास लगी और उसकी कोहनी टच होने से महेश की चीख निकल गई.

जैसे ही मेरी जीभ उसकी योनि के अंदर तक जाती वो और जोर से चूसने लगती.

मेरा आपसे पूरा काम चल रहा है। आप तो बहुत अच्छी हो। मेरा पूरा पूरा ख्याल रख रही हो। मगर पूजा भाभी मेरे लन्ड को भा गई है, इसलिए मैं पूजा भाभी की भी लेना चाहता हूं। आप ही मुझे पूजा भाभी की चूत दिलवा सकती हो।वो पहले तो मना करने लगी लेकिन फिर उनको लंड भी लेना था तो बोली- मैं इतना जोखिम कैसे उठा सकती हूं? मैं सीधे सीधे पूजा से नहीं कह पाऊंगी. कॉलेज गर्ल लव सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरे साथ वाले घर में रहने वाली लड़की मेरी फ्रेंड थी. अचानक उसके तो स्वर ही बदल गए; उसने तो गालियाँ देना शुरू कर दिया- साला कैसा हरामखोर है तू, जवान लड़की अकेली होटल के रूम में है और साला तू चोद ही नहीं रहा है? मर्द है या नहीं?ये सुन कर मुझे गुस्सा आ गया.

सेक्सी वीडियो चोदतेकुछ देर तक गान मारने के बाद मैंने अपना पानी उसकी गांड के छेद में निकाल दिया. इसका क्या राज है?वो शर्माने लगीं- नहीं तो, ऐसी कोई बात नहीं … ऐसा तुम्हें लगता है?मैं- नहीं भाभी, मैं सच बोल रहा हूँ.

हिजरा वाला सेक्सी बीएफ

कच्ची कली के हाथों से मालिश का मज़ा लेते हुए उसका लंड एकदम तन गया था, जो धोती में साफ खड़ा दिखाई दे रहा था. देसी विर्जिन सेक्स स्टोरी इन हिंदी में पढ़ें कि बंगाली भाभी ने अपनी ननद के बारे में मुझे बताया कि आ रही है और वो चुद जायेगी क्योंकि उसे लंड की जरूरत है. उसी रात मेरे हस्बैंड मुझे एकदम नंगी करके मस्ती से चोद रहे थे लेकिन जब से पांडेय सर ने मेरी मस्त जवानी पर अपना जादू चलाया था तब से मैं तो उन्हीं से चुदाई के सपने देखने लगी थी.

ऐसे करने कसे मेरे जिस्म में एक ज्वार सा उठता और योनि से रस की नयी लहर निकल कर मेरी जाँघों तक को भिगोने लगती. इतना बोलकर वो मेरे रूम से बाहर निकल गयी और मैंने रूम को अंदर से बंद कर लिया. वो आइसक्रीम की तरह मेरे लंड को चूसने में लगी हुई थी और मैं जन्नत की सैर कर रहा था.

गर्म सिसकारियां लेते हुए भाभी ने अपना एक हाथ मेरे लौड़े पर रख दिया और उसे दबाने लगीं. माँ बाप सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक रात अम्मी अब्बू के कमरे आती आवाजें सुन मैं देखने गयी तो वे दोनों नंगे थे. मीनू का एकदम बेदाग गोरा बदन, सेब जैसे कड़क बूब्स, जिन पर छोटे छोटे से भूरे निप्पल टंके थे.

इकबाल कपड़े पहनते हुआ बोला- ठीक है मेरी जान मैं तेरा इन्तज़ार करूंगा. अब्बू ने कहा- कासिब … अब जल्दी से तू दिलकश की चुदाई कर … तेरे बाद मैं भी अब अपनी बेटी को अपनी बेगम बनाने को उत्सुक हूँ.

बातों ही बातों में एलिसा आंटी ने बताया कि इस समय उसे पैसों की बड़ी तंगी चल रही है.

भीगी ब्रा में उसकी चूचियां बहुत रसीली लग रही थीं और पेटीकोट चूत के पास जांघों से चिपक गया था. अमेरिका का ब्लू पिक्चरधीरज के लंड ने लावा उगल दिया और उसने मेरी अम्मी के मुँह में ही अपने लंड का पानी छोड़ दिया. बड़ी मां को चोदासुरेश की आंखों पर पट्टी बांध कर सुमन सीधी लेट गई और उसने अपने पैरों को मोड़ कर सुरेश से कहा कि वो उसके पैरों के बीच बैठ कर उसकी चुदाई करे. मैंने कहा- मेरे साथ तुम्हें कैसा लगा?वो बोली- आज मैं पहली बार तुम्हारे साथ डेट पर आई हूँ.

इस झटके से आदिल चिल्लाया- बहन की लौड़ी, तेरी मां की चूत … मेरे लंड को तोड़ेगी क्या?मैं बोली- मां के लौड़े, तू मेरी गांड को फाड़ सकता है तो मैं तेरे लंड को भी तोड़ सकती हूं.

फिर मैंने पीछे से एक धक्का भी मार दिया और मेरा पूरा लौड़ा उसकी चूत में जा फंसा. मैं उसकी बात सुनकर मजा ले ही रहा था कि तभी अचानक से उसने मेरी गांड में एक उंगली डाल दी. मैं और मेरे साथ एक लड़का, जो बुआ के परिवार का ही था … हम दोनों शादी के कार्ड देने निकले.

शैलू- ओह कहां … मैडम जी, क्या आप इस हवेली की तरफ इशारा क्यों कर रही हो?सुमन- हां कल से मैं यहां रहने आ गई हूँ ना … मुखिया जी ने रहने को दी है. कोई दूसरी नहीं चलेगी क्या?कालू की बात सुनकर बलराम खड़ा हो गया- यार अब इतनी भी छोटी नहीं है. सुरेश वहां से चला गया और सुमन सीधी मुखिया के पास आकर झुक कर खड़ी हो गई.

हिंदी बीएफ यूट्यूब पर निबंध इंग्लिश में

हर रोज वो पी कर घर आता है और इतना नशे में होता है कि कभी कभी उसके शू और कपड़े भी मुझे निकालकर उसे सुलाना पड़ता है. सबने खाना खाया, उसके बाद मीता ऊपर गई … तो महेश लुंगी पहने अपने लंड को पकड़े पड़ा हुआ था. तूने कभी अपनी रसीली चूत की सफाई नहीं की क्या?मैं भाई के मुँह से चूत सुन कर शर्मा गई और चुप रही.

अचानक पता नहीं मेरे मन में क्या आया, मेरा लंड भाबी की सेक्स की कामुक बातों से खड़ा हो चुका था और मैंने अपने लंड की फोटो खींची और भाबी को व्हाट्सएप कर दी.

शायद भाभी अपनी पति के बारे में सोच रही थीं, जिसकी वजह से उन्हें अब अच्छा नहीं लग रहा था.

मैं भी दस बारह धक्के देता हुआ उनकी चुत में ही झड़ गया और उनके ऊपर ही लेट गया. सुरेश कुछ समझ पाता, उससे पहले सुमन ने लंड को मुँह में भर लिया और चूसने लगी. चांदी का कंदोरावो चित लेट गया तो मैंने उसके पैर अपने कंधे पर लिए और एक ही झटके में पूरा लंड उसकी गांड में घुसा दिया.

बहुत दिनों के बाद चूत चोदने के लिए मिली थी इसलिए मैं कोई कसर नहीं छोड़ना चाह रहा था. मुखिया- चल मान लिया … मगर ये बता कि तू मुझको नहीं बताता, तो ये सब कैसे करता?कालू- मैं कहां कुछ करता मालिक. चुदाई का खेल चलते हुए रात के बारह बज गए थे मगर हम दोनों में से कोई भी पीछे हटने को तैयार नहीं था.

उसे उसके कपड़े पहनाए और वापस उसको उसकी जगह पर लिटा कर खुद वहां से बाहर चला गया. ’राहुल चाहता तो मेरे मुँह को ढक कर आवाज को बाहर जाने से रोक सकता था, लेकिन उसने मानो जानबूझकर मेरी चिल्लाहट नहीं रोकी.

राहुल ने मेरे एक बोबे को अपने मुँह में पूरा भरा और दूसरे बोबे को हाथ से सहलाने लगा.

सुरेश- सच तुमने ऐसा किया, तुम इतनी तेज निकलोगी, मैंने सोचा नहीं था. वे अपना लंड बाहर तक निकालते और पूरे वेग से वापिस मेरी चूत में घुसेड़ दे रहे थे. कुछ देर बाद मैं पलटा और मैंने अपनी गांड को उसके मुँह के पास कर दिया.

औरत की बुर मुझे उनकी मटकती गांड देख कर रहा नहीं गया और मैं भी उनके पीछे चला गया. दोस्तो, आज मैं आपको मेरी और मेरी प्यारी भाभी सुनयना (बदला हुआ नाम) के बीच हुई एक सच्ची घटना के बारे में बताना चाहता हूँ कि किस तरह मैंने अपनी भाभी को पटाया और उनकी चुदाई की.

उन्होंने ये सुना, तो मानो पिल पड़े और दस बारह धक्के के बाद एक जोरदार धक्के से मेरी चुत को भर दिया. जान सबसे पहले मैं आपके मुँह में लंड डालूंगा और फिर आपके दोनों चूचों के बीच में डाल कर चूची को चोदूंगा. सुरेश- अच्छा ये बात है, तुम उस लड़की के ऊपर से मज़े ले लेते हो और चोद नहीं पाते हो, तो उसकी क्या हालत होती होगी?रवि- नहीं, वो नींद में होती है … तब मैं ये सब करता हूँ.

मराठी साडीवाली सेक्स

फिर जब लंड से गोंद जैसा चिपचिपा रस निकलने लगा तो अचानक अपने मुंह में लेकर वो लंड को चूसने ही लग गयी. उसके मुँह में जीभ डालकर उसकी जीभ को चाटने चूसने लगा और अपने मुँह का सारा रस उसे पिलाने लगा. एक दिन शाम के समय सब्जी वाला आया, तो हम सब्जी के लिए ठेले पर खड़े थे.

मैंने भी बनावटी शर्म के साथ कहा- भाभी, जब आप सब कुछ समझ ही रहे हो तो क्या आप मुझे अपने ये दो अनमोल रत्न छूने दोगे?ये सुनकर वो मुझे घूरने लगी और फिर उसके चेहरे पर एक अजीब सी मुस्कान फैल गयी. अब आगे की माँ की चुदाई की कहानी:फिर अम्मी उठीं और बोलीं- अब उठने दो … सुबह हो गयी.

एकदम से अन्दर तक लंड घुसा तो वो तड़प उठीं और बोलीं- आह … मादरचोद मारेगा क्या … धीरे डाल.

मैं उसके बदन पर हाथ फेरते हुए बोला:अपना काला केला तेरे बुर में घुसा … कर रहा हूं चूतड़ों को ऊपर-नीचे,मेरे लन्ड से निकलता चिपचिपा रस … तेरी सूखी बुर को अच्छे से सींचे।मैं फिर अपने मोटे शेर के दम पर उसकी अंधेरी गुफा की खुदाई करने लगा. मैंने भैया से बोला- आप इतने जल्दी क्यों जा रहे हो?भईया बोले- ऑफिस से फोन आ गया है, जाना ही पड़ेगा. सुरेश- अरे रघु आओ बैठो … ये मीनू है ना तुम्हारे साथ!रघु- जी बाबूजी, मैंने इसको सब समझा दिया है.

मेरे सामने चूत खोलकर अपनी चुदाई करवा रही नंगी मामी को देख देखकर मेरा जोश और ज्यादा बढ़ रहा था. अम्मी को कुछ समझ पातीं कि राज ने मेरी अम्मी को अपनी बांहों में भर लिया और उनके होंठों को पीने लगा. अचानक से पूरा लंड निकाल कर जोर के झटके के साथ जब मेरा पूरा लंड उसकी गांड में घुसता, तो साला मचल उठता.

मैं बोला- क्या आप एक बार फिर से चुदवाना चाहेंगीं?उन्होंने हां में सिर हिला दिया.

सेक्स बीएफ हिंदी साड़ी वाली: फिर सवेरे सवेरे नहाकर हम दोनों अपने गांव के लिए निकले। उसके बाद जब भी मौका मिलता मैं भाबी के साथ चुदाई में लग जाता। ये सिलसिला 2 सालों तक चलता रहा। इस बीच मैंने भाबी की छोटी बहन की चुदाई भी कर डाली. स्तनों की चोटी के ऊपर तने काले काले चूचक स्पष्ट आकृति में उभरे हुए थे.

वो पानी लेकर आयी, तो पानी लेते समय मैंने उसके हाथ को जोर से दबा दिया. झुककर उसने मेरी चूत पकड़ ली और तेजी से मेरे मुंह में लंड पेलता हुआ मेरे मुंह को चोदने लगा. क्या मस्ती से लंड चूस रही थी वो!अब मैं भाभी की चुदाई करना चाह रहा था.

फिर वो बोलीं- जानू फिर आगे!मैं बोला- फिर मैं आपको पलट दूंगा और आपको पीछे से पकड़ लूंगा.

मैंने फिर से उसकी गांड पर हाथ फेरा, उसकी पतले कपड़े की कैपरी कुछ भीगी हो गई थी. गिलास लड़ाकर हमने चियर्स किया और जैसे ही मैंने पहला घूँट मारा तो उल्काई हुई और सारा बियर मैंने मुंह से बाहर फेंक दिया. सुहानी बहुत ज्यादा खुश हो गई और उसने उनके काले चूतड़ों पर दोनों हाथ रख दिये.