एक्सएक्स बीएफ हिंदी वीडियो

छवि स्रोत,बीएफ वाले

तस्वीर का शीर्षक ,

वेबसाइट सेक्सी: एक्सएक्स बीएफ हिंदी वीडियो, पर उस पर ख़ुशी की मुस्कान सजी थी।फिर हमने एक-दूसरे को चूम कर कपड़े उठा लिए और होशियारी से वहाँ से मैं निकल कर बाथरूम में चला गया, फ्रेश होकर मैं मेरी बाइक लेकर आ गया।घड़ी में बिल्कुल साढ़े चार बजे थे.

बीएफ वीडियो सेक्सी नंगा

पर अकेले में। इसलिए एक-दो किताबें हमेशा हमारे गद्दे के नीचे पड़ी रहती हैं। उस समय मैं कमरे में अकेला था. करवा चौथ का बीएफ वीडियोबस करो न!मैं और तेज़ी से उसकी चूचियों को चूसने लगा।फिर उसने भी अपने हाथों से मेरे लोअर को नीचे किया और अन्डरवियर के ऊपर से ही मेरे लण्ड को सहलाने लगी।मैं उसकी चूचियों को प्यार करते हुए नीचे की तरफ आया और उसकी पैन्टी भी उतार दी। मैंने देखा कि उसकी चूत पर एक भी बाल नहीं था.

शायद 34 साइज़ के थे और उस मदमस्त हसीना का ज़ीरो फिगर था।मैं अपने आपको संभालता हुआ उसका हाथ पकड़ कर उसे अपने तरफ खींच लिया और उसकी कमर में हाथ डाल कर उसकी ओर नशीले अंदाज में देखा. हिंदी हॉट बीएफ सेक्सह्ह्ह्म्म…’मैं उसकी पीठ चूमते-चूमते उसकी कमर के पास आ गया और उस पर अपनी जीभ चलाने लगा।अब तो उसकी हालात और भी ख़राब हो गई और उसकी चूत पानी छोड़ने लगी.

पर पता नहीं इसे उस हालत में देखकर मुझे एक अजीब सा फील आने लगा। शायद एकदम कुँवारी लड़की का बदन देखकर वैसा फील होने लगा था।तभी उसने मेरी तरफ पीठ करते हुए कहा- ज़रा इस ब्रा के हुक्स निकाल दो।उसकी मुलायम और राउंडेड गाण्ड देख कर मेरे लंड में हलचल शुरू हो गईमैंने उसी हालत में ब्रा को अनहुक किया और उसने उस आखिरी कपड़े को अपने बदल से अलग कर दिया।मैं यकीन नहीं कर पा रहा था कि ये वही लड़की है.एक्सएक्स बीएफ हिंदी वीडियो: इनको अपना काम करने दो एंड प्लीज़ आप बीच में ना बोलो।बदल सिंग- ये छोरी तो घनी स्यानी सै.

बड़े ज़ोर का सूसू आया है।पुनीत कमोड पर बैठ गया और पायल को करीब खींच कर अपनी जाँघों पर बिठा कर उसके मम्मों को चूसने लगा। उसका लौड़ा एकदम कड़क हो गया.उनका नाम पंकज है। उनकी पत्नी की उम्र 24 साल है। बीच वाले भाई की उम्र 22 साल है.

जैसलमेर बीएफ - एक्सएक्स बीएफ हिंदी वीडियो

इससे मैं बहुत डर गया और मैं भाग कर बाहर आ गया।फिर थोड़ी देर बाद काजल मेरे कमरे में आई और बोली- भैया आप अभी मेरे कमरे में आए थे क्या?मैंने डरते हुए कहा- नहीं तो.मैंने कहा- मुझे नहीं लगता कि रीमा तुम इतनी हॉट दिख पाओगी कि लड़के तुम पर कमेंट करेंगे.

अब किसी और की मुझे ज़रूरत ही नहीं है।मैं बोला- लेकिन मुझे पूजा को भी चोदना है।तो बोली- राजा मैं तेरी रंडी हूँ. एक्सएक्स बीएफ हिंदी वीडियो मेरा 8″ का लण्ड इतने उफान पर आ गया था कि क्या कहूँ।पहली बार जब किसी को कोई लड़की मिलती है.

मैंने उसके पैर फैलाकर अपना लंड उसकी चूत की फांकों को फैलाकर डालने लगा.

एक्सएक्स बीएफ हिंदी वीडियो?

मेरा कब नम्बर आता है।दोस्तों,मैं आप लोगों को बता दूँ कि कभी भी सेक्स करो तो फुल सेफ्टी से करो. और मेरा उल्टा हाथ अभी भी आगे बैठे जगबीर के लंड पर ही कसा हुआ था, मैं प्रवीण के लंड को देखता हुआ उत्तेजना के शिखर पर था और जगबीर के लंड को मसले जा रहा था।जगबीर बोला- पाड़ेगा के इसनै (इसको उखाड़ेगा क्या)मैंने पकड़ थोड़ी हल्की की और प्रवीण के मर्दाना शरीर को निहारते हुए बार बार पैंट में झटके मारते उसके लंड को देखकर लार गिरा रहा था. Really, this is not a joke (सचमुच, यह मजाक नहीं है।) तुमारा फोन पर voice भी very sexy था।’‘सेक्सी…’ कल्पना ने यह शब्द पहले भी सुना था। डायना से भी अधिक सेक्सी होने की प्रशंसा अजीब लगी।‘में तुमारा फोटो देख के बहुत excited थी। लेकिन सामने में you are more sexy looking than….

इतना कि उसकी सहेलियाँ मुझको मेरी गर्लफ्रेण्ड के साथ देख कर जलती थीं।एक दिन हम दोनों ने मूवी देखना का प्लान बनाया और हम पेसिफिक मॉल में मूवी देखने गए। मेरा तो हमेशा से मन रहा है कि लड़की की चुदाई को हर आसन में और हर जगह पर चोदूं. लेकिन सपन अब भी उनको धकापेल चोद रहा था।एक मिनट के बाद मॉम बोलीं- रूको, मैं ऊपर आती हूँ।अब सपन मेरे बाजू में लेट गया. और उसने एनी के मुँह में लौड़ा घुसा दिया। एक सेकंड में उसका लावा फूट पड़ा और रस की धारा एनी के हलक में उतर गई।अर्जुन तो अपना लौड़ा गाण्ड में ठोके जा रहा था.

फिर हमारी कॉलेज की परीक्षा शुरू हो गईं। परीक्षा होते ही आमिर को अपने गांव वापस जाना पड़ा।हम दोनों फोन पर बातें कर लेते थे और एक-दूसरे के साथ के लिए तड़प भी रहे थे. मैं और भाभी एक-दूसरे को देख कर हँसने लगे।अब मैं रोज मेरी माँ और भाभी को पेलता हूँ और कभी-कभी हगने जाने पर गाँव की बुरें भी चोद लेता हूँ।तो मित्रो, कैसी लगी मेरी काल्पनिक कहानी. खूब मस्ती की।रात को 8 बजे होटल वापस आए और खाना खाया।फिर हम सब सोने लगे.

उसमें दिखाया गया था कि एक लेडी बहुत देर तक मर्द के मुँह पर नंगी बैठ जाती है और शायद झड़ने के बाद ही उठ जाती है. जरा सुनो!वो बोला- क्या हुआ बोलो?मैंने कहा- आपकी जींस बहुत अच्छी है.

मेरा लण्ड कड़क हो गया था।मैंने उसकी कमीज के बटन एक-एक करके खोल दिए। उसने एक छोटी और सुन्दर सी ब्रा पहन रखी थी.

मैं तुम्हें दिल से प्यार करती हूँ और चाहती हूँ कि तुम हमेशा मेरे साथ रहो।फिर हम एक-दूसरे की आँखों में देखते रहे और हमारे लबों का मिलन हो गया। ये एक ऐसा अहसास है.

इसलिए मुझे और ज्यादा सेक्सी लग रही थी।मैडम- अन्दर आओ।मैं अन्दर गया. फिर आधा लंड मुँह में लेकर अन्दर बाहर करने लगी।‘रीता लगता है जीजा जी से बहुत सीखा है?’‘अरे एक दिन मैंने जीजा जी-जीजी को चुदाई करते देख लिया और जीजा जी को पता लग गया. बस ममता को चोदने का मन करने लगा।तभी उसकी बेटी ने कहा- माँ मैं अपनी फ्रेण्ड के यहाँ हो आऊँ?ममता कुछ बोलती.

दीदी मम्मी को देखकर शरमा गईं।फिर मम्मी ने रेखा दीदी की चूत में तेल लगाया, फिर मेरे लंड को हिलाकर कर रेखा की चूची दबाईं और बोलीं- नंगी अच्छी लगती हो. तो उसने नाम के लिए ही विरोध किया।मैंने उसकी सलवार और चड्डी को उसके शरीर से निकाल कर अलग कर दिया. और उसके जैसा शायद कोई मिलेगा नहीं…क्योंकि उसकी तरह के लड़के सिर्फ लड़कियों में ही रुचि रखते हैं.

मैं उनको देखते ही उन पर फिदा हो गया और उनको चोदने का ख़याल मेरे मन में आने लगा।वो मेरे साथ दिन बिताती थीं.

हैलो दोस्तो, मेरा नाम वंशिका है। मैं करनाल हरियाणा की रहने वाली हूँ। मेरे घर में मेरे पापा-मम्मी. मेरा दिल बल्लियों उछलने लगा था, ये दोनों हरामजादे आज रात को मेरी अम्मी की चुदाई करेंगे।अम्मी का तराशा हुआ गुदाज गोरा जिस्म. तो ऐसे ही गोद में लिए मैं सोनी को कमरे में ले आया और उसे बिस्तर पर लिटा दिया।बिस्तर पर लिटाने के बाद मैं सोनी के पूरे जिस्म पर चुम्बन कर रहा था।अधचुदी सोनी अपनी चुदास से तड़फ रही थी और ‘ऊऊऊओ.

पर मैंने उसे सब कुछ साफ-साफ बोल दिया था कि अगर तुम शादी करने के इरादे से ये सब कर रही हो. अब मैं उसको गोद में उठा कर उसके कमरे में ही ले गया। मैं उसे सीधा बाथरूम में ले गया और जोर-जोर से उसकी गर्दन और कान को चुम्बन करने लगा।मैंने प्रीत की होंठों पर चुम्बन किया. तो मैं हल्के-हल्के धक्के मारने लगा।दिव्या बोली- ऐसा क्यों कर रहे हो?तो मैंने कहा- तुम्हें समझाने के लिए.

पर उसने कुछ बोला नहीं।रात को जब हम सब खाना खाकर सोने की तैयार करने लगे.

तो विलास ने उस पर से अपना हाथ हटा लिया। मैंने उत्तेजित होकर उसकी चूची मुँह में भर कर चूसना शुरू कर दिया. उसने ‘हाँ’ बोल दिया, मैंने अपने कपड़े उतार दिए।मैंने देखा कि मेरे पहले दीपक ने अपने कपड़े उतार कर फेंक दिए।मैंने दीपक को जैसे ही नंगा देखा.

एक्सएक्स बीएफ हिंदी वीडियो सुधा एक हाथ में जूस लेके आई और मेरे सिर पर हाथ फेरते हुए कहने लगी- ले ऋतु. अली है। मैं 20 साल का साधारण सा लड़का हूँ और लड़कियों पर ज़्यादा ध्यान नहीं देता हूँ इसी वजह से मेरी कोई गर्लफ्रेण्ड भी नहीं है।मैं म.

एक्सएक्स बीएफ हिंदी वीडियो और मैं जींस में फंसे उसके मोटे मोटे कूल्हों को देखता रह गया।टांगें फैला कर जब चलता था तो क्या मर्द लगता था वो. यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !मैं उसको पागलों की तरह किस किए जा रहा था.

उसी में एक नई अपरिचित सी लड़की भी खड़ी थी। उसे देखकर ऐसा लगा कि वो मेरे ही गाँव के किसी की मेहमान थी।क्या गजब थी.

सेक्सी वीडियो हिंदी बीएफ सेक्सी वीडियो

और पैन्टी के ऊपर से चूत में ही उंगली करने लगा।काफ़ी देर मम्मों की चुसाई के बाद मैं नीचे आ गया और पेटीकोट का नाड़ा खोल कर पैन्टी को चूमने लगा।वो गीली हो चुकी थी. लेकिन मेरा लण्ड उसकी चूत में नहीं घुसा क्योंकि ये मेरा पहला अनुभव था. अचानक मैंने नोट किया कि वो पढ़ाई से ज्यादा मुझमें इंटरेस्ट ले रही है।मैं- नीतू पढ़ाई में ध्यान दो।नीतू- दे तो रही हूँ.

और मैं नॉटी नटखट कंचन हूँ, मैं अभी बीएससी कर रही हूँ। मेरी फिगर 34-30-36 की है, अब तो आप लोग समझ ही गए होंगे कि मैं कितनी हॉट माल हूँ।हमारे खर्चे ऐसे थे कि ना तो हम बहुत ज़्यादा ऐशो आराम से रहते थे. कुछ दिन बाद तो तुम्हारे मजे होने हैं।तो उसने शरमा कर अपना चेहरा झुका लिया।मैं और आगे बढ़ता उससे पहले मुझे बाहर से कुछ आवाज आई, मैंने साली छोड़ दिया और अपनी जानू यानि साली से कहा- मैं तुम्हारे बिना नहीं रह पाऊँगा।रात में उससे फिर से मिलने का वादा करके बाहर चला आया, मेरी साली मुझे प्यासी नजरों से देखती रह गई।मैं जब बाहर आया तो किसी काम से मैं अपने साले की बाईक लेकर बाजार गया. उतनी हो नहीं।पायल- ऐसे घटिया गेम शो पर कोई सीधी लड़की आएगी क्या? अब जल्दी करो और निकाल दो में ब्रा.

अब इसकी भाषा आधी हरयाणवी तो आधी मारवाड़ी है।आप तो बस जल्दी से मुझे अपनी प्यारी-प्यारी ईमेल लिखो और मुझे बताओ कि आपको मेरी कहानी कैसी लग रही है।कहानी जारी है।[emailprotected].

और वो टूटी हुई छतरी उठाने के लिए झुकी तो उसके कूल्हों की शेप ने तो कहर ही ढहा दिया. वो बोली- अन्दर ही निकाल दो।फिर मैंने अपना रस उसकी चूत के अन्दर ही छोड़ दिया और उसके ऊपर ही लेट गया।उसने मुझे किस किया और बोली- जान तुमने आज बहुत मजा दिया. तो मैंने तो मैंने चोदना चालू किया।करीब 20 मिनट चुदाई चलने के बाद वो झड़ गई।मैं फिर भी चोदता रहा और स्पीड पहले से बढ़ा दी। दस मिनट चोदने के बाद वो फिर झड़ गई.

तब काजल ने आँखें बंद कर लीं।यह देखकर मैं इतना खुश हुआ कि मैं बता नहीं सकता।मैं काजल के लबों को चूमने करने ही वाला था कि मेरी माँ ने रसोई में किसी बर्तन की आवाज़ कर दी. और मैंने गद्दे को वापस कमरे में रख दिया। अब तक दोनों ने कपड़े भी नहीं पहने थे. तो जनाब उसे घूर क्यों रहे थे।मैंने कहा- वो तो मैं उसकी टी-शर्ट का ब्रांड देख रहा था।मैंने यह बात अपनी जीभ निकालते हुए बोली.

हम दोनों ने बात करनी शुरू की और जल्दी वो मेरी रोमांटिक बातों से प्रभावित हो गई और अपने पर्सनल बात शेयर करने लगी।धीरे-धीरे हमारी बातें सेक्स की ओर बढ़ने लगी। उसने बताया कि उसकी शादी काफी कम उम्र में उसकी मर्ज़ी की खिलाफ हो गई थी. मुझे उम्मीद थी कि उसकी चूत भी गुलाबी ही होगी। फिर मैंने पैन्टी सरकाई और उसकी चूत निहारने लगा। उसकी चूत डार्क गुलाबी थी.

मैं भी करीब ही था।आखिरकार मैं भी इंसान था, मैं भी झड़ गया, मैंने फ़टाफ़ट अपना लौड़ा बाहर निकाल लिया और दिव्या को सीधा करके उसके मम्मों के बीच में लन्ड रख कर हिलाने लगा।मैंने उसे कहा- प्लीज़ मेरे लिए अपना मुँह खोलो. आप सेक्स करने से पहले अपना लंड अच्छी तरह से क्लीन करें उसके बालों को शेव करें और उसे साबुन से साफ़ करें।4. मैंने भाभी के मम्मों को चूमते हुए किस करना शुरू कर दिया। मेरा लण्ड फिर से खड़ा हो गया था। मैं बिस्तर से खड़ा हुआ बड़ी वाली लाइट को जला दिया और भाभी को कुतिया जैसे बनने को कहा। भाभी ने वैसा ही किया और मैंने अपना लण्ड पीछे से उनकी चूत में डाल कर उनको चोदने लगा।अबकी बार काफी देर तक चुदाई के बाद मैं और भाभी दोनों झड़ गए और एक-दूसरे की बाँहों में नंगे ही सो गए।सुबह 6.

तो हमेशा देख कर मुस्कुराती, इशारे करती, मैं बहुत खुश हो जाता कि वो मुझे पसंद करती थी।मैं उसे चोदने के बारे में सोचता रहता था.

लेकिन मैं ऐसा करना नहीं चाहता, मैं किसी अन्य लड़की के बारे में सोच भी नहीं सकता. तो मैंने वक्त बरबाद ना करते हुए उससे बोल दिया- रितु, मैं तुमसे प्यार करता हूँ।उसने सर झुका कर ‘हाँ’ कर दी और उस दिन मेरी खुशी का ठिकाना ना रहा और मैंने उससे उसका मोबाईल नंबर लिया और अब हमारी बात होनी शुरू हो गई।धीरे-धीरे प्यार गहरा होता गया और हम सेक्स की बातें करने लगे।अब तो हम दोनों ही मौके की तलाश में थे कि कब मौका मिले और हम एक-दूसरे को पूरी तरह से पा लें।फिर उसके पेपर शुरू हो गए. अब तो हद हो गई… मैंने धीरे से उसकी जींस का बटन खोला और जिप को खोल दिया।लाल रंग के अंडरवियर में लंड साइड में लगा हुआ था जिसकी शेप एकदम साफ दिख रही थी और मस्त लग रही थी और उसके भारी भारी आंड उसकी जिप को अभी भी उठाए हुए थे।मैंने धीरे से अंडरवियर के ऊपर से ही लंड को छूआ और मेरे बदन में सरसराहट सी दौड़ गई.

मैंने गेट खोला और एक आंटी अन्दर आईं और बोलीं- मुझे सुधा से मिलना है।सुधा- आओ शांति. जिसमें लड़की का भाई अपनी बहन को अपने दोस्त के साथ चोद रहा था।वीडियो देखते-देखते में अपनी चूचियों को मसलने लगी.

यही वजह थी कि मैं मॉडर्न लड़की होकर भी आज तक कुंवारी हूँ।मैंने अभी तक किसी को अपने आपको टच नहीं करने दिया था। हमारे मोहल्ले के सभी लड़के और अंकल मुझे देख कर ‘आहें. और उसके झड़ने के 10 मिनट के बाद मैंने भी अपना माल उसके पेट पर छोड़ दिया. उसने अपनी टांगें भी खोल दीं।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !गाड़ी में यह दृश्य बहुत मस्त था… मेरी बीवी एक गर्म सस्ती औरत की तरह अपनी चूत नंगी कर टांगें खोल कर बेशर्मी से बैठी थी और दुपट्टे के नीचे उसकी चूचियाँ नंगी.

सेक्सी बीएफ भाभी देवर की

या फिर छूट गई है? बहुत दिनों से तुम्हें छत या बाल्कनी में मंडराते हुए देखा नहीं है.

अब बारी पेटीकोट की थी, मैंने वो भी उतार दिया, अब मैं सिर्फ़ ब्रा-पैन्टी में थी। मैं पीछे से फोटो देने लगी. तो मैंने जाकर ग़ेट खोला। सामने काम वाली आंटी खड़ी थी। मैं आकर अपने बिस्तर पर लेट गया।आंटी अपना काम करने लगी, वो जब भी मेरे तरफ देखती. तो मैंने भाभी से पूछा- आपकी सेक्स लाइफ कैसी चल रही है।तो वो आह भर कर बोलीं- कुछ खास नहीं है.

मैंने कहा- ठीक है भाभी जी।लेकिन थोड़ी देर बाद फिर फ़ोन आया तो भाभी बोलीं- तुम पढ़ाने आ जाना. ?इस वक़्त मानो ऊपर वाले ने मेरी सुन ली हो या यूँ कहूँ कि जो भी मैं रब से मांगता हूँ. सेक्सी रेप बीएफसे करवा दी।उसके साथ बात करने के बाद भाभी ने मुझे गले लगा कर बधाई दी फिर उन्होंने मुझसे पूछा- कितने साल हो गए तुम दोनों को?मैंने कहा- अभी तो एक महीना ही हुआ है.

पर विलास पूरी मस्ती से उसकी दुपट्टे से ढकी पर नंगी चूचियाँ सहलाता रहा।हम जब पहले वाली सुनसान जगह पहुँचे तो मैंने आज पहले से भी ज्यादा सुनसान और ऐसा इलाका चुना. अब मैं सातवें आसमान में पहुँच चुकी थी।फिर थोड़ी देर बाद चूत में से कुछ चिपचिपा सा पदार्थ निकला और उसके निकलते ही मैं निढाल हो गई।शायद इसी को लड़कियों का स्खलन बोलते हैं।सुबह हो चुकी थी.

इस कारण में अभी भी जोश में था। मैंने खाना खाया और सोने चला गया। भाभी और बहन मेरे ही कमरे में सोई हुई थीं।उनका बिस्तर नीचे ज़मीन पर लगा था. मैं अक्सर उनके घर भाभी के पास पढ़ने के लिए जाया करता था और इस बहाने उनको देखकर आँखें भी सेंक लिया करता था. मगर उसकी ज़ुबान लड़खड़ा रही थी। पायल का भी कुछ-कुछ यही हाल था।पायल- भाई अपने ये क्या कर दिया.

’ उसने मुझे डरा हुआ देखा तो बोली और उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपने पास बैठा लिया।‘आप यहाँ कैसे?’‘यार आज घर पर कोई नहीं था तो पापा ने मुझे बोला था कि मैं सुबह-सुबह ऊपर जा कर देख आऊँ।’ उसने जवाब दिया।‘वो तो ठीक है. जो किसी बात का बुरा नहीं मानती थी।बातों-बातों में मैंने उसको बोला- तुम्हारा बॉयफ्रेंड तो तुमसे बहुत परेशान रहता होगा?नीलोफर ने थोड़ा सा गम्भीर होकर बोला- हाँ. मेरे खड़े लंड का प्यार भरा प्रणाम। आपको मेरी कहानी पसंद आई? प्लीज़ मुझे मेल कीजिए और मुझसे दोस्ती कीजिए। मुझे आपके मेल का बेसब्री से इंतजार है।[emailprotected].

तो उसकी गाण्ड से मेरा सारा माल निकल कर मेरी ही झांटों के ऊपर टपकने लगा।वो बोली- मैं सब साफ कर दूँगी.

पर रिया फोल्डिंग पर थी।आज रिया थोड़ा बदली-बदली सी लग रही थी। मेरे सर में कुछ दर्द सा था. लेकिन ज़्यादातर मुंबई में ही रहती थीं।नीचे का एक बेडरूम मेरा था और एक बेडरूम मेरी बहन का था.

एक मामूली पुलिस वाले को नहीं समझा सके और आपके ही दोस्त की एसीपी तक से पहचान है।पुनीत- सॉरी पायल. मुझे बहुत गुस्सा आ रहा था क्योंकि मैं खड़े लण्ड पर खोटी बर्दाश्त नहीं कर पा रहा था।मुझे गुस्सा उस लड़के पर भी आ रहा था. तुमने आज मुझको एक साथ इतना सुख दिया।मैं- जान हम दोनों ने एक-दूसरे को सुख दिया है।मैंने टाइम देखा, अभी 3 बज रहे थे मेरे पास अभी और वक़्त था कि मैं उसको एक बार और चोद सकता था। मैंने टिश्यू पेपर से उसकी चूत और लण्ड को साफ किया और उसके जिस्म को सहलाने लगा।ममता- हटो, मुझे टॉयलेट जाना है.

इसलिए इस स्टोरी के हर एक शब्द को 100-100 बार बड़े ध्यान से पढ़िएगा और हर एक चीज़ को एक एग्जाम की तरह याद कर लीजिएगा।ज़िंदगी यही है दोस्तो. नहीं तो मुझे फिर से सब को कहने में ज़रा भी देर नहीं लगेगी कि आज ये फिर से छत पर नंगा था. तो मैं उसे अक्सर पूछता- क्या लड़कियों का भी माइंड सेक्स की तरफ घूमता रहता है?तो वो कहती- हाँ.

एक्सएक्स बीएफ हिंदी वीडियो ’ कोई कह रहा था कि ‘क्या कपल है!’एक मेरा लण्ड भी बैठने का नाम नहीं ले रहा था. तो वो दोनों भी सीधे वाले कार्नर में हमारे साथ ही बैठ गईं।अब स्थिति कुछ इस प्रकार थी कि पहले सुरभि.

इंडियन बीएफ सेक्सी देहाती

फच्च की आवाज़ के साथ पूरा लौड़ा चूत में समा गया और कोमल एक बार फिर दर्द से कराह उठी- आह्ह. पर नार्मल सा रियेक्ट कर रही थीं।फिलहाल इंटरवल में अब हम चारों बाहर आए।मैं टॉयलेट में चला गया. मेरी सेक्सी देसी कहानी के पिछले भागट्रेन में फंसी पंजाबन कुड़ी -1में आपने पढ़ा:अब आगे…जैसे ही उसने बोलना बन्द किया.

मैं भी तेज़-तेज़ धक्के मारने लगा और उसके दूध को जानवरों की तरह दबाने लगा। तभी एक तेज़ मज़े के साथ मेरा माल उसकी चूत में भर गया और मैं तेज़-तेज़ साँस लेने लगा। थोड़ी देर बाद हम दोनों ने अपने कपड़े ठीक किए. तो फिर प्रियंका ने उसको चुदाई वाला वीडियो दिखा दिया।सुरभि- ओह्ह्ह माय गॉड. बीएफ सेक्सी बड़ी चूत वालीतो उसमे बोला- मेरा नाम प्रिया है।अब मैं प्रीत भाभी को ही देखता हुआ आ रहा था.

फिर भी मैं 20 मिनट तक मैडम को चोदता रहा।इसी बीच मैडम दो बार पानी निकाल चुकी थीं। हम दोनों हाँफने लगे। थोड़ी देर बाद हम नॉर्मल हो गए।मैडम बाथरूम में चली गईं, फिर थोड़ी देर बाद मैं भी बाथरूम हो कर आया।जब तक मैं बाथरूम में था मैडम ने हम दोनों के लिए कॉफी बनाई।मैडम- आज लाइफ में पहली बार सेक्स करते समय इतना मजा आया कि मेरे पास बताने के लिए शब्द नहीं है.

ऐसा लगा जैसे उन्हें निचोड़ कर पी जाऊँ।फिर हम दोनों एक-दूसरे में समाते चले गए, मैंने उनके बदन से सारे कपड़े उतार दिए और वो बस लंबी-लंबी साँसें भर रही थीं।हम दोनों अब नंगे हो चुके थे और फिर मैंने धीरे-धीरे ऊपर से लेकर नीचे तक उन्हें खूब किस किया।तभी मेरी नज़र उन दो फाकों पर गई. ’ करने लगी।वो भी अपने हाथ को मेरे अंडरवियर के ऊपर से रगड़ने लगी और मेरे लौड़े को जोकि उसके होंठों का स्पर्श मेरे होंठों पर होते ही तन कर खड़ा हो गया था.

उसके बाद तुझे चोदना शुरू करूँगा।‘इतना सब करोगे तो मेरी चूत का लावा फूट जाएगा. जिसको मैं लण्ड पर महसूस कर रहा था।चूत की दीवारें मेरे लण्ड को जोर से जकड़ रही और छोड़ रही थीं।मैंने भी रुक कर उसको पीठ की बल लिटा कर फिर से चोदना शुरू कर दिया।अब ‘फ्च्छ. पर तुम्हें क्या काम आता है?उसने कहा- जी मुझे खाना बनाना आता है।मैं- ओके.

और हमें देख रही थी।यह सुन कर भाभी डर गईं कि कहीं वो भैया को ना बता दे.

उसने खुद के सर को मेरे छाती में छुपा लिया उसे शरम आ रही थी।उसकी ब्रा के ऊपर से ही मैं उसके मम्मों को चूसे जा रहा था और दबा रहा था। वो बहुत ही मुलायम थे. मगर उसने बहुत प्यार से पायल को समझाया कि वो किसी हाल में नहीं हारेगा और अगर हर भी गया तो पायल को कुछ होने नहीं देगा. उसको कहाँ छोड़कर आ गए?‘माँ वो रास्ते में अपने किसी दोस्त के पास किसी काम से चला गया.

ब्लू फिल्म दे बीएफपर अभी उसे ये नहीं पता था कि उसकी चूत से खून भी निकला है।मैं उसे दबा कर चोदे जा रहा था. मतलब सीधे नहीं देखा और मेरे लौड़े की एक झलक देखते ही अपनी नजरें एकदम से हटा लीं और आँखें बंद कर लीं.

बांग्ला बीएफ बांग्ला बांग्ला बीएफ

पर पसंद कोई प्रोग्राम नहीं आ रहा था।फिर मैंने टीवी बन्द कर दिया और गद्दे के नीचे से एक किताब निकाली और पढ़ने लगा।मैं आप लोगों को बता दूँ कि कमरे में हम दो ही लोग रहते थे. जो कि हमेशा लॉक ही रहता था क्योंकि मेरे डैड का ट्रांसफर मुंबई में हो गया था. तुम कब आईं?और थोड़ी इधर-उधर की बात के बाद मैंने उसे पानी के लिए पूछा तो उसने ‘हाँ’ कर दी और मैं पानी लेने चला गया और उसे पानी ला कर दिया।तब मैंने ना चाहते हुए भी उससे चाय के लिए पूछा.

फिर हम अपने-अपने कमरों में चले गए।मैंने वो रविवार बड़ी मुश्किल से काटा और जैसे ही सोमवार का दिन आया. तो मैंने भी उसकी चूत पर पहला हमला कर दिया।वो पहली धक्के में ही चिल्ला पड़ी. जब मैं पहनूँगी।दोस्तों अब सुबह से दोपहर हो गई और कुछ ऐसी बात भी नहीं हुई.

शायद उसका भाई था। उसे जगह ऑटो के पीछे बैठने की जगह मिली थी।उसने आवाज देकर पूछा- दीदी जगह मिली क्या?लड़की ने ‘हाँ’ करके जवाब दिया।हमारी ऑटो चल पड़ी. नीचे आपके गेट के पास बहुत सारे लोग हैं।मैंने बोला- कोई बात नहीं आप ऊपर से अपनी छत से आ जाओ. जैसा मैंने चाहा वैसा किया।दोस्तो, आप सोच रहे होंगे कि कहानी कहाँ से शुरू हुई थी और कहाँ जा रही है।पर विश्वास रखिए मैं एक एक बात सही और सच्ची लिख रहा हूँ.

जो मेरी पहली स्टोरी में भी थी (सिनेमा हॉल में गर्लफ्रेंड और उसकी सहेली) जो उसी हॉस्टल में दूसरे मंजिल में अर्चना दूसरे कॉलेज की है. यदि आप ये जानना चाहते हैं कि आपकी पार्ट्नर आपसे सेक्स करते टाइम संतुष्ट हुई या नहीं.

बोली शाम को देख लेना। अब इतना टाइम लगा रही है तो जरूर कोई लहँगा वगैरह लिया होगा.

वो ज़ोर-ज़ोर से चिल्लाने और रोने लगे।मैंने अपनी पैन्टी उनके मुँह में घुसेड़ दी और बोली- चुप हो ज़ा मादरचोद. हिंदी बीएफ देखने वाला वीडियोमेरे बदन में करंट दौड़ गया।उन्होंने मेरा पजामा एक ही बार में अंडरवियर के साथ नीचे कर दिया और मेरे लंड को हाथ में लेकर हिलाते हुए बोलीं- तेरा लंड तो कितना बड़ा है. चीन बीएफ वीडियोतो मैंने फिर से अपना हाथ उनके पेट पर रखा और चूचे सहलाते हुए उनकी सलवार का नाड़ा पकड़ कर खोलने लगा।भाभी ने मेरा हाथ पकड़ कर दूर कर दिया और दूसरी और करवट लेकर सो गईं।भाभी के इस विरोध से मैं डर गया और उनसे थोड़ा दूर हो गया। उनके बारे में सोचते-सोचते कब आंख लग गई. बोली- अभी नहीं।अब हम तीनों ने खाना खाया और अब मैंने कहा- नेहा भाभी एक कॉफ़ी मिलेगी क्या?तो बोली- क्यों नहीं।नेहा बोली- पर एक शर्त पर.

मगर अपने जिस्म से हटाया नहीं और वापस से मुझे चूमने लगी।अब मेरे हाथ बिना किसी रोक-टोक के उसके रुई के जैसे मुलायम जिस्म पर इधर-उधर फिसले जा रहे थे और उस खूबसूरती को महसूस कर रहे थे।मेरे हाथ अब उसके स्कर्ट के अन्दर जाकर पैंटी के ऊपर से ही उसकी मस्त और मादक चूतड़ों को छू रहा था।उफ्फ.

जिसके ऊपर केक रखा हुआ था। उसने आते ही हमें इस हाल में देखा तो पहले तो हमारी तरफ थोड़ा घूर कर देखने लगी. तो वो अचानक चौंक कर उठी और मुझे मना करने लगी।मैंने जब ज़िद की और नाराज़ होने लगा तो रिया ने अपने मम्मों की तरफ इशारा किया- इनको चूसो न. और धमाकेदार चुदाई के बाद उसकी चूत में ही झड़ गया।झड़ने के बाद मैं भी थोड़ी देर के लिए लेट गया।जब वो उठी तो तो उसने खून देखा.

वो मुझसे दो साल बड़ी है।शाम को सब घर आ गए और तब ही मुमानी आईं और कहने लगीं- सब लोग खाना खा लो।सबने एक साथ खाना खाया और सोने चले गए।गर्मी होने के कारण सब बाहर सोने लगे, सबने अपनी चारपाई आगंन में डाल ली।इत्तफाक से सायमा ने चारपाई मेरे बाजू में डाल ली, मेरे एक तरफ सायमा और एक तरफ मुमानी थीं।सब सो गए लेकिन मुझे नींद कहाँ आ रही थी, मेरा मन तो बस सायमा को चोदने का हो रहा था, रात के बारह बज गए थे. दूसरों की नज़रों से छिपाना चाहते हैं? लेकिन इस औरत के सामने वहाँ जाना मुझे अच्छा नहीं लगा. ’मुझे उसकी बात सुन कर बहुत जोश चढ़ गया और मैंने नीचे झुक कर उसकी चूत को अपनी हथेली से भर लिया.

बीएफ सेक्स मसाला

हम दोनों ने अपना कार्यक्रम चालू कर दिया। मैंने उसके कपड़े खोलना शुरू किए और उसको कुछ ही पल में पूरी नंगी कर दिया।मैं उसके होंठ चूमते जा रहा था. पर मुझे तो उसकी चूत ने दीवाना बना रखा था। मैं कहाँ उसकी सुनने वाला था।एक दिन. रज़ाई हटाई और अंधेरे में ही उसके गालों को चूमा और सोने के लिए दीवान पर आ गया।अगले दिन सभी का नशा उतरा.

मौसा जी ने रवि को बुलाया और कहा कि तू अंश को अपने साथ ले जा दूसरे लड़के को हम बस में भेज देंगे।ये सुनकर मेरे पैरों तले से ज़मीन खिसक गई.

मुझे बहुत गुस्सा आ रहा था क्योंकि मैं खड़े लण्ड पर खोटी बर्दाश्त नहीं कर पा रहा था।मुझे गुस्सा उस लड़के पर भी आ रहा था.

मरती क्या न करती।मनीषा ने किशोर को उसी कमरे में बुला लिया।होली वाले कपड़े पहने किशोर कमरे में आये तो हम तीनों को नंगे देख कर मुस्कराने लगे, मनीषा से बोले -…कैसा रहा डार्लिंग…??मनीषा बोली-. सन्नी की आवाज़ सुनकर कोमल थोड़ा सा चौंक गई और जल्दी से अर्जुन से अलग होकर बैठ गई।कोमल- ओह्ह. एक्स एक्स एक्स बीएफ वीडियो डाउनलोडसाथ में अपना काम भी कर रहा था और महसूस कर रहा था कि कल के मुकाबले आज वो मुझसे ज़्यादा खुलकर बात कर रही है.

मुझे तो पता भी नहीं था कि इतना बड़ा भी होता है। राकेश का तो बिल्कुल छोटा सा है. तभी मेरा लंड खड़ा हो गया।‘राजू क्या सोच रहे हो?’फिर से मैंने होश संभाला- कुछ नहीं।सविता- राजू थोड़ा इधर आना. आप दोनों की डयूटी है कि मेरी दोस्त को आपने अच्छे से शांत करना है… जैसे उस दिन मुझे चोदा था सालों.

इसलिए उसे अपने दिल की बात कह ना सका। वो भी मुझे प्यार करती थी लेकिन उसे भी वो ही डर था जो मुझे था।लेकिन एक दिन वो मुझे स्कूल जाते समय अकेली मिली, मैंने सोचा आज सही मौका है. तो आप कभी भी मुझसे बात कर सकती हो।भाभी ने हँसते हुए मुझे अपना नंबर दिया।मैंने कहा- आप ना हँसते हुए बहुत ही क्यूट लगती हो।फिर भाभी बोली- अच्छा अब चलती हूँ।मैंने कहा- ओके!जब वो जा रही थी.

क्योंकि रात को फिर से वापस ऋतु के पास जो आना था।तो दोस्तो, कुछ इस तरह हुई थी पड़ोसन भाभी की ननद की चुदाई।आप अपने विचार जरूर भेजें कि आपको यह चोदन कहानी कैसी लगी। मुझे आप सभी के ईमेल का इंतजार रहेगा।[emailprotected].

मैंने वहाँ खड़े होकर ताज़ी हवा ली और फिर फ्रेश होने चला गया।जब मैं फ्रेश होकर नाश्ते के लिए नीचे आया. ठीक 11 बजे उसके घर पहुँचा।वो नेट वाली आसमानी कलर की साड़ी पहने थी और डीप लो कट ब्लाउज. वहाँ मैंने अपने लण्ड को साफ़ किया और उसकी चूत को भी साफ़ किया और वापस आकर बिस्तर पर बैठ गए, हम दोनों बातें करने लगे।मैंने उसको पलंग पर उल्टा करके लिटा दिया और उसके जिस्म पर किस करने लगा। किस करते-करते मैं उसकी गाण्ड की तरफ आया और उसको भी किस किया।उसके चूतड़ भी चिकने नज़र आ रहे थे। मैंने अपनी ज़ुबान उसके कूल्हों पर फेरनी शुरू कर दी और उसके सुराख में अपनी ज़ुबान डाल दी.

तमिल बीएफ बीएफ साथ ही मैं भी तेरे मुँह में अपनी चूत से अपनी जवानी का रस छोड़ने वाली हूँ. पर मेरे दोस्तों का कहना है कि मेरी हाइट 6 फिट और गोरा दिखना लड़कियों को मेरी तरफ आकर्षित करता है।बात तब की है.

तो फिर?’‘मेरा मन उस पर आ गया।’‘मतलब?’‘उसके साथ सेक्स करने की इच्छा हुई।’‘उसका क्या रिएक्शन था?’‘सच कहूँ. मोबाइल ऑटो लॉक हो गया।सुरभि ने कसमसा कर मोबाइल वहीं छोड़ दिया और गहरी सोच में पड़ गई।तभी अचानक से उसके कान में प्रियंका की आवाज आई- मैम कहाँ खो गईं. कैमरा ऑन हो गया। मैंने सबसे पहले अपनी साड़ी निकाली और बोली- ये नीचे टाँगों और मेरी चूचियों को ढकने में काम आती है। अब बारी थी मेरे ब्लाउज की.

तुर्की बीएफ

वैसे भी मुझे भी चुदाई का लुत्फ़ लिए काफी समय बीत गया था।जब बॉस का चूत चाटने से मन भर गया तो उन्होंने मुझे पलट दिया और मेरी गाण्ड चाटने लगे। दोनों हाथों से मेरी चूतड़ों को चीर दिया और अन्दर मेरी गाण्ड का छेद चाटने लगे. तो वो दोनों ट्रक के बाहर ही खड़े थे।ट्रक ड्राइवर ने मुझसे आगे ले जाने के लिए पैसे माँगे।मैंने कहा- पैसे की तो कोई बात नहीं हुई थी।मैं डर के मारे काँपने लगी. जैसे मेरी आखों के सामने पूरा का पूरा उस दिन का वीडियो चल रहा हो।सच में मुझे बहुत मज़ा आया, मेरी बरसों की तमन्ना पूरी हुई.

सुधा एक हाथ में जूस लेके आई और मेरे सिर पर हाथ फेरते हुए कहने लगी- ले ऋतु. और मैं समझ गया कि अब माँ झटके लेने को तैयार हैं।मैंने झटके लगाना चालू किया.

जो लड़के मर्दों को पसंद करते हैं उनकी फीलिंग बिल्कुल लड़कियों वाली होती है। वो भी किसी लड़के को ऐसे ही पसंद करते हैं जैसे हम लड़कियाँ करती हैं और दूसरी तरह के समलैंगिक गांड मारने में रुचि रखते हैं.

क्योंकि वो खुद उछल रही थी और मैं उसके चूचों को मसल रहा था।करीब 20 मिनट बाद मेरा वीर्य उसकी चूत में ही निकल गया। मैं उसके ऊपर आकर ऐसे ही लेटा रहा।मैंने 4 बजे तक उसे अलग-अलग आसनों में चोदा।उसने तब अपनी लड़की को उठाया और मुझे बाहर तक छोड़ आने को कहा।मैं पैदल ही अपने ठिकाने पर 5 बजे तक पहुँच गया।मैंने उसके बाद भी उसको बहुत बार चोदा. बस मुझे तो उसके नाम से भी प्यार हो गया और उसके करीब जाने के बहाने तलाशने लगा। लेकिन शाम हो गई मुझे कोई खास कामयाबी नहीं मिली। लेकिन मेरी इन कोशिशों को दीपेश कुछ कुछ समझ रहा था, लेकिन वो चुपचाप मेरे साथ इंटरनेट पर गाने सुनता रहा।रात हुई और हम खाना खाकर सोने लगे. मैंने कभी इतना खूबसूरत एहसास नहीं किया था।थोड़ी देर में मम्मी-पापा आ गए.

और मैं भी अपने बच्चों में खोई रहती हूँ। आजकल तेरे जीजाजी मुझे बस हफ़्ते एक या दो बार ही चोदते हैं. ’इस आसन में मैं बिना सहारे के कारण ठीक से सोनी को चोद नहीं पा रहा था. प्लीज़।मेरे रिक्वेस्ट करने से वो मान गई और उसने मेरी कैपरी की चैन खोली और अन्दर उंगली डाल कर मेरे लिंग को दोनों उंगलियों से पकड़ कर बाहर निकाला और अपने मुँह से ‘श्श्सश्.

और हम दोनों थक कर वहीं लेट गए।पता ही नहीं चला कि हम दोनों की नींद कब लग गई।मॉर्निंग में जब उठे तो मेरा राजा मेरे ऊपर ही चढ़ा था.

एक्सएक्स बीएफ हिंदी वीडियो: जिसके कारण और बहुत ही सेक्सी और फिट दिखती थी।उस चुस्त सूट में उसकी बड़ी चूचियों के बड़े ही कामुक दीदार हो रहे थे साथ ही उसकी एकदम गोल चूचियों के चूचुक भी काफी सख्त और स्पष्ट उभार लिए हुए दिखाई दे रहे थे।मैं उसे देखने के बाद मदहोश हो गया और उसकी तरफ एकटक देखता ही रह गया. तो मुझे हॉस्पिटल ले जा कर मेरी सफाई भी करा लाया।यह सिलसिला काफ़ी समय तक चला.

फिर उसने चादर निकाल कर ट्रेन के फ्रेश पर बिछा दी और कहा- लेट जा मेरी जान. इससे मेरा लण्ड खड़ा हो गया।वो मेरा लण्ड देख कर बोली- बाबू ये क्या है??मैंने जवाब दिया- ये तुम्हारे लिए रोज़ फ्लावर है. जिनको पढ़कर मेरा भी दिल अपनी आप बीती लिखने का किया और मैं हाजिर हूँ अपनी कहानी के साथ।जब मैं 18 साल का हुआ था.

यहीं सब कुछ करोगे क्या?मैंने कहा- हाँ जी, एक राउंड तो यहीं होगा।सोनी बोली- यार ठण्ड भी लग रही है और किसी ने देख लिया तो?मैंने उसको पकड़ा और उसके पीछे से चिपक गया और उसे कसके जकड़ लिया। उसकी कमर में दोनों हाथों को बांध लिया और फिर चारों तरफ उसको घुमा कर बोला- देखो कोई दिख रहा है यहाँ पर.

इसकी डिटेल में आपको इस घटना के अगले भाग में विस्तार में लिखूंगी।मेरे साथ अन्तर्वासना से जुड़े रहिए और मेरी इस कहानी पर अपने कमेंट्स मुझे जरूर लिख भेजिए।मेरी पोर्न स्टोरी जारी है।[emailprotected]कहानी का अगला भाग :मास्टर ज़ी ने मुझे चोद डाला-2. तो वो कुछ घबराई हुई लग रही थीं।उन्होंने कहा- शिवम जल्दी से मेरे बंगले पर आ जाओ. पर मैंने अपना काम चालू रखा।काफ़ी देर की जबरदस्त चुदाई के बाद मैंने कसके उनकी चूत में अपना सारा रस छोड़ दिया।मेरे दोनों पैर और पूरा लौड़ा और साथ ही भाभी का बिस्तर.