स्कूल का बीएफ

छवि स्रोत,रानी परी और बालवीर की सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

चोदने वाली बीएफ बीएफ: स्कूल का बीएफ, मेरी तो चीख ही निकल गई उसकी बेरहमी से- ईई ई ई एई ओह्ह्ह ओह्ह्ह!एक स्त्री को मर्दाने जिस्म का सुखद अनुभव ही तभी होता है जब मर्द उसको मसल के रख दे; पोर पोर में करेंट दौड़ा दे; बेरहम बन के शॉट मारे अपने लंड को बुर में में बेरहमी से डाल के ताबड़तोड़ झटके लगाए; चूचियों को मसले निप्पल को काटे.

ब्लूटूथ पिक्चर सेक्सी पिक्चर

क्या आपके पास कोई मुद्दा ही नहीं है बात करने का?”और सभी सहेलियां कहती हैं- अच्छा छोड़ो ये चुत चुदाई की बातें. हिट सेक्सी हिंदीअब मेरे एक फ्रेंड की शादी तय हो गई है तो उसकी शादी अटेंड करने के लिए अब घर जाना पक्का है.

भाई से चूत चुदाई की मेरी रियल सेक्स स्टोरी आपको कैसी लगी?[emailprotected]. देसी सेक्सी वीडियो गीतमैंने फिर दीदी के मम्मों को चूसना स्टार्ट किया और निप्पल को मुँह में लेकर चूसने लगा.

मैंने पूछा- क्या बात है अंदर क्यों झांक रही हो?तो वो शर्माती हुई ‘कुछ नहीं दीदी’ कह कर हॉल में झाड़ू लगाने लगी.स्कूल का बीएफ: वो मुस्कुराई तो मैंने उसका हाथ पकड़ा और अपने लंड पर रखवा कर घुमवाने लगा.

इतना सुन कर मैंने उसको अपनी गोद में उठाया और किस करते हुए उसके भाई भाभी के बेड पर लिटाया, खुद उसके ऊपर लेट कर एक दूसरे को किस करते रहे.उस समय मैं नहाने जा रही थी, मैंने उनसे थोड़ी देर में नहाकर आने के लिये बोला.

उत्तरा की सेक्सी वीडियो - स्कूल का बीएफ

वो बस मेरे सामने देखती ही रही और मैंने अपने होंठ उसकी गीली आँखों पर लगा दिए और उसके आँसू पी गया.मैंने नेहा की दोनों टांगों को फैलाया और नेहा उसकी चूत की फांकों को अलग अलग करके एक गहरा चुम्बन लिया और कुछ देर तक उसकी चूत को चूसा.

उनके विशाल लंड से रस की धारा निकलने को बेताब थी, तभी उन्होंने जल्दी से लंड को बाहर निकाला और पास पड़े प्याले में सारा रस निकाल दिया तब जाकर उनको सुकून मिला. स्कूल का बीएफ सुबह बस हैदराबाद से 30 किमी पहले ब्रेकफास्ट के लिए रुकी, रश्मि ने मुझे उठाया नहीं, बल्कि कंडक्टर को बोल के मुझे उठवाया.

मेरे होंठ उसकी योनि रस से सराबोर थे और अब मेरा कंट्रोल भी खत्म होने लगा था.

स्कूल का बीएफ?

फिर थोड़े देर बाद मैंने नोटिस किया कि वो अपने पर्स से निकाल कर कुछ पी रही थी, पता नहीं क्या था मगर स्मेल वाइन जैसी आ रही थी. तरुण के लिंग में हो रही इस क्रिया के कारण मैं योनि में हो रही असुविधा को भूल गयी और उससे मिलने वाले आनंद को दुगना करने के लिए योनि को सिकोड़ कर तरुण के लिंग को जकड़ लिया. सांझ के समय तथा देर रात तक सरिता और मैं बातें करती रहतीं तथा अपने परिवार एवं अतीत के अनुभवों को भी साझा करती रहती.

फिर मैंने एक और झटका लगाया और नेहा की चूत में मेरा पूरा लंड चला गया, ऐसे ही मैंने दो तीन और झटके लगाए तो मेरा पूरा लौड़ा नेहा की चूत के अन्दर मज़े देने लगा था. फ्लॉरा और टीना पास में एक साथ बेड पर लेटी हुई थीं और सुमन उनके बीच में बैठ कर दोनों की चुत को बारी-बारी से चाट रही थी. उनकी चुत से बहती वीर्य की धारा और गांड देख कर मेरा मन उनकी गांड मारने को हुआ.

इतने में हमें किसी के गैराज की तरफ आने की आवाज आई, हमने तुरंत अपने कपड़े पहने और ड्राईव पर निकल गए. जब लंड को मुंह में लेने का प्रयत्न किया किन्तु वो मेरे मुंह में गया ही नहीं…मैं सोचने लगी कि अगर ये मेरे मुंह में नहीं जा रहा तो मेरी नन्ही सी कुंवारी बुर में कैसे जाएगा. कल शाम तक तो याद था कि आज दुकान का माल आने वाला है, अभी पता नहीं कैसे भूल गया.

मैं कुछ क्षण वहीं खड़ी इधर-उधर देख रही थी तभी मुझे कुछ ही दूर लगे हुए नलकूप में से पानी चलते हुए दिखाई दिया. वो दोनों बेड पर पहुँच गये मैं खुद ही चली गई अब सैफिना शहज़ाद का लंड एक हाथ से पकड़ कर चूस रही थी और दूसरे हाथ से अपने मम्मे दबा रही थी.

पप्पू का लंड मस्ती से मसलते हुए नीता बोली- अंकल, आपने इतनी औरतों को चोदा है तो आप जानते ही हैं कि हर जवान लड़की को अपना जिस्म मसलवाने का दिल करता है, सब चाहती हैं कि कोई उनकी जवानी की प्रशंसा करते हुए उसके साथ कोई मर्द खेले.

मैंने की-होल से झाँका तो देखा कि कामिनी का एक हाथ उसके चूचों पर था और दूसरा उसकी पेंटी के अन्दर था.

सुमन ने रात के 8 बजे ही दोनों बच्चों को खाना खिलाकर उन्हें सोने को भेज दिया. अंकल अब मुझे कभी मत छोड़ कर जाना, मैं अब आपके बिना नहीं रह सकती हूँ. मैं- हाथ सामने कर और इस बॉटल से हनी अपने हाथ पे लेकर मेरे लंड पर लगा.

उसने मुझे कहा- तुम मुझे फोन मत करना कभी, या तो हम बस में बात कर सकते हैं या फिर मैं तुम्हे फोन कर लिया करूंगी जरूरत होने पर. अब ये सब कविता को गर्म करने के लिए काफी था, वो अब कसमसाने लगी और विनय से और चिपटने लगी. खाना बनाने के बाद भाभी ने मुझे खाना खाने बुलाया और मैं वहीं पर रुक गया; रात को उन्हीं के रूम पर चार बारभाभी को चोदा.

फिर ‘हैप्पी फ्रेंडशिप’ बोलते हुए हम केक काट रहे थे और जैसे ही केक काटा गया तो मैंने केक का एक पीस उठाया और नेहा के गाल पर लगा दिया.

वह भी इस बात पर ज्यादा ध्यान नहीं देती थी क्योंकि सिखाने में हाथ तो लग ही जाता था. मॉम के मूत से मेरा पूरा शरीर गीला हो गया था, यश मेरे मूत से भरे शरीर को चाटने लगा. थोड़ी देर उसकी चूत चूमने के बाद मैंने उसे इशारा किया तो दीपिका ने अपनी टी-शर्ट को उतार दिया.

आज तो मैं आपको भरपूर मज़ा दूँगी और आपका लंड रस आज वेस्ट नहीं होने दूँगी. हाथ फेरते फेरते मेरे हाथ उस के पेट पर घूमने लगे, संगीता को अब और मजा आने लगा था और अब मुझे भी कुछ कुछ होने लगा था और ना जाने कब कब में मेरे हाथ संगीता के कूल्हों को सहलाने लगे, पता ही नहीं चला. अगर तुम्हें मेरी बात बुरी लगी है तो मैं क्षमा मांगता हूँ और अपने शब्द वापिस लेता हूँ.

फिर मेरी उनसे डेली चैट होने लगी और हम लोग एक दूसरे से बहुत कुछ शेयर करने लगे थे.

आप लोगों को अगर मेरी यह रीयल सेक्स स्टोरी अच्छी लगी? मुझे मेल करना. ये मेरी पहली सेक्स स्टोरी है, जो मैं लिख रहा हूँ अगर आपको सेक्स स्टोरी बताने का स्टाइल अच्छा ना लगा हो तो साफ़ बता देना.

स्कूल का बीएफ सुमन- क्या हुआ दीदी, आप मुझे ऐसे क्यों देख रही हो?टीना- आज पहली बार तू कुछ और बोल रही है और तेरी आँखें कुछ और कह रही हैं. मैं अपने मोबाइल पर अपने पसंद के पुराने गाने सुनता हुआ ड्रिंक करता रहा, उधर बहूरानी टीवी पर अपना पसंदीदा सीरियल देख रही थी.

स्कूल का बीएफ पांच मिनट के बाद ही तरुण के शरीर में बढती उत्तेजना इतनी बढ़ गयी कि उसके लिंग में से स्वादिष्ट पूर्व-रस अमृत की कुछ बूंदों ने मेरे मुँह को खट्टा-नमकीन करना शुरू कर दिया. जब मैंने अपना लंड उसकी चूत से निकाला तो उसकी चूत में से वीर्य बह कर चादर पर तेजी से गिर रहा था.

वो दोनों बेड पर पहुँच गये मैं खुद ही चली गई अब सैफिना शहज़ाद का लंड एक हाथ से पकड़ कर चूस रही थी और दूसरे हाथ से अपने मम्मे दबा रही थी.

हिंदी वीडियो जबरदस्ती सेक्सी

अच्छा ठीक से बता कि कैसे और क्या हुआ था?सुमन ने थोड़ी बहुत बातें बताईं, जो रात को हुई थीं. और पहले तो नहीं थी आज कैसे हो गई?मॉंटी ज़िद पे अड़ा था और टीना को उसके सवाल परेशान करने लगे थे तो वो गुस्सा हो गई. मैंने उससे बाय बोला और ‘तुम्हें दोबारा डिस्टर्ब नहीं करूँगा’ कह कर कॉल कट कर दिया.

कुछ देर के बाद गाड़ी मुझे किसी अज्ञात गंतव्य की ओर ले कर चल पड़ी और मैं अपने बेटे को छाती से लगाये खिड़की से बाहर भागते हुए खेत-खलिहान, पेड़-पौधे, घर-इमारतें तथा सड़कों-गलियों को देखती रही. मैं छुट्टियों में अपने घर आया तो हमारे घर पर एक बहुत ही सुन्दर माल किस्म आइटम बैठी हुई थी, जिसकी उम्र करीब 22 साल होगी. 2 मिनट तक बेतहाशा चूमते हुए मैंने अपनी जीभ उसके मुंह में डालकर उसको चखना शुरू कर दिया.

वाह क्या एहसास था… उसका कड़क जिस्म और उसके बदन से आती मेहनत और दूध की मिक्स मर्दाना नई महक से मैं पागल होने लगा था।मैंने उसकी कड़क और फूली भुजाओं पर अपनी जुबान चला दी और मैंने उसे जोश में एक जोरदार धक्का देते हुए सोफे पर लेटा दिया और पागलों की तरह उससे लिपट कर अपने जिस्म को उसके मस्त सेक्सी जिस्म से रगड़ने लगा.

मैंने पूछा- क्या हुआ?चाची कराहते हुए बोलीं- साले पूछ रहा है क्या हुआ? तेरे लौड़े ने मेरी बच्चेदानी को टक्कर मारी है. वैसे भी वो किसी लड़के से चुदवा लेती लेकिन पप्पू का लंड देख कर उसे यकीन हुआ कि उन लड़कों में किसी का भी लंड पप्पू अंकल जितना नहीं था. कुछ देर बाद यश ने मुझे बेड पर लिटाया, मेरी दोनों टाँगें चौड़ी की और लंड का अगला मोटा भाग मेरी चूत के छेड़ पर टिका कर अंदर घुसाने लगा.

वो उसे वहां देख कर नाराज हुई, पर रीना ने कहा- तेरी चूत चाटनी है इसलिए यहाँ आ गयी. दोस्तो मैं आपको आज मेरी लाइफ की एक ऐसी घटना के बारे में बताने जा रहा हूँ, जिसने मेरी ज़िंदगी को बिल्कुल बदल कर रख दिया. मैं अपने पीसी के पास वापस आकर बैठा ही था कि वो भी आ गई और एंट्री को बताने लगी.

आग हम दोनों में बराबर लग चुकी थी, तभी सोनिया बोली- आज तो बहुत मूड बन गया यार, अब खेल शुरू करो बस. गांड मारने का अपना अलग ही मज़ा है कारण की गांड के छल्ले में लंड फंसता हुआ अन्दर बाहर होता है जिससे दोनों को अविस्मरणीय सुख की अनुभूति होती है.

पप्पू भी झड़ने पे आया था, वो कस कर रूपा को पकड़ कर उसके निप्पल बेरहमी से चूसते चबाते और चूत चोदते हुए बोला- मैं भी झड़ने वाला हूँ तेरी गर्म चूत में, बहुत मजा आया जान, ले और ले रंडी. फिर मैंने अपने लंड को एक झटका मारा और रागिनी की चूत में पूरा लंड पेल दिया. थोड़ी जलन हो रही है अगर तुझे कोई दिक्कत ना हो तो बेटा थोड़ा चूस दे ना.

मेरा लंड फटता जा रहा था और तभी प्रिया ने मेरे लंड को जोर से दबा दिया.

लेकिन मैं कुछ नही बोला और उसने मैं अपने कपड़े उठा कर वापिस उसकी माँ के पास आ गया. एक दिन जब मैंने पूजा से अपने पहले सेक्स के बारे में पूछा तो उसने अपना पहला चुदाई का एक्सपीरिएन्स बताया. आपका विक्की खन्ना[emailprotected]सेक्स कहानी का तीसरा भाग :इश्क विश्क प्यार व्यार और लम्बा इन्तजार-3.

नीता की चूत को एक लंबा किस करके पप्पू ने सिर उठा कर कहा- अरे नीता, तू देख आगे आगे और क्या क्या मजा देता हूँ तुझे. मैं हैरान हो गयी कि धारा इतनी दूर कैसे जा सकती है, मैं सोचने लगी इसलिए शायद जब चूत के अंदर लंड का रस निकलता है तो महसूस होता है कि कोई गर्म सुई चुभा रहा हो.

मैंने पानी की बॉटल उठाई और आगे झुकने पर उसकी गांड का जो हिस्सा दिख रहा था, उसके अन्दर मैंने पानी डाल दिया. मुझे मेल कीजिएगा, बताइयेगा कि आपको मेरी सेक्स कहानी कैसी लगी?[emailprotected]. धीरे धीरे मेरे कुरते के अंदर उनके हाथ प्रवेश कर गए, मेरे नंगे जिस्म पर मरदाना हाथों का स्पर्श… ‘उफ्फ…’ मैं बयां नहीं कर सकती उस सनसनाहट का आपसे!मेरी ब्रा की स्ट्रिप में रुके हाथों ने एक बार टटोला और फिर ब्रा के हुक को खोल दिया.

देहाती सेक्सी वीडियो गाना के साथ

एक दिन हर रोज की तरह ट्यूशन के लिए वो मेरे घर आया जो उसके घर से कुछ ही दूर था.

मैंने बात शुरू करते हुए सभी से कहा- बताओ फिर, आज क्या प्लान है और कहाँ घूमना है?तभी पीछे की सीट में बैठी नेहा की स्वीट आवाज मेरे कानों में पड़ी- जहाँ मर्जी ले चलो जीजू…तो मैंने एक पल के लिए सोचा और फिर कहा- अच्छा साली जी, अगर ऐसी बात है तो घर पर चलो, वहां पार्टी करते हैं. फिर रितु दीदी ने अपनी टांगें फैला कर अपने भगोष्ठ फैलाये और बताने लगीं कि ये बुर है, ये क्लिट है. मैं लेटेस्ट वीडियो स्टोर्स चला गया और उससे बोला कि रितु जी ने भेजा है, आपने अभी उन्हें फोन किया था.

उसके बाद उसने अपने लंड का सुपारा मेरी गांड के छेद पर रख दिया और मेरी कमर को जोर से पकड़ लिया. मैंने तुरंत अपने एक डॉक्टर फ्रेंड को फोन किया और उसे आने को कहा, तो उसने कहा कि वो एक घंटे में आता है. आशिया सेक्सीउसके बाद मैंने जैसे ही उनका ब्लाउज उतारा, उनके चूचे बाहर आने के लिए तड़प रहे थे.

टीना- एक बात बताओ अतुल, बरखा ने तुम्हें आज पूरी आज़ादी दे दी है, अगर यही बात बरखा चाहे कि आज वो भी किसी और से चुदाई करे तो क्या तुम्हें मंजूर होगा. आज उसने मुझे अपने चेम्बर में बुलाया और कहने लगा कि पुराना एकाउंटेंट नौकरी छोड़ कर चला गया है.

अनुराधा को देखे काफी समय बीत गया, ना मैंने उससे देखा था, ना बात की थी. साधु ने दोनों की चुत पर टीका लगाया, फिर कुछ मन्त्र पढ़े और अपनी धोती खोल दी. नमस्कार दोस्तो, मैं मधु जायसवाल आप सभी चुदाई प्रेमियों का एक बार फिर अपनी सच्ची चोदन कथा में स्वागत करती हूँ और आपका दिल से धन्यवाद करती हूँ कि आपने मेरी कहानी को इतना ज्यादा सराहा.

उसने कहा- आप क्या करते हैं?मैंने उसे बताया कि मैं एक एमएनसी कंपनी में सीनियर मेनेजर हूँ।वह बड़ी इम्प्रेस हुई और बोली- फिर आप मुझे कब गाइड कर सकते हैं?मैंने उसे कहा- तुम कब चाहती हो?तो उसने कहा कि वह 11. मैंने सोचा शायद आज सारा काम मुझे ही करना पड़ेगा, फिर मैंने उनका पेटीकोट का नाड़ा खींच कर पेटीकोट उतार दिया. साथ-साथ रूपा अपने मम्मे खुद दबा कर कई बार अपनी चूत को सहलाते हुए सिसकरियाँ भरती हुई चुदवाने लगी.

मैंने घर को लॉक किया और चाची को पकड़ कर चूमने लगा और धीरे धीरे अपने कपड़े उतारने लगा.

तभी दरवाजे की तरफ से आवाज आई- ये क्या हो रहा है?हमने देखा तो नेहा वहां खड़ी थी अपने चेहरे पर आश्चर्य के भाव लिए…हम सभी की नजर दरवाजे पर खड़ी नेहा पर चिपक सी गयी। मैं, ऋतु, आरती चाची और अजय चाचू सब नंगे हुए एक दूसरे को चाट और चूस रहे थे और थोड़ी ही देर पहले हम सबने चुदाई भी की थी. जॉन- मोटी है मगर मजेदार भी है, चल अबकी बार तू बस इसे मुँह में लेकर होंठ से दबा लेना.

अब उनके लंडों को चूसने के बाद रोस्टन ने मुझे खड़ा किया और खुद घुटनों के सहारे बैठकर मेरी चूत को चाटने लगा. मैंने ऐसा कभी सोचा भी नहीं था, जिसे मैंने पैदा किया उसके साथ ये सब? नहीं! कभी नहीं!मैंने पिंकी से कुछ नहीं कहा. फिर मैंने बहूरानी की दोनों टांगों को दायें बाएं फैला के लंड को उसके गांड के छेद से सटा दिया और उसके कूल्हों पर चपत लगाने लगा, पहले इस वाले पे, फिर उस वाले पे.

आंटी मेरा पूरा रस पी गईं और लंड को चूसती रहीं, जिससे लंड फिर से खड़ा हो गया. वो ऊपर से इतना दबाव लगा रही थीं कि मेरा साँस लेना मुश्किल हो रहा था. उसने अपनी आँखें बंद कर रखी थीं और वो धीरे-धीरे अपने चूतड़ों को हिला रही थी.

स्कूल का बीएफ रेखा की सबसे अच्छी चीज क्या लगी तुमको?”उसकी गांड एकदम गोल है और उभरी हुई है. अन्तर्वासना की एक पुरानी कहानी का सम्पादन करके पुनः प्रकाशनये घटना कई साल पहले की है, जब मेरी उम्र 19-20 साल की थी और मैं बी.

देसी कुमारी लड़की सेक्सी वीडियो

एक बंदा मेरे चूतड़ों से बह चली शराब को चूसने में मस्त था और कोई मेरे चहरे से लेकर पूरा ऊपरी हिस्सा काट खा रहा था. फिर एकदम से झड़ गया, उसका वीर्य इतना सारा निकला कि मैंने उठ कर देखा तो बाहर आ रहा था. उसने फिर स्माइल की और कहा- क्या आप सेक्स करना चाहते हो?मैंने कहा- सुमन शायद तुम्हें बहुत चढ़ गई है.

साथ में ये भी कहा कि अगर शुरू के दस मिनट में उन लोगों को उसका काम अच्छा नहीं लगे तो वो केवल टैक्सी का बिल यानी 500/- लेगा. टीना- अच्छा फिर क्या हुआ तू रोई क्यों?सुमन- यार पापा के जाने बाद मैं सो गई थी, थोड़ी देर बाद कुछ अजीब सी आवाजें आईं, जिसे सुनकर मैं डर गई और पापा को देखने गई कि वो आए या नहीं, मगर वो नहीं आए थे. पैसा सेक्सीजैसे ही हम घर के अंदर दाखिल हुए शहज़ाद ने दरवाज़ा भी बंद नहीं किया और मुझे उठा लिया और मेरे होठों पर होंठ चिपका कर ही मुझे बेडरूम में ले गया.

उसके बाद हमने एक-एक पैग उठा कर चीयर्स बोला और ऑफिस की बातें करने लगे.

जब हमने सिंडी की तरफ देखा तो वो सो चुकी थी, यह देखकर हम चारों को हंसी आ गई. पराई चूतका आकर्षण होता ही ऐसा है कि इंसान अपनी मान मर्यादा रुतबा इज्जत सब कुछ लुटाने को तैयार हो जाता है एक छेद के लिए.

उसके बाद मैं लौट आऊँगा।तब से तीन साल हो गये, विक्रम हर महीने एक मोटी रकम भेजता है. उसी रात लगभग तीन बजे जब मेरी नींद खुली और मैंने देखा की सोये हुए तरुण की लुंगी की गाँठ खुल गयी थी तथा उसका आधा भाग सरक गया था जिससे उसका लिंग नग्न हो रहा था. आगे आप शनाया की देसी कहानी उसी के शब्दों में पढ़ें!मेरा नाम शनाया है, मैं मुंबई शहर में रहती हूँ, मेरी उम्र इस वक़्त 27 साल है और ये वाकया मेरे साथ अभी कोई 6 महीने पहले घटित हुआ, मैं इस अन्तर्वासना साइट की सभी कहानी रोज़ पढ़ती हूँ और काफी सालों से पढ़ती हूँ.

अब उनको सीधा लिटा कर मैंने अपना लंड भाभी की चुत में रख कर जोर से धक्का मारा, तो लंड बाहर फिसल गया.

सुमन- नहीं दीदी, मुझसे नहीं होगा फ्लॉरा के सामने मैं कैसे?टीना- चुप कर. जॉन- मोटी है मगर मजेदार भी है, चल अबकी बार तू बस इसे मुँह में लेकर होंठ से दबा लेना. सलवार का नाड़ा खुलने की बात तो मेरे समझ में आई, लेकिन उसकी अंगड़ाई ने मुझे उत्तेजित कर दिया.

राजगीर के सेक्सी वीडियोमॉम की हाइट 5’6″ थी उनके मम्मों का साइज़ 38 इंच था और चूतड़ों का साइज़ आप खुद ही सोच सकते हैं कि कितना मस्त होगा. लेकिन मेरे पास कोई ऑप्शन नहीं था; मैं उसकी सॉक्स उतार कर तलवे चाटने लगा.

अंग्रेजी सेक्सी वीडियो बीपी पिक्चर

जब मैंने उन्हें फर्स्ट टाइम देखा तो उनके बड़े-बड़े मम्मों को देख कर मैं तो उनको चोदने के सपने देखने लगा. एक तरफ़ तुझे बिगाड़ रही है और दूसरी तरफ़ अपने भोले भाई को फास्ट बना रही है. बहुत टाइम हो गया और तू इसको पहचान भी नहीं पाई इसका मतलब तू हार गई है.

दोस्तो, गुलशन जी को पता चल गया है कि फ्लॉरा उनकी सग़ी भांजी है, वो अपनीभांजी की चिकनी चूतचोद चुका है. करीब दस मिनट से मैं उसके सामने नंगा खड़ा था तो उसे भी अब शर्म नहीं आ रही थी. फ्लॉरा- हैलो महारानी उठो तुम यहाँ चैन की नींद ले रही हो और वहां तुम्हारे पापा ख़ूँख़ार जानवर बने हुए हैं.

आशीष को भी मेरी स्थिति का आभास हो चला था, वो मेरे पास आ गए फिर और पास इतने पास के मुझे उनके जिस्म के वही गंध महसूस होने लगी, मेरी आँखें बंद होने लगी कि तभी उनके गर्म होंठों का अहसास हुआ, मेरे हाथ उनकी नग्न पीठ पे चले गए और हम दोनों एक दूसरे के होंठों का रस पीने लगे. वो बोलीं- मैं लड़की होकर तुम्हारे सामने नंगी होने को तैयार हूँ और तुम लड़के हो कर शरमा रहे हो?रितु दीदी ने जब फिर कपड़े उतारने को कहा, तब मैंने एक एक कर कपड़े उतारने शुरू किए. शहज़ाद के आने तक नाश्ता तैयार था, मैं भी नहा चुकी थी, सैफिना ने डाइनिंग टेबल पर नाश्ता लगा दिया.

शीला उठी, उसने कपड़े पहने, मेरे लंड का चुम्मा लिया, मेरे होंठों पर अपने होंठ रखे और मेरे हाथ में एक चिठ्ठी थमा कर उसने मुझसे विदा ली. अब हमें बात करते करते 12 बज चुके थे और हम दोनों की ही गर्दन दर्द करने लगी थी.

विनय ने रीना से फुसफुसा कर कहा- चल कमरे में आ जा, मेरे को नींद नहीं आ रही.

जब मैं लंड को चूस रही थी तो उसके कम्पन से मैंने महसूस किया कि अब ये ज्यादा देर नहीं रुकेगा तो मैंने शहज़ाद को लंड चूत में डाल कर जल्दी से चोदने को बोला. बीपी वीडियो वीडियो सेक्सीएग्जाम के एक महीने के बाद व्यापम का एग्जाम हुआ, जिसके बाद गर्मी की छुट्टियां भी स्टार्ट भी हो गई थीं. सेक्सी वीडियो कुंवारी लड़की का सेक्सीमैंने देखा कि मम्मी-पापा पीछे आराम से सो गए थे, तो मैंने थोड़ा ट्राई करने का सोचा और गियर बदलते समय उसकी जाँघों को टच कर दिया. अब वो नीता का एक निप्पल चूमते हुए प्यार से बोला- अरे मेरी नीता रानी, अब तकलीफ वाला काम तो हो गया, ज़रा सब्र कर, दर्द अपने आप कम होगा और फिर तू भी मस्ती से मेरा लंड लेने लगेगी.

मॉम भी बोली- आरती, सचमच में तेरी चूचियां तो बहुत सेक्सी और गोलमटोल हैं.

तुम किसी तगड़े मर्द को मेरी चुदाई के लिए भेज सकती हो?गहरी हंसी के साथ मेरी ‘यस मैडम’ कह कर उलटे पैर लौट गयी. दोस्तो, आप मुझे मेरी मेल पर इस चुदाई की कहानी पर अपने कमेंट्स भेज सकते हैं. वो डर कर मम्मी-पापा को पीछे देखने लगी और उसने जल्दी से मेरा हाथ हटा दिया.

उस लंबी अवधि के सम्भोग के बाद हम दोनों को थोड़ा आलस्य आ गया था और हम एक दूसरे की बाँहों लिपटे एक घंटे के लिए नींद के आगोश में चले गए. मेरी बहन की चुत बहुत ही गोरी थी, जिस पर छोटी-छोटी झांटों के सुनहरे बाल उगे हुए थे. थोड़ी देर में मेरी बहनें और चाची के बच्चे सो गए, पर चाची अभी भी जाग रही थीं क्योंकि गर्मी इतनी ज्यादा थी.

सेक्सी वीडियो नंगी चुदाई वाली

वो मेरा एक हाथ ज़ोर से दबा रही थी, तभी वो सह नहीं पाई और उसने मेरे हाथ में नाख़ून भी मार दिया. उसने मुझे बस चोदने ही नहीं दिया था बाकी मैं उसकी बुर के ऊपर लंड रगड़ कर झड़ गया था. घपा घप… घपा घप… की आवाज़ पूरे घर में गूंज रही थी और मैं थक चुका था लेकिन वह नहीं थक रहा था।लगभग 35 मिनट के बाद उसके झटके और भी तेज हुए और उसका लण्ड मेरे गले में और अंदर तक उतरने लगा… 5-7 झटकों के बाद वह सी.

मैं किचन में ऐसे ही नंगा ही लंड हिलाता हुआ चला गया और दीदी को पीछे से जाकर पकड़ लिया.

तो कहने लगीं- अच्छा बिना किसी वजह से आना बंद कर दिया?मैं कुछ नहीं बोला.

मतलब मेरे सामने तुम अपनी चुत में उंगली करते हुए अपनी चूचियों को मसलती रहो. उस दिन मैंने दोनों को चोदा और पूरी रात भर ब्लू फ़िल्म देख कर चुदाई के मजे लिए. बालवीर सेक्सी फोटोमैंने नेहा की जीन्स का बटन फिर से खोला और सोनिया ने उसका टॉप उतार दिया.

कभी आंटी के होंठ चूसता, कभी गर्दन पर चूमता तो कभी गाल पर किस कर देता. सैफिना भी हंस पड़ी और बोली- अगर आप को असुविधा न हो तो मुझे क्या ऐतराज़?शहज़ाद ने उसे बोला- हम तो बिल्कुल नंगे ही सोते है तुम्हें भी… कह कर उसने वाक्य अधूरा छोड़ दिया. मैंने उसे चोदना चालू रखा, उसने स्पीड बढ़ाने के लिए कहा, बोली- थोड़ा जोर से करो, अब मजा आ रहा है.

फिर मैं मम्मी से सपना का नाम ले देती हूँ कि हम दोनों वहां पढ़ाई तो कर लेते हैं. इसलिए मेरी आपसे गुज़ारिश है कि पहले आप शुरू की कहानीहोली का नया रंग बहना के संगपढ़ लें उसके बाद ही इस कहानी को पढ़ें.

तभी जोर से बिजली के चमकी और बादलों के गरजने के साथ बारिश भी शुरू हो गयी तब मैं भीगने से बचने के लिए उसी झोंपड़ी के बाहर बने बरामदे में पनाह ले ली.

जैसे जैसे लंड अंदर बाहर होता रहा, मेरा दर्द कम होता गया और मजा बढ़ने लग गया. मैंने हॉल में और फिर दूसरे बेडरूम में जा कर देखा तो वो वहाँ सो रही थी. कहानी का पिछला भाग:आए थे घूमने, चोद दी चूतें-1अब तक की चुदाई की कहानी में आपने मेरी गर्लफ्रेंड की सहेली नेहा को मेरे सामने नंगी होते हुए पढ़ लिया था.

ऊंट वाली सेक्सी वीडियो करीब 20 मिनट की ताबड़तोड़ चुदाई के बाद गोपाल का लावा बह गया और उसने नीतू की चुत को रस से भर दिया. रीना कविता से चिपट गयी और बोली- तुझे मेरी कसम है, अब जाने की बात नहीं करना.

हाय आह… क्या गांड फ़ाड़ने का इरादा है क्या रे भड़वे…”ऐसा कहते हुए उसने मेरा लौड़ा अपने गांड के अन्दर तक घुसवा लिया. उई’फिर मैंने उसके दूसरे मम्मे पर भी अपने होंठों से उसकी चूची को मुंह में लिया और फिर अपनी जीभ से उसकी चूची की निप्पल को जांचा, जिससे मेरी साली की कामुकता भड़क उठी और उसका एक हाथ मेरी लोअर के अंदर मेरे लंड तक पहुँच गया. मैं उसका पूरा कामरस पी गया क्योंकि वह नए लण्ड का बिल्कुल स्वस्थ वीर्य था… उसका लण्ड चाट कर साफ कर दिया और नीचे टपका हुआ रस भी मैंने चाट लिया.

मोटाने वाला सेक्सी वीडियो

फिर उनकी मैक्सी नीचे से ऊपर तक उठा दी, सामने हाथ ले जा कर दोनों मम्में दबोच लिए और गर्दन चूमते हुए मम्में सहलाने लगा, ब्रा ऊपर खिसका कर नंगे दूध मसलने लगा, फिर दोनों अंगूरों को धीरे धीरे उमेठने लगा. चुत पे उंगली लगा कर सुमन ने मॉंटी को बताया कि यहाँ अपना लंड घुसा दे और जोर जोर से झटके देना, जैसे अभी कमर को हिला हिला कर दे रहा था. मैंने फिर से उन्हें अपनी बांहों में ले लिया और उन्हें किस करने लगा.

थोड़ी देर के बाद दरवाजे की वेल बजी और मैंने दरवाजा खोला तो विवेक सामने था. एक बंदा मेरे चूतड़ों से बह चली शराब को चूसने में मस्त था और कोई मेरे चहरे से लेकर पूरा ऊपरी हिस्सा काट खा रहा था.

एकदम से वो बोली- कब से कॉल बॉय का बिजनेस स्टार्ट किया?तो मैं बोला- सच में आप ही मेरे पहले कस्टमर हो.

धीरे धीरे मेरा हाथ उसकी चूचियों पर गया और चूचियों पर जैसे ही मेरा हाथ टच हुआ, उसको ना जाने क्या हुआ वो अचानक तेज़ी से पलट गई और उसके पलटने की वजह से मैं अपना बैलेंस नहीं बना सका. मुझे आशा है बाकी कहानियों की तरह यह कहांनी भी आपको बहुत पसंद आयेगी और आपके लंड या चूत का पानी निकालेगी. वो भी हवस में पागल सा हो चुका था… उसके मुंह से निकला- आह… साले चूसेगा… लोला मेरा?(उसने पूछा चूसेगा मेरा लौड़ा…)मैंने ‘हम्म…’ करते हुए उसके आंडों में मुंह दे दिया.

बीच पर मैंने चिंटू और परीक्षित को चुदाई के लिये एक इशारा किया क्योंकि मुझे चुदाई की तलब लगी हुई थी, मेरी कामुकता बढ़ रही थी, मुझे चुदे हुए 12-13 हो चुके थे. वो सारे पहलवान लड़के उठ कर पास ही चल रहे ट्यूबवेल की तरफ बढ़ने लगे और पास पहुंच कर एक एक करके पानी के हौद में गोता लगाने लगे. पूरे कमरे में फछाफछ की आवाजें गूंजने लगीं और इस कामुक आवाज़ को सुन कर मैं भी जोर-जोर से अपने लंड उनकी चुत में अन्दर-बाहर करने लगा.

अब मैंने अपने लंड को उसकी चुत पर लंड लगा कर एक ज़ोर का धक्का दे मारा, जिससे मेरा आधा लंड उसकी चुत में जाकर घुस गया.

स्कूल का बीएफ: !गुलशन के जाने के बाद सुमन दिल ही दिल में बहुत खुश थी कि आज तो उसे पापा का लंड खुलकर चूसने को मिलेगा. मैंने वैसा ही किया और मौसी ने अपनी दो उंगलियां अपनी चुत में घुसाईं और उंगली गीली करके बाहर निकाल कर मेरी नाक के सामने रख दीं.

फिर मेरा लंड खड़ा हो गया और मैं उसकी गांड की दरार पर लंड रगड़ने लगा; वो मादक आहें भरने लगी. गांड के छेद को लंड की नोक से रगड़ते हुए मैं एक हाथ से उसकी बुर के लहसुन को मींज रहा था. मेरी तो बुर ही फट जाएगी!मैंने कहा- लंड से किसी की बुर नहीं फटती डार्लिंग.

वाह क्या एहसास था… उसका कड़क जिस्म और उसके बदन से आती मेहनत और दूध की मिक्स मर्दाना नई महक से मैं पागल होने लगा था।मैंने उसकी कड़क और फूली भुजाओं पर अपनी जुबान चला दी और मैंने उसे जोश में एक जोरदार धक्का देते हुए सोफे पर लेटा दिया और पागलों की तरह उससे लिपट कर अपने जिस्म को उसके मस्त सेक्सी जिस्म से रगड़ने लगा.

नीता की चूत ने जैसे पप्पू के पूरे लौड़े को लपेट कर अपने अन्दर ले लिया. गोपाल अन्दर घी लेने चला गया और साधु पहले नीतू के पास बैठा, उसकी चुत पे अपना मोटा लंड रगड़ा, जिससे नीतू एकदम सिहर उठी. मैंने तभी अपने दोस्तों को किसी परिचित का बहाना बनाया और उन के पास से निकल लिया.