ग्रुप बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी मूवी वीडियो डाउनलोड

तस्वीर का शीर्षक ,

नंगी पिक्चर हिंदी बीएफ: ग्रुप बीएफ, राजेश ने हंस कर कहा- इतना राशन … कोई दावत है क्या?तो शीला बोली- मुझे जितना भी आता है आपको सब बना कर खिलाउंगी.

सेक्सी वीडियो आवाज वाली

मैं उससे बोली- साले आज तू क्या खा कर आया है … ऐसा लग रहा है जैसे आज अपनी बहन को रंडी बना कर ही छोड़ेगा. टूटी चूड़ी का क्या करेंअब आप लोग इतना अंदाजा लगा सकते हैं कि इतनी देर में मेरी कैसी चुदाई हुई होगी.

शर्मिष्ठा बार बार प्रतिवाद करती कि नयी साड़ी पहिन कर कल मंदिर चलेंगे उसके बाद आप जो चाहे सो कर लेना; पर मैं कहां मानता था. सेक्सी पिक्चर देखना सेक्सीउसके बाद उसके दोनों स्तन अपने हाथों से दबाने लगा और किस भी करने लगा.

ये सोच कर उस रात मुझसे रहा नहीं गया और मेरा हाथ नीरजा के टॉप के ऊपर उसके मम्मों पर चला गया.ग्रुप बीएफ: अब आगे:मैंने कहा- क्या हुआ?उसने बिना कुछ बोले मुझे धकेला और मेरे ऊपर आ गयी.

इस कहानी के पिछले भागभाभी की चूत चाटने का मजा-1में मैंने आपको बताया था कि शिवानी भाभी की चूत चुदाई करने के बाद उन्होंने हमारी ही बिल्डिंग की सुमीना भाभी की चूत दिलवाने का भी वादा किया था.उसके बाद मेघा ने टोंटी को खोल दिया और पाइप का मुंह अपने बूब्स की ओर कर दिया.

सेक्सी वीडियो मां - ग्रुप बीएफ

फिर मैंने फोन की नोटिफिकेशन चेक की तो देखा कि गर्लफ्रेंड के नम्बर से 23 मिस्ड कॉल आ चुकी थी.राजेश ने शीला को जाने को कह दिया और उसे 1000 रूपये अलग से दिए कि तुम्हें अपने लिए कोई कपड़ा लेना हो तो ले लेना.

अब तक की इस दोस्त की बीवी की चुदाई कहानी के पहले भागइंडियन सेक्सी भाभी की चुदाई का मौका-1में आपने पढ़ा था कि मेरे दोस्त की हसीन बीवी और मैं डांस कर रहे थे और इसी बीच हम दोनों के बीच चुम्बन का दौर शुरू हो गया. ग्रुप बीएफ इस दरम्यान जयपुर वाली मेरी महिला ने मुझे एक आलीशान फ्लैट भी दिला दिया.

[emailprotected]मैरिड लेडी कामवासना कहानी का अगला भाग:पड़ोसन भाभी का प्यार या वासना- 2.

ग्रुप बीएफ?

बारी बारी से मेरे दोनों निप्पलों को चूसने के बाद उसने बिना कहे मेरा लंड सहलाते हुए अपने मुंह में ले लिया और अच्छे से चूसने लगी. मेरी बदन तोड़ चुदाई कर दी, जिसके बाद मेरी बुर में बहुत ज़्यादा जलन होने लगी थी और मेरी कमर में भी दर्द होना शुरू हो गया था. और मैं अपने बड़े भैया और भाभी के साथ शहर में रहता हूँ।हम वैसे 8 भाई बहन हैं.

अन्तर्वासना का हर पाठक जिसको पाना चाहता है वो खुद मेरे पास चल कर आई थी. पर हकीकत में कई लौंडे मेरे दोस्त यहां लाए गए और उन्होंने लंड का मजा लिया था और अब भी लेते रहते हैं. जीजू, मैं बार बार आपको छू कर देख रही थी आपका टेम्परेचर डाउन ही नहीं हो रहा था, तो मैं क्या करती फिर?” निष्ठा ने अपना पक्ष रखा.

एक तो वो अनुभवी होती हैं, दूसरी बात ये कि वो किसी तरह की कोई नखरा नहीं करती हैं … और भरपूर प्यार भी देती हैं. पानी से धो लेने पर भाभी की छुट कुछ टाईट हो गई थी। भाभी चीखी- उउइइइइ अम्मी … मर गयीईइ … माह इइइ उं उं!मैंने अंतिम झटका देकर पूरा लिंग उनकी चूत में घुसा दिया. मैंने शुरुआत में धीरे धीरे धक्के मारे और पूरा लंड भाभी की चूत में बच्चेदानी तक उतारने लगा.

यदि साइज़ का जिक्र करूं तो उसके निप्पल तकरीबन पौन इंच से कुछ ज्यादा ही लंबे हो गए थे. मैंने पूछा- हम लोग किधर चल रहे हैं?सर ने बताया कि शहर से दूर उनके दोस्त का एक हाईवे पर ही होटल है, वहीं जा रहे हैं.

इस बार लंड ने कोई रहम नहीं किया और पम्मी की चुत में अन्दर तक घुसता चला गया.

वो बोला- कोई अगर कुछ दिखाना चाह रहा हो और सामने वाला उसको न देखे तो यह असभ्यता ही कहलायेगी.

बस आप मेल करना मत भूलना।पुष्कर से आने के बाद क्रिया के साथ साथ मेरी जरीना से भी नजदीकियां बढ़ने लगी थी।ऐसा नहीं कि मेरा मन क्रिया से भर चुका था। बल्कि जरीना का नशा मुझे उसकी तरफ खींच रहा था. अलग से आलीशान फ्लैट दे दूंगी, साथ में घर में काम करने वाली नई नई लड़कियां जब में नहीं होऊं, उस समय उनके साथ मजा करना. मैं आज तक अंकिता भाभी की ब्रा और पेंटी देखकर ही मुट्ठ मार लिया करता था.

मैंने कुछ बोलना चाहा, तो उससे पहले निशा बोल पड़ी- हां रमित … ये लोग ठीक ही तो बोल रहे हैं. सरोज की चिकनी और गोरी जांघें और पाव रोटी सी फूली हुई चूत मुझे बहुत ही सुंदर लग रही थी. मेरी आंटी बिहार में अपने पति के साथ एक साधारण से मकान में ही रहती थी.

मेरे इतना बोलते ही उसने मेरी मिडी को खींचा और मेरी चुचियों को बाहर निकाल कर चूसने लगा.

मैंने कहा- मेरे साथ दोस्ती करोगी?उसने कहा- हां मुझे आपकी दोस्ती मंजूर है. उसने दर्द भरी आवाज में कहा- सॉरी मैडम!मैं- हां, तुम्हें सॉरी होना ही चाहिए, कमीने! अब आगे आ और मेरी जीन्स व पैंटी को अपने मुंह से खींच. बाद में कब गायब होकर चुदाई के लिए किसी कमरे में घुस जाते हैं, इसका किसी को पता भी नहीं चलता है.

आप सबको मेरी किस्मत में लिखी चुदाई कैसी लग रही है, आप अपनी राय मुझे इस पते पर दे सकते हैं. मेरा दिल तो कर रहा था कि ये दोनों मुझे यहीं ढंग से चोद दें … लेकिन वहां चुदना ठीक नहीं था. मैं तो शांत पड़ गया था … मगर जब उसने ऐसा किया तो मैंने उसे अपने ऊपर से हटाया और उठ कर उसकी टांगों के बीच में आ गया.

मैंने नेहा और बिन्दू की तरफ देखा तो वे दोनों भी बोली- मम्मी ठीक कह रही हैं, आप सामान कल ले आना.

वो अपने मुँह से कभी मेरे गालों, पर तो कभी होंठों पर … या छाती पर दांत गाड़ने लगी. इस पर मैंने कहा- हम्म … तुम्हारे साथ अच्छा ही हुआ साली रंडी, लंड की भूखी कुतिया.

ग्रुप बीएफ तुम शर्मिष्ठा की आलमारी खोल लो और अपनी पसंद की कोई भी साड़ी पहिन लो और उसके सभी गहने भी वहीं रखे हैं वो सब पहिन कर आओ. एक बार तो मैंने माथा पटका मगर फिर अगले ही पल सोचा कि अगर अंजू को बुरा लगा होता तो वो ऐसे नहीं मुस्कराती.

ग्रुप बीएफ लगभग 20 मिनट तक लगातार बिना सांस लिए हमारे होंठ एक दूसरे के होठों में ऐसे ही फंसे रहे. वो मेरी चूत की फांकों और मेरी क्लिट को जोर जोर से चूसते हुए काट रहा था.

मैं खुद लंड के लिए मरी जा रही हूँ और तुम ये पूछ रहे हो?मैं समझ गया कि ये मुझे छेड़ रही थी.

बांग्ला एक्स वीडियो

एक दिन हमारे स्कूल में सुबह प्रार्थना के बाद एक ज़रूरी बात बताई गई कि नेशनल कबड्डी के कोच आए हैं. मैंने सोचा कि पैर बंधे होने के कारण इसकी पैंटी तो अब उतार नहीं सकता. मैंने उसे गांड मारने के लिए कहा तो उसने कहा- आज नहीं, बाद में! पहले ये चूत का दर्द तो खत्म होने दो.

मैंने कहा- भाभी, प्लीज सोने दो ना!तभी अचानक भाभी ने मेरी चादर खींच दी. अब मैंने अपने शॉर्ट ट्राउजर निकाल दिये और अंडरवियर में होकर बैठ गया. मनजीत के चूतड़ उछालने और मेरे धकापेल ठोकने के बावजूद मेरा लण्ड डिस्चार्ज करने के मूड में नहीं था जबकि मनजीत दो बार पानी छोड़ चुकी थी.

मैंने उनको अपनी तरफ घुमाया, वो आराम से घूम गईं और सर नीचे करके खड़ी हो गईं.

उसने मेरी गर्दन को चूमना शुरू किया और फिर चूमते हुए मेरी छाती पर किस करते हुए मेरे निप्पलों पर जीभ फिराने लगी. अरे बाबा मुझे और कुछ भी नहीं करना है अभी, बस तू मेरे ऊपर थोड़ी सी दया और कर दे बस!” मैंने प्यार से दुखी सा होकर कहा. अब भाभी के मुँह से सिर्फ ‘उम्म्ह … अहह … हय ओह …’ के अलावा कुछ नहीं निकल रहा था.

तो मालिकन ने मुझे उसका ध्यान रखने को बोला और दो बजे वो सब चले गये।अब मैंने मालकिन की दी हुए एकदम सेक्सी सी नाईटी पहन लिया. तो वो बोला- जानू क्या हुआ?मैंने उसको बोला- पहले कंडोम पहनो, फिर करना!तो उसने बोला- एक बार बिना कंडोम के करते हैं ना … मैं पक्का पानी बाहर निकालूंगा. उसने लंड को पूरा मुंह में भरा और अन्दर गले तक ले जाकर उसको महसूस किया.

दोस्तो, आपको मेरी जीजा साली Xxx स्टोरी कैसी लगी मुझे अपने कमेंट्स के द्वारा जरूर बतायें. फिर मेरी एक बांह को सहलाते हुए बोले- रंजीता तुम तो इतनी मस्त हो कि मैंने सोचा भी नहीं था। तुम्हारी जैसी लड़की कभी मेरी दोस्त बनेगी, ये कभी नहीं सोचा। मैं अकेला रहता हूँ और जिंदगी में कई दोस्त बनी मगर तुम उन सबसे सुंदर हो।वो हर बात अब खुल कर बोल रहे थे बिना किसी शर्म के।मैं उनके सवाल का बस सर हिला कर ही जवाब दे रही थी।रंजीता, सच कहूँ तुमसे … आज तक मेरी कभी किसी गोरी लड़की से दोस्ती नहीं हुई.

अपनी बीवी के बूब्स को साड़ी के ऊपर से ही दबाते हुए वो बोला- क्या कर रही हो जानू?रति- आप भी ना! कभी-कभी आप बिल्कुल बुद्धू जैसी बातें करते हैं, देख नहीं रहें हैं कि मैं अपना काम कर रही हूँ?रमेश- चलो ना डार्लिंग, एक बार हो जाए।रति- छी: जब देखो तब शुरू हो जाते हो. हालांकि मुझे इच्छा हो रही थी कि अब चूत में धक्के लगाना शुरू कर दूं पर चूत में लंड पहिना कर शांत लेटे रहने में भी खूब आनंद आता है. अब मुझे शर्म लग रही थी।मैंने कहा- भाभी, आपने मेरा अंडरवियर क्यों धोया?तो भाभी बोली- मैंने इतने सारे कपड़े धोये थे, वो भी धो दिया.

वहां जाकर हमने कैसे मजे किये?मैं अन्तर्वासना के सभी पाठकों का अभिवादन करता हूँ। आप मुझे प्यार से अभि कहकर बुला सकते हैं.

मैंने खड़े खड़े नेहा को अपने लौड़े पर चढ़ाते हुए उसकी दोनों टांगों को अपनी भुजाओं में उठा लिया. ओह्ह बेबी … क्या तुम ये देख पा रहे हो? देखो, ऐसे ही मैं अपनी बॉडी को क्लीन करती हूं. औरत का इस तरह से मर्द को चोदने की बात कहना अपने आप में ही बहुत कामुक लगता है.

जिया को चोदने का मजा कोमल को पहली बार चोदने से भी ज्यादा मजा आया था. मुझे लगा तुम्हें काजू की बर्फी बहुत पसंद आएगी।”सानिया मेरी और हैरानी और अविश्वास भरी नज़रों से देखती ही रह गई।वो फ्रिज के ऊपर मिठाई का डिब्बा रखा है ना? उसमें तुम्हारी मनपसंद काजू की बर्फी और साथ में नमकीन, बढ़िया इम्पोर्टेड चोकलेट और च्विंगम रखे हैं जाते समय घर ले जाना।”ना … ना … मैं घर पर नहीं ले जाऊँगी.

उसका आदमी तो बहुत ही खुश हुआ और राजेश के पैर पकड़ कर शीला से बोला- देख साब को कोई तकलीफ न हो. अब नेहा ने अपनी नशीली आंखों को मेरी आंखों से मिला दिया और खुद मेरी गोद में बैठ गई. ये कहकर मेघा ने अपनी बॉडी को अपने हाथों से एक गोलाकार गति में मसलना शुरू कर दिया.

भाभी देवर की सेक्सी मूवी

मैंने देखा, वहां मेरी काम वाली बाई शमा खड़ी खड़ी ये सब कुछ देख रही थी.

मैंने भी अपने दोनों हाथ सरोज के भारी चिकने चूतड़ों पर रख लिए और सुपारे को चूत की दरार और क्लिटोरियस पर रगड़ने लगा. लेकिन जो देवर भाभी की कहानी पसंद करते हैं या भाभियों से प्यार करते हैं वो इस कहानी को पढ़ सकते हैं. दर्द से मैं चिल्ला रही थी … बिलबिला रही थी, लेकिन उन दोनों को कोई फर्क नहीं पड़ रहा था.

मैंने उसके मुंह में लंड दे दिया और उसने शिद्दत के साथ मेरे लंड को चूस चूस कर गीला कर दिया. मैं उठने लगी तो अखिल भी जाग गया और बोला- गुड मॉर्निंग … कैसी हो?मैंने पूछा- कल रात को क्या हुआ था?तब उसने बोला- वही जो तुम चाहती थी. नई सेक्सी फिल्मएक ने मेरे मुंह में अपना लंड दे रखा था व दूसरे ने मेरी चूत में अपना लंड घुसा रखा था‌।चुदते हुए अब मेरे मुंह से चीखें निकलने लगी थीं क्योंकि मैं बहुत थक गई थी.

मैं तेजी से धक्के मारने लगा और वह बोलने लगी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… और जोर से!करीब 20 मिनट तक मैं उसे इसी आसन में चोदता रहा. तो मैंने अनीता को बांहों में जोरों से जकड़ लिया और कहा- साली कुतिया, तुझमें बहुत आग है, चल मुझे अपनी अगन से पिघला दे.

उस लड़के का एक हाथ मेरी साली की चूचियों पर था और दूसरा उसकी सलवार के बीच में ठीक उसकी चूत पर था और वो उसकी चूत को अपने हाथ से जोर जोर से रगड़ रहा था. मूत कर, अपना लंड अच्छे से धो कर आया।अंदर आकर देखा, लवी बिस्तर पर सीधी सो रही थी. गर्लफ्रेंड की चूत की शेप देख कर मैं हमेशा उसको चोदने के लिए उतावला रहता हूं और उसकी चूत को खूब पीता हूं.

जब सुबह उठी, तो देखा कि उन दोनों ने मेरे पूरे शरीर पर अपने वीर्य की बौछार की हुई थी. आंटी ने मुस्करा कर मेरी तरफ बांहें फैला दीं, तो मैंने उन्हें हग कर लिया और उनको चूमने लगा. दोनों लड़कियां हमारे लौड़ों को अपने हाथों में लेकर उनका मुआइना करने लगीं.

वो भी ‘मेरी जान … आज तेरी चूत फाड़ दूंगा साली … आआह्ह मेरी जान … मुझे अपना बना ले मेरी जान!’ और पता नहीं क्या क्या बके जा रहा था.

पूरे रूम में उसकी चुत की खुशबू महक रही थी … हम दोनों बिना कुछ बोले बिस्तर पर पड़े थे. साली जी का भोला सा गोल चेहरा और संतरे की फांक जैसा रसीला और भरा भरा सा निचला होंठ.

असल में रवि रवीना के पास से बजाये अपने रूम में जाने के नीचे गया था और नैन्सी की सीत्कारों से उसे भी सारा माजरा समझ में आ गया था. उसने मेरी लोअर को नीचे खींच दिया था और मुझे जांघों तक नंगा कर लिया था. मैंने दादी से पूछा- दादी ये क्या कर रहा है?दादी- बेटी ये इसे प्यार कर रहा है.

फिर मैंने एक गिलास में वोडका निकाल कर उसे चूमते हुए गिलास उसके होंठों से लगाया. मेरी पिछली इंडियन सेलिब्रिटी सेक्स स्टोरीएक और टीवी एंकर की चुदाईमें टीवी न्यूज़ की दूसरी एंकर गुड्डी रानी की कैसे चुदाई की गयी उसका विस्तार से वर्णन किया था. फिर उन दोनों ने मुझे दोनों ओर से बांहों के घेरे में कैद कर लिया और मुझे दोनों ओर से चूमने लगे.

ग्रुप बीएफ जोदिल्ली सेक्स चैट वेबसाइटकी एक बहुत ही बोल्ड, शरारती और कामुक वेबकैम मॉडल के साथ हुआ था. उसके बाद सोहा आई … मेरी आंखों पर पट्टी बंधी थी, फिर भी मैं सबको पहचान पा रहा था.

पोर्न वीडियोस हद

इतने में मेरा भाई मेरे पास आया और मेरी गांड पर चपत मारते हुए बोला- मेरी बहना तुझे ओपन सेक्स ही करना है ना!तो मैं उसके गालों को प्यार से उमेठते हुए बोली- हां मेरे चोदू भैया राजा. दूसरी तरफ राजीव मेरी अधनंगी चूचियों को मेरी मिडी के ऊपर से ही चाट रहा था … काट रहा था. मैंने उनके गालों पर कट्टू करते हुए कहा- मुझे नहीं पता था कि आप इतनी प्यासी हो … एक इशारा तो दिया होता … वहीं पार्क में पटक कर ठंडा कर देता.

फिर सुबह जल्दी उठने की भी कोई टेंशन न हो।एक दिन ऊपर वाले ने हमारी सुन ही ली. दरवाज़े पर एक बला की खूबसूरत बिल्कुल अप्सरा सी एक लड़की खड़ी थी।रवि उसे देखता ही रह गया. विदेशी सेक्सी वीडियोवो भी मज़ा लेकर चूसने लगी।इस तरह करीब 5-7 मिनट तक हमारा किस चला।उसके बाद दोनों अलग हुए।वो थोड़ी शर्मा रही थी।मैंने उससे कहा- शर्माओ मत … बस मज़ा लो आज!वो मुझे देखकर हँसने लगी.

एक तरफ कमसिन चंचल टीनएज पायल थी, दूसरी तरफ परफैक्ट प्रतिभा और तीसरी ओर बाहुबली सुमन … अब गाड़ी में कौन कहां बैठगा, ये पायल को तय करना था.

इतना सुनते ही वह भूखी शेरनी की तरह मेरे लंड पर टूट पड़ी और किसी रंडी की तरह मेरे लंड को चूसने लगी. मैं लगातार गुड्डी के पांवों को सहला रहा था, उँगलियाँ उसके तलवों पर फिसला रहा था.

प्लीज़ संजय, प्रॉमिस करो कि तुम हमेशा मुझे और मेरी फैमिली को सेफ रखोगे. हम दोनों के शरीर पसीने पसीने हो गया था और हम दोनों ही चरम आनंद पर पहुंचकर साथ साथ लेट गई. क्योंकि मेरे अनुमान से नेहा के बॉडी फिगर का साइज 36- 24 – 36 का लग रहा था।मेरी बातों से उसके चेहरे की मुस्कान उसके कानों तक खींच आई, उसने कहा- आप फिक्र ना करें सर! आपकी खुशी का ख्याल रखना हमारी जिम्मेदारी है।खुशी का नाम सुनते ही मुझे एक बात सूझी.

उनकी नज़रों में मैं भी बहुत समझदार और शरीफ़ लड़का था क्योंकि मैं भी सलीके से और लिमिटेड बात करता था.

मैं अपने आप को संभाल नहीं पा रहा था।मैं रजनी की कमर को पकड़ कर तेजी से ऊपर-नीचे करने लगा।उफ़ … क्या पल था … मेरा पानी आने ही वाला था।मैंने रजनी को उठने का इशारा कर बाजू में सरकने को कहा।जैसे ही वो उठी तो मैंने अपने लंड को हाथ में पकड़ा और जोर से दो बार मुठियाते हुए पिचकारी सामने वाली सीट पर छोड़ दी. थोड़ी देर बाद रिया नंगी ही बाथरूम से निकली और आइने के सामने बैठ कर बाल संवारने लगी। उसकी गोरी और गुदाज गांड स्टूल से काफी बाहर निकली हुई थी. मेरा ये अंदाज़ देख कर गीत फिर नेहा से बोली- धार मार दे रवि की जीभ पर!गीत की बात का जवाब देते हुए मैंने कहा- हाँ जरूर साली, मुझे तो अच्छा लगेगा.

हॉलीवुड सेक्सी पिक्चर वीडियोकुछ देर ऐसे ही लंड चूसने के बाद हम सभी अलग अलग हुए और नेहा बाथरूम में भाग गयी. जितना रेट मैंने आपके लिए फिक्स किया है उससे एक पैसा ज्यादा मत देना उस हरामखोर रत्नलाल को।तभी रवि ने रिया को रोकते हुए कहा- अरे सुन, तू ही अपना नम्बर दे दे.

सपना भाभी सेक्सी

हम भरी जवानी में रात भर तड़पते हैं लेकिन इधर उधर कहीं मुंह मारने की नहीं सोची. मैं- चल कुत्ते, अब आगे आ और अपनी मालकिन के प्यारे से छेद को चाट ले. मगर अगर हाथ लगता और वो उठ जाती तो। तो सोचा छूना नहीं है, सिर्फ देखना है। मगर सिर्फ देख कर क्या होगा।तो मैंने अपना लंड बाहर निकाला और लवी के मम्मों को देख कर मुट्ठ मरने लगा।ये भी सोचा कि इसके नंगे मम्मों की मोबाइल पर फोटो ले लूँ.

मैंने नेहा को थोड़ा स्लैब पर ही झुकाया और पीछे से लण्ड को चूत में ठोक दिया. जीजू, मैं बार बार आपको छू कर देख रही थी आपका टेम्परेचर डाउन ही नहीं हो रहा था, तो मैं क्या करती फिर?” निष्ठा ने अपना पक्ष रखा. कई बार रिश्तेदारी में या समाज के शादी ब्याह में जाने पर ऐसा भी हुआ कि मेरी पत्नी शर्मिष्ठा, बहूरानी अदिति, निष्ठा और कम्मो (कम्मो की कहानी कमसिन कम्मो की स्मार्ट चूत” तो याद तो होगी ही आप सबको जो अदिति के चचेरे भाई की शादी में दिल्ली में मिली थी और मुझसे चुदी भी थी) एक साथ बैठे हुए बतियाते मिलीं.

आज ऑफिस नहीं जाना क्या?रमेश अब सीधे अपने मतलब पर आते हुए बोला- हाँ जाऊँगा, मगर थोड़ी देर से जाऊँगा. मैंने नेहा को थोड़ा स्लैब पर ही झुकाया और पीछे से लण्ड को चूत में ठोक दिया. तब मैंने सरोज भाभी से उनकी चूत की ओर इशारा करके पूछा- सब ठीक है?सरोज- सब कुछ ओ.

मैं अपनी सभी दोस्तो को कहता हूं कि एक बार इस साइट पर जाकर आप भी ट्राई करें, कामुकता की दुनिया का मजा लें. कम से कम तुम अपनी मां को वहशी जानवर की तरह तो नहीं चोदोगे, है न बेटा?मैं- हां मां, मैं सोच रहा हूं कि तुम मेरे मुंह पर अपनी गांड लगा कर मसल रही हो.

मैंने उसके पास बैठ कर उसकी गर्दन पर हाथ रखकर होंठों पर किस कर दिया, जिससे जिया ने अपनी आंखें बंद कर लीं.

अब आगे:फिर मैंने मम्मी को घुटने के बल बिठाते हुए सीधा खड़ा कर दिया और मैं भी अपने घुटने के बल खड़े होकर उनके जिस्म से सट गया. साड़ी दिखाइए ऑनलाइनलेकिन मेरी नींद खुली तो देखा कि नंगी भाभी मेरे साथ लेटी लंड सहला रही थी. मिक्की माउस ड्राइंगजी भर कर मजे लेने के बाद हम बात कर रहे थे कि काश कम से कम 2 से 3 रातें ऐसी हों कि जब हम जी भरकर रात में मस्ती करें. मेरा लंड उसकी गांड में घुसने लगा और फिर …आप सबने मेरी Xxx कहानी भाभी की चूत की के पिछले भागजैसलमेर के रेत के टीले- 1https://www.

मुझे आशा है कि बाकी कहानियों की तरह ये कहनी भी आपको बहुत पसंद आयेगी और आपके लंड या चूत का पानी निकालेगी.

दादी बोली- ये अब खस्सी हो गया है, बस ऐसे ही करता रहेगा, निक्कमा कहीं का. अब मुझे वो सिर्फ एक सेक्सी लड़की के रूप में ही दिखती थी।उसकी अधनंगी तस्वीरें देखना और फिर हाथ से मुट्ठ मारना, तो जैसे मेरे रोज़ की रूटीन हो गई।मगर मुट्ठ मारने से ज़्यादा मुझेचुदाई करने का शौकथा. तो क्या पता मेरी बात बन जाए।मगर इसके लिए बहुत हिम्मत चाहिए थे।तो उस रात मैंने चोरी से अपने एक दोस्त की मदद से दो पेग लगाए.

भाभी बोले जा रही थी- आह्ह्ह ह्हह्ह्ह ओ … राज … आ … ईईईईए … सश्ह ह्ह्ह्ह् बहुत … मजा … आ … रहा … है. मैंने अन्दर का नजारा देखा तो लड़की 19-20 साल की बहुत स्लिम बॉडी की थी. घर के साइड में ही थोड़ा सा मैदान तो वो भी मुझे गाड़ी में बिठा के उधर ले गया और फिर खुद उतर गया और मुझे ड्राइविंग सीट पर बैठने को बोला.

मराठी लड़की की चुदाई

रात तक? बट जीजू हमें अभी शाम को अस्पताल चलना है, मेरी दीदी को देखना है मुझे और मुन्ने को गोद में लेकर खिलाना है मुझे!” वो बोली. ऐसे संबंधों में ज्यादा चंचलता नहीं होनी चाहिए … धैर्य के साथ इस तरह के सम्बन्धों को जारी रखना चाहिए, वरना सावधानी हटी और दुर्घटना घटी की कहावत आपके सामने होगी. हम दोनों वीडियो सेक्स करते और एक दूसरे के लंड चुत को पानी पानी करके ही रहते.

भाभी के सुंदर पेट, चिकनी चूत और चूची देखकर यह कोई नहीं कह सकता था कि वह दो बच्चों की माँ है.

नेहा के हाथ पीठ के बगल से होकर मेरे सीने तक आ रहे थे और मेरा लंड पानी के भीतर भी जोर मारने लगा था.

फिर अनीता ने सबको हॉल में जाने को कहा और भावना को बाथरूम से आ जाने को कहा. मैं खुशी का ये उपहार लेना नहीं चाहता था, पर मैं जानता था कि यहां मेरी मर्जी नहीं चलेगी. नार्मल पेनिस साइज इन हिंदीलग रहा था कि अगर उसने दो मिनट लंड और न छोड़ा तो शायद मैं उसके मुंह में ही खल्लास हो जाऊंगा.

मेरा अभी प्रोमोशन हुआ है और मुझे इस शहर में पिछले हफ्ते ही ट्रांस्फर किया गया है. वो उस लड़की के कपरे उतरवाकर उससे चिपटा चिपटी करती, उसके मम्मे सहला सहला कर उसे उत्तेजित करती. मुझे ख़ुशी के साथ अफ़सोस भी था कि निष्ठा के साथ अब कुछ करने की स्थिति में मैं नहीं था.

मेरे लिए आपके मुख से निकला हर शब्द अमृत है, जिससे मेरी रूह तृप्त हो जाएगी. थोड़ी देर ऐसा करने के बाद उसका लंड खड़ा हो गया और मेरी चूत में खुजली होनी शुरू हो गयी.

शांति की उम्र के हिसाब से उसकी चूत काफी टाइट थी, शायद बहुत दिनों से चुदी नहीं थी, यह कारण था.

भाभी- नहीं, अभी तो हमें देर हो गई है, मैं कुछ और जुगाड़ लगाती हूँ, आज अंदर लेना जरूर है, नहीं तो आज मेरी रात नहीं कटेगी. पहले भाग का लिंक ऊपर दे रहा हूँ, चाहें तो एक बार उसे फिर से पढ़ सकते हैं. इधर मेरे लंड से रस का फव्वारा सा निकल निकल कर उसकी सलवार को भिगोने लगा था.

धोखेबाज पत्नी मनजीत ने मेरा लण्ड पकड़ लिया और बड़ी बेरहमी से मेरे लण्ड की खाल आगे पीछे करने लगी, तभी मनजीत मेरे लण्ड का सुपारा चाटने लगी, मेरा लण्ड अब और कड़क होने लगा. वो बहशियाना अंदाज में बोला- अभी कहां मेरी रंडी बहना … अभी तो मैं शुरू ही हुआ हूं.

मेरी मम्मी एक सेक्सी फिगर वाली … गोरी सी, पैंतीस साल की ग़दर माल हैं. महीने में एक दो बार रात को मेरे पास आना और जल्दी से अपना काम निपटा कर सो जाना ही उसकी मर्दानगी है. हम दोनों किस करने में इतने मशगूल हो गए थे कि हम भूल ही गए कि हम कार में हैं.

भाभी देवर की सेक्स वीडियो

वो खड़ा हुआ और अपने पैंट की चैन खोल कर लंड बाहर कर दिया, वो बोला- यार, एक बार मेरा लौड़ा चूस लो।अभी उसका लौडा खड़ा नहीं था।मैंने उसका लंड अपने मुँह में ले कर दबाना शुरू किया और कुछ ही देर में उसका लंड खड़ा हो गया. मैं फ्रेश होने के बाद बाहर निकला और नेहा से कहा- यार, मेरी पीठ खुजला रही है, मैं नहाना भी चाह रहा हूँ, अगर तुम्हें कोई ऐतराज़ ना हो तो क्या तुम मेरी पीठ रगड़ दोगी. मैंने अगला सवाल दागा कि क्या तुम भी लंड का मजा ले चुकी हो?पम्मी ने कहा- उसने मुझसे कई बार कहा कि लंड ले लो, लेकिन मैंने मना कर दिया.

मां धीमी आवाज में मेरे कान में बोलीं- हर्षद मेरी चुत पूरी गीली हो गयी है. अबे ओय लल्लू … साले तू पक्का चूतिया है क्या? तेरी कड़क जवान साली तेरे जिस्म को तेल लगा कर तेरे स्पर्श के मजे ले रही है.

वो लौटा तो मैंने उसको पकड़ कर खींच लिया और उसको बेड पर लिटा दिया और उसकी टांगों को फैला दिया.

भाभी जी हंसने लगीं- अब मुझे जबरन पेड़ पर मत चढ़ाओ!मैंने कहा- नहीं भाभी, आप बेहद हसीन हैं. और तीसरा सबसे बड़ा कारण यह है कि जो मेरी पुरानी वाली जीमेल आईडी थी उसमें कुछ समस्या आ गयी थी जिससे वो खुली नहीं और मुझे निराश होकर दूसरी जीमेल आईडी बनानी पड़ी. तो ले मेरी बुलबुल अब देख इस लंड का कमाल!” मैंने कहा और फिर निष्ठा की गांड में बलपूर्वक स्पीड से धक्के मारने लगा.

भाभी जी हंस कर बोलीं कि अभी ठंडी कहां हुई … ये चुत तो आपकी दीवानी हो गई मेरे राज बाबू. मैं उसकी चूचियों के गुलाबी निप्पलों को बारी बारी से चूस कर उसे गर्म कर रहा था और खुद भी उत्तेजित हुआ जा रहा था. शायद इस मामले में तुम मेरी मदद नहीं कर पाओगी, क्या तुम कर सकती हो?अस्मि- हां जरूर कर सकती हूं.

रमेश- रति… रति क्या हुआ? तुम ग़ुस्सा क्यों हो?रति- जाओ, जाकर अपना बिजनेस देखो.

ग्रुप बीएफ: पर जब और लड़कियां उससे डिजाइन पूछती तो वो कहती- पहले कपड़े उतार कर फिगर दिखाओ. उन्होंने एक हाथ को अपने मुंह पर रखा हुआ था और दूसरे हाथ से वो अपनी चूत में गाजर ले रही थी!मैं तो वहीं पर सन्न हो गया और छुपकर देखने लगा.

मैंने भी बिल्कुल पोर्न एक्ट्रेस के तरह सर के लंड को डीप थ्रोट देना शुरू कर दिया मतलब मैं लंड को अपने मुँह में गले तक लेकर चूसने लगी थी. भाभी अपनी चूत में उंगली कर रही थीं … और ननद के चुचों को मैं अपने हाथों से मसल रहा था. मैंने भाभी से पूछा- भाभी, मेरा अंडरवियर कहाँ है?तो भाभी बोली- मैंने धोकर छत पर सूखने के लिए डाल दिया है.

पार्टी के लिए कोरमा का पहले से सुबह ही आर्डर दे दिया था, बस लेने जाना था व तंदूरी रोटियां भी लाना थीं.

कुछ देर वो ऐसे ही आधे लंड से खुद को चोदती रही, फिर मैंने उसकी कमर को पकड़ा और नीचे से धक्के मार कर पूरा लंड उसकी चुत में धांस दिया. कविता ने आयल अपनी हथेलियों पर लेकर रवीना की पीठ पर लगाना शुरू किया. फिर सर ने टेबल पर रखे सामान से तेल उठाया और मेरी चूत में तेल लगा कर उसे चिकनी कर दिया.