बीएफ सेक्सी वीडियो सील पैक

छवि स्रोत,सेक्सी पिक्चर ऐश्वर्या राय

तस्वीर का शीर्षक ,

ओपन सेक्सी मूवी एचडी: बीएफ सेक्सी वीडियो सील पैक, वो मेरी चूत में अपना लंड डाल कर मुझे किस करते हुए मेरी चूत को बड़ी बेरहमी से चोद रहे थे.

सेक्सी फिल्म सेक्सी फिल्म सेक्सी ब्लू

मैंने बोला- अदिति मैं तुम्हें बहुत चाहने लगा हूँ और तुमसे बहुत प्यार करने लगा हूँ, पहले दिन से ही जब से तुम्हें ट्रेन में देखा है. मोटरोला सेक्सी वीडियोआखिरकार वासना की जीत हुई और मैंने मेरे घर का दरवाजा खोला, बाहर कोई नहीं देख कर खुशी से मैंने अपने घर का दरवाजा लॉक किया और अंकल के घर की तरफ भागी.

क्या सोच संगीता ने उसे एक जोरदार चुम्मी दी और बोली- ठीक है, पर तुम आना बंद नहीं करोगे न?चाय पीकर राहुल संगीता की गाड़ी से सोसाइटी वापिस आया. बकरी के सेक्सी वीडियोज्योति नीचे से चूतड़ उठा-उठा के मेरा साथ दे रही थी और बोल रही थी- इस चुदाई को तब तक मत रोकना जब तक मेरा पानी न निकल जाये.

कुछ देर उसके मुँह की चुदाई करने के बाद मैंने उसे झूले के स्टैंड बार के सहारे झुकाया.बीएफ सेक्सी वीडियो सील पैक: बातों-बातों में आंटी ने मुझसे पूछा कि तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?मैंने बोला- नहीं, मेरी अभी तक कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.

मैं तो उसकी नजर को देख रही थी मगर भाभी इस बात पर ध्यान नहीं दे रही थी.चूंकि हमारा पहला सेक्स था और उसकी चूत कुंवारी थी इसलिए मैं भी थोड़ा नर्वस हो रहा था.

मारवाड़ी सेक्सी लड़का लड़की - बीएफ सेक्सी वीडियो सील पैक

तभी मेरी कौसर जान एक बार फिर परमानन्द की तरफ बढ़ चली और साथ ही मेरे अब्बू ने अपनी मनी उसकी चूत में ही छोड़ दी।अब्बू कुछ देर तक मेरी बीवी के नंगे जिस्म के ऊपर ही पड़े रहे.मैं धीरे से रजाई से बाहर निकला और चाचा के घर के अंदर बनी सीढ़ियों से ऊपर छत पर चला गया.

मैंने उसको बताया कि मुझे एक हॉट फिगर वाली लड़की चाहिए, जो आगे से और पीछे से मस्त दिखती हो. बीएफ सेक्सी वीडियो सील पैक बोली- घोड़ी बन जाऊं? मतलब?मैंने उसको कमर से पकड़कर घोड़ी बनाते हुए कहा- ऐसे.

डिज़ाईनर पेंटी की जाली में से कुछ कुछ रेशमी बालों की झलक सी भी मिली जैसे वैक्स करवाए 15-20 दिन हो गए हों.

बीएफ सेक्सी वीडियो सील पैक?

उसने झटके से पैंटी को अपने मुँह से निकाल कर मेरा लौड़ा मुँह में ले लिया और पूरे जोश में चूसने लगी. पर उसने मना कर दिया, मुझे बिस्तर पर धकेल दिया और मेरे बगल में आ कर लेट गयी. थोड़ा नीचे होकर मैं उसकी नाभि पर किस करने लगा और जीभ नाभि में डाल दी.

सांवले दूध और काले ब्राउन रंग के निप्पल जो मूंगफली जितने बड़े हैं बाहर आ चुके थे।अब मां धीरे-धीरे अपनी पैंटी निकालने लगी और जब पैंटी निकल गई तब मेरी मां उसे चेक करने लगी. मुझे हल्का सा गुस्सा आ गया और मैंने उनकी चूची को बहुत जोर से भींच दिया. सचिन को मैंने अपने ऊपर लेटा लिया और उसके लंड को खुद की अपनी चूत पर लगवा लिया.

व्हाट्सएप्प पर किसी का मैसेज नहीं आया था। मैं दुखी हो गई और इंतज़ार करने लगी।शाम पांच बजे के आस-पास उसका मैसेज आया. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:भाभी के साथ मजेदार सेक्स कहानी-2. अपनी भीगी हुई पैंटी और ब्रा में स्वीमिंग पूल से बाहर निकली और चूत वाले एरिया पर एक सारोंग (पतला सा कपड़ा) लपेट लिया.

उसके मुंह में जाते ही मुझे ऐसा लगा जैसे किसी गर्म खोपचे में मेरा लण्ड घुस गया हो।मेरा लण्ड पहली बार कोई चूस रहा था. मैंने कहा- किस तरह की मदद चाहिए तुम्हें?वो बोली- मैं तुम्हारे साथ भाग चलने के लिए तैयार हूं लेकिन इस शादी के लिए तैयार नहीं हूं.

मैं और रश्मि दिन में एक बार और रात में दो बार चुदाई जरूरी में करते ही थे.

तभी मेरी कौसर जान एक बार फिर परमानन्द की तरफ बढ़ चली और साथ ही मेरे अब्बू ने अपनी मनी उसकी चूत में ही छोड़ दी।अब्बू कुछ देर तक मेरी बीवी के नंगे जिस्म के ऊपर ही पड़े रहे.

फिर उसने लंड को अपने मुंह से निकाल लिया और मेरी जांघों पर लंड के आस-पास से चूमने लगी. करीब ऐसे ही 10 मिनट तक घमासान चुदाई के बाद उसका शरीर अकड़ने लगा, तो मैं समझ गया कि अब वो झड़ेगी. मैंने कहा- ऐसा करते हैं कि तुम अपना फोन नम्बर मुझे दे दो और मेरा भी ले लो.

हमारी कपड़े धोने वाली मशीन खराब हो गई थी इसलिए हम लोग हाथ से ही कपड़े धोते थे. धोने तो दे इसको!मैंने कहा- नहीं भाभी, धोने से तो इसमें से आपकी महक निकल जायेगी. मुझे लगा कि शायद वो नाराज हो गया है इसलिए उसने अपना लंड मेरे मुंह से बाहर निकाल लिया है.

फिर उसने मुझसे कहा- मुझे भी देखना है … क्यों मुझे भी नींद नहीं आ रही है.

अंकल थोड़ा रुक गए, फिर हल्के हल्के पूरा लंड अम्मी की चूत में चला गया. वे हर बात एक दूसरे से शेयर करते थे, यहाँ तक की पहली बार सेक्स भी एक दूसरे को बता कर किया था. उसने बड़े स्टाईल से कोहनी को जमीन से टिकाते हुए और अपनी टांगों को फैलाकर, चूत के अन्दर उंगली डाली.

वो मेरी पकड़ से छूटने की नाकाम कोशिश कर रही थी या यूं कहें कि शायद वो भी यही चाहती थी. तभी उसकी आवाजें तेज हो गयीं और वो जोर से झड़ने लग गयी।लेकिन मैं पहले लंड चुसाई से एक बार झड़ चुका था तो मेरा नहीं हुआ था. मैंने उसे गर्म करने के लिए सामने की दीवार पर एलईडी पर ब्लू फिल्म चला दी.

फिर प्रिया ने कहा- तुमने टीटी से ये क्यों कहा कि तुम मेरे मंगेतर हो।मैं- वो इसलिए कि टीटी तुम्हें परेशान ना करे और तुम्हें फाइन ना देना पड़े।प्रिया- जब तुम्हें पता था कि ये मेरी सीट नहीं है तो अपनी सीट क्यों दी?मै- बताया तो है कि आपको दिक्कत ना हो इसलिए!प्रिया- और तुम?मैं- बैठे बैठे सो जाता.

इतना सुनते ही भाभी मेरे पास आकर बैठ गईं और बोलीं- तुम मुझे बहुत पसंद हो … क्या मैं तुम्हें हग कर सकती हूं?मैंने उन्हें हग किया और कहा- अच्छा भाभी मुझे अभी तो कहीं जाना है, मैं आपको बाद में मिलूंगा. जब वो हंसती, तो उसके गालों में दोनों तरफ गड्ढे पड़ते और उसके सफ़ेद दांत मोतियों की तरह चमक उठते.

बीएफ सेक्सी वीडियो सील पैक सफर ज्यादा लंबा नहीं था, मुश्किल से 15 मिनट का था, इसलिए मुझको जो भी कोशिश करनी थी, वह तुरंत करनी थी. जब उसकी चूत से सारा पानी बाहर आ गया तो चूत एकदम से चिकनी हो गई और मेरी उंगलियाँ अब अच्छी तरह से अंदर और बाहर होने लगीं.

बीएफ सेक्सी वीडियो सील पैक बॉस- बस इतनी सी बात!मेरी बीवी बोली- उन्होंने फटाफट मेरे बैंक खाते में दो लाख ट्रांसफर कर दिए। और फिर मैं सब कुछ छोड़कर आपके पास चली आयी। बाकी सब तो आप जानते ही हो। मुझसे गलती हो गयी मुझे माफ़ कर दीजिए। किसी को भी मुँह दिखाने लायक नहीं रही मैं तो!मैं अब पूरा उत्तेजित हो चला था, मैंने बस इतना कहा- अरे रीना, हो जाती हैं ऐसी नादानियाँ! तुम होश में नहीं थी। आगे पूरा जीवन पड़ा है. इससे पहले कि मैं इस कहानी में आगे बढूँ, मैं आप सभी को सीमा भाबी के बारे में बताना चाहूँगा.

एक बार मैं फिर से मोबाईल ऑन करके वीडियो बनाने लगा, नम्रता का सुराख इतना खुल चुका था कि मेरी दो उंगलियां आसानी से उस सुराख के अन्दर आ जा रही थीं.

2020 का हिंदी सेक्सी वीडियो

छोटा साइज होने के कारण हुक बन्द नहीं हुआ तो मैंने उतार दी और 38 साइज पहना. हम दोनों बालकनी में बिल्कुल नंगे एक दूसरे से चिपके वासना का खेल खेल रहे थे. वो जिस तरह से लंड को चूस रही थी उससे ऐसा लग रहा था कि बेचारी कई सालों से लंड की प्यासी है.

इन्ही सब बातों के बीच मैंने ग्यारहवीं पास कर ली और बारहवीं कक्षा में आ गयी. जब उसका पानी निकला, तो वो बोलने लगी- अब हट जाओ, मुझे पेशाब आ रही है. वह छोटी उम्र से मामा के घर चली गई थी और जब जवानी की दहलीज पर आ गई यानि 18 बरस की हो गई, तब वो जवान और खूबसूरत हो कर वापिस आ गई.

हमारे भारत में एक बात है लड़के कहते हैं कि लड़की धोखा दे गई … और लड़की कहती है लड़का धोखा दे गया.

आपको हम भाई-बहनों की ये चुदाई की कहानी कैसी लगी, आप नीचे दी गई मेल आई-डी पर जरूर मैसेज करके बतायें. चाचा के घर से निकल कर मैंने सोचा कि मैं कौसर को बता देता हूँ कि मैं देर से आऊंगा, नहीं तो वो नाहक मेरा इंतजार करेगी. जैसे ही उसका निक्कर उसके खूबसूरत चूतड़ों के नीचे से सरका, नैना की आंख खुल गई.

क्या मस्त मजा था, क्या आनन्द था, जो बस महसूस किया जा सकता था … बताया नहीं जा सकता था. मैंने और मधु ने उससे लगभग एक साथ पूछा- ये क्या है?रश्मि- आज से अगले 10 दिन तक तुम और मधु एक बीवी और पति की तरह रहोगे. वह मेरी चूत को तेजी के साथ पेलने लगा और फच-फच की आवाज पूरे कमरे में सुनाई देने लगी.

मैं भाबी के सामने निक्कर के ऊपर से लंड को एड्जस्ट करते हुए कहने लगा- नहीं भाबी, ये तो बस आपकी रेस्पेक्ट में खड़ा हुआ है. मेरा नाम अशोक है।मेरी मां बात को टालने की कोशिश करके बस स्टैंड की ओर जाने लगी, लेकिन वह आदमी प्यार से मेरी मां से बात करने लगा।वो बोला- रुकिए, आप डरिए मत, मैं बुरा इंसान नहीं हूं, आपको तकलीफ नहीं दूंगा।थोड़ी देर बातें करने के बाद दोनों अपने-अपने रास्ते चले गए.

रजनी उसे नीचे ही मिल गयी, बोली- क्या बात है, कोई बात नहीं करते?राहुल बोला- ऐसी कोई बात नहीं!फिर उसने विजय के लिए पूछा. मुझे बहुत गुस्सा आ रहा था कि सबने मिलकर मेरी रोमांटिक मूड की वाट लगा दी थी. हालांकि बेजन्ता आंटी शायद मेरे बारे में ऐसा नहीं सोचती थी पर मैं तो रोज उसे सपनों में चोदता था.

मैं जानती थी कि पक्का वही काम होगा जिसके लिए मैं ये जॉब कर रही हूँ.

मेरे लंड को घुसने से पहले ही उसने अपनी आँखें बंद कर ली और बिस्तर की चादर को अपने हाथ से भींच लिया. उन्होंने मेरे लंड का साइज़ पूछ लिया, तो मैंने बताया आठ इंच लम्बा है. मैंने और नेहा ने एक दूसरे के अंगों को साफ किया और उसको कपड़े पहनाये.

उसने एक साड़ी दी, मैंने भी खुश होते हुए साड़ी ले ली और ‘थैंक्स कहना शरद को …’ ऐसा कहा. अभी शाम के साढ़े पांच ही बजे थे लेकिन ऐसा लग रहा था कि जैसे रात के दस बजे हों.

आप मेरा मज़ाक उड़ा रहे हैं?” शिकायती लहज़े में वसुंधरा ने मुझ से पूछा. अब विक्की ने अपना तना हुआ लंड अपनी बहन निहारिका की चूत में डाल दिया और निहारिका को चोदने लगा. मैं जिस दिन अपनी मौसी के घर आया, उसी दिन शाम को मेरी बहन भी वहां आ गई.

एक्स एक्स एक्स एच डी सेक्सी

चाची का कोई ख्याल रखने वाला होना चाहिए उनकी बेटी का तो ख्याल रखने वाला होना चाहिए.

अब दोनों को भी अपनी भावनाओं पर काबू रखना मुश्किल हो रहा था और उसी पल आंटी ने हमें एक और मौका दिया- नीतू तुम बैठो … मैं नहाकर आती हूँ. मैंने हां में सर हिला दिया मगर अंदर से अज़ीब सा डर था कि मैं कहाँ फंस गई आज!जोन्स मुझे बहुत ही गन्दी निगाह से देख रहा था जैसे खा ही जाने वाला था मुझे!बॉस के ऊपर आज बहुत गुस्सा भी आ रहा था कि मुझे किसके साथ छोड़ के चले गए. ज्योति के मुंह से सिसकारियां निकलने लगीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… प्लीज … तन्मय मेरी जान … मेरे बॉयफ्रेंड ने या मेरे पति ने कभी मेरी चूत नहीं चाटी.

उसने बड़े स्टाईल से कोहनी को जमीन से टिकाते हुए और अपनी टांगों को फैलाकर, चूत के अन्दर उंगली डाली. मैं ऐसा इंसान हूँ, जो रिश्तों की इज्जत तो करता हूँ, मगर औरत के इरादे अगर वो भांप लूँ, तो उसे बिना पेले छोड़ता भी नहीं हूँ. जितेंद्र सेक्सी वीडियोमैं यह सब इस तरह से कर रहा था कि उसको ऐसा लगे जैसे मैं ये सब नींद में कर रहा हूँ.

मैं कॉलेज में पढ़ रही थी और मेरी सभी सहेलियां रोजचुदाई की बातेंकिया करती थीं. कभी वो ऊपर से नीचे पूरे लंड को चाटती, तो कभी सुपारे पर अपनी जीभ फेरती.

उन्होंने हां बोल दिया, तो मैंने उसी समय उनसे एक चुम्मी माँग ली, तो उन्होंने मैसेज में लिप्स भेज दिए. साहिल उठ कर दरवाजा खोलने के लिए गया तो दरवाजे पर समीरा बानू खड़ी थी. उसके हस्बैंड मुम्बई में ही व्यस्त रहते हैं, इसलिए हम दोनों की बात भी दिन भर में मुश्किल से आधा घंटा ही हो पाती है.

मेरी भी छुट्टियां चल रही थीं, तो मैं भी तैयार हो कर उनके साथ लखनऊ चल दिया. मैं अंकल जी के ऊपर सवार हो गयी और उचक कर उनका लण्ड सही जगह पर लगाया और जोर लगा कर बैठने लगी. उधर के जोड़े किस कदर एक दूसरे से लिपट कर रोमांस करते हैं कि आपको अच्छी खासी डबल एक्स ब्लू फिल्म का लाइव शो देखने को मिल जाएगा.

लेकिन मेरा लंड बाहर था पर वो मुझसे सट कर बैठी थी तो किसी की नज़र में आने का चांस कम था और हम ऐसे ही बैठे रहे.

वो पूरे घर के दरवाजे लॉक कर आई और अपनी कमर पर हाथ रख कर बोली- बताओ अब क्या पीना है … और कैसे पीना है?उसकी ये अदा देख कर मैं एकदम से विस्मृत रह गया. फिर मैंने भारी आवाज में उसको बोला- नहीं नहीं, यह सब तो चलता रहता है.

मैं उससे अलग हुआ और उसके दोनों हाथों को उसी अवस्था में सर के तरफ ले जाके क्रमशः अपने दोनों हाथों से पकड़ के बेड में दबा दिया. मैं दूसरे दिन सुषमा के घर गई, तो थोड़ा बन ठन कर गई, ताकि उसके पति की नजर मुझपे पड़े. मैंने उनसे पूछ लिया- आप कहाँ जा रहे हो?रोहन ने मुझे बताया कि वह अपने फ्रेंड्स के साथ घर जा रहा है.

सुमन भाभी- थैंक्यू किस बात का?मैंने कहा- कम से कम आपको मेरी बात भरोसा तो हुआ. वह अपना एक हाथ मेरी कमर पर घुमा रहा था और दूसरे हाथ से मेरी गांड को दबा रहा था. मैंने पूछा- तुम्हारी पढ़ाई कैसी चल रही है और आज क्यों नही गयी कॉलेज?इस तरह की बोरिंग सी बातें करता रहा मैं पुष्पिका के साथ और उसको मेरी बातों का जवाब देना पड़ रहा था.

बीएफ सेक्सी वीडियो सील पैक मुझे लगता है कि जो भी कोई उनको एक बार देख लेगा, तो मुठ मारे बगैर नहीं रह सकता. फिर मैंने जल्दी से अपनी कज़िन की शर्ट उतार दी और वह मेरे सामने ब्रा में ही रह गयी थी.

மதுரை ஆண்டி செக்ஸ் வீடியோ

पत्नी के स्वर्गवास के बाद लंड किसी गुफा में लेटने के लिए जैसे तरस गया था. रात को सब लोग सोने के बाद मैंने छुपाई हुई मैगज़ीन निकाली और बाथरूम में जाकर पढ़ने लगी. इसके बाद मैंने ज्योति के लहंगे की तरफ हाथ बढ़ाया और लहंगे के नाड़े को खींच दिया.

वो मेरी पकड़ से छूटने की नाकाम कोशिश कर रही थी या यूं कहें कि शायद वो भी यही चाहती थी. सभी पाठकों से अनुरोध है कि कहानी को पढ़ने के बाद कैसी लगी, ये मेल करके जरूर बताएं. हेमा मालिनी की सेक्सी चूतअब मुझे यकीन हो चला था कि काजल भी मेरे लंड को पकड़ना चाहती थी इसीलिये वह जानबूझकर मेरे लंड की तरफ अपने हाथ को बढ़ाये जा रही थी.

मैं तुम्हारा लंड लेने के लिए मरी जा रही हूँ।मैंने भाभी की चूत पर दो-तीन बार लंड को ऊपर नीचे किया तो मुझे तो जैसे स्वर्ग का सा मजा मिला.

भाबी के हज़्बेंड यानि कि भैया का नाम विकास था, जो कि पेशे से एक टूरिस्ट वैन के ड्राइवर थे. उसके बाद मैंने मौसी की पैंटी को खींच निकाला और उनके ऊपर सवार हो गया.

मैं मधु की दोनों टांगों को चूमने लगा और जब मैंने उसकी जाँघों को किस किया, तो मधु की आवाज मदहोश हो गयी. पहले तो उसने मना किया फिर बहुत कहने पर उसने मेरे लंड को मुंह में ले लिया। मेरा मजा सातवें आसमान पर पहुंच गया था. मैंने उसे अपना नंबर दे दिया।जब मैं सौरव को नम्बर बता रही थी तो बाकी छात्र हम दोनों की तरफ ही देख रहे थे। मैं आराम से आकर सीट पर बैठ गई।मेरी दो-चार सहेलियाँ भी आ गईं, मुझसे पूछने लगीं- क्या चक्कर चल रहा है तेरे और सौरव के बीच में?मैंने मजाक में कह दिया कि वो मेरा नंबर मांग रहा था तो मैंने दे दिया।मेरी सहेलियाँ भी खुश हुईं और मैं भी हँसने लगी।जब घर पहुँची तो मोबाइल देखा.

उसने कहा कि उसके दोस्त ने उसको अपने घर बुलाया है और रोहन के अलावा उसने एक और दोस्त को भी बुलाया है.

लेकिन मुझे किसी की सुन्दरता से कोई मतलब नहीं होता, बस वो पलंग पर चुदाई में पूरा साथ देती रहे, मैं बस यही चाहता था. मैंने अजय को कहते हुए सुना- देखा ऋतु डार्लिंग, मैंने कहा था न कि आकाश को कुछ भी पता नहीं चलेगा. तो वो बोली- वैसे तो मुझे पता है कि तुम क्या कहना चाहते हो … पर फिर भी तुम्हारे मुँह से सुनना चाहती हूँ.

घोड़े और गधे का सेक्सीतभी उसका बाप मेरी कमर में हाथ डालकर मेरी चूची को चाटते हुए बोला- हाय नीना, देखो इसकी चूची कितनी गोरी गोरी हैं. मैं भी बोल उठी- हां चोद दे मादरचोद … तेरे लौड़े में जितनी दम हो, चोद हरामी साले आज मेरी चूत का भोसड़ा बना दे … आआह्ह्ह … उफ्फ … आई लव यू माय सन … उउम्म … ऊआहह …फिर मैं और वंश 69 में आ गए और एक दूसरे के लंड चूत को चाटने लगे.

देवर भाभी की बफ सेक्सी

पैंट निकालते हुए उसकी फ्रेंची में तना हुआ लौड़ा मुझे दिखाई दिया जो काफी बड़ा लग रहा था और उसने उसके अंडरवियर को गीला करना शुरू कर दिया था. सीमा की आँखों में एक चमक थी, वह खड़ी हुई और राहुल का टॉप उतार कर उसे भी नंगा किया और फिर वो राहुल का हाथ पकड़ कर बेडरूम में ले गयी. थोड़ी देर में वो मेरे सामने मिन्नत करने लगी- मैं अब और बर्दाश्त नहीं कर सकती इसीलिये जल्दी से मेरी आग को शान्त कर दो.

अब तक आपने पढ़ा कि मैंने आंटी की चूत से लेकर गांड तक को अपनी जीभ से बड़ी देर तक चाटा, जिससे आंटी की हालत बड़ी खराब हो गई थी. मैं- तो फिर आप मुझे एक मौका दो ना भाभी आपकी सेवा करने का? अगर आपकी प्यास ठंडी न कर दी तो मेरा नाम बदल देना. स्कूल की छुट्टी होने तक मैं अपना काम करता रहा और फिर घर आ कर सो गया.

फिर मैंने उसके मोबाइल में गैलरी में जाकर उसकी पिक चैक करने लगा, तो वहाँ उन दोनों की कुछ न्यूड फोटो पड़े थे. मैंने उसे समझाया कि डरने की कोई बात नहीं है, मेरी अपनी गर्लफ्रेंड, जिसे मैंने कल चोदा था, उसकी भी सील मैंने ही तोड़ी थी. एक ही धक्के मैं पूरा लंड अंदर चला गया क्योंकि मैम की चुत ढीली थी और मेरा लंड भी उतना मोटा नहीं है.

’ की आवाजें करने लगी, तो मैंने देरी नहीं करते हुए उसकी चूत पर अपना लंड सैट कर दिया. मैं किसी तरह से बाथरूम में गई और बैठने की कोशिश की तो बैठ नहीं पा रही थी.

मैंने काफी देर सोच कर उसे हाँ कह दिया।अब रीना ने एक प्रमुख ऑनलाइन रोजगार साइट पे आवदेन शुरू कर दिए। तभी एक सप्ताह बाद रीना मुझे बताया कि एक प्रमुख प्राइवेट कंपनी ने उसे इंटरव्यू के लिए बुलाया है।मैंने खुश होते हुए कहा- यह तो बहुत अच्छी बात है.

वैसे तो मेरा साइज 36 का है लेकिन मैं 32 के साइज की ब्रा पहनती हूँ क्योंकि टाइट ब्रा में से चूचे बाहर निकलने को हुए रहते हैं जिनको देखकर मुझे बहुत मजा आता है. सेक्सी वीडियो देखने वाला सेक्स वीडियोअम्मी ने देखा और बोला- क्या हुआ परवेज जी?अंकल बोले- फातिमा जी, मैं इतने दिनों से आपसे बात कर रहा हूँ, मुझे आपके साथ बहुत अच्छा लगता है. देवर भाभी का सुहागरात सेक्सीवो पीछे हटी, मैंने हाथ पीछे ले जाके उसके चूतड़ों को पकड़ के खींचा और जीभ से चाटने लगा. इससे पहले कि मैं इस कहानी में आगे बढूँ, मैं आप सभी को सीमा भाबी के बारे में बताना चाहूँगा.

मैंने देखा कि कुछ ही पलों में अम्मी पूरी अकड़ सी गयी थीं और उनके मुँह से बेकाबू कामुक ‘इसस्स.

वो अपनी कोमल बांहों का घेरा बना कर मेरे गर्दन में डाल के मुझसे चिपक गयी. ये मेरी पहली कहानी थी … और भी एक ऐसी ही सेक्स स्टोरी है, वो नेक्स्ट टाइम पोस्ट करूंगा. वो तो शराब में ही डूबा रहता है मुझे देखने का टाइम ही कहां है उसके पास.

नम्रता- तो इसमें दरवाजा क्यों बंद करना, हमारे तुम्हारे अलावा कौन है? जब तक तुम हगोगे, तब तक मैं ब्रश कर लूंगी. लेकिन मुझे किसी की सुन्दरता से कोई मतलब नहीं होता, बस वो पलंग पर चुदाई में पूरा साथ देती रहे, मैं बस यही चाहता था. उस दिन मैंने सोनू को कोचिंग की छुट्टी करके क्लास बंक करने के लिए मना लिया.

मराठी सेक्सी हिडीवो

उस कॉन्डोम के पैकट को हाथ में पकड़ कर मोनी अब कुछ देर तो वैसे के वैसे ही खड़ी रही और फिर जल्दी से उसने उसे वापस बैग में ही रख दिया। शायद मोनी सोच रही थी कि मैं उस कॉन्डोम के पैकेट को बैग से निकालना भूल‌ गया हूं इसलिये उस कॉन्डोम के पैकट के साथ-साथ मोनी ने उस बैगे के सारे सामान को भी वापस बैग में ही रख दिया और चुपचाप खाना बनाने लग गयी. वो मेरी बात समझ गई और बोली- कहो तो मैं तुमको भी खुश कर सकती हूं, पर प्लीज़ ये फोटो तुम किसी और को मत देना … नहीं तो मेरे घर वालों की बहुत बेइज्जती होगी. नीना मुझे नंगी देख कर मुस्कुराती हुई पास आई और बोली- हाय इतना शरमा क्यों रही हो? मेरे पापा बहुत अच्छे हैं.

उस वक्त मेरी उम्र 25 साल की थी, जब मैंने पहली बार इस गांड मारने की विधा का अनुभव किया.

लेकिन अचंभे की बात यह थी कि वो दर्द से कराहकर मेरे सीने से लग गयी और पागलों की तरह मुझे चूमने लगी.

’उसने सधे हाथों से संगीता के पीछे खड़े होकर गर्दन और कन्धों को मालिश शुरू की. अब ज्योति बोली- भगवान के लिए मुझे छोड़ दो, मैं तुम्हारे पैर पड़ती हूँ. भोजपुरी व्हिडिओ गाना सेक्सीउस रात हमने 4 राउंड चुदाई की और सुबह के 4 बजे तक चुदाई का मजा करते रहे.

उनके कमरे में जाते ही मैं कमरे से बाहर आकर उनके कमरे में छुप कर देखने लगा. थोड़ी देर में ही डॉली की थकावट दूर हो गई तो मैंने लेटे लेटे ही ट्रेन स्टार्ट की. उस रात हमने 4 राउंड चुदाई की और सुबह के 4 बजे तक चुदाई का मजा करते रहे.

कुछ देर तक मैं आंखें बंद किये हुए ऐसे ही पड़ा रहा।फिर जब यह अहसास हुआ कि हाथ के साथ-साथ वीर्य झाटों तक को भिगो चुका है तब सोचा कि अब बाथरूम में जाकर इसे साफ कर लूं. एक से उसने अपनी चूत पौंछी, दूसरे से उसने राहुल का भी लंड पौंछ दिया.

मैं छूटने की कोशिश कर रही थी, पर अंकल की ताकत का मुकाबला नहीं कर सकी.

जब बीयर का हमारा पहला ग्लास खत्म हो गया तो मैं दूसरा बनाने के लिए उठा तो उसने कहा- एक ही बनाना, अब दोनों एक में ही पियेंगे. होंठों की जोरदार चुसाई के बाद मैं नीचे की तरफ चला और भाभी की गर्दन को चूमने लगा. मैं जब भी किसी कजरेली माल को देखता हूं, तो उसको देख यही सोचता था कि मैं उसके चूतड़ों पर थप्पड़ मारूंगा, तो कितना मजा आयेगा.

खुली सेक्सी चोदा चोदी काफी देर बाद जब मेरी नींद खुली … तो सब लोग खाना खाने के लिए मुझे बुलाने लगे. मैंने बताया कि मैं अभी बैंक के गेस्ट हाउस में रहूंगा, फिर बाद में कोई अपना इंतज़ाम कर लूँगा.

उसके पिता रमेश शुक्ला 50 साल के मजदूर हैं जो काफी हट्टे कट्टे हैं।मेरी मां एक शरीफ और संस्कारी गृहिणी है जो किसी पराए मर्द को नहीं देखती। पर जैसा कि आप जानते हो, औरत की कामवासना उमर के बढ़ने के साथ ही बढ़ती जाती है।मेरी मां बस में सफर करती है. मैंने एक और जोरदार शाट मारा और मेरा पूरा लंड उसकी कसी हुयी चूत की गहराइयों में खो गया. मैंने कहा- चूसो इसे!इस पर वो बोली- ठीक है, लेकिन ज़्यादा नहीं!मैंने कहा- हाँ!और उसने मेरे लंड का चिकनापन अपनी साड़ी से साफ किया और मुँह में लेने लगी.

नेकेड बूब्स

जब वीर्य के बाहर निकलने या अंदर ही रखने पर मेरा कोई वश न रहा तो मैंने वीर्य के आवेग को अपने मन में उठ रहे आनंद के हवाले कर दिया. अचानक ही वसुन्धरा का एक हाथ मेरे सर पर से खिसकता-खिसकता, मेरी पीठ पर से होता हुआ मेरे जॉकी के अंदर जाकर मेरे दाएं कूल्हे पर फिरने लगा. अगले पल उसने मुझे बिस्तर जो कि जमीन पर ही एक गद्दी डाली थी, उसपे लेटा दिया.

कुछ देर सोचने के बाद भाभी ने कहा- ठीक है, तुम आंखें बंद करके लेटे रहो, मैं चुम्मा ले लेती हूं. मैंने उनकी नाइटी को धीरे-धीरे ऊपर करना शुरू किया, तो सुमन भाभी ने अपनी पूरी नाइटी को खोल दिया और वे औंधी लेट गईं.

फिर उन्होंने अपना लंड चूत में डाल कर नितंबों को फैला दिया, जिससे मेरी गांड का छेद खुल गया.

” मैंने हल्का सा उच्छश्वास लेते हुए नोट किया कि ऐसा सुनते ही वसुंधरा की आँखें चंचल हो उठी और होंठों के कोरों पर हल्की सी मुस्कान आ गयी थी. फिर मैंने भाभी की ब्रा भी उतार दी और उनके मम्मों को मसलने और चूमते हुए चूसने लगा. अंकल का सांवला रंग, चौड़ा बदन, पतले हुए बाल और गुस्सैल चेहरा होने की वजह से कोई उनसे ज्यादा बात नहीं करता था.

कुछ ही पल में उसके लंड में तनाव आना शुरू हो गया और उसका लंड पैंट में ही तन कर बिल्कुल टाइट हो गया. वह बाहर से धीरे धीरे मुझे देख रहा था, मेरी नजरें एक बार फिर उससे मिली और मैंने उससे पूछा- गाड़ी कितनी देर में सही हो जाएगी?वह मुझसे बोला- मैडम इंजन में कुछ प्रॉब्लम है, नया ऑयल डालना पड़ेगा।मुझे उसकी यह द्विअर्थी बातें समझ में आ गई थी, मुझे पता चल गया वो किस इंजन और किस ऑयल की बात कर रहा है. पर मैं किसी होटल में ये सब करने से डरती हूँ और मेरे घर पर पूरे टाइम कोई ना कोई होता है.

मैंने अपने घुटनों के नीचे से हाथ डाल कर अपने पांव खूब अच्छी तरह से ऊपर उठा दिये और एक टॉवेल फोल्ड करके मेरी कमर के नीचे बिछा दी.

बीएफ सेक्सी वीडियो सील पैक: नैना की उंगली पर थोड़ा सा प्रीकम लग गया, जिसे पहले तो उसने बड़ी नफरत से देखा. मैं तुमको भरोसा दिलाता हूँ मैं किसी को कुछ नहीं बताऊंगा।फिर वो नॉर्मल हो गयी.

मेरे कहने पर भोला ने और जोर लगाया और पूरी ताकत के साथ मेरी चूत में धक्के मारने लगा. मैंने इसकी सारी कहानियाँ पढ़ी हैं, तथा आज पहली बार अपनी कहानी लिख रहा हूं. मैंने मेनगेट का ताला खोला और कार पोर्च में ले जा कर खड़ी की और कार का वसुंधरा वाली साइड का दरवाज़ा खोला और उससे कहा- आइये.

राहुल के लिए यह पहला अनुभव था जब किसी ने उसका लंड खाली किया हो और वो ही उसको पी गयी हो.

क्या ग़ज़ब लग रही थी, आते ही हम दोनों ने हाथ मिलाए और मैंने हल्के से उनके हाथ को दबा कर उनको कामुक सा इशारा कर दिया. फिर मैंने प्यार से उसके मुंह को पकड़ा और उसको होंठों को पूरा का पूरा अपने मुंह में ले लिया ताकि बाहर किसी तरह की आवाज न निकल सके. आंटी बोल रही थी- आज मेरे राजा ने मेरी प्यास बुझा दी। मुझे पता भी नहीं था कि इतने लंबे लण्ड का मालिक मेरे साथ रहता है.