स्टूडेंट और टीचर की बीएफ

छवि स्रोत,हिंदी सेक्सी हिंदी सेक्सी वीडियो चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

सैक्स विडियो: स्टूडेंट और टीचर की बीएफ, ऐसा नहीं कि मैंने तुम्हें कभी नोटिस नहीं किया लेकिन मैं आगे बढ़ने की हिम्मत नहीं कर पाई.

हिंदी सॉंग सेक्सी

बेड पर भाभी पीठ के बल लेट गई और मुझसे बोली- रानी, एक बार मेरे ऊपर आ जाओ. घोड़ा वाली घोड़ा वाली सेक्सीकुछ देर बाद रमेश ने लंड को उसके मुंह से छुड़ाया और उसकी गांड को घुमाकर अपनी तरफ कर लिया.

भाभी मुझसे हाथ जोड़ कर बोलीं- मुझे छोड़ दो राजा … और अब तुम इस रांड को चोद लो. हिंदी सेक्सी फिल्मों के वीडियोमुझे जल्दी से नंगा करके घोड़ी बना दिया और मेरे पीछे आकर अपना लण्ड मेरी गांड के छेद पर टिका दिया.

मैंने उस अंधेरे में उसका हाथ पकड़ा और संभल कर चलते हुए अपने बेडरूम में आ गया.स्टूडेंट और टीचर की बीएफ: अगर सैट हो जाती तो कसम से पूरी रात चोदता।भाभी को बस में उल्टियाँ होने लगती हैं.

तुम अब निशा से भी मिल चुकी हो … और देख चुकी हो कि हम दोनों आपस में कितना प्यार करते हैं.उसके अंडरवियर में उसका लंड उठा हुआ था और चड्डी पर उसके प्रीकम का धब्बा भी बन चुका था.

हिंदी कॉम सेक्सी वीडियो - स्टूडेंट और टीचर की बीएफ

शुरूआत में तो मुझे थोड़ी सी दिक्कत हुई … क्योंकि मैंने कभी अपने मुँह में लंड नहीं लिया था.भाभी ने अपना नाईट गाउन निकाल दिया और एकदम नंगी हो गई और मुझसे कहने लगी- मेरी चूचियों को पियो.

और मेरी हल्के से दर्द से स्सीईई … आऊ … निकल गयी।उसने कहा- अब चला जाएगा. स्टूडेंट और टीचर की बीएफ दोस्तो … मैं अनिकेत अपनी चुदक्कड़ पूजा के साथ आपके सामने बाँडेज सेक्स करने को तैयार हूँ.

उसको डिस्चार्ज के बाद थोड़ी शांति और थोड़े विश्राम की आवश्यकता थी, तो मैंने उसे बाथटब में अपने साथ खींच लिया.

स्टूडेंट और टीचर की बीएफ?

इस पर मेरा भाई बोला- जिसकी तेरी जैसी हॉट चुदक्कड़ बहन हो, वो तो बहनचोद होगा ही. पर अगर मेरी देवरानी को मेरे से पहले बच्चा हो रहा है, तो सारा घर मुझे ही बच्चा न होने का दोष देकर मेरा जीना हराम कर देगा. आज बहुत अरसे बाद अपनी एक मित्र के कहने पर आज अपनी वैरी सेक्सी गर्ल हॉट स्टोरी आप सबके साथ शेयर कर रहा हूँ.

उसने कुछ कहा तो नहीं, पर चेहरे के हाव-भाव से पता चल रहा था कि जैसे कह रही हो कि रुक क्यों गए, चोदो मुझे. इसी के कारण अब मैं अपनी वासना को शांत करने के लिए हस्तमैथुन का सहारा लेने लगा था. ऐसा लग रहा था कि आंटी ने अभी ये नया नया तरीका खोजा था चूत को शांत करने के लिए इसलिए वो इतनी कामुक हो रही थी.

वो गहने भी पहने हुए थी।उसको लेटाकर मैंने उसके गहने निकाले और उसके पास लेट गया। मैं उसको किस करने लगा. शर्मिष्ठा की ऐसी कोई भी साड़ी नहीं थी जिसे पहिना कर मैंने उसे न भोगा हो. अब मैंने उसके दोनों गाल बारी बारी से कई कई बार चूम डाले और उसके होंठ चूमते हुए निचला होंठ चूसने लगा साथ ही उसका बायां स्तन कुर्ते के ऊपर से ही धीरे धीरे सहलाने लगा.

जितनी बार मेरा भाई अपने लंड को आगे पीछे करता, उतनी बार मेरे बदन में आग सी लग रही थी. उसके बाद हम समय मिलने पर नजदीकी शहर निकल जाते और दो दिन उधर अपनी काम इच्छा पूरी करके वापिस आ जाते.

रवि के चंगुल से खुद को छुड़ाते हुए वो बोली- सेठ, रंडियों के भी कुछ उसूल होते हैं.

मेरी पढ़ाई छूट जायेगी और मार पड़ेगी, वो अलग।मैं- तुम्हारे लक्षण तो पढ़ाई के कम और चुदाई के ज्यादा लग रहे हैं.

भाभी- नहीं, अभी तो हमें देर हो गई है, मैं कुछ और जुगाड़ लगाती हूँ, आज अंदर लेना जरूर है, नहीं तो आज मेरी रात नहीं कटेगी. मेरी हिंदी सेक्स स्टोरीएक्स-गर्लफ्रेंड की शादी के बाद चुदाई-3में अब तक आपने पढ़ा कि मेरी एक्स गर्लफ्रेंड अपनी ननद के साथ मेरे बारे में बातें कर रही थी. फिर मैं उसके पंजों की ओर मुंह करके उसके मुंह पर चूत रख कर बैठ गयी और अपनी चूत को चटवाने लगी.

और दूसरी अप्सरा फटी हुई डिजाइन की जींस और ढीली शर्ट में थी, उसने अपना नाम सुमन बताया. भाभी- कहां जा रहे हो?मैं- भाभी दूध लेने मार्केट जा रहा हूँ … आज टिफिन भी नहीं आया है, तो कुछ खाने का भी लाना है. पर मैं सोच रहा था कि मैं किस-किस से दिल लगाऊं, प्रेम का दायरा क्या है?फिर मन में ख्याल आया कि जो हद में हो, वो प्रेम कहां हुआ!मैंने सोचा कि अगर आपके अन्दर बहुत सारा प्यार भरा है और आप बहुत से लोगों का प्रेम संभाल सकते हो, तो आगे बढ़ जाना चाहिए.

फिर रमेश अपने घुटनों पर आ गया और उसने अपने लंड पर थूक लगा कर रिया की चूत पर अपना लंड सेट कर दिया.

बच्चों के कुछ प्रस्तुतियों के बाद ही बड़े लोगों की प्रस्तुति प्रारंभ हो गई, संगीत कार्यक्रम में वर पक्ष और वधु पक्ष दोनों मिलकर प्रस्तुति दे रहे थे. अब हम दोनों ऊपर जाने लगे तो उसने पूछा- तुम अकेली रहती हो?तो मैंने उसको बोला- हाँ, अकेली रहती हूँ।अरे दोस्तो, मैं आपको उसका नाम बताना तो भूल ही गयी. दिया ने मुझे आवाज करके उठाया और बोली- खाना बनाने का टाइम हो गया है, कुछ सामान सब्जी लाना होगा ना?मैंने देखा तो वो हंस रही थी.

इसके साथ वाली शर्ट कुछ लम्बी थी, तो मैंने उसको कटवा कर अपनी कमर से हल्का ऊपर तक का करवा लिया. मैंने पूछा, तो बोलीं- हां मैं बहुत कम चुदी हूँ, इसीलिए टाईट हूँ … और तेरी एक स्माइल पर फ़िदा हो गई थी. मैंने कहा- भाभी, प्लीज सोने दो ना!तभी अचानक भाभी ने मेरी चादर खींच दी.

नमस्कार दोस्तो, मैं आप लोगों की प्यारी मधु अपनी आत्मकथा में एक बार फिर तहेदिल से आप सभी का स्वागत करती हूँ और उम्मीद करती हूं कि आप लोग अच्छे और स्वस्थ होंगे.

उसकी बात की हामी भरते हुए मैं बोला- हां, ये बात तो बिल्कुल सही है, तुम मिस करती थी तभी तो हम लोगों के साथ घूमने आ गयी. हम लोग जल्दी वापस आ जाएंगे और वैसे भी हर बात हज़्बेंड को नहीं बतानी चाहिए.

स्टूडेंट और टीचर की बीएफ ”थैंक यू यार … मैं तो सोच रहा था क्या पता तुम शर्मा जाओ और मुझे ऐसे ही छोड़ दो?”ऐसे थोड़े ही होता है. मैं अपने घुटनों पर बैठ कर उनके लौड़ों को बारी बारी से चूसने लगी।कभी एक के लंड को चूसती और कभी दूसरे के लंड को। मैं दोनों के लंड को चूस रही थी और वो दोनों आंखें बंद करके अपने लंड को चुसवाने का मजा ले रहे थे.

स्टूडेंट और टीचर की बीएफ शीला पलट गयी और उसने राजेश को अपने को पूर्णतः समर्पित करते हुए अपने को उसमें समाने के लिए जिस्मों के हर फासले को ख़त्म कर दिया. मैंने भाभी के ऊपर अपने हाथ रखे और उनकी चूत में लंड को चलाने लग गया.

उदय सर मेरी नई और सील पैक चुत का कबाड़ा करने में तुले थे और मुझे भी अपनी चुत की धज्जियां उड़वाने में मजा आने लगा था.

सेक्सी वीडियो कपूर की

ऐसा कहने के बाद उसने सीधा अपना हाथ मेरे कच्छे में डाल दिया और मेरे लौड़े को पकड़ लिया. मैंने भी नेहा की हाँ में हाँ मिलाते हुए कहा- सही कहा नेहा ने, आजकल वो गोरों में रहती है, तो हमें नखरे तो दिखायेगी ही न!गीत बोली- अरे यार मैंने तुम लोगों को बहुत मिस किया है. मैं अभी भी उसके साथ रिलेशनशिप में हूँ और हमने मेरे घर का कोई हिस्सा नहीं छोड़ा है जहाँ हमने चुदाई न की हो।हमने उसकी कार में भी चुदाई की थी.

मेरी पहले की सारी कहानियां पढ़ पढ़ कर जिसे जो मिला, जिसका मिला वही घुसा लिया. मैंने उसे बहुत ज़ोर से पकड़ लिया … क्योंकि मेरा ब्लाउज निकल गया था. सिर्फ टिकट के लिए नाम पता बता दो।मैंने कहा- तुमसे अब क्या डरना, मेरा असली नाम ही संदीप है.

फिर मैंने सोचा कि ज्यादा नाटक करना ठीक नहीं है अब मेन प्लान पर आती हूँ.

”ओह … अच्छा? … फिर?”वो बता रही थी कि यह ब्रा पैन्टी उसके बॉय फ्रेंड ने गिफ्ट दी है।हा … हा … हा … ज्यादातर सच्चे बॉय फ्रेंड यही गिफ्ट देते हैं. फिर मैं सोचने लगा कि हो सकता है पायल मुझसे सिर्फ जिस्मानी संबंध बनाना चाहती हो और मैं कुछ ज्यादा ही सोच रहा होऊं. उसने रिया के होंठों से अपने होंठों को जोड़ दिया और उसकी गांड को भींच भींच कर उसके होंठों को पीने लगा.

मैं खुशी का ये उपहार लेना नहीं चाहता था, पर मैं जानता था कि यहां मेरी मर्जी नहीं चलेगी. भाभी वासना से छटपटा रही थीं और अपने मुँह से कामुकता से ‘हाईईईईई … आह. जीजू, मैं बार बार आपको छू कर देख रही थी आपका टेम्परेचर डाउन ही नहीं हो रहा था, तो मैं क्या करती फिर?” निष्ठा ने अपना पक्ष रखा.

” साली जी बोलीं और फिर उसने अपनी हथेलियों में खूब सारा तेल मल लिया और मेरी चड्डी में नीचे से हाथ घुसा कर अपने बाएं हाथ से मेरे लंड में तेल लगाने लगीं. हम लोग अब सानिया को अपने यहाँ पक्के तौर ही रख लेंगे। वह इधर-उधर की बातें भी नहीं करती और घर का काम करने में वह गौरी से भी ज्यादा होशियार है।”सच्ची?”और नहीं तो क्या? तुम्हें विश्वास नहीं हो रहा ना?”नहीं ऐसी बात नहीं है.

फिर मैंने उसकी स्कर्ट निकाल कर पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को सहलाया. वो अब जोर जोर से सिसकारियां लेने लगी और नशीली आवाज में एक दम देहाती अंदाज में बोली- हाय दैया… आग लगाय दई. मेरी पड़ोसन भाभी के साथ सेक्स का मजा कहानी के पिछले भागपड़ोसन भाभी की मस्त चिकनी चुत की चुदाईमें अपने पढ़ा कि कैसे मैंने भाभी की जल्दीबाजी में चुदाई कर ली थी.

राजीव बोला- मधुजी बारिश बहुत तेज है … रूम में ही थ्री-सम कर लेते हैं.

सेक्सी कॉलेज गर्ल की कहानी का अगला भाग:सेक्सी कॉलेज गर्ल ने जूनियर को बनाया सेक्स गुलाम- 2. रुचि भाभी ने उठ कर अपनी साड़ी को जांघों तक ऊपर कर लिया और चूत को छुपाये रखा क्योंकि उसने नीचे से पैंटी नहीं पहनी थी. उसने किसी तरह घुटी हुई आवाज में कहा- छोड़ दो यार!मैं- चुदवाना पड़ेगा अभी.

इस बार भाभी जी अपनी चुत में मेरा पूरा लंड एक बार में ही ले गईं और ‘सस्स्स्स … आह. फिर हम उठकर वहां से निकल लिये और सवेरा होने से पहले ही होटल में आ गये.

पर ऐसा करने का नताशा ने मौक़ा ही नहीं दिया था।अब हालत यह थी कि जैसे ही मेरा लंड दाने पर रगड़ खाता उसकी एक हल्की सीत्कार निकल जाती।उसका पूरा शरीर ही जैसे लरजने लगा था और अब तो वह अपने पैर भी पटकने लगी थी। मुझे लगता है वह अपनी उत्तेजना को संभाल नहीं पा रही है। और फिर जैसे अक्सर ऐसा होता है उसकी चूत ने हार मान ली और उसका एक बार फिर से स्खलन हो गया।आईईईइ … मैं मर जाऊंगी … प … प्रेम. ” उसने दीवार पर लगी घड़ी देखते हुए कहा।क्या हुआ?”प्रेम … अब मुझे जाना होगा …मुझे लगा नताशा अब बाथरूम जाना चाहेगी। मेरा मन तो कर रहा था उसे अपनी गोद में उठाकर बाथरूम में ले जाऊं और उसकी सु-सु से निकलने वाली सीटी का मधुर संगीत सुनूँ। उसकी गुलाबी कलिकाओं से मूत की पतली धार को टकराते हुए देखने का दृश्य तो बहुत ही नयनाभिराम होगा आप सोच सकते हैं।अगर बाथरूम जाना हो तो हो आओ. मैं बोली- दर्द हो रहा क्या साले कुत्ते?मैंने उसकी गोटियों को छोड़ दिया.

सेक्सी मूवी एचडी की

मैं इस सोच में था कि कहीं क्रिया को पता तो नहीं चल गया हमारे बारे में?कहानी के अगले भाग में तब तक के लिए धन्यवाद। आपके मेल की प्रतीक्षा में!देसी बुर की चुदाई की कहानी आपको कैसी लगी? कृपया इसमें तो कंजूसी ना करें.

दूसरा इन्होंने मुझसे करवाई, मेरी कभी नहीं मारी … आपने तो मेरी कई बार मारी है, मगर मैं इनके लिए नया लौंडा हूं … इसलिए आज इनसे मैं करवाऊँगा. मैंने उसके मम्मों को ब्रा के ऊपर से ही चूमना और हल्के से काटना शुरू कर दिया. हमें अपने सीने से सटाकर हमारी चूचियां अपने सीने के बालों पर रगड़ते हुए हमारे होंठ चूसने लगे.

आप अपने सुझाव ईमेल व कमेंट्स में मुझसे साझा कर सकते हैं।आपका प्यार दोस्त- किंग![emailprotected]. मैं उसको अंग्रेजी के दो चार शब्द रोज सिखाता और लगातार प्रैक्टिस कराता. सेक्सी चोदा चोदी देवर भाभीसेक्सी फैमिली स्टोरी में पढ़ें कि एक घर में मुझे तीन शानदार चूतें मिल रही थीं.

उस मोमबत्ती को मामी ने अपने हाथ से धीरे धीरे अन्दर डाला और कुछ ही पलों में मामी ने धीरे धीरे वो पूरी मोमबत्ती अपनी गांड मैं ले ली. जब शांति ने घर का काम निपटा लिया तो मैंने उससे कहा- दो कप चाय बना लो, हम लोग एक साथ चाय पियेंगे.

मैंने अपने लंड के टोपे को उसकी चुत के बाहरी हिस्से में घिसना शुरू कर दिया. उसने धीरे से पूरा लंड मेरी चूत में उतार दिया और मेरी चूत को पीछे खींचते हुए अपने लंड पर पटकने लगा. अभी वो दोनों बहुत सेक्सी लग रही थीं और मेरा मन फिर से चुदाई के लिए डोलने लगा था.

तुमको कोई दिक्कत तो नहीं?मैं- नहीं, मुझे कोई दिक्कत नहीं … बस घर पर किसी को नहीं पता चलना चाहिए।ड्राइवर- नहीं यार, तुम उसकी चिंता मत करो. फिर राजीव ने अपनी दो उंगलियां मेरी चूत में डाल दीं और आगे पीछे करने लगा. फिर भी मैंने उसे खरीद ही लिया और उम्मीद करने लगा कि खुशी को यह मूर्ति बहुत पसंद आयेगी।अब वो वक्त भी आ गया जब मुझे खुशी तक ले जाने वाली ट्रेन में सवार होना था.

मेरा जवाब उन दोनों को अच्छा लगा और दोनों ही मुझसे चिपक कर चूमने लगीं.

उनकी एक टांग मेरी एक जांघ पर चढ़ी हुई थी मेरा लोअर नीचे था और भाभी ने अपने एक हाथ से मेरे लौड़े को पकड़ा हुआ था. रवि- जाने दूं? पागल हो गया है क्या? ऐसे माल को जाने दूं? अगर इसकी जगह मेरी बेटी रश्मि भी होती तो मैं उसे भी चोद देता, और फिर यह तो एक बाजारू रंडी है.

ये किसी किसी में अपवाद होता है। उसकी बुर को मैंने ऊपर से नीचे तक चाटा. आप जो कहोगे, वही होगा।मैंने उसे फिर छेड़ा- जो कहूंगा वो होगा?अब वो बेचारी क्या कहती उसने चुप रहकर सर झुका दिया. अंकिता भाभी ने मुझे वहां बाइक रोकने को कहा और बाइक रोड से उतार कर जंगल वाले एरिया में ले जाने को कहा.

वो बोली- फिर तुम मेरी बहन के पति हो, इसलिए ये भी लगता है कि कहीं मेरी वजह से मेरी बहन का घर बर्बाद ना हो जाये. रुमित मेरे सामने देखकर बोला- बस अब तुम सिर्फ़ आगे देखकर कार चलाओ … और हां कहीं पर भी कार खड़ी मत रखना … जब तक मैं ना कहूँ … ठीक है!तुषार बोला- ठीक है … भाई हम समझ गए. बस अभी एक प्यारी से मेल लिख कर मुझे और गर्म कर दीजिएगा, जिससे मैं थ्री-सम सेक्स करते अपनी चुत में आपका लंड महसूस कर सकूं.

स्टूडेंट और टीचर की बीएफ इस झटके से उसका आधे लंड से ज्यादा मेरी गांड को चीरता हुआ अन्दर घुसता चला गया. निष्ठा तुम यहीं लेट जाओ और इसे अपने दोनों हाथों से पकड़ लो मैं तुम्हारे ऊपर आ के इसे अपनी कमर से हिलाता रहूंगा तो दो मिनट में इसका पानी छूट जाएगा.

हाथियों का सेक्सी

दो मिनट का विराम देकर एक बार से दोनों लौड़े मेरे छेदों को खोलने लगे. काफी देर तक रीता की छिछोरी हरकतों को वो बर्दाश्त करता रहा मगर फिर उसने रीता को भी झड़क दिया. मैंने कहा- क्या पिताजी बाहर नहीं गए? उन्हें दो दिन किसी काम की वजह से बाहर जाना पड़ रहा था?मां- नहीं वो तो घर से जा चुके हैं.

मुझे भी मज़ा आ रहा था, मैं भी मस्ती में आआह्ह्ह ह्ह्ह्ह जानू ज़ोर से चोद मुझे आआह्ह्ह ह्ह्ह्ह करने लगी. राजेश ने शीला से अपने पास ही सोने को कहा तो शीला बोली- नहीं, आप भी नहीं सो पाओगे. मराठी सेक्सी कामसूत्रमैं तुमसे एक बात पूछना चाहती हूँ कि क्या तुम हमारे घर में ऊपर वाले कमरे को किराये पर ले सकते हो? देखो, ‘ना’ नहीं करना है, मैंने दोनों लड़कियों से बात कर ली है, इन दोनों ने हाँ कर दी है.

वो मेरी तरफ देख कर हंसने लगी और फिर से बोली- डरो मत बाबा … तुम्हें खा नहीं जाऊंगी … बस कभी कभी मेरे को अच्छी सी ड्रेस दिलवा दिया करना.

मैं सोच रहा था कि इतना उम्दा आनन्द तो सुहागरात में भी नहीं मिला था … जो मीता ने दिया था. लेकिब उसने मुझे कोई भाव नहीं दिया तो मैंने उसकी जवान बेटी गुरजीत पर नजर गड़ाई और वो मेरे लंड का ग्रास बन गयी थी.

कभी बाहर भी आना हो तो नैंसी ही आती हैं क्योंकि अनिल तो पीने और ठोकने के बाद टुन्न होकर सो जाते हैं. मैं- तो क्या हुआ, क्या शादीशुदा गर्लफ्रेंड नहीं हो सकती!भाभी- किसी बिना शादीशुदा को पटाओ … हा हा हा हा … वैसे भी रजत को पता चलेगा तो जान ले लेंगे … हा हा हा हा. इतना कह कर वे दोनों उनके बैडरूम में चली गयीं और पिंकी मुझे दूसरे बैडरूम में ले गयी.

सो मैंने नेहा के हाथ को पकड़ कर रोक दिया और मैं खुद पलट कर नेहा की ओर मुँह करके बैठ गया.

मैंने भाभी को अपनी ओर खींचते हुए अपने ऊपर लिटा लिया और बोला- आप यहीं सो जाओ. मैं भी उसके ऊपर छा गया और मैंने अपना लंड उसकी दोनों हथेलियों के बीच पकड़ा दिया और उसके हाथ उसकी जाँघों के बीच कर दिए फिर उससे कहा- बस इसे ऐसे ही पकड़ के पड़ी रहना, बाकी मैं खुद कर लूंगा. भाभी की चूत में जीभ डाल डाल कर मैं उसकी चूत के नमकीन पानी को चूस रहा था.

गंदी सेक्सी गंदीकुछ देर रवि के लंड से अपनी चूत की बाहर से मसाज करवाने के बाद रवीना ने अपने हाथों से रवि का लंड अपनी चूत में कर लिया और लगी उछलने. उसमें लवी खुल कर अपने से चुदाई की बातें कर रही थी।मैं तो पढ़ कर हैरान रह गया के जिसे हम सभी बच्ची समझ रहे थे, वो तो कब की जवान हो चुकी है। कितनी तड़प थी उसको अपने पति से मिलने की!और उस से भी ज़्यादा, उसके साथ सेक्स करने की।लेकिन इस बार कुछ और भी नया दिखा.

सेक्सी वीडियो देख ली

स्वरा की उम्र करीब बीस साल, कद पांच फीट चार इंच, रंग गोरा, 32 इंच की चूचियां और 36 इंच के चूतड़. हल्की हल्की सीईईई … करते हुए चूत में ले गयी और उस पे झुक के बैठ गयी।सुनील ने हल्की सी आहह … भरी।अब मैं खुद ही धीरे धीरे उसके लंड पे ऊपर नीचे सरक सरक के चुदवाने लगी।धीरे धीरे मैं अपनी स्पीड बढ़ाने लगी और उसकी छाती पे हाथ रख के चुदवाने लगी। मेरे मुंह से आहह … आहह … अहह … सी … स्सी … स्सीईईए … की आवाज निकल रही थी. आकाश ने नैन्सी को ऊपर वॉशबेसिन के स्लैब पर बिठा दिया और उसकी टाँगें चौड़ा कर चूत चुसाई तेज करी.

अपने लंड को हिलाते हुए उसने लड़की के होंठों पर एक दो बार रगड़ा और फिर उसका मुंह खुलवाकर लंड अंदर दे दिया. तो अगर जाग गई तो क्या पता मेरी किस्मत ही ही खुल जाए।बस यही सोच कर मैंने हल्के से चूसा. मैं बार बार पीछे होकर उसके मटकते हुए चूतड़ों को निहारने लगता … उसके चूतड़ तो मानो मुझे बुला रहे थे.

कुछ देर मैं ऐसे ही भाभी के पेट पर अपने लंड को उनकी चूत के अंदर किए हुए लेटा रहा।थोड़ी थोड़ी देर में मैं भाभी के चूत के अंदर लंड का झटका सा मार देता था. मैंने उसे बेड पर लिटा दिया और उसकी कमर के नीचे तकिया लगा के उसके पैर मोड़ के अच्छे से ऊपर उठा दिए. मेरा लंड पूरी तरह से गीला हो गया था … तो अब बड़ी आसानी से चुत में अन्दर बाहर हो रहा था.

चूंकि बीच की मस्ती से हम तीनों ही काफी थक गए थे, इसलिए हम लोगों ने कुछ देर रेस्ट किया. कुछ देर बाद फिर सर ने रफ्तार से मेरी चूत में अपने लंड को अन्दर बाहर करन शुरू कर दिया.

पर मैं जालिम भी सब देख रहा था।हर बार जब मेरा लण्ड किट्टू की चूत के अंदर जाता तो मुझे एक खिंचाव सा महसूस होता जो इस बात का प्रतीक था कि किट्टू की चूत मेरे लण्ड के लिए अभी बहुत तंग थी।किट्टू की सिसकारियाँ धीरे धीरे तेज़ होती जा रही थीं.

अगर मैं मेहमान बनाकर ना बुलाया गया होता तो मेरा इस होटल में घुसना भी मुश्किल होता।खैर होटल में सबसे पहले छोटा हॉल था जहाँ मुख्य रिशेप्सन के अलावा बैठने की व्यवस्था और चाय पानी की पूरी व्यवस्था थी. वीडियो में सेक्सी दिखाएं वीडियो सेक्सीमैंने उसको किस किया और उसके कंधे और गर्दन में सर घुसा कर तेजी से चोदने लगा. ओपन सेक्सी फिल्म एचडीवो कुछ देर मेरी चूत चाटने के बाद सीधा हुआ और अपने लंड को मेरे मुँह के सामने रख दिया. मैंने उससे कहा कि आपको किसने कहा कि आप सुंदर नहीं हो … मुझे तो आप बड़ी सुंदर लगती हो.

साली जी पूरी तन्मयता के साथ मेरे पैरों की पिंडलियों की मालिश किये जा रही थी.

मैंने उसको जांघों के पास से जोर से पकड़ लिया था और मैंने उसके लंड को अपनी चूत में पूरा अंदर उतार लिया. मेरी पढ़ाई छूट जायेगी और मार पड़ेगी, वो अलग।मैं- तुम्हारे लक्षण तो पढ़ाई के कम और चुदाई के ज्यादा लग रहे हैं. वो अपने घुटनों पर मेरे सामने था और मेरे अगले आदेश का इंतजार कर रहा था.

अचानक से न जाने उसे क्या हुआ, उसने मुझे अपने नीचे लिटा दिया और मेरे कच्छे को खोल दिया. डार्लिंग नाराज़ क्यों होते हो इतना?मैंने कहा- नाराज़ कौन हो रहा है साली! चलो आज फिर खुद ही उतार कर आ जाओ हमारे सामने, हम भी देखें खुद कपड़े उतार कर कैसे सामने आती हैं हमारी जानेमन!तभी डोर बेल बजी और चाय आ गयी. घर की ओर लौटते हुए मैं देख रही थी कि सड़क पर इक्का दुक्का लोग ही थे.

धोखेबाज सेक्सी

अब मैंने अपने शॉर्ट ट्राउजर निकाल दिये और अंडरवियर में होकर बैठ गया. अंदर उसने वेडिंग नाइट ब्रा पहन रखी थी पिंक कलर की!उसको उतारकर उसके बूब्स पर किस करने लगा. ऐसे ही उसका दूसरा स्तन भी अपने मुंह में ले लेता और कभी कभी अपनी जीभ को गीत के दोनों मम्मों के बीच में घुमाता.

मैं अपने आप को संभाल नहीं पा रहा था।मैं रजनी की कमर को पकड़ कर तेजी से ऊपर-नीचे करने लगा।उफ़ … क्या पल था … मेरा पानी आने ही वाला था।मैंने रजनी को उठने का इशारा कर बाजू में सरकने को कहा।जैसे ही वो उठी तो मैंने अपने लंड को हाथ में पकड़ा और जोर से दो बार मुठियाते हुए पिचकारी सामने वाली सीट पर छोड़ दी.

मैंने कहा- साईकिल मैं चलाऊंगा, तुम पीछे बैठो … बाद में तुम चला लेना.

” कहकर सानिया मंद-मंद मुस्कुराने लगी थी।इसका मतलब तुम मेरी जलन को बिल्कुल ठीक नहीं करगी?”अले नहीं मैंने ऐसा थोड़े ही बोला है. ये देख कर मैं गुस्से से बोली- तुम लोग पागल हो गए हो क्या? छोड़ो मुझे नहीं चुदना है. सेक्सी पिक्चर सेक्सी पिक्चर पाठवामैं- फील किया था मतलब?भाभी- अरे बाबा … मैंने तुम्हारे इसको फील किया था.

कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ रही है इसलिए काम भी ज्यादा हो गया है. अपनी बात खत्म करते हुए सुरेश ने कुछ मेडिकल पेपर वैभव को दिखाए, जो कि उन लड़कियों के थे. ऐसा मज़ा तो कभी मेरी बीवी ने भी मुझे नहीं दिया था और न ही उससे ऐसा करवाने का ख्याल तक मेरे मन में कभी नहीं आया था.

तब तक नैंसी भी अपना ड्रिंक निबटा कर आ जाती हैं और थोड़ा बहुत डिनर सबके साथ कर के बाहर का मेन गेट और जीनों के गेट लॉक करके वे अपने कमरे में घुस जाती हैं और फिर सुबह तक दिखाई नहीं देते. तुम न मिलते तो मैं सच में जान ही न पाती कि सेक्स इतना मज़ेदार होता है?अभी तक तो ये एक सजा के जैसा लगता था क्योंकि हर बार में मैं बस या तो दर्द से कराहती थी, या फिर उसके झड़ने के बाद प्यास से सारी रात छटपटाती थी लेकिन संतुष्ट कभी नहीं होती थी.

फिर एक एक करके उसने अपने दोनों हाथों को ऊपर उठाते हुए अपनी क्लीन शेव कांख पर भी साबुन रगड़ा.

निष्ठा नहा धोकर तैयार हो गयी तो मैंने शर्मिष्ठा की अलमारी खोल कर उससे कहा- जो चाहो सो पहिन लो. कुंवारी लड़की चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी अनचुदी कामवाली को नंगी कर लिया था. वो मुझे बाहर लेने आयीं।दोस्तो, मुझे अपनी आंखों पर यकीन नहीं हुआ और किस्मत पर भी … वो रूप की रानी लग रही थी।उसने बैंगनी रंग की वन पीस पहन रखी थी जो उसके घुटने के ऊपर तक थी.

सेक्सी नेकेड मूवी मैं हैरान था कि वो यहां पर कर क्या रही है! उत्सुकता वश मैं उसी तरफ गया. उसकी बातों से पता चला कि वो एक हाउसवाईफ है और वो कुछ सेवा संस्थानों से जुड़ी है.

मैंने कहा- मुझे क्या पता कैसे चोदता है आदमी?भाभी मुस्कुराई और बोली- अच्छा, चल आ नीचे, मैं तुम्हें चोद कर दिखाती हूं. इस बात मैं ज़ोर से हंस दी और फिर हम अपने घर आ गए।दोस्तो, आप लड़का हो या लड़की … सभी से विनती है कि किसी की फीलिंग्स के साथ कभी मत खेलना. सेक्सी नंगी भाभी की गर्म गर्म जीभ मेरे निप्पलों के चारों ओर घूमकर मुझे ऐसा मज़ा देने लगी कि मेरी आंखें आनंद में बंद हो गयीं.

आरती सेक्सी पिक्चर

मुस्कुरा कर मैंने अपना सर हां में हिलाया और स्टेज पर प्रतिभा के साथ पहुंच गया. केक देखकर उसने कहा- इसकी क्या जरूरत थी।मैंने कहा- तुम्हारा जन्मदिन यादगार बनाना है इसलिए!अरे … मैं आपको उसका फ़िगर बताना तो भूल ही गया. हमारे इस तरह चूतें चूसने से दोनों लड़कियां सिसकारने लगी थीं और दोनों बहुत उत्तेजित हो गयी थीं.

फिर सर ने टेबल पर रखे सामान से तेल उठाया और मेरी चूत में तेल लगा कर उसे चिकनी कर दिया. शीला ने कप उठाया और साथ ही राजेश के बेड रूम से बाहर पड़ा टॉवल उठाया और किचन में चली गयी.

और फिर भैया भी फ्रेंची में ही कसरत करते हैं। मैं और भैया हम दोनों ही गर्मियों में घर पर अंडरवियर बनियान में रहते हैं.

हालांकि ये मेरी ही गलती थी जो मैंने उनको ये दिखाया कि मैं भी लंड की भूखी हूं. मैं बोली- अब मेरी पैंटी को उतार कर अपनी मालकिन की गांड को भी चाट।उसने मेरी काली पैंटी को अपने दांतों से पकड़ कर एक ही बार में नीचे कर दिया. तब मैं उनके लौड़ों को ऐंठते हुए बोली- भोसड़ी के … सब काम उंगली से करोगे … तो अपने इन खड़े लौड़ों से एक दूसरे की गांड मारोगे क्या?इतना सुनकर मेरा भाई बोला- ये तो बाद की बात है बहना.

मेरे प्यारे दोस्तो, सखियो, आपको मेरी इस हिंदी चूत की अन्तर्वासना कहानी में पूरा मजा आ रहा होगा ना?हिंदी चूत की अन्तर्वासना कहानी जारी रहेगी. मैं अब उसके सामने ब्रा और पैंटी में टांग खोल कर बैठी थी और वो मेरे जिस्म को निहार रहा था. ” मैंने उसके गालों पर चुम्बन लेते हुए कहा।ना जान बस आज और नहीं … हे भगवान् 7 बज गए.

मेरे ख्याल से आपके लिए दूसरा विकल्प ठीक रहेगा।मैंने हंसकर कहा- अच्छा तो अभी से तुम अपना फैसला थोपने लगी?मेरी इस बात से वो हड़बड़ा गई, उसने कहा- सॉरी सर, मेरा ये मतलब नहीं था.

स्टूडेंट और टीचर की बीएफ: हंम्म … तो साली जी कहां लोगी लंड को चूत में या गांड में या मुंह में?” मैंने पूछा. अच्छा, मेरी वो बिजनेस वूमेन किधर है?रति- वह अपने कमरे में है।रति को वहीं किचन में छोड़ कर रमेश किचन से निकलते हुए बोला- मैं जरा उससे मिलकर आ रहा हूँ।रमेश सीधे रिया के कमरे में घुस गया.

मैंने कहा- सही सुना है और सुनो, तुम्हें चोदने से मेरे लण्ड को जो सुकून मिल रहा है ऐसा ही कुछ तुम्हारे साथ भी हो रहा होगा, खुलकर बोलो और मजा लो. फिर एक दिन उन दोनों ने बिना मेरे से पूछे ही थ्री-सम का प्लान बना लिया. गुड्डी रानी ने बेबी रानी को बड़े ज़ोर से जकड़ रखा था और वो हाय हाय करके कराह रही थी.

चूत, बहुत गरमा गर्म लण्ड है और तेज़ करो ना जल्दी जल्दी।”हाय मेरी रितु उफ़ आह आह तेरी गरम चूत, उफ़ह बहुत तंग आह और गहरी चूत है मेरी चुद्दो की अह अह्ह्ह्ह… रितु चूतड़ उछालो … अह अह हां ….

प्रीति ने मुझे अपनी आगोश में ले लिया और अपने होंठ मेरे होंठों से मिला दिए. मुझसे रहा नहीं गया और उसी टाइम मैंने मुठ मार ली, जिससे मुझे कुछ शांति मिली. मैं बातचीत करते हुए उसकी सुंदरता के साथ उसके व्यक्तित्व को समझने का प्रयत्न कर रहा था.