किन्नरों की सेक्सी वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी बीएफ एचडी में देहाती

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स एक्स कोम: किन्नरों की सेक्सी वीडियो बीएफ, !इतना बोलकर आरोही उठ कर रेहान से चिपक जाती है, रेहान अपने हाथ उसकी कमर पर रखना चाहता था, पर उसने ऐसा किया नहीं, बस उसके नरम मम्मे और गर्म जिस्म का अहसास लेता रहा। राहुल पीछे से अंगूठा दिखा कर रेहान को विश कर रहा था कि प्लान काम कर रहा है।रेहान- अरे अरे, यह क्या कर रही हो, ओके.

बीएफ इंग्लिश दिखाइए

!!!”यह आह मेरी थी जो योगेश का लण्ड घुसने से निकली थी। मैं अब तक कई बार योगेश से चुद चुका था, लेकिन अभी भी जब उसका लण्ड घुसता था, मेरी दर्द के मारे आह निकल जाती थी। वैसे उसका लण्ड था भी खूब मोटा और गदराया हुआ।योगेश ने अपना पूरा लण्ड मेरी गांड में पेल दिया था और हिलाने लगा था।अब आहें लेने की बारी मेरी थी, अह्ह्ह्ह …. बीएफ सेक्सी हिंदी फिल्म सेक्सी!मैंने कहा- भाभी जी वैसे तो आप सूट में भी बहुत अच्छी लगती हो लेकिन जीन्स टी-शर्ट में तो और भी ज्यादा मस्त लगती हो।कामिनी ने थैंक्स बोला और पूछा- चाय के साथ क्या लोगे?मैंने कहा- बस आपके हाथ की चाय और कुछ नहीं।चाय को लेकर हम ड्राइंग-रूम में आ गए। वो साथ में खाने को काफी कुछ ले आई।मैंने कहा- भाभी जी, इतना कष्ट न करो।तो कामिनी बोली- भाभी जी.

’ की सिसकारियों से मैं खुश हो रहा था।अब अनिता मेरे धक्कों का जवाब गांड उठा-उठा कर दे रही थी, साथ ही ‘आह. इंडियन सेक्सी बीएफ चुदाई वीडियोमेरे अंग में धाराएँ फूटीं, दोनों का तटबंध था टूट गयामेरा सुख निस्सारित होकर, उसके सुख में था विलीन हुआस्पंदन के सुखमय योगों ने, परमानन्द से संयोग कियाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !.

आपके मेल का बेसब्री से इन्तजार रहेगा मुझे जल्दी से[emailprotected]पर मेल कीजिए न… और बताइए कि आज के भाग के बारे में आपकी क्या राय है?.किन्नरों की सेक्सी वीडियो बीएफ: !मैं- हाँ रंडी, तेरी गाण्ड को चोद-चोद कर गड्डा बना दूँगा।चाची- आआ आआवआ आआ एयेए उ अयू स्स्स्स्सस्स मार… मार… ज़ोर से मेरी गाण्ड फाड़ दे… और ज़ोर से.

उसने मेरा पानी भी पिया फिर पूछा- अब बताओ क्या ख्याल है?मैंने कहा- तुमको रोज चोदने का!वो बहुत खुश थी, हम दोनों साथ नहाये और फिर बाहर आकर कपड़े पहने!मैं उसका बदन पाकर खुश था और वो मेरा लंड पाकर!उसको चलने में थोड़ी तकलीफ थी तो मैंने उसको उसके घर के पीछे तक छोड़ दिया और जल्दी मिलने का वादा किया.उसने बोला- आज पहली बार ऐसा कुछ हो रहा है मेरे साथ और मुझे ये सब बहुत अच्छा लग रहा है।मैं भी बोला- हाँ, आज पहली बार मैं किसी लड़की के इतना नजदीक हूँ, मुझे बड़ा आनन्द आ रहा है.

बीएफ हिंदी में जानकारी - किन्नरों की सेक्सी वीडियो बीएफ

पर उसने मना कर दिया, फिर मैंने उसकी चूत में उंगली डाली तो वो एकदम टाइट थी, जैसे ही मेरी उंगली अन्दर घुसी वो उछल पड़ी और बोली- दर्द हो रहा है.यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं।…आह ह ह ह… मर गई माँ… उईईइ माँ…!!”और फिर उसने ताबड़तोड़ चुदाई शुरू कर दी।…फ़च फ़च… आ.

मुँह, गाल, स्तन, गर्दन, सब आनन्द रस से तर थे सखीवह गर्माहट वह शीतलता, कैसे मैं करूँ बखान सखीमेरे मन के इस आँगन को, वह कामसुधा से लीप गयाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !. किन्नरों की सेक्सी वीडियो बीएफ मैंने अपनी जुबान निकल कर गुदा के मुँह पर फिराना चालू किया, राधिका मस्ती से उत्तेजित होने लगी और आगे की तरफ खिसकने लगी तो मैं समझ गया कि वो सम्भोग में पूरी तरह से डूबना चाहती हैं.

समझ में नहीं आ रहा था कि वो मुझे चोद रही है या मैं उसे चोद रहा हूं! वो ऐसे ही दो बार झड़ गई और बोली- बस, अब और नहीं!तो मैंने कहा- कोमल अभी तो तुम्हारा ही हुआ है मेरा नहीं.

किन्नरों की सेक्सी वीडियो बीएफ?

ज़बरदस्ती कभी करता मैं…और जो तैयार हो उसको छोड़ता नहीं…मधु के साथ भी मैं वैसे ही मजे ले रहा था… मुझे पता था कि लौंडिया घर की ही है… और बहुत से मौके आएँगे… जब कभी अकेला मिला तब ठोक दूँगा…और अगर प्यार से ले गई तो ठीक. फिर मैंने भाभी की चूत के होंठों पर अपने होंठ रख दिए और भाभी मानो पागल हो गईं, बोलीं- समीर ऐसा मत करो… मैं मर जाऊँगी !लेकिन मैं नहीं माना और भाभी की चूत को चूमता ही रहा और भाभी अपने हाथ से मेरा सर अपनी चूत में और अन्दर को दबाने लगीं. वो जो पार्क है ना… वहाँ इस दोपहर में कोई नहीं होता, आओ वहीं झाड़ियों में मुत्ती करते हैं दोनों…सलोनी- पागल है, अगर किसी ने देख लिया तो…कहानी जारी रहेगी।.

आज बहुत उदास हो?माँ ने कहा- नहीं ऐसी तो कोई बात नहीं है !कुछ देर के बाद माँ ने मुझे अकेले में बुलाया और बोलीं- कल रात…!इतना सुनते ही मेरे कान खड़े हो गए।मेरा चेहरा उतर गया, तब माँ ने कहा- देखो बेटी, मेरी उम्र इस वक़्त 40 साल है और तुम जानती हो कि तुम्हारे पिताजी को मरे हुए दो साल से ऊपर हो गया है।माँ का गला भर आया, आँखों से आंसू छलक पड़े।मैंने माँ को दिलासा दिया और कहा- कोई बात नहीं है माँ. पर मैंने खुद को संभाल लिया… तभी झट से नीचे लेट कर फिर मोमबत्ती जला कर दो मिनट उसकी लपट बढ़ने तक इन्तजार किया. मैंने भी अपने धक्कों की रफ़्तार को तेज़ कर दिया, अपनी उँगलियों से उसके होठों को छेड़ रहा था और अपने मुख में उसके स्तनों को भर लिया था। इसी अवस्था में जब मैंने फिर से कसाव सा महसूस किया तो अब पूरी रफ़्तार से मैंने धक्के लगाने शुरू कर दिए। उसके चरम पर पहुँचते ही मैं भी उसके साथ साथ चरमोत्कर्ष पर पहुँच गया.

मतलब कि दीपक झड़ने लगा उसने अपना सारा माल मेरी चूत में डाल दिया पर मैं तो अभी तक झड़ी ही नहीं थी और उसका लंड छोटा होकर मेरी चूत से बाहर निकल गया. !वो हँसी और किचन की ओर चली गई। थोड़ी देर बाद मैं भी उसके पीछे चला गया। चुपके से पीछे जा कर अपने नंगे बदन को चिपका लिया और चूची दबाता रहा।गिरिजा- आआहह…!थोड़ी देर बाद खाना बन गया। मैं कुर्सी पर बैठ गया और उसे अपनी गोद में बैठा लिया और एक-दूसरे को खाना खिलाने लगे। खाना ख़त्म होने पर मैंने उसे उठाया और डाइनिंग टेबल को साफ करके उस ही पर लिटा दिया।पहले चूची दबाई और चूत चाटने लगा।गिरिजा- आहनमम्म. !कहानी जारी रहेगी।अब जल्दी आप मुझे[emailprotected]पर मेल करके बताओ कि आपको मेरी कहानी का यह भाग कैसा लगा और आरोही के बारे में आपकी क्या राय है।.

फिर तो जब भी हमें मौक़ा मिलता, दीपक मेरी चूत और चूची को जम कर पीता और मैं भी उसका लंड बहुत ही अच्छे से चूसती. !”धीरे-धीरे उसे भी मज़ा आने लगा और वो भी नीचे से अपनी गाण्ड उछाल-उछाल कर चुदवाने लगी। फिर वो दस मिनट में ही झड़ गई और उसको चोदने में मज़ा आ रहा था। वो फिर थोड़ी देर में झड़ गई.

!” जीजाजी मिन्नत करने वाले लहजे में बोले।कल बता दूँगी, मैं कोई भागी तो जा नहीं रही हूँ… अच्छा तो अब चलती हूँ।”फिर कब मिलोगी?”आधी रात के बाद… टा… टा… बाइ… बाइ…!”सुबह जब चमेली ने मुझे जगाया तो 7 बज चुके थे।चमेली मुस्कराते हुए बोली- तुम्हारी और जीजाजी की चाय लाई हूँ, लगता है जीजाजी से बहुत रात तक खाट-कबड्डी खेली हो।हाँ रे.

इमरानसलोनी ने मधु का हाथ पकड़ कर खींच कर सीधे मेरे तने हुए लण्ड पर रख दिया और बोली- तू भी तो पागल है.

बिट्टू आते से ही हालचाल पूछने लगी- कैसा है, और कब आया?’बिजली ना होने का कारण हम सब लोग बोर हो रहे थे. बस यह वही नजारा था जो कुछ साल पहले एक फ़ैशन वीक में रैम्प पर एक मॉडल गौहर खान की स्कर्ट फ़टने से हो गया था. लड़की ने बताया कि तीन साल पहले उसकी मां की मृत्यु हो गई थी, जिसके बाद से ही लड़की का बाप उसका यौन शोषण करने लगा.

!तभी नीचे से चमेली नाश्ता लेकर आ गई और बोली- चलिए सब लोग नाश्ता कर लीजिए, मम्मी ने भेजा है।”सब ने मिल कर नाश्ता किया।कामिनी उठती हुई मुझसे बोली- सुधा. ! इस गिलास में किस ब्रांड की विहस्की थी? बड़ी अच्छी थी, एक पैग और बना दो इसका, ऐसी स्वादिष्ट विहस्की मैंने कभी नहीं पी।”मैंने उधर देखा और अपना सर पीट लिया. ऐसे जिस्म की नुमाइस करेगी तो लौड़ा तो फुंफकार ही मारेगा ना…सोनू- ले आओ साली को बिस्तर पर बहुत हंस रही है.

सम्पादक – इमरानमेरी कुछ समझ नहीं आ रहा था कि आखिर यह मेरी सलोनी क्या चाहती है?अच्छा खासा मजा आ रहा था और भाग कर आ गई !!??जब तुझको चुदवाना ही नहीं था तो ये सब क्यों कर रही है?मैं भागता हुआ उसके पीछे आया, वो दूसरी गैलरी में एक साइड में खड़ी हो हाँफ़ रही थी.

वैसे मुझे तो बड़े बड़े लण्डों का तजुर्बा था, उनके सामने तो यह बस कटोरे में चम्मच था पर मैं भी कसमसाई और दर्द की झूठी नौटंकी करने लगी. !और इतना बोल कर रोने लगा और दीदी के सामने हाथ जोड़ कर बोला- दीदी मुझे माफ़ कर दो मुझसे ग़लती हो गई। आगे ऐसा नहीं करूँगा।मैंने कहा- दीदी आपने जो देखा वो किसी से मत बोलना, नहीं तो मैं मर जाऊँगा।दीदी ने प्यार से मेरे सिर पर हाथ रख कर कहा- चुप हो. वह रात चाँदनी रही सखी, साजन निद्रा में लीन रहाआँखों में मेरी पर नींद नहीं, मैंने तो देखा स्वप्न नयाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !.

सच्ची 3 बज गया।मैंने उसको घड़ी दिखाई और बोला- खुद देख लो…तो बोली- यार आज इतनी अच्छी नींद आई कि मेरा अभी भी उठने का मन नहीं हो रहा है. 80 से कम में नहीं बेचेंगे।वो महिला बहुत खूबसूरत और सेक्सी थी जबकि उसका पति उसके मुकाबले काफी मोटा था।महिला का फिगर 38-32-38 होगा। उस समय उसने गुलाबी रंग का सूट पहन रखा था और बाल खुले छोड़े हुए थे।उसके मम्मे पूरे तने हुए थे और सफ़ेद नेट वाली ब्रा भी नज़र आ रही थी। यानि कोई देख ले तो उसी समय उसका लण्ड खड़ा हो जाए।मैंने कार का 1. वरना बहुत भारी पड़ेगा…अब माहौल चाची-भतीजे के मज़ाक से, एक औरत आदमी के बीच जलती हुई आग का रूप ले रहा था।चाची ने मेरी चुनौती का मज़ाक उड़ते हुए मेरी दूसरी निपल को ज़ोर से दबा दिया.

मेरा तो मन करता है कि राधिका जी से भी शादी कर लूँ ताकि दो पत्नियों का भरपूर सुख ले सकूँ और कामरस में डूब जाऊँ.

समझ नहीं आ रहा…!रेहान- तुमने सही किया उसको मना नहीं किया पर मैं उसको ज़्यादा कुछ नहीं करने दूँगा। तुम एक काम करो, उसका पानी निकाल दो. थोड़ा डांस हो जाए…!राहुल अपने साथ आरोही को ले गया और रेहान जूही को।जूही नशे में थी, उसके पैर लड़खड़ा रहे थे। इस बात का फायदा उठा कर रेहान उसके मम्मों और गाण्ड से खेल रहा था।जूही- उहह.

किन्नरों की सेक्सी वीडियो बीएफ मैंने अपने लौड़े पर हाथ फेरते हुए कहा- जब तुम अपने घर वापिस जाओगी, और कोई तुमसे पूछेगा कि तुमने क्या क्या घूमा? तो तुम क्या जवाब दोगी?मन्जू बोली- सो तो है भैया जी. !फिर मैंने उसके मम्मों और होंठों को चूसने लगा फिर वो धीरे-धीरे शांत हो गई।उसने पूछा- कितना अन्दर गया.

किन्नरों की सेक्सी वीडियो बीएफ अगले दिन मैं अपना लैपटॉप कॉलेज लेकर गया और उसे 2X मूवी दिखा दी। वो गर्म हो गई।मैंने उसे बोला- चलो घूमने चलते हैं।हम लोग परिमल गार्डन गए, यहाँ एकान्त देख कर थोड़ी देर तक चूमाचाटी की और बूब्स भी दबाये।मेरे लिए सब पहली बार था तो बहुत मज़ा आ रहा था… हमने और कुछ नहीं किया और वापिस आ गए।कुछ देर बाद उसने बोला- प्लीज़ मेरे बोयफ्रेंड को कुछ मत बताना, आई लव हिम टू मच. ! इतनी तेज बारिश में भी जैसे उसके अन्दर कोई आग जल रही हो। मैंने अपनी तर्जनी उसके योनि पृष्ठों के बीच में फिराई।उसकी योनि बहुत ही ज्यादा गीली थी। बारिश का पानी तो वहाँ जा नहीं सकता था, यह उसकी उत्तेजना के कारण इतनी गीली हुई थी। गर्म मुलायम योनि में हल्का चिपचिपा सा गीलापन.

थोड़ी देर वेटर दो कद्दू लेकर आया, बोला- वो सब तो ख़त्म हो गया, ये अदनान के टट्टे बचे हैं, यही खा लो!***भाग्य की विडम्बना तो देखिए-आमिर खान को कपड़े उतार कर काम करना पड़ रहा है,और….

बीपी बीएफ एक्स एक्स एक्स

हमको बेबी से बात करना जी।रेहान आरोही को ‘थंब’ दिखा कर ऑल दि बेस्ट बोल देता है और बाहर चला जाता है।अन्ना- बेबी, रेहान बोला तो हम तुमको चाँस देना जी. साजन के उभरे सीने पर, फिर मैंने जिह्वा सरकाई सखीउसके सीने पर होंठों से, चुम्बन के कई प्रकार लियाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !. तभी दीपाली उनके प्यार में पागल हो गई है।विकास- आ रहा हूँ रूको…विकास ने दरवाजा खोला और दीपाली को देख कर उसको मुस्कान दी।विकास- अब आ रही हो.

मैं लेटी थी, वह लेटा था, अंग-अंग को उसने चूसा था,होंठों से उसने सुन री सखी, मेरे अंग-अंग को झकझोर दियाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !. सिर मेरे कंधे पर रख सो गई थी…मेरे अन्दर इतनी ताकत भी नहीं बची थी कि अपना हाथ भी उस पर रख सकूं… मैंने भी उसको दूर नहीं किया…उसकी चूचियों का अहसास मेरे हाथ पर एवं उसकी गर्म चूत का कोमल अहसास मेरी जांघ पर हो रहा था…मेरे में बिल्कुल हिलने तक की ताकत नहीं बची थी. अब समझा बुद्धू … कहा था न … आराम से चोद, निकल गया न दो मिनट में ही!इस तरह से मुझे मेरी पड़ोसन भाभी ने चोदना सिखाया.

यह तो बहुत बढ़िया है लेकिन इतना सस्ता कैसे हो सकता है? जरूर इसमें कोई लोचा होगा?पप्पू बोला- कोई लोचा नहीं मैडम… इसमें एक मुफ्त चीज यह भी साथ कि शौहर भी हमारी तरफ से होगा…सलमा एकदम बोली- हाय …ल्लाह…पप्पू बोला- पूरा तो सुन लो मैडम… शौहर मुफ्त तो है ही, साथ में हर रोज नया शौहर मिलेगा.

!” नीति ने आग्रह किया।मैंने उसको और कसके भींच लिया। अब नीति बड़े प्यार से मेरे बालों से खेलने लगी।साहब ये क्या. मैंने चारों और नजर घुमाकर उसकी उतरी हुई समीज को खोजा पर कहीं नजर नहीं आई…मधु कब रात को उधर चली गई…?क्या सलोनी ने ये सब किया…?या फिर मधु ही सब कुछ ठीक करके फिर सोई…मेरा दिमाग बिलकुल सुन्न हो गया था…मैंने चाय पीकर अपने कमर का कपड़ा कस कर बांधा. चुदाई के अनुभव से पहले मैंने बहुत बार मधु दीदी की नंगी जाँघें देखी थीं, जब कभी छत पर हवा से उनकी स्कर्ट ऊपर होकर उलट जाती थीं.

‘सुंदर एक औरत की तरह या एक दीदी की तरह? दीदी सच में आप एक बहुत अच्छी दीदी हो और अच्छे संस्कार वाली हो. !रेहान निप्पल चूसने में बिज़ी था तभी दरवाजे पर खटका हुआ, रेहान ने जल्दी से उठ कर दरवाजा खोला, एक आदमी अन्दर आया।जूही तो नशे में थी, उसे कहाँ होश था कि कौन आया है।रेहान ने दरवाजे बन्द कर दिया और वो आदमी अन्दर आ कर खड़ा जूही को देखने लगा।दोस्तो, अब यह कौन आ गया बीच में मज़ा खराब कर दिया. ! तब जूही ने तुमको आइडिया दिया था कि कमरे में बन्द कर दो सिमरन को और मैंने उसकी बात काट कर दूसरा आइडिया दिया था।आरोही- हाँ याद है.

!”रेहान- इतना खुश मत हो यार, अभी तो शुरूआत है इतनी जल्दी वो मानने वाली नहीं, तभी तो उसको फोटो शूट का कहा है। अब तुम सुबह तक ऐसी कोई हरकत मत करना जिससे बनता काम बिगड़ जाए। मैं कल सुबह दस बजे आ रहा हूँ. वो वासना की आग में जल रही थीं। वो इतनी गर्म हो गईं कि कमरे में पहुँचते ही उन्होंने मुझे बुरी तरह चाटना शुरू किया और एक झटके में मेरे लंड को मेरे अंडरवियर से आज़ाद कर दिया।मैंने भी उन्हें जोर से जकड़ लिया.

!मुझे क्या एतराज हो सकता है और चमेली की माँ से भी बात कर लेंगे, पर…!”कामिनी बोली- बस तू देखती जा, कल की कॉकटेल पार्टी में मज़ा ही मज़ा होगा. जब सन्ता ने कार में बच्चों को पहचानना शुरू किया तो दो बच्चे उनकी नौकरानी के थे, एक बच्चा प्रीतो की बहन यानि सन्ता की साली का था, दो बच्चे पड़ोसन के और एक बच्चा सन्ता की सेक्रेटरी का था. अनुभव सुख का कुछ ऐसा था, मुझको बेसुध कर बैठा थालगता था युग यूँ ही बीतें, थम जाये समय जो बीत गयाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !.

!मैं तो इसकी माँ को चोदना चाहता था यहाँ तो ताजा बुर भी मेरा इंतजार कर रही है।मेरे तो मन में लड्डू फूटने लगे, चलो भगवान देता है तो छप्पर फाड़ के देता है.

!रेहान उसे गोद में उठा कर बाहर ले आया और बेड के पास एक कुर्सी पर बिठा दिया, फ़िर उसे बदन पौंछने के लिए तौलिया दिया और खुद चादर उठा कर एक कोने में डाल कर दूसरी चादर बिस्तर पर बिछा दी।आरोही कुर्सी पर आराम से बैठी सब देख रही थी। जब सब काम हो गया तो रेहान ने आरोही को उठा कर बेड पर लिटा दिया।आरोही- उफ़ रेहान जी… बहुत दर्द हो रहा है. !मैंने जसे तौलिया पकड़ाने के लिए हाथ आगे किया, तो बाथरूम का दरवाजा खुल गया, मामी मेरे सामने पूरी नंगी खड़ी थीं।उनके गोल-गोल मम्मों पर ही मेरी नज़रें गड़ कर रह गईं और मेरा लौड़ा भी खड़ा हो गया। मामी ने भी यह सब देख कर जल्दी से दरवाजा बंद कर लिया।मामी जब नहा कर बाहर आईं तो मैं उनसे नजरें नहीं मिला पा रहा था।मामी ने कहा- साहिल क्या हुआ. !मैं तो हक्का-बक्का रह गया था, मैंने कहा- यार यहाँ तो सारे जहाँ की खूबसूरती मेरा इंतजार कर रही है और मैं बाँटने की सोच रहा था।तो रुबीना ने कहा- बाँटना है तो बाँट लो तुम्हारी फट जाएगी.

मैं आता और देखना मैं कैसे करता तुम डायलोग बोला अच्छा था, पर इस सीन में ज़ुबान नहीं हाथ का इस्तेमाल करो. कठोर-सख्त अंग से री सखी, रस टपक-टपक कर गिरता थादस अंगुल की चिकनी सख्ती, मेरे अंग के मध्य घुसाय दियाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !.

यह आरजू नहीं कि किसी को भुलाएँ हमन तमन्ना है कि किसी को रुलाएँ हमजिसको जितना याद करते हैंउसे भी उतना याद आयें हम !हैलो दोस्तो, कैसे हो आप लोग, उम्मीद करता हूँ कि सबको मिल रही होगी और जिसको नहीं मिल रही होगी. मगर पहले आपके लौड़े को चूस कर गीला तो कर दूँ ताकि आराम से अन्दर चला जाए।विकास- अरे नहीं थूक से काम नहीं चलेगा. ! यह मैं आपको फिर कभी बताऊँगा।यह मेरी ज़िंदगी की एक अनसुनी कहानी या तो मैं जानता हूँ या गिरिजा जानती है या फिर अब आप लोग जान चुके हैं।मेरी स्टोरी कैसी है प्लीज़ अपनी राय ज़रूर देना।[emailprotected].

इंडियन एचडी सेक्सी बीएफ

जब ध्यान दिया तो वो मेरी भाभी का पैर था, जो अपने पैर से मेरा पैर रगड़ रही थी, मैं ऐसे ही लेटा रहा और कुछ बोला नहीं.

!मैं तो देखता ही रह गया। ब्रा में से दो गेंदें बाहर आने की कोशिश कर रहे थे और रस्सिओं वाली चड्डी उसके चूतड़ों पर खूब जंच रही थीमनु बोली- ऐसे क्या देख रहा है, उस दिन देखा नहीं क्या?मैं बोला- उस दिन तो मेरी आँखों पर पट्टी लगी हुई थी। उस दिन मेरा ध्यान कहीं और था। सच कहूँ मनु, तुम बहुत खूबसूरत हो… मैंने ऐसे अब तक किसी को नहीं देखा. मेरे होंठ अंकिता के दांतों के बीच होने की वजह से बहुत तेज दर्द हुआ।लेकिन इसके बाद भी उन दोनों कमीनों ने मुझे छोड़ा नहीं. हीरो के साथ भी ये सब करना पड़ेगा और कई बार तो एक ही सीन को कई बार करना होता है और भी बहुत से पोज़ देने होंगे।आरोही- फिल्म में सब रियल में होता है क्या.

मैंने उसके जी भरकर कस से कम 5 मिनट तक होंठ चूसे, जी भरकर रसपान किया। नीचे मेरा लिंग उसकी योनि पर रगड़ खा रहा था।मुझसे रहा नहीं जा रहा था, मैंने जोर-जोर से रगड़ा मारना शुरू किया, उसे भी नशा आने लगा।उसने होंठ छुड़ाए और मेरी आँखों में देखने लगी और इस बार उसने खुद मेरे होंठों को अपनी गिरफ्त में ले लिया और चूसा।मैंने कहा- अपने कपड़े पूरी तरह उतारो, तुमने ब्रा पैन्टी तो पहनी नहीं है. वो एक सुन्दर औरत थी, 28 साल उम्र होगी, वो ज्यादा गोरी नहीं थी और उसके दूध भी बड़े नहीं थे लेकिन मुझे वो बहुत पसंद आई क्योंकि उसके छोटे दूध एकदम नुकीले खड़े थे जो मुझे हर लड़की में आकर्षित करते थे. हिंदी बीएफ मां बेटापर मुझे क्या ! मुझे तो बस अपनी हवस मिटाने से मतलब था।मैं धक्के लगाए जा रहा था और वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी। मुझे चोदते समय स्वर्ग की अनुभूति हो रही थी। मैंने लगभग 5 मिनट तक उसे सामान्य ‘मिशनरी’ पोजीशन में चोदा.

जैसे ही उसकी उँगलियों ने मुझे वहाँ पर छुआ।मैंने बोला- हाँ… संजय बस वहीं पर बेटा, अब धीरे-धीरे उंगली से मसल वहाँ. तो वो चुप हो गई, मैंने पूछा- क्या हुआ?तो उसने बोला- प्यार तो मैं भी आपसे करती हूँ, पर मुझे बहुत डर लगता है कि अगर घर में किसी को पता चला तो बहुत मार पड़ेगी.

मेरा मुँह बंद था और मेरी चीख किसी को सुनाई नहीं पड़नी थी।अंकिता ने उसे एक बार चूसा और फिर मेरी गाण्ड पर एक जेल लगा कर रख दिया। उधर आशीष बिना रुके धक्के मारे जा रहा था और मेरी गाण्ड पर रखा डिल्डो अंकिता ने झटके से अन्दर घुसा दिया। मैं कुछ नहीं कर पाई क्योंकि मेरे हाथ बंधे हुए थे। उस वक़्त का दर्द मैं बयान नहीं कर सकती. लगता भी है और उसका नाम भी था… जन्नत मेरी ममेरी बहन है।बल्लू- अब क्या हुआ? कहाँ है वो?जावेद- उसकी तो शादी हो गई…बल्लू- लेकिन तूने चोदा कैसे उसे?जावेद- बताता हूँ बे… तू भी न बस पीछे ही पड़ जाता है !जन्नत देखने में बहुत ही खूबसूरत है … मानो हूर की परी. डरो मत जैसे प्यार से तुम्हारी सील तोड़ी थी, वैसे ही उसकी भी तोड़ूँगा और फिल्म में भी रोल दिलवा दूँगा… खुश?आरोही- वाउ मज़ा आएगा.

साजन चूसत था सर्वांग मेरा, मैं पीछे को मुड़ गई सखीअपने हाथों से साजन के, अंग पर मैंने खिलवाड़ कियाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !. मेरी चूत जल रही है ! ऊऊहह मर जाऊँगी मैं… बस अब नहीं रहा जाता… मुझे छोड़ बहनचोद ! मेरी चूत को लंड चाहिए…उफफफ्फ़… शीना मादरचोद मुझे छोड़ !!!मैंने उसके उरोजों को ज़ोर से मसलते हुए उसके चुचूक चूस लिए और फिर उसके होंठों पर अपने होंठ टिका कर चुम्बन लेना शुरू कर दिया। वो मुझ से लिपटने लगी और मेरे होंठ चूसने लगी। मैंने अपनी ज़ुबान उसके मुख में घुसेड़ दी. जरा टटोलकर ही देखने दे…सलोनी- जी बिल्कुल नहीं… ये सब अब उनकी अमानत है… तुमने गोद में बैठने को बोला तो प्यार में मैं बैठ गई… बस इससे ज्यादा कुछ नहीं… समझे बुद्धू… वरना मैं तुम्हारे यहाँ जॉब नहीं करुँगी…मनोज- क्या यार?? तुम भी न…ऐसे ही हमेशा के एल पी डी कर देती हो.

मैंने गुस्से में उससे पूछ लिया- चुदने के लिए कोई और देख रखा है क्या?वो भड़क गई और जाने लगी !मैंने उसका हाथ पकड़ा और अपने करीब खींच कर धीरे से कहा- यार क्यों तड़पा रही हो.

एक रोज़ सिन्धी और मारवाड़ी दो सहलियो की बाज़ार में मुलाकात हो गयी बातोबात में इधर उधर की बात करते करते सेक्स की बात में पहुँच गयी दोनों …तो सिंधन सहेली ने कहा : क्या बताऊँ बहन कल रात को तो सेक्स का सारा मजा किर-किरा हो गया …. मैं भी उसका साथ देता जा रहा था।मैंने कुर्ते के ऊपर से ही उसके मम्मों को दबाना शुरू किया और वो मेरे होंठ चूसती जा रही थी.

वो बहुत टल्ली था उसे कहाँ कुछ याद रहता है। चाचा उसको मार रहे थे तब भी पता नहीं किस का नाम ले रहा था कि तुझे देख लूँगा।दीपाली- ओह. मैं तो चाची को बचपन से ही चोदना चाहता था न जाने कितनी बार मैंने चाची के बारे मैं सोच क़र मैं मुठी मारी. डरो मत जैसे प्यार से तुम्हारी सील तोड़ी थी, वैसे ही उसकी भी तोड़ूँगा और फिल्म में भी रोल दिलवा दूँगा… खुश?आरोही- वाउ मज़ा आएगा.

!वो यह सुन कर मुस्कुरा दी और अपने बालों से रबड़ निकल के बाल खोल दिए और मेरे साथ ही मेरे अन्दर का जानवर भी खुल गया।मैंने उससे पूछा- तुम्हारी कमर का साइज़ क्या है?तो उसने कहा- पता नहीं।मैंने कहा- मैं बता सकता हूँ. अभी मेरे पास 2500 रूपए के आस-पास हैं तो मैं आपको 2000 रूपए दे रहा हूँ और आगे जितना भी होगा उसे आपको मैं जब बाद में दूँगा तो आप ले लोगी।उन्होंने बोला- यार ये क्या. मैंने कहा- अब काम हो चुका है तुम्हारा! थोड़ा और बर्दाश्त कर लो बस!और उसके होंठ चूसता रहा, साथ ही सोचता रहा कि एक बच्चे की माँ है और खून?पर मुझे चोदने से मतलब था.

किन्नरों की सेक्सी वीडियो बीएफ जय- ओह वाओ! ब्यूटीफुल! तुम्हारे निप्पल तो पिंक हैं, आई लव यू!मैंने देखा जय भी एक हाथ अपनी पैंट में घुसाया हुआ था. जान ! इसीलिए तो मैंने कुछ इंतजाम कर के रखा था। तुम चारों तो मुझे खा जाओगी और मैं थक जाता इसलिए मैंने अपने दो साथियों को और बुलाया है।श्रुति और रुबीना साथ में बोली- किसका इंतजार है.

18 साल के बीएफ वीडियो

मैं लेटी थी पर मेरा अंग, उसकी आँखों के सम्मुख थाउँगलियों से उसने सुन री सखी, चिकने अंग को सहलाय दियाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !. मेरी सिसकारियों की आवाज सुनकर मेरा दोस्त बाथरूम के दरवाजे के पास आ गया उसने बाथरूम का दरवाजा खुला हुआ देखा तो वो सीधा अन्दर ही आ गया. !फिर हम लोग उसके बताए पते पर पहुँचे, वो पहले मेरे पति से मिला, फिर मुझसे बोला- मैडम थोड़ा अन्दर चलो… कुछ बात बतानी है। मैंने पति की तरफ देखा, पति ने जाने का इशारा किया, मैं उसके साथ अन्दर रूम में चली गई।उसने पूछा- तुमको सब पता है ना.

।”बस एक बार और जी भर कर चोद लेने दो। बहुत दिनों से बेकरार हूँ…!”तो आ जाओ मेरे बेटे, मेरे प्यारे बच्चे… अपनी आंटी की चूत का मज़ा ले लो. मतलब कि दीपक झड़ने लगा उसने अपना सारा माल मेरी चूत में डाल दिया पर मैं तो अभी तक झड़ी ही नहीं थी और उसका लंड छोटा होकर मेरी चूत से बाहर निकल गया. मुसलमानी की बीएफ वीडियोचाची बोली- बहन के लोड़े, इतनी देर से मेरे मुँह के सामने मुठ मार रहा था और अब तुझे डर मार रहा है?फ़िर चाची हंसने लगी- डर गया? अरे मेरे प्यारे पहलवान, तुझे मैं अपनी देकर धन्य हो जाऊँगी.

मैं जानबूझ के ज़ोर ज़ोर से रोने लगी- क्या किया तुमने मेरी छोटी सी चूत को इतना बड़ा कर दिया तुमने मुझे क्यूँ चोद दिया?जय- मुझे माफ़ कर दो, जो बोलोगी वो करूँगा!मैंने अपने चूत के द्वार को फैलाया और उसे दिखाने लगी.

?’ चाची ने मुझसे कहा।मेरे हलक से आवाज़ नहीं निकली, मैं जड़ हो चुका था।फिर चाची ने अपने हाथों से मुझको अपने करीब खींचा, उनके भी हाथ काँप रहे थे, ‘साहिल मुझसे नाराज़ तो नहीं है ना. कैसे आना हुआ, क्या समस्या है ! तुम भी बैठो बालिका !राधा- बाबा वो ये !बाबा- कुछ मत कहो, हम सब जानते हैं इस बालिका के नक्षत्र खराब चल रहे हैं शुद्धिकरण करना होगा। इसके दिमाग़ में एक बात ने घर कर लिया है, उसको निकलना होगा। तभी ये सही से अपने दिमाग़ को चला पाएगी।राधा- हाँ बाबा जी आपने सही कहा.

आगरा पहुँचकर मैंने उन 6 लोगों को बढ़िया से सबको दिन भर आगरे का क़िला, सिकंदराबाद का मक़बरा और ताजमहल की सैर कराई, जो अगले दिन तक ख़त्म हुई. मुझे अचानक से वो सब बातें याद आ गई जो दीदी ने चाची को बोली थी-ज़्यादा बकवास मत करो चाची, वरना अगर तुम्हारे बारे में घर में बता दिया तो तुम घर से निकाल दी जाओगी. ! मादरचोद नहीं मादरजात कपड़ा कहा, जिसका मतलब है कि जब माँ के पेट से निकले थे उस समय जो कपड़े पहने थे। उस कपड़े में आ जाइए !पेट का बच्चा और कपड़ा?”अरे बात वही है बच्चा नंगा पैदा होता है और उसी तरह आप भी नंगे हो जाओ, जैसे की तू खड़ी है मादरजात नंगी.

रस से लबालब मेरे अंग में, एक ऊँगली फिर अन्दर सरकीमैं सिसकारी ले चहुंक उठी, नितम्बों को स्वतः उठाय दियाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !.

इरफान एकदम से बोला-ऐ कालो सलमा !तू परी कोई ना बनी…तू तो चमगादड़ बन गई !***सलमा की का निकाह इरफ़ान के साथ हुआ. !’ऐसा कह कर उन्होंने दोनों हाथों से अपनी चूत को फैला दिया, मैं उनकी चूत को चाटने लगा।अजीब सी गन्ध आ रही थी।करीब दो मिनट चाटा होगा कि चाची ने मेरा मुँह झटके से अलग कर दिया, मेरा मुँह गीला हो गया था।मैंने चाची के गाउन से मुँह साफ़ किया।‘खड़ा हो जा रे. जो मुझे चुभ रहा है?मैंने हँसते हुए कहा- कुछ नहीं।लेकिन वो बोली- कुछ तो जरूर है, जो जेब में हिल रहा है, ला मैं भी देखूं.

सनी लियोन सेक्सी एचडी बीएफमैं भी ये समझ नहीं पाई थी कि ये इतना ज्यादा ओवर-रियेक्ट क्यों कर रही है। लेकिन इसका जवाब भी मुझे कल ही मिला है. उसकी मुँह से घुटी सी आवाज निकली, उई,” मैं थोड़ा रुका और नीलू की नारंगियों को अपने हाथ से सहला कर उसे बड़े प्यार से देखा और इशारे से पूछा तो उसने भी मूक स्वीकृति दी मैंने उसकी सहमति से एक ठाप और लगाई।उई ईईई.

बीएफ एचडी में फिल्म

!इतना कहकर वो अपने कमरे में चली गईं और मैं भी अपने कमरे में आ गया।अब तो जब भी हमें मौका मिलता, मैं और भाभी हमबिस्तर हो जाते।दोस्तो, कहानी के बारे में राय देने के लिए मुझे मेल करें।[emailprotected]. उफ़फ्फ़…प्रिया अब वासना की आग में जलने लगी थी उसकी चूत रिसने लगी थी। वो और जोश में लौड़ा चूसने लगी।विकास की आँख अब ठीक थी. !इतना बोल कर आरोही को अहसास हुआ कि उसने यह क्या बोल दिया, वो मुँह घुमा कर मुस्कुराने लगी।रेहान- अच्छा तो मेरी जान… सेक्सी वीडियो भी देखती हैं.

मुझे उसके पतली कमर के साथ डोलते हुए चूतड़ बहुत विचलित करते थे, मैं सोचता था कि उसे नंगी करने के बाद उसके गोरे गदराये चूतड़ कितने प्यारे लगेंगे. बस यह वही नजारा था जो कुछ साल पहले एक फ़ैशन वीक में रैम्प पर एक मॉडल गौहर खान की स्कर्ट फ़टने से हो गया था. सोनू की चूत से अपने भीगा हुआ लण्ड निकाल कर मैंने बिट्टू की चूत में पेल दिया सोनू लेटी हुए थी, मैं बिट्टू को चोद रहा था.

कभी नाम नहीं सुना उसका और उसकी हरकतें भी ठीक नहीं थी। आपके कहने पर मैं चुप थी और उसकी बातें भी नहीं समझ आईं कि अभी कच्ची है, पकाओ वगैरह वगैरह. मैंने दूध पिया और चाची ने भी!हम दोनों ने फ़िर एक दूसरे के शरीर से खेलना शुरु किया और मेरा लंड फ़िर खड़ा हो गया. तू साथ में रुक।उन्होंने लॉग-इन करने के बाद याहू चैट रूम में एंटर किया और पेज पर बड़े फ़ॉन्ट में मैसेज लिखा- एनी वन इंटरेसटेड फॉर threesome.

मेरे नितम्बों के आँगन पर, साजन ने मोती बिखेर दियासाजन के अंग ने मेरे अंग को, सखी अद्भुत यह उपहार दियाआह्लादित साजन ने नितम्बों का, मोती के रस से लेप कियाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !. !‘प्लीज़ साहस रखो… मैं हूँ ना…!” फिर चुटीले अंदाज में बोले- क्या मस्त तैयार हुई हो… क्या तुम भी चुदाना चाहती हो.

फिर एकदम खड़ी हो गई दोनों!पहले तो नीचे इधर उधर देखा, कोई नहीं दिखा… मन को तसल्ली हुई… सब बर्तन समेटे और नीचे आ गए। बर्तन रसोई में रख कर दोनों धड़ाम से बेड पर लेट गई… और हंसने लगी.

तो लूज़र है हा हा हा… मैं लूँगी मज़े और तुम ही ही ही… अगर मज़ा लेना हो तो आ जाना हमारे पास…!रेहान आरोही और राहुल को इशारा करके एक रूम में चला गया।राहुल- आरोही, तुमने जूही को क्या कहा, उसने मुझे लूज़र कहा. रोमांटिक बीएफ सेक्स वीडियो! उसके दोनों मम्मे मेरे हाथों में थे। मेरा लंड उसकी चूत में और दोनों चुम्बन करते हुए। फिर मैं उसको झुका कर दोबारा से धक्के मारने लगा। अब मैं भी बहुत तेज़ धक्के मार रहा था, क्यूंकि मेरा भी होने वाला था।मैंने उससे पूछा- मेरा होने वाला है, कहाँ निकालूँ. साल की बीएफसाजन ने बैठकर बिस्तर पर, मेरे कंधे सहलाए सखीगालों पर गहन चुम्बन लेकर, अंगिया की डोर को खींच दियाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !. !मैंने कहा- भाभी जी वैसे तो आप सूट में भी बहुत अच्छी लगती हो लेकिन जीन्स टी-शर्ट में तो और भी ज्यादा मस्त लगती हो।कामिनी ने थैंक्स बोला और पूछा- चाय के साथ क्या लोगे?मैंने कहा- बस आपके हाथ की चाय और कुछ नहीं।चाय को लेकर हम ड्राइंग-रूम में आ गए। वो साथ में खाने को काफी कुछ ले आई।मैंने कहा- भाभी जी, इतना कष्ट न करो।तो कामिनी बोली- भाभी जी.

करीब 5 मिनट बाद उन्होंने लंड पूरा अंदर घुसा कर रोक लिया और पूरा वीर्य मेरी गांड में भर दिया और हम ऐसे ही पड़े रहे।काफ़ी देर बाद मैं उठ कर फिर नहा कर तैयार होकर आई और हम लोग शादी के लिए निकले.

निकाह के दिन करीब आ गए, मेहंदी की रात मेरे हाथों में मेहंदी लगी हुई थी, रात को फिर मैं बाथरूम में गई और चाचू पहले से बाथरूम में ही थे. एक दिन सुनीता की बचपन की सहेली ने उसको पूरे दिन के लिए अपने घर पर बुलाया तो में उसको छोड़कर ऑफिस चला गया. घर आकर उसने बड़े जोश से सलमा को कमरे में बुलाया और उसे नंगी करके बोला- ‘टिंग – टिंग’और इरफ़ान भाई का खड़ा हो ही रहा था कि सलमा बोली- क्या ‘टिंग – टिंग’ लगा रखी है?और इरफ़ान का हो गया काम तमाम!***सलमा इरफ़ान की शादी हो गई।पहली रात को सलमा टूअर्स- ट्रैवेल्ज़ मैगज़ीन पढ़ते हुए बोली- हनीमून के लिए ग्रीस कैसा रहेगा?इरफ़ान बोला- क्यों? तेल में क्या खराबी है.

आदमी- फादर…! मैं अपनी चार साल पुरानी गर्ल फ्रेंड से मिलने गया पर वो घर पर नहीं थी पर उसकी बहन घर में अकेली थी… मैंने उसके साथ सेक्स कर लिया…फादर- गनीमत है कि तुम्हें अपनी गलती का एहसास हो गया है…आदमी- यही नहीं… मैं कुछ दिन पहले अपनी गर्ल फ्रेंड से मिलने शाम को उसके ऑफिस में गया तो सभी जा चुके थे… सिर्फ उसकी सहेली अकेली थी ऑफिस में और मैंने उसके साथ भी सेक्स कर लिया. !इसी की कमी रह गई थी, यह सुन कर तो मेरा लंड और जोरों से फड़कने लगा।मैंने उसे बताया- मुझे तुम्हारी जुराबें भी बहुत अच्छी लगी।वो बहुत ही कामुकता से हँसने लगी, पर मैं उसकी हँसी समझने की हालत में नहीं था।वो अपने जूते उतारने लगी, तब मैंने अचानक से कहा- अहह. पाँच मिनट के बाद चाची झड़ गई, मैं चाची का सारा रस पी गया, वो उठी और बोली- बस कबीर अब सो जाते हैं सुबह जल्दी उठना है.

मराठी बीएफ दिखाएं

पेशाब करने के बाद शीशे में देखा तो मेरी चूत बहुत ही खुली हो गई थी, यूँ लग रहा था की अभी भी सुमित कामोटा लंड मेरी चूत मेंफँसा है. कभी इस चक्कर कभी उस चक्कर, मेरे नितम्ब थे डोल रहेसाजन ने उँगलियों से उकसाया, कभी उन पे कचोटी काट लियाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !. सुधाजीजाजी चाय पीते हुए बोले- ठीक है, चमेली इस बार केतली में चाय इसीलिए बना कर लाई थी कि दुबारा चाय गर्म करने के लिए नीचे ना जाना पड़े और दीदी अकेले-अकेले…! जीजाजी चमेली की तरफ गहरी नज़र से देख कर मुस्काराए।जीजाजी आप बड़े वो हैं.

शाहनवाज भी मेरी जवानी के जलवों से बच नहीं पाया, वो मुझसे बार बार बातें करने के बहाने आ जाता, मेरी सेक्सी हरकतों से उसका मन डोल गया.

बबिता आँटी प्लीज ये लिपस्टिक साफ़ मत करना। ऐसे ही गन्दी रहने दो अपनी इस मस्त चुदक्कड़ गाण्ड को ! काफी मज़ा आया लिपस्टिक के साथ। अभी जब चुटिया वाला खेल खेलेंगे तो मैं चाहता हूँ कि ये गाण्ड ऐसे ही लिपिस्टिक में सनी रहे.

मेरा तो कलेजा उछल रहा था, मेरा लौड़ा मुझे उकसा रहा था कि इसी समय पटक लो साली को और चोद दो, पर गांड फट रही थी कि कहीं बिदक गई तो हंगामा कर देगी और फिर सब गड़बड़ हो जायेगा. होटल के कमरे में मैं उन्हें बाय कहने के लिए जैसे ही क़दम रखा, ज़ेनी मुझसे कसकर लिपट गई और बेतहाशा मुझे चूमने लगी. हिंदी बीएफ चुदाई दिखाएंमेरा मन बल्लियों उछल रहा था, जिसको याद कर के हस्त-मैथुन करता था वो आज मेरी बाँहों में थी और मुझसे बच्चा मांग रही है। मुझे और मेरे लौड़े को बस एक ही ठुमरी का वो अंश याद या रहा था-आजा गिलौरी, खिलाय दूँ किमामी,लाली पे लाली तनिक हुई जाए.

’ की आवाजों से कमरा गूंज रहा था।अब उसका दर्द जाता रहा और वो भी मेरा साथ देने लगी, वो अपने चूतड़ उठा-उठा कर मेरा साथ देने लगी।साथ ही वो सेक्सी आवाजें भी निकाल रही थी, आअह हिस्स हम्म आह हाहा. वहाँ उस वक़्त बहुत शांति थी।कुली हमारे आगे चल रहा था, मैंने शोना को देखा और प्यार से उसके माथे को चूम लिया, मेरे हाथ उसकी कमर पर थे. सोनम मादरजात नंगी अपनी चूचियों को छुपा रही थी और सुनील अपनी पैंट चढ़ा रहा था।सोनम- मैंने आपछे कहा भी था.

आआह! अब मैं भी रेस से बाहर होने वाला था- आअह्ह ओओह्ह्ह आआअह्ह्ह ओओओह्ह्ह निकल गया लो!मैं उसकी चूत में बह गया, सारा पानी उसकी चूत में था, पूरी चूत भर दी उसकी और मेरा पानी उसकी चूत में से बह रहा था. वो मेरे काफ़ी नज़दीक थी, दरवाजे में से किसी के आने की आहट हुई, बिट्टू अचानक डर गई और वो मेरे और करीब आ गई.

अब इस ऊँगली से कुछ फ़र्क नहीं पड़ने वाला बहना… लौड़े ने खोल कर रख दिया है इसको…!जूही- ओ माई गॉड…कब हुआ ये सब और किसके साथ.

!इस तरह मैंने उसे दस दिन तक चोदा, उसके बाद मेरा दोस्त आ गया था।उसके बाद हमें जब भी मौका मिलता, हम दोनों नहीं चूकते थे।मुझे आप अपने विचार यहाँ मेल करें।[emailprotected]gmail. !! बहुत मज़ा आ रहा है!!‘जान मैं तो कब से इस पल का इंतज़ार कर रहा था, आज मैंने तुम्हें अपना बना लिया है और आज के बाद मैं तुम्हें रोज़ इसी तरह प्यार करना चाहता हूँ।’मेरे लंड और उसके चूत की अनगिनत बार टकराने की ठप ठप. !मैंने उस मुसम्मी को मुलायम करना शुरू कर दिया। मैं जोर-जोर से दबाने लगा।उसने प्यार से कहा- जानू सिर्फ तुम्हारी हूँ.

बीएफ और सेक्सी दिखाइए मैं जब भी उनके बारे में ऐसा सोचता तो मुझे बहुत बुरा लगता कि मैं अपनी दीदी के बारे में ऐसा कैसे सोच रहा हूँ, पर यार जब-जब वो घर में घुटनों के बल चलती, मैं बस दीदी की हिलती हुई स्कर्ट देखता, दिल सोचने लगता कि जब दीदी के चूतड़ स्कर्ट के अंदर से इतने प्यारे लग रहे है, तो नंगे चूतड़ कैसे होंगे. और ना जाने कितनी परेशानी आ सकती है…हो सकता है सलोनी भी इसी सबका इन्तजार कर रही हो…फिर वो मेरे ऊपर हावी होकर अपनी रंगरलियों के साथ-साथ दबाव भी बना सकती है…मेरा ज़मीर खुद उसके सामने कभी नीचे दिखने को राजी नहीं था…वो भी एक चुदाई के लिए… क्या मुझे अपने लण्ड पर काबू नहीं है.

उन्होंने मुझे बिठाया और चाय बनाने चली गई।बाद में उसने सर को भी बोल दिया कि कूलर ठीक हो गया।जब हम चाय पी रहे थे तो मैडम मेरी ओर झुक कर बैठी हुई थी. मैंने अपने लौड़े पर हाथ फेरते हुए कहा- जब तुम अपने घर वापिस जाओगी, और कोई तुमसे पूछेगा कि तुमने क्या क्या घूमा? तो तुम क्या जवाब दोगी?मन्जू बोली- सो तो है भैया जी. उसका पानी थोड़ा नमकीन था, सोचा नहीं चाटूँगा, पर मस्त पानी निकला और मुँह दबा होने की वजह से पूरा मेरे मुँह में उतर गया.

काली बीएफ सेक्सी

!आरोही बोलते-बोलते चुप हो जाती है।रेहान- क्या उसने मुझे…! जान पूरी बात बताओ शरमाओ मत, मेरा जानना जरूरी है।आरोही पूरी बात बता देती है कि कैसे राहुल ने गेम खेलने के बहाने उसके मम्मों को दबाया और जूही के बारे में भी सब कुछ बता दिया ब्रा-पैन्टी में राहुल के सामने गई. मेरी बहन की नथ खुली है… मीठा मुंह तो होना चाहिये न !’ इतना कह कर नंगी चंदा रानी कमरे से बाहर चली गई।. तभी मैं बड़े ही गंभीर और प्यार वाले लहजे में बोला- ज़्यादा ज़ोर से तो नहीं लगा था ना?चाची भी अब एक प्यार में खोई औरत की तरह बाते कर रही थी- नहीं, बस थोड़ा सा.

एक दिन मेररी बड़ी चाची के मायके में शादी थी तो उनके सब घर वाले मतलब मेरे बड़े चाचा, चाची, उनकी लड़की, लड़का, मेरी चाची के दोनों लड़के तो पहले ही शादी में गये हुए थे और चाचा भी एक दिन पहले ही चले गये शादी में. मैं तो जैसे बेसुध थी सखी, कुछ सोच रही न सूझ रहाउसके उस अंग को मैंने तो, अमवा की भांति चूस लियाउस रात की बात न पूछ सखी, जब साजन ने खोली मोरी अंगिया !.

!उसने गद्दे के नीचे से कंडोम निकाला और मेरे लण्ड पर चढ़ा दिया।मैंने उसको घोड़ी बनाया और उसकी चूत में लण्ड घुसा दिया। वो तनिक सिसियाई और कुछ ही पलों में उसके मुँह से आवाज निकलने लगी- ओह कमल… और तेज और जोर से करो.

फ्रेंच बोला- मैंने तो अपनी पत्नी की मालिश एक खास तरह के खसखस के तेल से की और उसे बाद मैंने उसके साथ सेक्स किया…और वो पूरे बीस मिनट तक चीखती रही. ?मैंने कहा- आज तक के इतिहास में किसी औरत की कितनी भी छोटी बुर क्यों न हो और मोटे से मोटा लंड भी उसकी चूत में क्यों न घुसा हो. !मैं बोला- जल्दी करो कोई आ जाएगा।मोना ने अपने सारे कपड़े उतार दिए और बोली- मेरी आज प्यास बुझा दो बंटी।तभी वो मेरा लंड अपने मुँह में डाल कर बोली- मुझे चोदो जल्दी.

सन्ता- बाल कटवाने? ऑफिस में काम के समय में?इरफ़ान- जी सर !सन्ता- लेकिन क्यों? काम के वक्त में क्यों?इरफ़ान- मेरे ऑफिस में ही बढ़ते हैं. यह जरूरी है ताकि तुम्हें पता लग जाए कि आगे क्या करना है और अबकी बार हमारा यह सीन रिकॉर्ड होगा, वो देखो वीडियो कैमरा, मैंने सैट किया हुआ है ताकि डायरेक्टर को सीधा ये टेप ही दे देंगे।आरोही ‘हाँ’ में गर्दन हिलाई और रेहान ने वीडियो ऑन करके उसके पास आकर उसे बांहों में भर लिया।रेहान- आओ जान. पर क्या खो गया?सलोनी- व्ववओ… मेरी ब्रा नहीं मिल रही… यही तो थी…आदमी ने उसकी चूची को पकड़ लिया- अरे मेरी जान… इनको कैद नहीं कर न.

फिर मैंने अपना लंड मीनू के मुँह में दे डाला और उसे लंड को चूसने के लिए कहा। मीनू ज़ोरों से मेरा लंड चूसने लगी और बोली- अब से यह लंड मेरा.

किन्नरों की सेक्सी वीडियो बीएफ: प्रेषक : समीरमेरा नाम समीर है, हिसार, हरियाणा का रहने वाला हूँ। मैं आज आपके सामने अपनी एक कहानी लेकर आया हूँ। आशा है कि आपको पसन्द आयेगी।मुझे शुरु से ही भाभियाँ और आन्टियाँ बहुत पसन्द हैं इसलिये मुझे जब भी किसी भाभी या आंटी को चोदने का मौका मिलता है तो मैं चूकता नहीं हूँ।वैसे मैं बता दूँ कि मेरी उमर 26 साल और लण्ड 6. आप खाना कहाँ खाते हो?सुधीर- अरे सारी बात यहीं करोगी क्या? चलो अन्दर आ जाओ वहाँ आराम से बात करेंगे।दोनों अन्दर चले जाते हैं.

!”और फिर आंटी ने पहले एक, फिर दूसरा हाथ बाल्टी पर रख लिया। मेरी घोड़ी सच में थोड़ी मुश्किल पोजीशन में थी। अगर मैंने कमर न पकड़ी होती और लंड ने अपना हुक उस कुतिया की गाण्ड में नहीं फंसा रखा होता तो वो गिर सकती थी।बबिता ने पीछे मुड़ कर मेरी तरफ देखा और कहा- नालायक…बदमाश…कहीं का. तभी मैंने वैक्यूम क्लीनर लगाया और उससे अपने निप्पल चुसवाए।बड़ा मजा आया पर मैं जो रेखा के साथ करना चाहता था वही आज मैं अपने साथ कर रहा था… मैंने चिमटा लेकर वो निप्पल पार लगाया उससे उनको खींचा, ऐसा लगा कि रेखा के ही निप्पल मैं खींच रहा हूँ।मैंने और मजा करने की ठान ली… अब मैंने एक मोमबत्ती ली… उसे जला दिया… उसे एकदम से बुझा कर झट से अपने निप्पल पर लगा दिया. फिर कुछ देर वो वैसे ही पड़े रहे और कुछ होने के आसार नहीं दिखे तो मैं भी नीचे आ गया।सुबह जब दीदी मुझे जगाने आई तो उनके कटे हुए होंठ को देख कर मेरी लंड ने एक बार फिर ज़ोरदार ठुमका मारा.

मुझे अब चूत में मीठी मीठी गुदगुदी होने लगी, मेरे मुँह से निकल गया- शाहनवाज… लगा ना जोर से धक्का… और जोर से… अब फ़िर मजा आ रहा है.

!”इस बीच जीजाजी बुर को सहला-सहला कर उसे पनिया चुके थे।अब वे मेरी टाँगों के बीच आ गए और अपना शिश्न मेरी यौवन-गुफा में दाखिल कर दिया।मैं चुदाई का मज़ा लेने लगी। नीचे से चूतड़ उचका-उचका कर चुदाई में भरपूर सहयोग करने लगी।हाय मेरे चोदू-सनम तुम्हारा लौड़ा बड़ा जानदार है तीन-चार बार चुद चुकी हूँ, पर लगता है पहली बार चुद रही हूँ…! मारो राजा धक्का… और जोर से. जय- मैं तुमसे प्यार करता हूँ जो बोलोगी करूँगा!मैं- आज तक किसी ने मुझे ऐसे नहीं देखा, मेरे घर पर पता चला तो वो मुझे मार ही डालेंगे. मुझे तुमसे बात करनी है।दोनों जल्दी-जल्दी कपड़े पहनती हैं। जल्दबाज़ी में ब्रा-पैन्टी नहीं पहनती, बस टी-शर्ट और शॉर्ट्स पहन कर दरवाजा खोल देती हैं।राहुल- क्या कर रही थीं दोनों.