बिहार बीएफ सेक्स

छवि स्रोत,16 वर्ष की लड़की की सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स एक्स सेक्सी सेक्सी: बिहार बीएफ सेक्स, मैंने उसकी टी-शर्ट उतार दी और उसके फुटबॉल जैसे चूचों को मैं अपने हाथ में लेकर संभालने लगा और उनको पीने लगा.

डॉक्टर सेक्सी पिक्चर बीपी

फिर रात में हम सबने साथ ही डिनर किया और अपने अपने कमरों में सोने चले गए. ट्रिपल एक्स हिंदी सेक्सी फिल्महमने भी गर्मजोशी के साथ उसको हाय कहा और फिर हम सब उससे इंग्लिश में बातें करने लगे.

इतना कहते हुए मैंने हिना को चूम लिया और समय बिना गंवाए हम पूरा सामान लेकर पूल की ओर बढ़ने लगे. कामुक सेक्सी व्हिडिओखुली छत पर गांड की चुदाई की गंदी कहानी पर कमेंट करिये और मैं कोशिश करूंगी कि आपके कमेंट और मैसेज का जवाब दे सकूं.

वो पागलों के जैसे चिल्ला रही थी- आह राजेश … काट लो, चूस लो, मसल दो इनको अपने हाथों से … ये मुझे बहुत परेशान करते हैं … आह … राजेशशश … आह आह … उम्म उम्म …मैं धीरे धीरे चूमते हुए नीचे की तरफ बढ़ता गया और उसकी नाभि में अपनी जीभ डाल कर चूमने लगा.बिहार बीएफ सेक्स: मैंने उससे कहा- जब तुम सामान लेकर कपार्टमेंट में आयी थी ना, तभी ऐसा लग रहा था कि अभी खड़े खड़े ही तेरी चुत चोद दूँ … लेकिन किसी के साथ जबरदस्ती का सेक्स मुझे पसंद नहीं है.

रात को चाची ने अपने बेटे को यानि मेरे चचेरे भाई को खाना खिलाकर सुला दिया उसके बाद हम दोनों ने भी खाना खाया और मैं थोड़ी देर टीवी देखने लगा.अब जब उससे नहीं रहा गया, तब उसने कहा- प्लीज बाबू, अब मत तड़पाओ, अब नहीं रहा जाता, अब डाल दो अपना लंड मेरे अंदर जान … चोद दो मुझे, अपनी पत्नी को अब पूरी तरह से अपना बना लो शोना।वो जैसे जैसे चिल्ला रही थी, मैं वैसे ही और तेज़ उसके दाने को रगड़ रहा था.

पोर्न इंडियन सेक्सी - बिहार बीएफ सेक्स

उसने दर्द से अपनी आंखें बंद कर लीं और होंठों को दांतों से दबा लिया.पाँचों मर्द अपनी अपनी बीवी को पैरों के बीच बिठाकर अधलेटे होकर मूवी देखने लगे.

अंकल का चेहरा आनन्द से भर गया, उनके मुँह से काम वासना से भरी हुई सिसकारियां निकलने लगीं ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’फिर मैंने धीरे धीरे उनका पूरा लंड चूसना शुरू किया और पूरा लंड अपने गले तक उतार लिया. बिहार बीएफ सेक्स वो मेरे सामने घोड़ी वाले पोज में आकर बोली- आज आप मेरी गांड भी मार लो.

आज उसके साथ चुदाई करने से पहले ही मैंने लिक्विड चॉकलेट और केक का ऑर्डर दे दिया था.

बिहार बीएफ सेक्स?

मेरे बेटे की तबियत भी ठीक नहीं है और इस तरह से तुम्हारे यहां पर रहने से मेरी भी कुछ मदद हो जाया करेगी. ” सरिता ने अपने पति को समझाते हुए कहा।जानेमन वह सब मैं समझ रहा हूँ मगर यह नालायक नहीं मानता. कॉलेज के एक साइड के कुछ कमरे लड़कियों को और दूसरी तरफ के कमरे लड़कों के लिए तैयार थे.

मगर उसके लिए तुम्हें जीजा-साली के प्रोग्राम में हममें से भी एक को शामिल करना पड़ेगा. हम दोनों ने अपने बचे हुए कपड़े भी निकाल दिए और मैं उसके चूचों को पीने लगा. शिवानी ने मुझसे कहा- पूनम, सागर वाली बात को भूल जा, उसके बाद में मैंने कभी भी उसको उस नज़र से नहीं देखा.

” महेश ने अपनी बहू को अपनी बाँहों में उठाकर बेड पर ले जाकर लिटा दिया।पिता जी आप यह क्या कर रहे हैं? आपने वादा किया था कि आप सिर्फ मुझे देखोगे. मजा आया चाची?”चाची- हां … ये मेरी ज़िंदगी की सबसे यादगार चुदाई थी और सबसे मजेदार … तेरी बीवी लकी होगी जीशान … उसे हर दिन जन्नत दिखाएगा तू. कभी होटल में सेक्स करते हैं और कभी कहीं सुनसान इलाके में खुले में चुदाई कर लेते हैं.

प्रिया के साथ मैंने जो मजे लिये उसकी शुरूआत खुद उसने की थी लेकिन जब फिर मैंने आगे बढ़ने की कोशिश की तो वो खुद पीछे हट गयी. वो बोला- चार दिन बाद टूर्नामेंट शुरू हो रहा है, कुछ मैच शाम को भी हुआ करेंगे.

बीच-बीच में वो कह रहा था- साली … आह्ह … तुझे तो जिन्दगी भर मैं अपनी रंडी बना कर रखूंगा.

मैंने उसके कुछ नार्मल होते ही धक्का दे मारा, तो मेरा आधा लंड उसकी चूत को चीरता हुआ अन्दर चला गया.

अनीता और सीमा अब खीरे को हटा कर एक दूसरे से चिपटी पड़ी थीं और एक दूसरी की चूतों की उँगलियों से मसाज कर रही थी. वो बोली- क्या बात है जीजा जी, कुछ चाहिए क्या आपको?मैंने मन ही मन कहा- तुम्हारी चूत!फिर उसके सवाल का जवाब देते हुए बोला- बस खाने का इंतजार कर रहा था. उसकी चूचियों के निप्पलों को अपनी दोनों हाथों की उंगलियों में दबा कर मींजता रहा.

उसने अपनी बहन की टांगों को घुटनों तक मोड़ते हुए उसके चूतड़ों के नीचे एक तकिया रख दिया। ज्योति की चूत अब बिल्कुल खुल कर ऊपर उठ गयी थी और उसकी चूत का छेद खुला हुआ था जिसमें से पानी निकल रहा था।समीर अपनी छोटी बहन की टांगों के नीचे बैठते हुए अपने लंड को ज्योति की चूत पर रगड़ने लगा।आह्ह भैया … आराम से डालना 8 बरसों से यह बंजर है. युवराज पीछे खड़ा था और अपना खड़ा लंड मेरे नितम्ब पर रगड़ रहा था। वो पीछे से मेरी गर्दन पर और पीठ पर खुली जगह पर चुम्बन करने लगा. ” समीर ने अपनी बहन से कहा और अपने होंठों को ज्योति के नर्म होंठों पर रख दिया.

मैंने उन्हें अपनी गोद में उठाया और उन्हें कमरे में ले जाकर बेड पे पटक दिया.

मेरी ये सेक्सी कहानी और नया लिखने का प्रयोग कैसा लगा? जरूर मेल कीजियेगा. उसने मुझे एयरपोर्ट पर ऐसे गले लगाया कि जैसे वो मेरी बिछड़ी हुई प्रेमिका हो. तो मैं उठ कर उसकी जांघों के बीच आ गया और उसकी दोनों टाँगों को फैला कर बीच में बैठ गया.

मैंने उनकी चूत पर उंगली लगाई तो भाभी बोलीं- पहले एक बार चोद दो, फिर दूसरे राउंड में खेल लेना. ”क्यों बेटी … क्या मैं अपनी बेटी से यह उम्मीद भी नहीं रख सकता? जब तुम अपने भाई को इतने मजे दे सकती हो तो क्या तुम्हारे पिता का तुम पर कोई हक नहीं बनता?” महेश ने अपना मुँह बनाते हुए कहा।पिता जी मुझे शर्म आती है. यह सब पता पड़ रहा था उसके चलने के अंदाज से।दोस्तो, हमारा वह कपल दोस्त और उसकी वाइफ अब डॉक्टर के अवतार में आ गए और बोले- इसको नजरअंदाज करना सही नहीं है.

परवीन- क्या देख रहा है?मैं- आपका जिस्म … आप बहुत ही सेक्सी हो आंटी.

मेरी पत्नी रीतिका ने अपनी प्रीति चाची से भी पूछा- कहो चाची, कैसी रही दामाद के साथ रात?प्रीति बोली- दामाद का लंड तो मैं कभी नहीं छोड़ूँगी. मेरे सामने आकर वो झुकी तो उसके सूट के अंदर उसकी सफेद ब्रा की पट्टी मुझे दिख गई.

बिहार बीएफ सेक्स मेरी सास मदमस्त सिसकारियां लेते हुए लगभग चिल्ला सी रही थीं- हाय दैया … आह … फाड़ के रख दी … आह … चोद दिया … हाय दैया चोद दिया. मैं रोज सुबह ऑफिस आने के बाद कविता ने कौन सी पैंटी ब्रा पहनी, ये देखता और उसे मम्मों को मसल देता.

बिहार बीएफ सेक्स मेरे लंड को पहली बार चाची के बदन का स्पर्श मिला था इसलिए मैं हर काम जल्दी ही जल्दी में कर लेना चाहता था. वो मुझसे प्यार करने लगी थी और मेरा पूरा साथ देते हुए मेरे लंड से अपनी चूत को चुदवाती थी.

चाची- हाँ वही … तेरे लिए रानी लेकिन अगर किसी को पता चल गया, तो सबको रंडी ही दिखूंगी.

कुर्ती टिप्स फॉर शॉर्ट हाइट गर्ल

एक बार जब वह जोर लगा रहा था तो उसका हथियार जो तना था, मेरी गांड के छेद पर अड़ा था, उसके जोर लगाने से एक दो बार तो मेरी गांड में पूरा सुपारा घुस गया. जब मैं बिल्कुल रुक गया तो दो मिनट तक नेहा के ऊपर लेटे रहने के बाद उठने लगा तो आंटी बोली- बस कर, अब मेरी तरफ भी देख ले. फिर मैं तैयार होकर बाहर से खाना पैक कराने चला गया क्योंकि हम दोनों ही बहुत थके थे.

मेरे लंड ने मेरी पैंट पर निशान बना दिया था और आंटी अब मेरे लंड को पहले से ज्यादा जोर से दबाने लगी थी. महेश ने सेक्स से परहेज़ करने वाली अपनी उस बहू को चोद-चोद कर अपनी रंडी बना दिया था. उसने मेरी बात समझते हुए मुझे जोर से हग किया और बोली- बहुत दिन से ये तमन्ना थी लेकिन मेरे पति को ये पसंद नहीं है.

ये लंड डालने पर पता चल रहा था कि सच में उसकी चूत में बहुत दिनों से लंड नहीं गया था.

अब मेरा भी पानी निकलने वाला था, मैंने मॉम से बोला- रस कहां निकालूं?तो मॉम ने कहा- बेटा अन्दर ही अपना पानी निकाल दो, मैं तुमको महसूस करना चाहती हूं. जब चोदू दोस्त साथ में घूमने निकलते हैं तो वो कहीं न कहीं चूत मारने का जुगाड़ ढूंढ ही लेते हैं. परीशा तो अब सातवें आसमान पे थी; बहुत ही मज़ा आ रहा था उसे।इतने में मुकुल राय ने अपनी जीभ परीशा के गांड के छेद में घुसेड़ दी। परीशा ये ना सह सकी और एकदम से झड़ गयी। काफ़ी देर तक इसी मुद्रा में परीशा की चूत और गांड चाटने के बाद उन्होंने दोनों हाथों से परीशा के चूतड़ों को पकड़ा और अपने मोटे लंड का गर्म गर्म सुपारा परीशा की लार टपकाती चूत पे टिका दिया.

अब मुझसे और कंट्रोल नहीं हो रहा था, मैंने कहा- मेरा गिरने वाला है, कहाँ लोगी, मुंह में या कहीं और?उसने कहा- मेरे बूब्स पे गिरा दो।मैंने कहा- एक बार टेस्ट तो करो, अच्छा लगेगा. अब तो मुझे भी कोई ऐतराज नहीं है कि इसकी चूत को कोई भी आकर चोद सकता है. मैंने कहा- मैं क्या बताऊं, मैं भी बहुत टाइम से बिना (सेक्स) किये रह रहा हूं.

शबनम ने फुसफुसाकर कहा- जीजू ये नीचे क्या हो रहा है … कुछ तो सब्र करो. मैंने कहा- मम्मी जी, आप हुक्म तो करो, आपकी बेटी और आपका दामाद हमेशा दोनों आपकी खिदमत में पेश रहेंगे.

मैं उम्र में उससे छोटा जरूर था लेकिन औरतों के बारे में इतना अनुभव तो मुझे भी हो ही चुका था. लेकिन मैंने चूत तक हाथ पहुंचने से पहले ही अपने हाथ को बीच में ही रोक दिया. यदि मुझसे कोई चूक हो जाती, तो ये एक बड़ा अपराध बन सकता था, यही सोच कर मैं चुप रहा.

हँसती हुई सारिका उठी और राहुल के पास से निकलती हुई उसको बैठने के लिए बोली.

एक तो मैंने शिवानी से वायदा किया हुआ था और दूसरा वो अपनी मर्ज़ी से उसको नहीं चोदने गया था. पर इस चक्कर में उसके जोर लगाने से उसका खड़ा मस्त लंड मेरी गांड के छेद पर बार बार हल्के हल्के धक्के भी दे जाता था तो मुझे मजा आ जाता था. फिर वो बोलीं- क्या मैं तुम्हारी गर्लफ्रेंड हूं?मैं हंस कर बोला- गर्लफ्रेंड नहीं हो, तो क्या हुआ … दोस्त तो हम बन ही गए हैं … चलो अब देर हो रही है.

नीता ने सबको अपने अपने कमरे में जाने को कहा और अपना गाउन पहन कर रानी को फोन करके आने को कहा जिससे खाने की तैयारी हो सके. कोई 5 मिनट चूसने के बाद भाभी बोलीं- इंद्र, अभी हमारे पास बहुत समय है, पहले अन्दर बैठकर कुछ बातचीत करते हैं, बाक़ी काम उसके बाद.

अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा प्यार भरा नमस्कार।दोस्तो, मैं इस साइट का दस वर्षों से नियमित पाठक हूँ और तहेदिल से इस साइट और लेखकों का शुक्रगुजार हूँ क्योंकि इसकी कहानियों ने मुझे कामकला में पारंगत बनाया है. उसने सागर को बाद में बता भी दिया कि उसको कोई चोट नहीं आई थी, वो सब उसका लंड लेने के लिए ड्रामा था, जिसमें वो पूरी कामयाब रही. परीशा बेपरवाह अपनी जीभ लंड की जड़ से लेकर सिरे तक घुमा रही थी।मुकुल राय के लिए तो यह एक जबरदस्त मज़ा था, इस मज़े से उसकी हालत खराब होती जा रही थी.

हंसी मजाक वाली शायरी

उनको चूत मरवाने का तजुरबा भी बहुत होता है और कोई नखरा भी नहीं करतीं.

कहीं कुछ कोई कमी तो नहीं रह गई मुझमें? वो तो पूरी तरह से मेरा साथ दे रही थी. जैसे ही मैंने मूड शब्द का प्रयोग किया, चयन ने मेरे लंड पर हाथ रखते हुए कहा- अच्छा तेरा ऐसा कितना बड़ा है मोंटू … देखूँ तो ज़रा. बस इन सब में जो अपनी चूत में लंड लेने का मज़ा था, उसके सामने यह दर्द कुछ भी नहीं था.

वो जितना विरोध कर रही थी मेरा लंड उसकी चूत को चोदने के लिए उतना ही बेचैन होता जा रहा था. वो कभी कभी फ़ोन पर मेरे से सेक्स वाली बातें भी करता था और मुझसे बोलता था कि वो मुझे बहुत चाहता है और मुझसे रोज मिलना चाहता है. वीरा की सेक्सीयहाँ फ्लैट देखते समय उसकी चाहत यही थी कि उस सोसाइटी में कोई बड़ा स्विमिंग पूल हो.

लड़कियों ने बियर ली तो पिंकी ने सभी के ग्लासों में थोड़ी थोड़ी व्हिस्की डाल दी. मैं भी हमेशा मॉडर्न कपड़े पहनती हूँ तो मेरी सहेली का बॉयफ्रेंड मोहनीश मुझे हवस भरी नजरों से मुझे देखता है.

फिर मैंने उसको दीवार के पास खड़ा किया और उसकी झुकाते हुए उसकी चुत को पीछे की ओर निकाल लिया. फिर कुछ देर तक उसकी पीठ को सहलाने के बाद मेरा हाथ उसकी ब्रा की पट्टी पर लगने लगा. मेरे हाथों पर हाथ रखकर उसने कहा- गीता तुम बहुत खूबसूरत हो, क्या मैं तुमसे दोस्ती कर सकता हूं.

चाची की गांड पहली बार गांड चुदाई के बाद आज थोड़ी ज्यादा मोटी दिख रही थी. मुश्ताक ने बेल बजाई … सीमा ने दूर खोला और सीधी मुश्ताक की बाँहों में आ गयी. पर हर्ष ने अभी धक्के मारना बंद नहीं किया था और साथ ही मैं भी झड़ गयी।थोड़ी देर बाद हर्ष का लंड छोटा होकर बाहर निकल गया.

मां की आवाज को सुन कर हम दोनों हड़बड़ा गये और उसने झट से अपने शार्ट्स को ऊपर कर लिया.

मैंने तेजी से उसकी चूत के मुंह पर अपना हाथ चलाना जारी रखा और बार-बार थूक लेकर उसकी चूत पर रगड़ता रहा. मन तो उसका कर रहा था कि सीमा के टॉप के अंदर हाथ डाल दे पर वो सोच रहा था कि कहीं सीमा बुरा ना मान जाए.

मुझे बहुत मजा आ रहा था, जिससे मैं उनके बालों को अपने हाथों से सहलाने लगा. इधर मैं अपनी बेटी को दूध पिला रही थी और दूसरी तरफ खुले में चुदाई के बारे में सोच सोच कर रोमांचित हो रही थी।अब मेरी बेटी सो चुकी थी. उसको पूरी नंगी करने के बाद मैंने उसे बेड पे चित लिटाया और उसकी चूत में अपना लंड सैट कर दिया.

रात को जब मैं पानी पीने के लिए उठा तो मैंने देखा कि चाची की साड़ी उनके घुटनों के ऊपर तक खिसक गयी थी. अगर मैं चाहता तो उसे वहीं पर चोद सकता था मगर ऐसा करना मुझे अच्छा नहीं लगा. फिर उसने दोबारा से लंड चूत में डाल दिया और मुझे फिर से दर्द हुआ लेकिन अबकी बार थोड़ा कम हुआ.

बिहार बीएफ सेक्स मैं- पता है … तुम लंड को चूसो ना चाची, मेरा लंड गीला हो जाएगा और आसानी से अन्दर घुस जाएगा. मैंने जब से तुम्हारी चूत को देखा है मैं तुम्हारे साथ सब कुछ करना चाहता था लेकिन मेरी हिम्मत नहीं हो रही थी.

नई सेक्सी राजस्थानी

उसने मेरी पीठ पर अपनी बांहों का घेरा बना कर मुझे अपने आगोश में लेना शुरू कर दिया. फिर उसने जानबूझ कर कुछ गर्म कॉफी अपने पैरों के आस पास गिरा दी, जिससे उसको कुछ हुआ नहीं था, मगर उसने ड्रामा ऐसे किया कि वो बुरी तरह से झुलस गई हो. लेकिन सुबह ऑफिस के लिए देर हो रही थी तो मैं चुपचाप ऑफिस के लिए निकल गया.

मैंने पूछा- क्या सच में अंकल?वो बोले- हां तुम्हारे भी रहे होंगे … ये मुझे भी पता है. क्या वो कभी उसको आकर्षित कर पायेगी?दो दिन बाद उसके घर की घंटी बजी तो वो दरवाज़ा खोलने गयी. ममता कुलकर्णी की नंगी सेक्सी फोटोफिर अंकल ने मुझे मेरे मुँह को चोदने की इच्छा बताई और अपना वीर्य मेरे मुँह में निकालने के बारे पूछा.

भाभी के मुख से एक चीख निकल गयी और चिल्लाकर बोली- मार दिया हरामी ने।भाभी ने मुझे ज़ोर से जकड़ लिया और नीचे से ही खुद उछल कर झटके मारने लगी। जब वो थक गयी तो फिर मैं शुरू हो गया और चुत को रौंदने लगा.

हैलो अन्तर्वासना के सभी दोस्तो, मैं राहुल श्रीवास्तव मुंबई से एक बार फिर आपके समक्ष हूँ. चाची ने मेरा लंड हाथ में ले कर अपनी चूत में डालने का फिर से प्रयास किया.

जब मैं उसके कमरे की तरफ जाने लगा तो दरवाजे के पास पहुंच कर मुझे अंदर से कामुक आवाजें सुनाई दे रही थीं. उनकी हिचकते हुए स्वर में स्वीकारोक्ति सुन कर मेरे तन बदन में आग लग गयी. मैं बोला- हैलो आप कौन?उसने बताया- मैं स्मायरा बोल रही हूँ, वही, जिसको हॉस्पिटल लेकर गए थे.

मेरी नाभि मेरी कमजोरी है, उसकी नुकीली और खुरदुरी जीभ से मैं तो जैसे पागल सी हो गयी थी.

ये बात मुझे मेरे पति ने बोली, तो मैंने तुरंत बोल दिया- ये तो हमारा फर्ज़ है, मुझे जाना चाहिए और जब तक आंटी ठीक ना हो जाएं, मुझे वहां रहना चाहिए. मैं पीछे से परवीन आंटी के चूतड़ बजाने लगा … उनसे फट फट की आवाज आ रही थी- आआआह ऊऊम्म्म्म. अब उसका खड़ा मस्त लंड मेरी खुली गांड से टकरा रहा था और मुझे करवट दिलाने की कोशिश में उसके लंड का सुपारा बार बार मेरी गांड के छेद से टकरा रहा था.

कॉलेज की लड़कियों की सेक्सी फोटोतभी उनका हाथ नीचे मेरे जींस पे लंड पे घूमने लगा और मेरा हाथ उनके मम्मों और पीठ पे. एक्सक्यूज मी, आप इशिता की दीदी हो न … प्रीति, राइट?”हां, तुम्हें कैसे पता?”जानती हूं, इशिता ने काफी कुछ बताया है आपके बारे में.

राजधानी नाइट चार्ट दिखाइए

मैं अपने बेडरूम, जिसमें मेरी वाइफ ने बताया था, में घुस गया और अन्दर से दरवाजा लगा कर कपड़े चेंज करने लगा. और उसके बाद वो मैं और विवान भैया हम दोनों को जब भी मौका मिलता था तो एक दूसरे को किस करते थे. अब तक मैं अपने पड़ोसी विवान भैया के साथ बहुत बार अपने घर में सेक्स कर चुकी हूँ.

मैं देखने रूम में गया, तो मैं अभी हल्का सा दरवाज़ा खोला ही था कि मुझे दिखा कि राजनाथ मेरे मॉम के रूम में झांक रहा है और वो अपना मोटा लंड हिला रहा था. स्मायरा के पापा बोले- कोई बात नहीं … आप कहीं नहीं जाओगे, यहीं रहोगे. उसने बताया कि तुम्हारा बाप तुम्हारी मॉम से शारीरिक संबंध नहीं बना पाता है और बस इसी लिए वो उनको मारता है.

मॉम ने उठकर अपने सारे कपड़े हटा दिए और बिल्कुल नंगी होकर बेड पर लेट गईं. नित्या- मैं कभी किसी से नहीं कहूँगी कि मैं तुमसे प्यार करती हूँ और तुम्हें शादी करने के लिए मजबूर भी नहीं करूंगी. इतने में लंड से पानी की कुछ बूंदें सारिका के मुँह में, कुछ यशिमा के मुँह में और मम्मों पर गिर गईं.

अब उसकी चूत मेरे लंड के धक्कों से फूल गई थी और उसको दर्द होने लगा था. उनकी बातों से लगा कि वो भी मुझसे वही चाहते हैं, जो मैं उनसे चाहता हूँ.

फिर पता नहीं उसको क्या हुआ कि उसने मेरा लंड छोड़ दिया और अपना हाथ बाहर निकाल लिया.

मैं अपने यहां अपनी चूत में उंगली करती रहती थी और उधर से वो दोनों एक दूसरे के साथ नंगे लेट कर गर्म चुदाई की बातें करते हुए मुझे भी गर्म करते रहते थे. बंगाल का सेक्सी वीडियो मेंमैंने पूछा- कितना चार्ज लगेगा?वो बोले- पांच सौ रूपये एक्सट्रा लगेंगे. दुबे का सेक्सी वीडियोचूंकि हम बचपन के दोस्त थे इसलिए पवन की उम्र और मेरी उम्र में कोई खास फर्क नहीं था. उम्म्ह… अहह… हय… याह… करते हुए मैं तो जैसे जन्नत में जाने लगी थी। आह्ह … मेरी जान … करण … ओह्ह … और जोर से करो डार्लिंग।उसका लंड पूरा फनफना रहा था और आपे से बाहर हो रहा था.

मुझे बाद में शिवानी से ही पता लगा कि उसने सागर का लंड एक बार नहीं तीन बार लिया और उसको कैसे पटाया.

उसको छूते ही उसने मुझे मना कर दिया और धीरे से बोली कि सीमा (मेरी साली) बगल में सो रही है. ”क्या?” मेरी उलझन बढ़ती जा रही थी। ये साली मधुर की बच्ची भी बात को इतना घुमा फिर कर बोलती है कि बन्दे का पानी कच्छे में ही निकल जाए।वो आज दीक्षा लेते समय मैंने अकेले में गुरूजी से एक बात पूछी थी. अभी पैसेन्जर ट्रेन चल रही थी कि मेरे मोबाइल पर घंटी बजी, देखा तो गुप्ताइन का फोन था.

अब दो नग्न जोड़े अदला बदली के साथ एक ही बिस्तर पर संभोग क्रिया का आनंद ले रहे थे. सर मेरे तने हुए बूब देखते ही रह गए … और बोले- आशना, इतनी कम उम्र में तुम्हारे बूब्स कितने मस्त हैं … दो साल से मैं तुम्हारे इन्हीं मम्मों को देखने के लिए और तुमको चोदने के लिए तरस रहा था. चाची ने कहा- यहां रहने से मुझे बार-बार तुमको घर से बुलाना भी नहीं पड़ेगा तो मुझे भी आसानी हो जायेगी.

एलएक्स पसीना xxxxxx xxxxx xxxx xxxxxxx

‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… ऊई मां’ की गूंज से वातावरण जोशीला हो गया था. तभी उसने अपना बांया हाथ चूतड़ों पर ले जाकर लंड को छू कर देखा कि कितना अन्दर गया है. पति ने उठ कर मेरी गीली चूत में अपना लंड ठोका और दस मिनट तक मजे लेकर मेरी चुदाई कर डाली.

तभी वह बोली- सूट में मुझे आराम नहीं लग रहा है … मैं कपड़े बदल लूँ?मैंने ओके कह दिया.

मैंने कहा- कोई देख लेगा, यहां रोड पर …वो बोली- प्यार भी करते हो और डरते भी हो?मैंने कहा- कहीं और चलें?वो बोली- कहाँ?मैंने कहा- जहां मैं कुछ पल तुम्हारे साथ अकेले में बिता सकूँ!मैंने दिमाग दौड़ाया.

तभी मीनू बोल पड़ी- तुम लोग सो गये क्या?मैंने एकदम से हाथ रजू के चूचों से बाहर निकाल दिया. एक्सक्यूज मी, आप इशिता की दीदी हो न … प्रीति, राइट?”हां, तुम्हें कैसे पता?”जानती हूं, इशिता ने काफी कुछ बताया है आपके बारे में. हॉट भाभी के सेक्सी वीडियोवो बोली- संचित तो रात को सोना ही नहीं चाहता था, वो तो मैंने यह कह कर सुला दिया कि सो जाओ वर्ना दिन में थकान रहेगी.

राहुल को सारिका वहीं रखे डिजिटल फोटो फ्रेम में अपनी और पंकज की बाहर घूमने की फोटो दिखने लगी. मैंने पलट कर पूछा- तो और क्या पसंद है आपको?वो बोली- मैं जूस पीती हूं. हालांकि उसके मन में अभी भी कुछ डर बाकी था, लेकिन साथ ही उसे मुझ पर भी पूरा भरोसा था.

फिर बहुत ज्यादा कन्विंस करने के बाद वो बड़ी मुश्किल से 1200 रुपये ‘पर पर्सन’ के हिसाब से रेडी हो गई. मैं अपनी कार से अपने घर जा रहा था, अचानक रास्ते में एक कार की दूसरी कार से भिड़न्त हो गयी.

इस बार दीदी धीरे से बोल पड़ी- प्रतीक, भाई और बहन के बीच ये सब नहीं होता.

उसने नाइट ड्रेस पहनी हुई थी इसलिए खुलेपन की वजह से उसके पूरे चूचे मेरे हाथ में आ रहे थे. वैसे मैंने कभी उसकी चुदाई के बारे में नहीं सोचा था क्योंकि वो मेरे बचपन के यार की बीवी थी. अब तक पंकज भी आ चुका था, वो और सारिका चिपक कर बैठे थे, उनका पोस्चर देख कर ही लग रहा था जैसे पंकज ने सारिका को डीप किस किया हो.

सेक्सी आदिवासी सेक्सी आदिवासी सेक्सी उसका गोरा रंग, छाती पर उठे हुए मम्मे … पूरी गोल और भरी हुई गांड को कोई भी देख ले, तो मुठ मारे बिना रह नहीं पाए. मेरे सारे जिस्म को चूसते चाटते हुए मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसने लगीं.

अब तो मेरी जान चारू भी अपने चूतड़ों को हिला कर मुझे गांड मारने के लिए आमंत्रित करने लगी. क्यूं, ऐसा क्यूं लगा तुझे?” मैंने अनजान सा बनने की कोशिश की।रहने दे, मैं बहन हूं तुम्हारी! मुझसे ज्यादा बनने की कोशिश करना बेकार है।” सुमिना ने जैसे मेरे मन में उठती प्यार की उमंग की पतंग की डोरी अपने शब्दों के हाथ से वापस अपनी तरफ खींचते हुए कहा।ऐसी कोई बात नहीं है, जैसा तू सोच रही है! चुपचाप अपना लंच कर और मुझे मूवी देखने दे. मैं भी सांड की तरह फटाक से पोजीशन तैयार करके चुदाई के लिए रेडी हो गया.

कल्याण एंड नाईट चार्ट

हम घर पहुँच गए, हर्ष अपने घर चला गया और मैं जल्दी से बाथरूम में घुस गई. इतना सुनते ही मेरे शरीर से भी करंट सा निकलने लगा और मैंने धक्कों की गति बढ़ा दी, 10-12 गहरे और तेज झटके मारते ही लंड उफान पर आ गया. उसकी आवाज में एक मदहोशी सी का अहसास हुआ मुझे जैसे कि वो मुझे रोकना चाहती है.

उसकी बातों को सुन कर आज ऐसा लग रहा था जैसे वो मुझ पर अपना हक सा समझने लगी थी. तो माँ जब नहाने जाती थीं, तो मैं बाथरूम के दरवाजे की झिरी से माँ को नहाते हुए देखता था.

प्रिंस मुझे और मंजू को गौर से देखता हुआ बोला- बिल्कुल … क्यों नहीं.

जीभ को अच्छे से दबाता हुआ … उफ्फ़ उसकी गान्ड की मदमस्त महक और एक अजीब ही सोंधा सोंधा सा स्वाद था. तो दोस्तो, कैसी लगी मेरी चुदाई की कहानी … मुझे मेल करके जरूर बताना. मैंने लंड को आगे पीछे करना शुरू कर दिया … साथ में मैं उसकी चूची दबा रहा था.

सामने पिंक कलर की ब्रा में उसके सफ़ेद टाइट मम्मे इतने सुंदर लग रहे थे कि मेरे मुँह से आह निकल गई. मैंने उसके हाथों को हटाया और उसके नाड़े को खोल कर उसको नीचे से नंगी कर दिया. मासूम चेहरे पर उसकी बड़ी बड़ी काली आंखें एक अलग ही छाप छोड़ने में सक्षम थीं.

मैंने अपनी जीभ नुकीली करके उसकी चूत के मुकुट को छेड़ा, तो वो गनगना उठी और उसने अपनी टांगें पूरी तरह से खोल दीं.

बिहार बीएफ सेक्स: मैं उसकी तड़प को समझ गया और मैंने झट से उसे चुदाई की पोजीशन में लेकर अपना लंड उसकी चुत में डाल दिया. कुछ समय बाद मैं कार से उतरा और ज्योति के पास आकर उससे सॉरी बोलने की सोचने लगा.

रजनी को उन्मुक्त इसलिए कहा कि बावजूद इसके कि वो राहुल से पहली बार मिल रही थी उसने बड़ी गर्मजोशी से राहुल से हाथ मिलाया. ये कह कर उसने एक लार्ज पैग बना दिया और उसे कोल्ड ड्रिंक से भर दिया. उसकी गति पहले से ज्यादा तेज हो गई थी और मेरे चूचे मेरी छाती पर झूलते हुए यहाँ-वहाँ डोलने लगे.

लेकिन मेरे अंदर की चुदास फिर से जाग चुकी थी इसलिए मैंने उनके लंड की तरफ अपना मुंह कर लिया और अपनी चूत को उनके मुंह की तरफ कर दिया.

मैं आपका ज़ीशान … अब आपके सामने अपनी बिल्कुल सच्ची चुदाई की कहानी का 9वां भाग लेकर हाजिर हूँ. उसने पता नहीं क्या इशारा किया कि सभी लड़कियां बोलीं ‘ओके गीता … सुबह मिलेंगे. इस पर उन्होंने कहा- अगर ये बात तुम्हारे अंकल को पता चल जाएगी, तो वो मुझे मेरे गांव छोड़ आएंगे.