एक्स एक्स वीडियो बीएफ हिंदी में

छवि स्रोत,सुप्रभात फूल

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्स वीडियो देसी बीएफ: एक्स एक्स वीडियो बीएफ हिंदी में, पानी टेबल पर गिर गया और पानी ने सीधा मेरे पैन्ट के ऊपर से मेरे लंड को नहला दिया.

इंग्लिश वीडियो सेक्सी एक्स एक्स एक्स

मेरी कराह निकली- उउइइ म्म्मा …और वो समझ गया कि मैंने चरमसीमा का अनुभव किया है. देहाती गवार सेक्सीसरिता- क्या कहा अंकल … 100 रुपये?मैं- हां पूरे 100 रुपये, पर इस बार शर्त भी बहुत कठिन होगी.

मैंने भाभी को अपनी तरफ खींचा और उनके बोबे दबाते हुए उनको किस करने लगा. ગામડીયા સેકસી વીડિયોमैं क्या बोलूँ, वो एकदम मुलायम और राउंड राउंड गांड का अहसास मुझे सनसनी दे गया.

ऐसा कहकर मैंने भाभी को 2-3 सीढ़ी ऊपर को धकेला, तो भाभी सीढ़ी से फिसल कर गिरने को हुईं, पर मैंने उन्हें संभाल लिया.एक्स एक्स वीडियो बीएफ हिंदी में: मैं सोच रहा था कि पता नहीं घर के सब लोग कब बाहर जायेंगे और कब मुझे चाची की चूत चोदने का मौका मिलेगा?जब घर से सब लोग बाहर चले गये तो मैंने दरवाजे को बन्द कर लिया और चाची के रूम के अंदर जाते ही चाची को पकड़ कर उनके होंठों पर किस करने लगा। मैंने चाची की साड़ी के ऊपर से उनके चूचों को पकड़ लिया और उनको कस कर भींचने लगा.

खैर बड़ा समझाने के बाद शुभ्रा तैयार हुई और लंड को मुंह मे लेकर चूसने लगी.दिशा- सबसे पहले जीजाजी किसको चोदेंगे, उसके लिए एक और खेल खेलते हैं.

बिहार का बीएफ वीडियो - एक्स एक्स वीडियो बीएफ हिंदी में

देर हो जाने हाइवे से दो तीन किलोमीटर दूर घर सुनसान रास्ता होने के कारण बहू ने मंजू को हमारे साथ ही चलने को बोला.मैं भी हंसते हुए बोली- अच्छा … तो दीदी क्या मेरे पति के पास चली जाती.

अब टास्क देने की बारी राधिका की थी- राज, मैं चाहती हूँ कि तुम दिशा की चुत और उसके सुंदर चूतड़ों पर किस करो. एक्स एक्स वीडियो बीएफ हिंदी में कुछ देर के बाद भाभी नीचे आ गई और अपने घर को लॉक करके मेरी गाड़ी में आकर बैठ गई.

भार्गव ने रुमित को फ़ोन करके बोल दिया … और मुझसे कहा- आओ हम दोनों अन्दर बैठ जाते हैं वरना खड़े खड़े थक जाएंगे.

एक्स एक्स वीडियो बीएफ हिंदी में?

आख़िर भगवान ने एक दिन मेरी सुन ली और मुझे उनकी चुदाई देखने का मौका मिल गया. उन्होंने ने पीछे से मेरी चूत पर अपना लंड लगा दिया और मुझे घोड़ी बनाकर चोदने लगे. मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रखकर जोरदार किस किया ऐसा लगा कि मैं स्वर्ग में हूँ। फिर मैंने उसे किस करते हुए उसके पैंट में हाथ डाल दिया.

इससे मैं ये समझ गयी आज पहली बार नहीं हो रहा, ये सब शायद बहुत पहले से चल रहा है।इधर पिताजी ने अपनी बेटी सुमीना के 36 के चूचे मुंह में ले लिये और उन्हें चूसते चूसते चुदाई की स्पीड तेज कर दी और पूरा लण्ड सुमीना की चूत में उतार दिया. अभी तक इस सेक्स कहानी में आपने पढ़ा कि नम्रता ने नंगी रह कर हम दोनों के लिए खाना बनाया. मैं भी सुमन के पीछे से उससे लिपट गया और उसके मोटे मोटे चूतड़ों को दोनों हाथों से सहलाते हुए उसकी चड्डी नीचे सरका दी.

वो अपने नाखूनों को मेरी पीठ पर गड़ा रही थी, जिससे मेरा जोश और तेज हो गया था. पता नहीं दूसरे ही वक्त पर शीना ने क्या सोचा और वह खड़ी होकर अपनी चूत को मेरे लंड के ऊपर डाल कर बैठ गई. लंड जब चूत में उतर जाता तो चाची इधर उधर हिलते डुलते हुए लंड का पूरा मजा चूत में फील कर रही थी.

चूंकि पहला दिन था, तो पहचान ना होने के कारण मैंने किसी से भी बात नहीं की थी. हैलो, मेरा नाम अजय है और मैं नियमित रूप से अन्तर्वासना की कहानियां पढ़ता आ रहा हूँ.

उसे थोड़ा दर्द हो रहा था। लेकिन मुझे बडा मज़ा आ रहा था। वो भी मुझे सहयोग कर रही थी। फिर मैं उसकी गांड में झड़ने ही वाला था कि चाची ऊपर आयीं और दरवाजा खटखटाया.

लेकिन उनका कोई उत्तर नहीं मिला तो मैंने भाभी को आवाज लगाई- भाभी जान, अपने रूम से बाहर आ जाओ, भैया सो गए हैं.

जीजू के साथ मेरा अच्छा टाइम पास होने लगा था जबकि मानसी भी हेतल के आने के बाद ज्यादा ही खुश रहने लगी थी. पापा और चाचा बाहर काम पर गये हुए थे और माँ कहीं रिश्तेदारी में गयी हुई थी. रिया बिल्कुल कुतिया बनी हुई थी।रमेश- तुम अब वापिस उठ सकती हो।रिया उठकर रमेश के पास बैठ गयी।फिर रमेश ने उससे पूछा- कैसा लगा रंडी बेटी ?रिया- डैड आप बुरा तो नहीं मानोगे ना, या मुझे गलत तो नहीं समझोगे? मुझे गलत मत समझना। जो तुमने अभी किया उसमें मुझे बहुत मज़ा आया। आज तक मैंने ऐसे केवल ब्लू फिल्मों में देखा था.

उन्होंने लंड को मेरे चूचों पर झटकते हुए कहा- कल रात तेरी चूत का भोग लगाऊंगा. उस समय शाम के साढ़े सात ही बजे थे और मैंने जल्दबाजी में ये सब कर दिया था. मेरे लण्ड में दर्द हो रहा था, मैंने सारा से कहा- दिलिया का निचला होंठ चूसो!इससे दिलिया की चूत ढीली हो गयी और अगले धक्के में लण्ड पूरा अंदर चला गया.

लगभग 1 मिनट तक मैं रुका रहा और फिर से धीरे-धीरे लिंग को अंदर डालने लगा.

इसके बाद वो मुझे अपने चूचे उठा कर दिखाने लगी और मुझसे पूछने लगी कि बता तो क्या मेरे ये बड़े दिखने लगे हैं. जैसे उन दोनों ने मुझसे वादा किया था कि वह मुझे और भी चूतें दिलवा देंगी. मैंने कोमलता से वसुन्धरा को बेड पर ले जा कर बिठा दिया और खुद नीचे क़ालीन पर घुटनों के बल बैठ गया.

मुझे पूरी रगड़ कर चोद … ये चूत की जलन मुझे बहुत तंग करती है अपना पेचकस मेरी गांड और चूत में घुसा घुसा कर मार दे मुझे!पवन अब और जोश में आकर मुझे चोद रहा था मैं तो अब खुद ही चाह रही थी कि पवन जोर जोर से धक्के लगा कर फाड़ डाले मेरी चूत को। सच में बहुत मस्त चुदाई हो रही थी मेरी। इतना सख्त लंड पहली बार मेरी चूत में था।लंड ने मेरी चूत को अपने हिसाब से खोल दिया था, अब मुझे चुदाई में तकलीफ नहीं हो रही थी. बड़े बड़े कबूतरों जैसे उसके स्तन देखकर मैं मदहोश हो गया और उन्हें चूमने, चाटने और चूसने लगा. मन्नत तो मानो जन्नत में पहुँच गयी थी क्योंकि बहुत दिनों के बाद किसी ने मेरी चूत चाटी थी.

रात के करीब दस बज गये थे और चलती हुई ट्रेन से ठंडी हवा अंदर आ रही थी.

नील- हां, सही कह रहे हो आप।राजवीर- तो हमें यह करना चाहिए कि तुम अपनी बीवी रकुल को अभी फोन करो और कहो कि होटल में तुम्हें किसी रईस ने देखा है और देखते ही वो तुम पर लट्टू हो गया है।उसे झांसा देते हुए कहो कि वो तुम्हें एक रात के लिये चोदना चाहता है और इसके लिए वो कुछ भी कीमत अदा करने को तैयार है. अब मीना को उसकी पति की याद नहीं सताती है और मैं भी उसे पाकर खुश हूँ.

एक्स एक्स वीडियो बीएफ हिंदी में मैंने बात बदलते हुए पूछा- संगीता, तुम अपनी बुर के बाल को साफ़ क्यों नहीं करती हो. अपने रूम की दुर्दशा और अपनी बेटी को अपने बेड पर नंगी पा कर तो वे मुझे मार ही डालेंगे.

एक्स एक्स वीडियो बीएफ हिंदी में थोड़ी ही देर में वो बहुत गर्म हो चुकी थी, जिसका अंदाज़ा भाभी की गीली चुत से मुझे हो गया. जब मैं पहुंचा तो रंजना पहले से ही अरहर के पौधों के बीच में खड़ी हुई मेरा इंतजार कर रही थी.

मैंने ही अब उन दोनों को अपने से अलग किया और हम तीनों एक-दूसरे के साथ उसी मस्ती में नहाए … जिस मस्ती और प्यार में हम तीनों चुदाई कर रहे थे.

फुल हॉट सेक्सी वीडियो

मेरे नंगे बदन को देख कर बोले- तुम तो पहले से भी ज्यादा सेक्सी हो गई हो!उन्होंने मेरी चूत पर अपने होंठ रख कर उसको चाटना शुरू कर दिया. मैंने हल्की सी सिसकारी ली, तो उसको पता चल गया कि मैं भी गर्म हो गयी हूँ और मैं भी मजा ले रही हूँ. उसके बाद आखिरी चुदाई बेड पर हुई जब भैया ने मेरी गांड के नीचे तकिया लगा कर मुझे चोदा.

चाची कामुक स्वर में बोलीं- चल ठीक है … आज तेरी चुदाई की गुरु बन जाती हूँ. क्या हो रहा है समझ में आने से पहले ही अंकल ने बड़ी आसानी से मुझे अपनी गोद में उठा लिया और मुझे लेकर बेडरूम के तरफ जाने लगे. वह हैरान थी कि मैं उसकी बात या उसका इशारा समझ पाया या नहीं?दरअसल वह मुझे इशारा कर रही थी कि आज मम्मी बाहर जाएंगी और मैं अकेली हूँगी, तो तुम आ जाना.

फिर मैं उसके दोनों हाथ को पकड़ कर अपने लन्ड को जबरदस्ती उसकी चूत में घुसाने लगा.

पापा ने मम्मी के ब्लाउज को निकाल दिया और उनके पेटीकोट को ऊपर कर दिया. वो मुझे ठोकते हुए बीच बीच में मेरे होंठ चूसता, मेरे चुचे चूसता, दबाता … जिससे मुझे थोड़ा आराम मिलने लगा. जब भी उसका पानी छूटता, अपने पेटीकोट से अपनी फुद्दी और लण्ड को साफ कर वापिस मेरे ऊपर आकर चुदाई में लग जाती.

मैं भी नीचे से कमर हिलाकर उनको साथ देने लगी और उनके सीने को दाँतों से काटने लगी. एक बार इशारा कर, तेरे लिये वो खुद तेरे सामने नंगी होने के लिये तैयार हैं।मैं उसे देखता ही रह गया लेकिन कुछ बोला नहीं। फिर कुछ देर तक वो अपनी नजर मुझ पर गड़ाये रही. कभी होटल में रूम लेजा कर चोदा तो कभी किसी सुनसान जगह पर क्विक फक किया.

खैर थोड़ी देर तक वो मेरी गांड को चाटने के बाद खड़ी हुई और बोली- अब ये चाटम चटाई बहुत हुई. वो कभी मुझे बिस्तर पर लिटा कर चोद रहा था, तो कभी सोफे पर घोड़ी बनाकर चोद रहा था.

मैंने उससे सीधे सीधे पूछ लिया- अगर कोई तेरी चुत चाटे, तो कैसा लगेगा तुझे?दीपाली- हां मुझे एक बार एक्सपीरियंस तो करना है. उसने धीरे से मेरे दोनों हाथ पकड़कर नीचे किए और रुमित से कहा- यार रुमित … अब तू कार चला ले … हम दोनों पीछे बैठते हैं … और आशना की शरम मिटाते हैं. मैं भी चुदाई करते हुए कभी एक हाठ से चाची की चूचियों को दबाता था।अब मैंने नई पोज़ बनाई जिसमें चाची को लेटे हुए ही रहने दिया और मैं चाची का एक पैर उठाकर दोनों पैरों के बीच बैठकर चुदाई करने लगा.

मैंने उनके पैरों को उनके पिंडलियों से दोनों हाथों से कसकर ऐसे पकड़ लिया, जैसे कि बाइक पर पकड़ा था.

दो मिनट किस करने के बाद भाभी बोलीं- ये अच्छा नहीं हो रहा विपुल … चलो सो जाओ, बहुत रात हो गई है. सोनल की पीठ पर चढ़ने के दौरान ही मेरा खड़ा लंड उसकी गांड की दरार को टच कर रहा था. मुझे देखते ही सुधा नीचे बैठ गई और मेरे लोअर को सरका कर मेरा लंड निकाल कर चूसने लगी.

अब दोनों 69 की पोज़िशन में एक दूसरे को चूस रहे थे और लंड चूत की चुसाई का मजा लेने लगे. सोनल के चूत चाटे जाने से राधिका जोरों से सिसकारियां भर कर रही थी- आह ओह मेरी ननद रानी … अह आह अह और जोर से चाट ले मेरी चूत ओह अ आह ओह.

मैंने पूछा- कौन है?चाची की आवाज आयी- मैं हूँ।मैंने दरवाजा खोला तो चाची सीधा अंदर आयी और बोली- वाह रे मेरे नंगे नौजवान!कंचन ने शर्मा कर चादर लपेट ली थी। चाची कंचन से बोली- शर्मा मत, लगता है मेरा सेवक तुम्हारी अच्छी खातिरदारी कर रहा है जो इतना शोर मचा रही हो।मैंने कहा- नीचे किसी ने सुना तो नहीं?तब चाची ने कहा- तेरे चाचा और दादाजी दोनों खाने का डिब्बा लेकर खेत में कब के चले गए. लेकिन जब भी हमें अकेले में वक़्त मिलेगा, तुम मुझे इसी रूप में देखोगे।मैंने कहा- ठीक है बाबा।मैंने गाड़ी एक मल्टीप्लेक्स सिनेमा हाल के सामने रोकी। उसे उतार कर मैं गाड़ी पार्क करने गया और मैंने दो कॉर्नर टिकट भी ले ली। हम हॉल में अपनी सीट पर बैठ गए. पहले तो मैं बात करने में संकोच कर रहा था मगर फिर जब थोड़ी बहुत बात हुई तो पता चला कि वह अपने मामा के यहाँ यानि कि हमारे पड़ोसी के घर रह कर ही पढ़ाई करेगी.

किस्मत बदलती देखी है

साथ ही साढ़े छह इंच लम्बे मस्त लंड का मालिक हूँ … और सेक्स में बहुत देर तक एक्टिव रहता हूँ.

इस बार मैंने अंकल जी को नयी नज़र से देखा जैसे कोई अपने होने वाले चोदनहार को देखे. उन्होंने मुझे बताया कि स्कूल प्रिंसीपल से बात करके देख लेनी चाहिए, शायद कुछ रास्ता निकल आये. तुम्हारे साथ फोन सेक्स करके इतना मजा आया, जब आकर तुमको चोदूंगा तो कितना मजा आएगा.

फिर मैंने कहा- दीदी, क्या मैं इन्हें चूस सकता हूँ?तो उन्होंने बड़े प्यार से अपना एक बूब मेरे मुंह के पास लाकर कहा- लो चूसो जितना चूसना है. मैंने एक कोचिंग क्लासेज में पढ़ाने का काम करना शुरू किया था, जहां बहुत खूबसूरत ख़ूबसूरत जवान लड़कियां पढ़ने आती थीं. बीएफ हिंदी में ब्लू फिल्म”बड़ी मुश्किल से चुदाई के नशे में धुत्त मैंने कपड़े पहने, रानी से पापा के लिए लिखा पत्र लिया और रानी को गुड़ नाईट कह कर साइकिल उठाकर घर चला गया.

रितेश छत के रास्ते मीरा से मिलने निकल पड़ा, उसने इस वक्त सिर्फ़ लुंगी पहनी हुई थी और ऊपर टी-शर्ट को डाला था. मैंने दोनों अप्सराओं को खींच कर अपनी तरफ करवट से कर लिया और आनंद पूर्वक आँखें मूँद के दोनों रानियों के गर्म गर्म शरीर का लुत्फ़ उठाता हुआ मीठी सी नींद में खो गया.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:पड़ोस की भाभी की गर्म चूत में मेरा लंड-2. कभी वह अपनी गर्म गर्म, मुखरस से तर जीभ टोपे पर घुमा घुमा के चाटती और कभी वह दुबारा जीभ को मोड़ के नोक लंड के छेद में घुसा के एक तेज़ करंट मेरे बदन में फैला देती. धीरे से मैंने शुभ्रा के माथे को सहलाया, उसने आंखें खोलीं तो मैंने पूछा- क्या बात है, सब ठीक तो है?मुझे घूर कर देखते हुए बोली- मेरी बुर चोदने का मजा तुम्हें मिला और सजा मुझे मिल रही है.

मैंने उसके रूकते ही कहा- बिल्कुल!उसने मोबाईल निकाला और अपने हस्बैंड से बात की और उधर बात होने के बाद मेरी तरफ अपनी आंखें भींचकर इशारा करते हुए ओके कहा. अब उसने भी हाथ से मेरे लोवर को नीचे कर दिया और साथ में अंडरवियर को भी सरका दिया. वो तो बस अपने मजे में मस्त थे।ससुर जी ने सुमीना यानि अपनी बेटी की चूत में अपनी पूरी जीभ घुसा रखी थी और बड़े ही मजे उसे खा जाने वाले तरीके चाट रहे थे.

उसने मेरा ब्लाउज़ उतार दिया उसने और उसके बाद अपने कुर्ता को हटा दिया.

उसी दिन शाम को जब मेरा दोस्त निकल गया और मुझे चाबी दे गया, तो मैंने विनीता को फ़ोन करके खुशखबरी सुनाई. इस पर मेरी जानू ने जवाब दिया- इसमें ख़ुशी किस बात की, मुझे अच्छा लगा तो तुम्हारे लिए ले लिया.

तो हुआ यूं कि एक दिन में बाहर गया था और पापा को उस दिन काम से छुट्टी थी तो वो घर पर थे. मैंने आज ब्लैक सूट डाला था और हल्की सा मेकअप किया था … मतलब लिपस्टिक लगा ली, झुमके पहन लिए, खुले बाल करके रखे थे. खाना खाने के बाद चाची बोलीं- तू गेस्ट रूम में चल, मैं बाबू को सुला कर आती हूँ.

मैंने चारों ओर की छतों पर नजर दौड़ाई, पर आस-पास की छत पर कोई नजर नहीं आया. मैंने घड़ी देखी, पौने-नौ बजने को थे और मुझे अभी डेढ़ सौ-पौने दो सौ किलोमीटर और दूर जाना था. अनिल भैया भी मेरी गांड से पूरी तरह से सुख लेना चाहते थे, तो मेरे को पूरा तड़पा रहे थे.

एक्स एक्स वीडियो बीएफ हिंदी में फिर मैं उसके दोनों हाथ को पकड़ कर अपने लन्ड को जबरदस्ती उसकी चूत में घुसाने लगा. नील- चिंता मत करो जान, इतना तो मैंने भी इस आदमी को समझ लिया है। कुछ भी गलत नहीं होगा, अब मैं फोन रख रहा हूं.

बीयर पीने का सही समय

उसके बाद नम्रता कोने की दीवार से सटकर खड़ी हो गयी और मैं उससे सटते हुए उसके होंठों को पीना शुरू कर दिया. तो मित्रो, मेरी यह कहानी … आपको कैसी लगी इस बारे में जरूर कमेंट्स दीजियेगा और नीचे लिखे मेल एड्रेस पर भी मेल कीजियेगा, आप लोगों के सन्देश मुझ तक पहुंच जायेंगे. करीब रात 11:30 बजे उसका फोन आया और उसने कहा- तुम जल्दी आ जाओ, सब सो रहे हैं.

सुधा ने अपनी सहेली से कोने में से बाहर आने दिया और उसी को बाहर खड़ा कर दिया. हालांकि राजेश हूं हूं कर रहे थे, लेकिन मैं अन्जान सी बनी हुई उनके लंड को चूसे जा रही थी और उनका जिस्म अकड़ता ही जा रहा था. सुंदर लड़कियों की बीएफतू क्या देख रहा था?मैं- बहन की लौड़ी, जो तू मुझे करते हुए देख रही थी.

थोड़ी देर बाद वो थोड़ा ऊपर की तरफ उठा और मेरे दोनों पैर ऊपर उठा कर उसने ज़ोर ज़ोर से धक्का देना शुरू कर दिया.

लंड अंदर जाने के बाद मोनी अपना मुंह कस कर भींचा हुआ था मगर फिर भी उसके मुंह से एक ऊह्ह् की सी हल्की कराह निकल गई. एक पल के लिए तो मैं भी हैरान हो गया था कि अचानक से इस औरत को ऐसे क्या हो गया.

आअह्ह ह्ह चोद दे बेबी … जोर जोर से चोद माय स्वीट बेबी … फ़क मी आअह उफ्फ!”वंश मुझे धकापेल चोद रहा था और मेरे होंठों में किस भी कर रहा था. फिर भी यह मानता ही नहीं और हर समय किसी से लिपटने की चाह रखता रखता चाह रखता रखता है, और नीचे यह निगोड़ी चूत हर वक्त लंड के लिए लपलपाती रहती है. मौसी ने अपनी आंखें बंद की हुई थीं और वे सांसों को कंट्रोल करने की कोशिश कर रही थीं.

अंकल मेरे स्तन मसल रहे थे और मुझे किस कर रहे थे, इस वजह से मेरी कामवासना भड़कने लगी थी.

डॉक्टर जूली ने चेक-अप के बाद प्राथमिक जांच में बताया था कि चुदाई करते वक्त लंड की नसें नीचे दबी रह गई होंगी शायद इसीलिए लंड सामान्य स्थिति में नहीं आ रहा है. उसके दाने को होंठों के बीच फंसा कर लॉलीपॉप की तरह चूस रहा था मैं।मुझे तो पता ही नहीं चला कि कब मेरे दांत उसकी चूत के उभारों को काटने लगे, वासना इतनी प्रबल हो रही थी कि मैं उसकी चूत को खा जाना चाहता था. मैंने हैरत से देखते हुए ऐसे इजहार किया जैसे उसका लंड को बड़ा लम्बा समझ आया था.

सी वीडियो बीएफ एचडीयह काम की वासना से लिप्त दास्तां आपको कैसी लग रही है इसके बारे में अपनी राय देते रहें. ऐसा तो होना ही था, पर न तो अनिल भैया को इस बारे में कुछ पता था … न ही मुझे.

2021 की सेक्सी फिल्में

मेरे पूछने पर दीपिका ने बताया कि संजना और वो कॉलेज की सहेलियां हैं और अब शादी के बाद दोनों इस शहर में अपने पतियों की जॉब के कारण यहाँ आ गईं, दोनों के हस्बैंड एक ही ऑफिस में हैं. मगर जो मज़ा उसके छूने में था, वो मुझे खुद हाथ से करने में नहीं आ रहा था।अगले दिन मैं कॉलेज गई, उससे मिली भी … हम दोनों अब और भी करीब आ गए थे। कॉलेज में भी जब कहीं मौका मिलता हम एक दूसरे को किस करते, वो मेरे मम्मे बहुत दबाता। बल्कि एक बार तो मैंने उसके ज़ोर देने पर उसे अपने मम्मे बाहर निकाल कर भी दिखाये. ”अंकल अपनी पहली चढ़ाई कर चुके थे, उन्होंने मेरी कमर को पकड़ के मुझे बेड के किनारे के एकदम करीब खींचा और मेरी चुत में किस की बारिश शुरू कर दी.

पर मैंने भाभी को थोड़ी दूर जाकर ही पकड़ लिया और भैया को वहीं पड़े दीवान पर लिटा दिया. तो उसके लिए उसमें इतना दम कहाँ है? ओह … प्रेम! उसका नाम लेकर मेरा मूड अब खराब मत करो. मेरी उंगली करने की प्रक्रिया को गांड उठा उठा कर मेरा साथ दे रही थी.

उसने चूत पर लन्ड सटाते हुए एक ही झटके में लन्ड मेरी चूत में घुसा दिया. वो आई-पिल दिखाते हुए बोली- तुम बस जो चाहते हो, खुल के करो मेरे साथ, अब मैं सिर्फ तुम्हारी हूँ। तुम मेरे लिए पति से भी बढ़ कर हो।अपनी बड़ी बहन को ऐसा बोलते देख मैं उत्तेजित हो गया। मैंने उसे अपनी तरफ खींचा और उसके होंठों पर होंठ रख दिए. मेरी परमिशन मिलते ही उन्होंने मेरी पैंटी खींच कर मेरे पैरों से उतार भी दी, मैंने शर्म से अपनी जांघें भींच लीं.

फिर खुद ही झुक कर अपना खूबसूरत एक स्तन मेरे मुँह में दे दिया और कमर चलाने लगी. आशीष भी जब पहली बार मुझे मिला था तो उसको भी मेरी नाक बहुत पसंद आयी थी.

प्रतिभा ने कहा- अच्छा तो ये बताओ … दोपहर को बैचलर पार्टी के लिए बुलाई गई रंडियों के साथ ऐश करते समय जनाब को हमारी याद नहीं आई.

तुम्हारे साथ फोन सेक्स करके इतना मजा आया, जब आकर तुमको चोदूंगा तो कितना मजा आएगा. बीएफ इंग्लिश वीडियो पिक्चरअब उस आदमी ने अपना लंड भाभी से चुसवाया और इसके बाद सीधे होकर उनकी बुर में लंड पेल दिया. सेक्सी वीडियो प्ले बीएफमुझे रोटी देते समय मां को कुछ ज्यादा ही झुकना पड़ रहा था, तो मुझे उनके गोरे, कड़क स्तन दिख रहे थे. फिर क्या था, नम्रता एक बार फिर बिस्तर पर लेट गयी और अपने कूल्हे को फैलाते हुए मुझसे इशारा करते हुए फोन में बोली- मेरे राजा मैंने अपनी गांड का मुँह खोल दिया है.

”अंकल ने मेरी पीठ की मालिश करनी शुरू कर दी, अपना हाथ मेरी गर्दन से कमर तक घुमा रहे थे और वही प्रक्रिया अपने होंठों से भी दोहरा रहे थे.

फिर मेरे दिमाग में एक आइडिया आया कि क्यों ना एक तीर से दो निशाने लगाए जाएं. जैसे ही पैंटी मेरी बदन से अलग हुई, शर्मा सर ने उसे मेरे हाथों से छीन कर अपनी जेब में डाल लिया. हालांकि अपने लंड मैं काफी देर तक मसलता रहा, जिसके कारण लसलसा लगने लगा था.

और अआअ आअ आह हहह अअअ अअह हह करके अपनी बेटी सुमीना के चूचों पर ही निढाल हो कर लेट गये. मैंने भी साफ साफ शब्दों में बात करते हुए सर से कह दिया- सर आपको जो कुछ रूपया पैसा जितना भी चाहिए आप मुझे कह सकते हैं. मैं छटपटा कर उनको मुझसे दूर धकेलने का प्रयास कर रही थी, पर उसकी वजह से उनका मूसल और अन्दर घुस रहा था.

सेक्सी मराठी शॉट

उसने तुरंत ही मेरा लंड अपने हाथ में पकड़ा और मेरे लंड को देखकर बोली- बाप रे समीर. मैंने शलाका को भी कह दिया- मेरी तरफ और थोड़ी खिसक जाओ, नहीं तो नीचे गिरने का डर रहेगा. वसुन्धरा कुछ समझी या नहीं समझी … पता नहीं लेकिन उसने इस बात का विरोध बंद कर दिया.

नेहा रोहित के पास न जाने पाये और बिन्दू किसी भी बाहरी लड़के या आदमी से न मिले.

डॉक्टर ने लण्ड को रूमाल से साफ़ किया और फिर पकड़ कर ऊपर नीचे और घूमा कर मुयायना किया और बोली- आमिर, चुदाई के दौरान अंदर की कुछ नसें दब गयी हैं जिससे लण्ड अब बैठ नहीं रहा है.

और फिर दिलिया ने अपनी बोलने की स्पीड बढ़ा दी और हम उसी स्पीड से चुदाई में लग गए. उसने भी लंड को हाथ से पकड़ लिया और मुँह में भरने की कोशिश करने लगी. मुसलमानी बीएफ वीडियोयह सुन के वो जोर जोर से हंसने लगीं और बोलीं- साले चूत तो ऐसे चाट रहा था, जैसे रोज चाटता है और बोल रहा है चोदना सिखाओ.

वहीं हीना की चूत को बड़े लंड की रगड़ और जवानी का भरपूर प्रसाद मिल रहा था. नीता भी मचलने लगी कि कैसे पटेगा वो मुझसे?पिंकी इठलाते हुए बोली- पता नहीं … फिर भी मैं उससे बात करके देखूँगी?नीता- चल … अभी वो ऊपर है, चल अभी बात करते हैं. हम दोनों ने घर का एक भी कोना ऐसा नहीं छोड़ा था, जहां पर हमने चुदाई न की हो.

लेकिन दोनों में चुदाई की भूख इतनी बढ़ गयी थी कि वो अब ज़्यादा समय तक अकेले मिलना चाहते थे और सेक्स का मज़ा लेना चाहते थे. कुछ देर चूसने के बाद वह उठ गयी और बोलने लगी कि बहुत हो गया अब मुझे रोटी बनाने दो.

पांच मिनट तक किसिंग करने के बाद मनीषा ने उठने का इशारा किया और बोली- मनोज आ जायेगा, हमें उठ जाना चाहिए.

उसे नहीं पता था कि मैंने कामवर्धक गोली खा रखी है और मेरा लंड दो घण्टे तक नहीं बैठेगा. इसके बाद मैंने उसी पोजीशन में पीछे से लंड उसकी चुत में घुसा दिया और ज़ोर ज़ोर से चोदने लगा. तुषार बोला- क्यों फट गई क्या … बस अभी से डरने लगीं … अरे मेरी जान कुछ नहीं होगा.

नौकर और मालकिन की बीएफ फिल्म ”मैं कमरे में आयी लाल साड़ी में पूरी सजी हुई, सोफे पे बैठ गयी। उपिंदर मेरे पास आया, अंशु फ़ोटो लेने लगी। मम्मी मेरे पीछे खड़ी थी।मम्मी आप साड़ी में जंच नहीं रही!”ठीक है मैं बदल के आती हूँ. मैंने उसकी टांगों के बीच एक पुराना तौलिया बिछा दिया, ताकि मेरा बिस्तर खराब न होने पाए.

मीरा घोड़ी की पोजीशन में आ गई और बोली- आज दिखा दो अपना दम डॉक्टर … मेरी चुत को आज तुम अपने लंड का गुलाम बना दो. मैंने वसुन्धरा के सामने खड़े हो कर वसुन्धरा के लहंगे के नाड़े को जैसे ही खोला, वसुन्धरा ने फ़ौरन अपनी आँखें खोल ली और सवालिया निगाहों से मेरी ओर देखा. मुझ पर अपनी नजर गड़ाते हुए बोली- पागल है तू? जो मैगजीन में लड़कियों को नंगी देख रहा है और बुर-चूत की कहानी पढ़कर मुठ मार रहा है? जबकि तेरे ऊपर तो कितनी ही लड़कियां पागल हैं.

हीरोइनों का सेक्स वीडियो

दोस्तो, बिहारन चन्द्रा भाभी को मैंने किस तरह से चोदा और उन्हें चुदाई से पहले अपने सपनों में चोदने की कहानी सुना कर मजा दिया … ये सब मैं आपको इस सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूंगा. मैं जानती हूं कि काफी दिन से मेरी कोई सेक्स कहानी नहीं आई है जिस वजह से आप सभी के लंड तने हुए हैं. रिश्तों में चुदाई की इस गर्म कहानी में अब तक आपने पढ़ा कि मैं, मेरी बीवी, मेरी बहन, मेरी साली … हम चारों नंगे होकर चुदाई के समय को बढ़ाने वाली औषधि ले चुके थे और अब हम चारों ने ब्लैक डॉग के पटियाला पैग उठाते हुए आज की चुदाई की सफलता के लिए जाम टकरा दिए थे.

देस बदलेंगे … काल बदलेंगे, जिस्म बदलेंगे … नाम बदलेंगे लेकिन आदम और हव्वा की एक-दूसरे के लिए प्यास का ये खेल यूं ही अनवरत चलता रहेगा … शायद सृष्टि के अंत तक. खैर थोड़ा तिकड़म लगाने के बाद मैंने भी धीरे-धीरे धार छोड़ना शुरू कर दिया, जिसको नम्रता ने पूरी तरह पी लिया और मेरे सुपारे को चाटने लगी … लंड को मुँह में लेकर प्यार करने लगी.

चूंकि रंजना के साथ संभोग करने का यह मेरा पहला अनुभव था इसलिए लिंग चुसवाने और योनि चाटने का मेरा मन नहीं किया और न ही मुझे उसके आनंद के बारे में कोई ज्ञान था.

जब वो फिर से जरा सा नार्मल सी लगी, तो मैंने उससे कहा- बस हो गया सरिता, अब मजा आएगा. मनीषा के साथ इतना सब कुछ होने के बाद अब मैं उसको चोदने के बारे मैं प्लान करने लगा. और कमला चाची भी हमारे घर को‌ अपना‌ मानकर कोई भी जरूरत पड़ने पर मेरी मम्मी-पापा से ही कहती है।मोनी के ससुराल के बारे में मुझे ज्यादा कुछ तो नहीं पता, बस इतना ही पता है कि मोनी की शादी पास के ही गाँव में हुई है.

केवल चूत की चुदाई की थी। दोनों संतुष्टि वाली चुदाई करके सो गए। फिर मैं सुबह 4:00 बजे के अलार्म बजने का इंतजार करने लगा. मैंने वसुन्धरा की आँखों में झांका, आँखों में बेहिसाब ख़ुशी, बेइंतहा प्यार और कुछ-कुछ डर के अहसास छलक रहे थे. मैं उत्तेजनावश उसके दोनों चुचूकों को बारी बारी से अपने दांतों से काटने लगा था.

इतने में उन्होंने मुझे फिर सीधा किया और मेरे मुँह में लंड देकर रस झड़ा दिया.

एक्स एक्स वीडियो बीएफ हिंदी में: मैंने पूछा- तुम्हारी चूत इतनी कसी हुई कैसे है?वो बोली- तुम्हारे भाई ने मेरे साथ कुछ किया ही नहीं है. मैं उसको ये पता नहीं लगने देना चाहती थी कि मेरी चूत में मेरे जीजा का लंड जा रहा है.

मैंने देखा कि उनके बूब्स साफ दिखाई दे रहे थे लेकिन दी के निप्पल देखने में थोड़ी परेशानी हो रही थी. करीब 5 मिनट तक मैं उसके ऊपर ऐसे ही पड़ा रहा, लंड को जरा भी हरकत नहीं दी. इससे पहले मैं उसकी चूचियों को भर नजर देख पाता, वो अपनी चूचियों से खेलने लगी.

मैंने दीदी को बड़ी हैरानी से सुन रही थी और दीदी बोले जा रही थी- फिर मैं अपनी पूरी ताकत लगा कर पीछे मुड़ी और देखते ही बिल्कुल अवाक रह गयी … और शर्म से पानी पानी हो गयी.

अब मुझे उनकी पत्नी के सामने बहाना बनाना पड़ा कि मैं उनके घर पर चीनी लेने आई थी. इसकी हाइट लगभग साढ़े पांच फीट की थी, वो थोड़ी मोटी पर बहुत हॉट लेडी थी. तभी मेरे मन में आया कि अगर मैंने बॉस की बात नहीं मानी तो वे कुछ दिनों में मुझे नौकरी से निकाल देंगे.