ब्लू पिक्चर बीएफ हिंदी सेक्सी

छवि स्रोत,बदायूं की सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ फंक्शन: ब्लू पिक्चर बीएफ हिंदी सेक्सी, आंटी हंसते हुए- तू शरारती हो गया है, अरे जवान लड़की के तो मुझसे भी अच्छी होगी, मेरे बूब्स अच्छे लगते हैं?जब आंटी ही इतनी फ्रेंक हो रही थी तो मैं भी फ्रेंक हो गया और मैंने कहा- आंटी आपके बूब्स बड़े हैं, और काफ़ी नर्म हैं.

हिंदी सेक्सी पिक्चर बीपी वीडियो

गद्दे लगाते वक़्त मैंने मेरा गद्दा साहिल के थोड़ा करीब लगाया था क्योंकि मुझे रेशमा को देखने की चाहत थी और मेरी चालाकी को रेशमा ने शायद भांप लिया था. एक्स न्यू सेक्सी वीडियोमेरे बदन का साइज़ 34 28 38 है, मेरे बूब्स बड़े और टाइट हैं मेरी गांड काफी बाहर निकली हुई है जिसे देख कर सबका लंड खड़ा हो जाता है.

उसे भी बहुत मजा आ रहा था और मुझे भी।उसने कहा- प्रमिला, तेरे चूचे तो काफी बड़े हैं. सेक्सी वीडियो इंग्लिश पिक्चर देखने वालाइसी लिए वो इतने गुस्से वाले हैं।सुमन- ओह गॉड ऐसा भी होता है सॉरी दीदी, मुझे पता नहीं था। मैंने ऐसे ही आपको बोलने को मना किया, मगर पापा के साथ ये हो रहा है.

तभी एकदम से मुझे छींक आ गई और भाभी झट से दरवाजा खोल कर भर आ गई।मुझे देख कर बोली- रोहन, इस वक़्त यहाँ? कुछ काम था?मैं- नहीं भाभी, काम नहीं था, वो बस मुझे नींद नहीं आ रही थी और बेचैनी सी हो रही थी तो मैंने सोचा कि छत पर चल जाता हूं थोड़ी देर!भाभी- ओह्ह ऐसी बात है क्या!मुस्करा कर बोली.ब्लू पिक्चर बीएफ हिंदी सेक्सी: कल तो सब होंगे गांड में लंड जाएगा तो तुझे दर्द होगा और तू चिल्लाएगी, तो सबको पता लग जाएगा।मोना- नहीं काका.

मैं अधनंगी थी और अपने स्तनों को देखने लगी… फिर मैंने रोहन की तरफ देखते हुए उसे कहा- रोहन, बहुत शरारती हो गया है तू?और फिर हम दोनों हँसने लगे।हम दोनों अभी भी गीले थे… रोहन मेरे पास आया और मेरे मम्मों पर एक चुम्मी देते हुए मेरी पैंटी को भी उतार दिया… मेरी नाइटी, ब्रा और पैंटी वही जमीन पर पड़ी हुई थी… मैं बिल्कुल नंगी रोहन के सामने खड़ी थी और फिर रोहन टॉवल लेकर मेरे नंगे शरीर को पौंछने लगा.माँ से इतना आनन्द और दर्द सहन नहीं हो रहा था, वो आहें भर रही थी- ऊऊऊह्ह्ह… आआह्ह… अब मजा आ रहा है, और चोद… ज़ोर से चोद… फ़ाड दे इस हसीन चूत को… अपनी माँ की मस्त चूत की कसम, तुमने मुझे मस्त कर दिया हइइई… क्या मजा आया, आज तक नहीं आया ऊऊउउइई… तुम दोनों ने तो मुझे ज़न्नत में पहुंचा दिया.

सेक्सी इन बस - ब्लू पिक्चर बीएफ हिंदी सेक्सी

रात को पार्टी में नाचा गाना किया होगा, जिससे थकान होकर बुखार आ गया। अलमारी से दवा निकाल कर दे दो.वो कभी अपने मम्मों पे खुजाती, तो कभी नीचे चुत पर जिसे मॉंटी ने भी देख लिया.

मेरा नाम सिमरन है, मैं 24 साल की एक घरेलू लड़की हूँ, रंग एकदम मिल्की वाईट, पतला शरीर लेकिन बहुत ही बढ़िया फिगर है पतली कमर और बड़े बड़े बूब्ज़, 36-28-34 हाईट 5’5″, मैं बहुत ही सेक्सी लगती हूँ, ऐसा मुझे बहुत से लोग बोल चुके हैं. ब्लू पिक्चर बीएफ हिंदी सेक्सी तब तक वह नहा कर कपड़े सुखाने बाहर आ गई थी, उसके गीले बालों से पानी उसके उरोजों पर टपकते हुए उसके शर्ट के अंदर से शायद उसकी चूत तक बह रहा था.

वो मैं बाद में बताऊँगा।फिर हम दोनों शाम का इंतजार करने लगे। दीदी ने सुनील को फोन करके सब प्लान बता दिया.

ब्लू पिक्चर बीएफ हिंदी सेक्सी?

मम्मी पापा, बाजू वाले शर्मा जी का ऑपरेशन हुआ था तो जिला अस्पताल में उन्हें देखने गए थे. चाचा ने कहा- भाईजान को पता है कि तुम्हें उनके पूरे कारनामें पता हैं?तो अम्मी ने कहा- हाँ पता है!फिर चाचा ने कहा- फिर तो उनको तुम्हारे बारे में भी पता होगा?अम्मी ने कहा- फरहान को अब तक मेरी चुदाइयों के बारे में नहीं पता है पर सुहागरात की रात को चोदते वक्त उन्हें शक तो हुआ था पर मैंने बहाना बना दिया था. हमारा मजाक इतना होता था कि जब भी मैं अपने बॉस का खाना लेने जाता तो मैं उनसे मजाक में बोलता था- आपके पापा ने खाना मंगवाया है.

मैंने अपनी आंटी के घर उनकी किरायेदार भाभी को देखा और समझ गया कि भाभी का सेक्स का मूड है, ये भाभी चुदाई करवा लेगी. स्वाति मुझे अपने पति से भी मिला चुकी थी क्योंकि हम दोनों अच्छे दोस्तों की तरह ही थे, कभी किसी के मन में कुछ गलत नहीं था. उन्होंने टीवी बंद करके मुझे आवाज़ दी, मैं कुछ न बोला… थोड़ी सी आँख खोल कर देखा तो चची ने अपनी चूत पर हाथ रखा, फिर आकर मुझे हिलाया, फिर भी मैंने कुछ रेस्पॉन्स न दिया.

जब रहा नहीं जाता तो ब्लू फिल्म अपने मोबाइल में डाउनलोड कर के देख लेता और बाथरूम में जाकर मुठ मार लेता. जब तक उसकी माँ किचन में काम करती रहीं।उसकी माँ किसी काम से कमरे में आ जातीं तो हम दोनों अलग हो जाते और जैसे ही वो किचन में जातीं तो किसिंग चालू हो जाती। उसके चूचुकों पर हाथ फेरना चलता रहता। मैंने उल्टे हाथ से उसके दाएं हाथ को पकड़ा और अपने पजामा के अन्दर डाल दिया। वो पॉर्न देखने में मस्त थी. मेरी फट गई और मैं अंदर आ गया पर उसे इस रूप में देख कर अपने आप को मुठ मारने से न रोक सका.

माँ मेरे ऊपर चढ़ गई और मेरे लंड को अपनी चूत में डलवा लिया और मुँह से सीई आह्ह अह्ह्ह शुरू कर दी. लगता था कि आज तो ये सख्त हुए चूचे थोड़े तो मुलायम हो ही जायेंगे, निप्पल भी हवस की तेज़ी में ऐंठ गए थे जैसे राजे का लौड़ा ऐंठा हुआ मेरी चूत की खबर ले रहा था.

इस तरह हम पूरे जोश में लगभग तीस मिनट चुदाई करते रहे, फिर वो थकने लग गई थी क्योंकि वो दो बार झड़ गई थी.

मैंने उसके पीजी में भी उसकी चुदाई की और कई बार अपने दोस्तों के कमरे पर भी हम दोनों ने प्रोग्राम लगाया.

मैंने उसके बदन के हर हिस्से को खूब चूमा…यह थी मेरी पहली चुदाई… उम्मीद है आपको पसंद आई होगी… मुझे मेल करें![emailprotected]. ’ कहते हुए बहाने से आभा का हाथ चूम ही लिया।उसने भी आँखें नचा कर अपनी तारीफ स्वीकारी और कहा- लेकिन खाना तो हम दोनों ने मिल कर बनाया है।उसके इतना कहते ही मैंने कल्पना के हाथ को पकड़ना और चूमना चाहा पर कल्पना ने अपना हाथ हटा लिया और एक अदा के साथ कहा- जरा रुकिये जनाब. रानी की चुदाई देखकर मुझे भी जोश आने लगा और मुझे भी सब्र नहीं हुआ तो मैं बैठ गई और चिंटू को भी मेरी चूत में लंड डालने के लिये बोलने लगी.

जॉय की बात ममता को समझ आ गई फिर जॉय ने कहा- डॉक्टर की ज़रूरत नहीं है. इसका उपयोग मैंने कसरत में किया। मैं रोज सुबह दौड़ने जाता था एक योग शिविर अटेन्ड कर लिया था. बार बार तुनके मारते लंड ने खूब ढेर सारा लावा सुल्लू रानी की चूत में उगल दिया.

ये सोच कर वो अन्दर जाकर सो गई।दोस्तो, टीना को शाम को संजय ने एक बुक दे दी थी, उसके हिसाब से टीना को आगे का खेल खेलना था, जिसकी शुरूआत उसने कर दी।वो सीधी रात को सुमन के घर चली गई।सॉरी आपको में बताना भूल गई अब इत्तफाक कहो या कहानी की जरूरत, टीना की मॉम को घर शिफ्ट करना पड़ा और उनका नया घर सुमन के घर से बस कुछ ही दूरी पे था।टीना- नमस्ते आंटी जी.

उसके बाद मैं उठा, अब हम दोनों पूरे नंगे हो गये, मेरा लंड पूरा टाईट था तो मैडम लंड देखकर बोली- साले कमीने, तेरा कितना बड़ा है?मैंने कहा- हाँ, यह आपके लिए ही है. नाश्ता करने और चाय पीने के बाद उन्होंने हमारी एक बार और गांड को चोदा हम दोनों को घर तक छोड़ा. गीता रामू काका की गोद से उठी और मेरी तरफ बढ़ी, उसकी साड़ी का पल्लू नीचे फर्श पे लटक रहा था.

नींद नहीं आ रही थी तो तुझे कॉल किया।मैंने पूछा- क्या हुआ सब ठीक तो है ना? तो इस पर प्रीति बोलने लगी- ज़्यादा बनो मत भाई. मैंने तुझे कसम दी है और वैसे भी उस बाबा ने (इमेजिन वाला रोल प्ले वाला बूढ़े को बाबा से संबोधित किया जा रहा था) तुझे इतना मजा दिया है तो क्या तुम्हारा फर्ज नहीं है कि तुम भी इस बेचारे बूढ़े पर भी दया करो।संजना भी कैरेक्टर में घुस कर बोली- ठीक है बेचारे बूढ़े बाबा ने बहुत मेहनत की है, उन्हें इसका फल मिलेगा।संजना इसी हालत में उठी और पलंग पर बैठ कर बोली- ऐ बाबा. मेरा लंड बहुत कड़क हो चुका, था भाभी का हाथ लगते ही और कड़क हो गया।फिर भाभी मेरा लंड निकल कर हिलाने लगी और बोली- बहनचोद, तेरा लौड़ा तो घोड़े जैसा है, आज तो मैं जन्नत की सैर करूँगी.

मैंने अपनी जीभ उनके पावरोटी जैसी चूत पर लगा दी और वो शराब को धीरे-धीरे से अपनी चूत पर गिराने लगी.

लेकिन उस दिन भी मैंने उसकी यूज्ड ब्रा-पेंटी को टच नहीं किया।मैं तो ये सोचते बहुत खुश था कि मेरी सिस्टर भी मुझसे सेक्स करना चाहती है। ऐसा सोच कर मैंने मुठ मार कर खुद को शांत कर लिया।शनिवार की शाम को भी नीनू मुझे निराश दिखी. लंड पर बाल बिल्कुल नहीं होते हैं। मेरे लंड के हिस्से की स्किन एकदम चिकनी और कोमल रहती है, तो बुआ बड़े मज़े से लंड के नीचे चूम रही थीं।बुआ के होंठ ऊपर उठे और मेरे लंड पर आ गए। वो देखकर खुश हो गईं, मेरा लंड 6″ है।‘वाह जतिन इतना प्यारा लंड.

ब्लू पिक्चर बीएफ हिंदी सेक्सी कमरे में हल्की सी रोशनी, पर्फ्यूम की खुश्बू और बेड पे रज़ाई पड़ी हुई थी. उसके बदन का साइज़ 34-32-38 था।फिर मैंने उसके ब्लाउज को हटा दिया उसने नीचे लाल रंग की पारदर्शी ब्रा पहन रखी थी। अब मैं उसके पूरे शरीर को अपनी जीभ से चाटने लगा, कभी उसकी गर्दन तो कभी उसकी नाभि तो कभी उसकी बाँह को…फिर मैंने धीरे से उसकी ब्रा को अलग किया और उसके 34 साइज़ के चूचों को मसलने लगा और उसके बूब्स पर अपना मुँह लगा दिया और उसके बूब्स पीने लगा.

ब्लू पिक्चर बीएफ हिंदी सेक्सी पहले तो उसने 1-2 बार मना किया लेकिन फिर लंड के टोपे पर अपनी जीभ लगाने लगी। उस वक़्त ऐसा लग रहा था मानो अगर दुनिया में कही जन्नत है तो वो यही है।वो लंड को अपने मुँह में लेने से डर सी रही थी. मैं कुछ बोलती, उससे पहले ही रोहन ने मेरे होंठों को चूमना शुरू कर दिया… फिर रोहन ने मेरी नाइटी को खोलकर उतार दिया।मैं बस ब्रा और पैंटी में ही खड़ी थी.

अब मैं हमेशा तुम्हारी रहूँगी।उसने मुझे होंठों पर लंबा सा किस दिया और उठ कर बाथरूम में चली गई।तो साथियों कैसी लगी मेरी आंटी की चुदाई की सेक्स स्टोरी.

गंदी गंदी फिल्म

उसने झट से गोपाल को किस करना शुरू कर दिया और अपने हाथ उसकी पीठ पर घुमाने लगी। गोपाल भी उसका साथ देने लगा। अब वो भी मोना के मम्मों को दबाने में लग गया। वो कभी उसके बालों को सहलाता. मैंने अपनी ब्रा पेंटी सोफे पर ही रख दी थी कि जब जीजू आये तो उनकी नजर मेरी ब्रा पेंटी पर पड़े!शाम के करीब 3:30 बजे मेरे घर की बेल बजी, मैं समझ गई कि जीजू ही होंगे… मैंने जैसे ही घर का दरवाजा खोली तो सामने जीजू ही थे. मजबूरी है।मैंने पूछा- बच्चा क्यों नहीं हुआ?तो भाभी ने कहा- मैं हमेशा कंडोम से करवाती हूँ.

वो मेरे पास आई, हम दोनों एक दूसरे के चेहरे की तरफ देख रहे थे, वो मेरे पास झुकी और मेरी जांघ पर उसने आसन लगाया. मैंने झट से भाभी की पेंटी को अपने दांतों से खींच कर निकाल ली। भाभी ने शर्मा कर पलटी मारी। उन्होंने जैसे ही पलटी मारी. भाभी को मादक निगाहों से देखना, उनके सामने अंडरवियर में जाना, थोड़ा बहुत लंड हिलाना आदि.

मैंने जिप खोल कर लन्ड बाहर निकाल लिया तो भाभी मेरा लन्ड सीधे अपने मुँह में डालकर हिला हिला कर जोर जोर से चूसने लगी.

उसने एक ही झटके में अपने कपड़े निकाल फेंके, अब उसका 6″ का लंड आज़ाद मोना को घूर रहा था।राजू के लंड को देख कर मोना को ख़ुशी नहीं हुई वो किसी बड़े लंड की चाहत कर रही थी. मैंने जल्दी से उधर अपनी दो उंगलियां डाल दीं।तो आंटी सेक्स की मस्ती में कराह का थोड़ी सी हिलने लगीं और मेरे हाथ को धकेलने लगीं, तो मैंने और जोर से उंगली को अन्दर कर दिया।फिर थोड़ी देर बाद आंटी अपनी गांड हिलाने लगीं. तभी मौसी मेरे लिए मिल्क शेक बना के लाई और आते ही उनकी नजर मेरे पैंट के उभार पर गई, वो थोड़ी हंस दी, मैं शर्मा गया.

जिससे पूजा की सिसकी निकल जाती।लगभग दस मिनट ये खेल चला। अब संजय चरम पर आ गया था। इधर पूजा भी बहुत ज़्यादा उत्तेजित हो गई थी।पूजा- आह आह. उसने मेरे पैर अपने कन्धों पर रख लिए और दोनों अंगूठे मुंह में लेकर चूसने लगा. पतिव्रता बीवी की चुदाई गैर मर्द से करवाने की तमन्ना-5अब तक आपने मेरी बीवी की चुदाई स्टोरी में पढ़ा था कि मेरी बीवी संजू ने गुप्ता जी के लंड के आगे वाली चमड़ी को पीछे किया, पीछे करते ही एक अजीब सी दुर्गंध पूरे कमरे में फैल गई।अब आगे.

वैसे तो टीना भी उससे मिलना चाहती थी क्योंकि आज उसके नहीं आने का कारण उसको पता था कि हो ना हो. ’तभी टीटी आया तो मैंने टिकट चैक करवा लिया और इसके बाद मैं कम्बल ओढ़ कर सो गई। उसने लाइट ऑफ की और वो भी अपनी बर्थ पर सो गया।अचानक रात को 12 बजे के लगभग मुझे लगा कि मेरे कम्बल के अन्दर कुछ है। मैंने देखा कि वो एक हाथ था जो कि मेरे पास आ रहा था। मुझे पता चल गया कि ये वो ही है। फिर भी मैं जानबूझ कर उसके हाथ के पास को हो गई। उसने मुझे छू लिया.

तब तक अन्नू बाथरूम से कपड़े बदलकर आ गई और फिर स्वाति के रूम में चली गई।अब मैं और रोहन ही रूम में बचे थे, रोहन ने अन्नू के जाते ही गेट को लॉक कर दिया और मेरे हाथ से टॉवल लेकर बिस्तर पर फेंक दिया. तुम अन्दर ही बैठो, मैं अभी आती हूँ।अब कहानी में ट्विस्ट आने वाला है दोस्तों तो जल्दी से मुझे इस चुदाई की कहानी पर मेल लिखो।[emailprotected]कहानी जारी है।तेरा लंड टेड़ा है पर अब मेरा है-3. खैर रामू काका और गीता ने मिल कर खाना बनाया, खाया हम तीनों ने, क्योंकि मुझे खाना पकाना नहीं आता था.

तो उस वक्त मैंने एक दूसरी लड़की से उसके मन की बात पूछने को कहा।उस लड़की ने कहा- हाँ, वो तुझे प्यार करती है।इसके अगले दिन जो एग्जाम था.

चाची आगे बोली- देख अशोक, तेरे चाचा महीने में कभी कभी ही आते हैं जिससे मेरी वासना बहुत प्यासी ही रह जाती है, देख अशोक, तूने वो कमी पूरी कर दी है… तू शर्मिन्दा नहीं हो… अब तू रोज आकर अपनी चाची को चोदा कर!मैं चाची को और वासना की नजर से देखने लगा, चाची मुझे और सेक्सी दिखने लगी. भाभी ने अंदर कुछ पहना तो था नहीं तो उसके नर्म मुलायम मम्मों को अपनी छाती पर पाकर मेरा जोश बढ़ गया और तभी भाभी ने मेरा चेहरा अपने हाथों में पकड़ा और मेरी आंखों में देखते हुए मेरे लबों पर अपने गुलाबी होंठ मिला कर चूमने लगी. ओह्ह गॉड… क्या गांड थी! इतनी मस्त कि सारा दिन चाटता रहूं!मैंने अपना हाथ उनके चिकने चूतड़ पे फेरा… एकदम मलाई थी!शायद उन्हें भी मेरा टच अच्छा लगा.

फिर आदित्य ने मेरी ब्रा उतार दी और मेरे मम्मों को मसलने लगा… वो अपने एक हाथ से मेरे मम्मे मसल रहा था. अंधेरा भी बहुत है और लोग भी कम है, किसी को कुछ पता नहीं चलेगा और किसी को शक़ भी हुआ तो कुछ कहेगा नहीं.

मेरी बनियान को उतार दिया और अपने मम्मों को मेरी छाती से रगड़ने लगी. तुम्हारी चुत तो कुँवारी लग रही है?तो उसने कहा- हाँ आधे साल से कुँवारी है. और जोर से चिल्ला कर कहा- पेलो दीदी, पूरा का पूरा अंदर डाल दो, सभी मर्दों के कर्मों की सजा आज इसी को देते हैं।मैं डर के मारे कांप गया, तब उन्होंने कहा.

सेक्सी बिहारी सेक्सी वीडियो

मेरा मन अब बॉस की बीवी की चुदाई को चोदने का बहुत कर रहा था और फिर वो रात आ गई, रात के 1 बज रहे थे, मैं दरवाजे के बिल्कुल पास ही था और मैडम की आवाज़ सुन रहा था.

फिर मैडम मुझसे बोली- तुम कभी किसी को कुछ भी मत बोलना!तो मैंने उनसे कहा- आप बिल्कुल भी चिंता मत करो, कभी भी किसी को पता नहीं चलेगा!मैडम मेरी तरफ मुस्कुराई और मैं उनके ऊपर चढ़ गया, अब मैं मैडम के ऊपर बिल्कुल सीधा लेटा हुआ था, मैं उस समय नाईट पैन्ट पहने हुए था जिससे मेरा लंड मैडम की चूत से होते हुए उनकी जाँघों के बीच में घुस रहा था. उसके बदन की वो मादक सुगंध, यौवन से भरपूर जिस्म का उष्ण स्पर्श, उसके पुष्ट उरोजों का मेरे सीने पर स्पर्श, एक दूजे से लिपटीं हुईं नंगी टाँगें और धक् धक् करते दो प्यार भरे दिल… सब कुछ जैसे पारलौकिक आनन्द था. इतने देर में मेरे छोटे भाई की तबीयत ख़राब हो गई तो वो रोने कहा और कहने लगा- मम्मी को बुला के ला!मैं खेत में चली मम्मी को बुलाने!दूर मेरी नज़र पड़ी तो मम्मी किसी के साथ झाड़ी में बैठी थी.

’मैं भी पूरी जीभ चुत में अन्दर तक डाल कर उसे जीभ से चोद रहा था।आह आह उफ़. स्टोरी में मैंने मेरी सिस्टर का नाम नहीं बताया सो उसको इग्नोर कर देना. सेक्सी वीडियो साड़ी वाली चुदाई वीडियोआंटी हंसने लगी और पूछने लगी और पूछने लगी- और क्या क्या अच्छा लगता है?मैं- एक चीज़ मुझे आपकी बहुत अच्छी लगती है, जो मैंने अब तक नहीं देखी.

मेरे दोस्त का लातूर के पास फार्म हाउस है, वहाँ मिलने का प्लान किया. आंटी भी मेरा फेस अपनी नाभि पे रगड़ने लगी और बोली- आज तो तेरे मन की पूरी हो गई!मैं- आंटी, अभी मेरे मन की पूरी नहीं हुई, मुझे और भी बहुत सी चीज़ अच्छी लगती है.

गोद में ही बैठना था तो हमारी गोद में कौन से कांटे लगे थे।मैंने ऊपर से ही चिढ़ते हुए कहा- चुप रहो नहीं तो ठीक नहीं होगा।वैसे मेरे मन में उसकी बातों को सुनकर थोड़ी खुशी की लहर पैदा हुई थी क्योंकि कोई भी किशोरी जल्द से जल्द जवान होना चाहती है और उसकी बातों ने मुझे जवानी का अहसास कराया था।फिर वो बड़बड़ाया कि हम तो चुप ही हैं. वो गलियाँ दे रही थी- साला, बहनचोद, चूतिया… फाड़ इसको, खोल दे इसको!यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!फिर उसने मुझे कस के अपनी कमर पकड़ने को कहा. विनोद मुझे बहुत प्यार करते हैं, मैंने भी अपने पति से बहुत प्यार करती हूँ.

टाइम रात 9 बजे का तय था। जब साथ डिनर करते थे तो सुनील और मैं हमेशा ड्रिंक करते थे। घर में दारू पीने का पूरा इंतजाम भी रहता था।शाम को मैं उनके घर गया और दरवाजे की घंटी बजाई. उधर शानवी बोली- उम्म्ह… अहह… हय… याह… बता तो देता बहन के लोड़े… मर गई मैं!इधर मैं गाली देता हुआ बोला- ज्यादा नौटंकी मत कर बहन की लोड़ी… साली रांड 4-4 लंड खा चुकी है. इसके बाद मैंने एक हाथ उसके कपड़ों में डालकर उसकी गोल चूचियाँ से खेलने लगा और दूसरे हाथ से बुर को सहलाने लगा.

जब पूरा घुस गया, तो मैडम ने उठ कर देखा, मेरी झांट उसकी झांट को चूम रही थी.

‘गुडिया रानी, जब तेरी रानी भाभी को अभी थोड़ी देर बाद नंगी हो के चुदना ही है तो कपड़े काहे को पहन रही है बेकार में?’ मैंने मजाक किया. हम दोनों दोस्त काफी देर तक मेरी पत्नी की चूत-गांड मारते हुए बीच-2 में थोड़ा सा आराम करने को रुकते और फिर दोबारा शुरू हो जाते.

वो मेरे घर पर 3 दिन रुकी और 3 दिन तक मैंने उसको खूब चोदा, मैंने उसकी गांड भी मारी और अब जब भी मौका मिलता है, मैं उसको चोदता हूँ. मैंने जल्दी से उधर अपनी दो उंगलियां डाल दीं।तो आंटी सेक्स की मस्ती में कराह का थोड़ी सी हिलने लगीं और मेरे हाथ को धकेलने लगीं, तो मैंने और जोर से उंगली को अन्दर कर दिया।फिर थोड़ी देर बाद आंटी अपनी गांड हिलाने लगीं. साला चुत का भुर्ता बना देता है तब जाकर तू झड़ता है। ऐसे चूसने से तेरा कुछ नहीं होगा, ये ले और इसको देख के मेरे मुँह को चुत समझ कर चोद.

’सलोनी ने मेरे गले में अपनी बाँहें डाल दी, मैंने भी उसी तरह हवा में उठाकर दीवार से सटा दिया और उसके चूतड़ों को भी साथ में सहलाने लगा और उंगली से गांड के अन्दर का रास्ता खोजने लगा. एक दिन मैंने बोल ही दिया कि ऐसे तो हमारी बात कभी आगे नहीं बढ़ेगी, तो उसने हार कर मुझसे पूछ ही लिया कि क्या मुझसे प्यार करते हो?बस मुझे और क्या चाहिए था. जब से मुझे इस घटना का मालूम हुआ तब से मैं सोचने लगी कि मोना कितनी साहसी लड़की है.

ब्लू पिक्चर बीएफ हिंदी सेक्सी फिर वो बहुत आराम से मेरे लंड से खेलने लगी और मैं उनके एक बूब्स को दबाने तो दूसरे को चूसने लगा. कुछ देर बाद परीक्षित ने रानी को उसकी ओर खींचा और दोनों 69 की पोजीशन में आ गए अब रानी की चूत भी परीक्षित चाट रहे थे और मैं चिंटू के लंड को चूसना चाटना छोड़ कर रानी के साथ परीक्षित के लंड को चूस रही थी और मैं बीच बीच चिंटू के लंड को सहला रही थी और ऐसा ही रानी भी कर रही थी.

सेक्सी व्हिडिओ 2018 के

उसकी ये कामुक आवाजें मुझे और जोश में लाने लगीं। मैं भी ज़ोर से मम्मे दबाने लगा और अगले ही पल उसे घुमा कर मैं उसका पेट चूमने लगा ‘उमाह. जो कि वो अगले दिन स्कूल में चौथे लेक्चर के बाद की बुक थी। साथ ही मैं बुधवार की राह देखने लगा।उसका स्कूल मॉर्निंग का स्कूल था तो वो रोज 6 बजे उठ जाती थी। उसके बाद मैं 6. जीजू ने आते से ही पीछे से मेरी ब्रा के हुक को खोल दिया और मेरी दोनों चुची को आजाद कर दिया, फिर मैं उनकी तरफ घूम कर मैं अपने घुटनों के उपर जा बैठी और उस अंडरवीयर को लौड़े के प्रेशर से आजाद करने लगी.

तो माँ ने धीरे से कहा- हाँ मुझे भी!फिर मैंने कहा- माँ मुझे आपको सुबह तक चोदना है. वो कुछ भी बोलने के मूड में नहीं थी और मैं उसे प्यार करने के मूड में था. बुड्ढा का सेक्सीचार दिनों के बाद जब अम्मा काम पर आई तब मैंने उनसे पूछा- अम्मा, क्या बात है पिछले चार दिन आप काम करने नहीं आई? वह दूसरी कामवाली कह रही थी कि माला की तबीयत ठीक नहीं थी और आप उसे अस्पताल ले कर गई थी.

तो उनके लिए टाइम वेस्ट करने से कोई फायदा नहीं। आप खुद समझदार हो जब किसी की ज़्यादा जरूरत होगी, मैं बता दूँगी और रही इस मकान की बात.

मैं वहाँ पहुंचा तो मुझे वहाँ के एक मैनेजर ने सारा काम समझा दिया और मेरे को और आदमी से मिलवाया, वो भी वहाँ चौकीदार था. वो मुझे देख कर मुस्कुराती हुई बोली- क्या बात है, बड़ी जल्दी में हो?मैंने कहा- मेरे पास टाइम कम है!फिर वो ‘अच्छा जी…’ बोल कर मेरा लंड पूरी तरह खड़ा करने लगी लेकिन मुझमें एक खासियत है, जब तक मैं ना चाहूं, मेरा खड़ा नहीं होता.

निष्ठा हंस कर बोली- खाना बना दीजिये…कुशल बोला- मेरा बनाया हुआ आप खा नहीं पाएंगी, चलिए डिनर बाहर करते हैं. फिर मैं उसके गांड की तरफ आ गया उसकी चूत थोड़ा सा हाथों से फैलाया और मेरा लंड उसकी चूत में घुसा दिया. कभी उसकी सहेलियों के कमरे पर चुदाई हो जाती है।आपको मेरी ममेरी बहन की सील तोड़ चुदाई की हिंदी पोर्न स्टोरी कैसी लगी, मुझे मेल कीजिएगा।[emailprotected].

फिर मेरे फोन में किसी के मेसेज की घंटी बजी तो कुछ रोशनी हो गई और आवाज भी… तो मैंने अपना हाथ जल्दी से वापिस खींच लिया.

मैंने उसे पहली बार देखा, उसने टाईट स्लीवलेस टीशर्ट और काली जींस पहनी थी। टी शर्ट में से उसकी काली ब्रा की पट्टी बाहर दिख रही थी. मैं कुछ नहीं बोली, बस धीरे से अपनी आँखें खोली, जो देखा तो मैं हैरान हो गई, ये क्या… मेरा छोटा भाई मेरी चूत में उंगली कर रहा था. जब हम मूवी देख रहे थे तो मैंने उसका हाथ पकड़ा उसने कुछ नहीं बोला, आराम से पकड़ लिया।मेरी हिम्मत बढ़ गई, मैंने उसकी जांघ पर हाथ रखा तो उसने मेरी तरफ देखा और स्माइल कर दी.

वीडियो सेक्सी दिखाएं वीडियो सेक्सीवो बोला- अरे साहब, ये भी कोई कहानी है, कौन पढ़ेगा इसे!मैंने कहा- तुम इसकी चिंता मत करो, मुझे सब कुछ डीटेल में बताओ. शादी से पहले कितनों से चूत मरवाई है?’मेरी बात पर वह मुदस्सर का लंड मुँह से निकालकर सिसक सिसक कर रोने लगी.

प्लाजो जींस

और तीसरे लड़के का मोटा 10 इंच का लंड वो लड़की अपने मुँह में लेकर चूस रही थी। वहीं आखिरी लड़के का बड़ा सा लंड दूसरे हाथ से हिला कर बारी-बारी से चूसते हुए खूब एंजाय कर रही थी।मुझे फिल्म देख कर थोड़ी सी शरम आने लगी, मैंने कहा- अरे बाप रे. मामी जैसी कामुक नारी के बदन को छूकर सहलाकर भी उनकी चूत के रस का स्वाद न ले पाने की कसक को मैं ज्यादा दिन सह नहीं सकता था. मैं आप सभी को बताने वाला हूँ ताकि आपको मेरी इस चुदाई की कहानी पर यकीन आए कि ये सच्ची चुदाई की कहानी है।ये बात एक साल पहले की है। मेरे घर के सामने एक लड़की रहती थी.

तू क्या समझी थी?सुमन- मैं समझी थी कि माँ को कोई तकलीफ़ होगी या उनका पेट दुख रहा होगा। एक-दो बार मैंने पूछा भी था मगर माँ ने ‘कुछ नहीं. फिर आदित्य ने मेरी ब्रा उतार दी और मेरे मम्मों को मसलने लगा… वो अपने एक हाथ से मेरे मम्मे मसल रहा था. सुमन ने आराम से मॉंटी के लंड को ऊपर-नीचे करके देखा और फिर उसे सहलाने लगी.

आदित्य ने कहा- ठीक है।मैंने बाथरूम में जाकर साड़ी, ब्लाउज उतार दिया और गाउन पहन लिया. कमरे में आने के बाद मैं तो कपड़े पहन कर बिस्तर पर ही लेट गया और माला कपड़े पहन कर दोपहर का खाना बनाने के लिए रसोई में चली गई. बोले- हाँ भाभी, हमने सुना है कि आप डांस बहुत अच्छा करती हो, एक बार आज हमें भी दिखाओ ना।मेरे पति खड़े हो गए और मुझे किस करने लगे और कहा- डांस नहीं तो रोमांस और चुदाई होगी.

वन पीस ड्रेस पहले थी। मैंने उसको पीछे से पकड़ा और उसकी ड्रेस गांड से ऊपर उठा दी।वो लौंडा शराब पिए हुए था. ‘ठीक है… तो जरा पहले मेरी गाजर को ढंग से पैना कर दो भाभी… जिससे वो रोकेट की तरह तुम्हारी गांड को भेद सके.

नमस्ते दोस्तोमैं जाह्नवी एक बार फिर अपनी एक नई चुदाई की कहानी लेकर आई हूं!आपने मेरी पिछली कहानियों से जान लिया होगा कि मेरे पति को मुझे गैर मर्द से चुदवाते देखना पसंद है.

और वो परेशान हो रही है तो वो साइड में हो गया।पूजा- ओफ मामू, कितना मज़ा आया आज. सेक्सी भाभी गर्लइसके बाद मैं वहाँ सात बजे से नौ बजे तक उसका वेट करता रहा लेकिन वो नहीं आई. चड्डी बनियान वाली सेक्सीउसकी तो जैसे जान निकल गई हो… उम्म्ह… अहह… हय… याह… वो बहुत ज्यादा उत्तेजित हो गई थी लेकिन मैं उसे अभी और तड़पाना चाहता था. चुत से पानी निकल रहा था।मेरा लंड भी इधर पेंट फाड़ने पर आमादा था।नीलू चुदास से भर चुकी थी और अब वो चोदने का इशारा कर रही थी। मैंने मौका अच्छा देखते हुए अपने लंड को नीलू की चुत पर रख कर धीरे-धीरे अन्दर डालने लगा। मेरा लंड उसकी कसी हुई चुत में घुस ही नहीं पा रहा था।फिर मैंने बहुत सारा थूक लंड पे लगाया और धक्का दे मारा। मेरे लंड की टोपी चुत में घुस गई.

थोड़ी देर मुझे किस करने के बाद उसने मुझे अलग किया और पूछने लगी- चिंटू कितनी देर में आएंगे?मैं- थोड़ी देर में आ जायेगा.

अब मेरे लंड महाराज की प्यास बहुत ज्यादा बढ़ गई थी इसलिए मैंने उसे बाहर निकला और उनके हाथ में थमा दिया, उन्हें चूसने को कहा तो उन्होंने साफ़ मना कर दिया लेकिन हाथ में लेकर सहलाने लगी. मेरी हथेली उसकी कमर से लेकर ऊपर गर्दन तक फिसलती रही, बीच में कहीं कोई अवरोध महसूस नहीं हुआ, मतलब साफ़ था कि वो ब्रा नहीं पहने थी. तेरा लंड टेड़ा है पर अब मेरा है-1तेरा लंड टेड़ा है पर अब मेरा है-2अब तक आपने इस चुदाई की कहानी में पढ़ा कि मैं भाभी के साथ उनके घर में था तभी डोरबेल बजी और मेरी गांड फट गई।अब आगे.

हमारा प्लान यही था कि आज हम चारू को इतना तड़पायें कि उन्हें भी पता चले कि उनकी बीवी के साथ उनकी चुदाई देख कर कोमल अकेले में कितना तड़पी है।इस प्लान के तहत मैंने कोमल की लाल रंग की ब्रा का हुक खोला और ब्रा के साथ ही उसके मम्मों को दबाने सहलाने लगी, फिर धीरे से ब्रा को शरीर से अलग किया और उसके निप्पल को ऐंठने लगी. मैडम फिर बोली- देखो ऐसे शर्माने से काम नहीं चलेगा, अगर कुछ दुनिया से अलग चीज़ तुम्हारे पास है तो दिखाओ, वरना जा सकते हो. मैंने उन्हें ‘हेलो’ कहा तो उन्होंने पूछा- तुम काफी जल्दी आ जाते हो?और स्माइल दी.

सेक्सी वीडियो भोजपुरी 2021

दोनों साथ साथ झड़ेंगे और मजा लेंगे रानी… हाँ… हाँ… ले… और… ले।’जैसे ही मैंने अपनी पिचकारी उसकी फुद्दी की गहराई में मारी, सोनिया भी एक बार और झड़ कर मेरे ऊपर लेट गई- उफ़ राजा… जान निकाल डाली आज तो!‘तेरी फुद्दी ने मेरे लन्ड को निचोड़ डाला मेरी भाभी जान! मेरे हाथ उसके चूतड़ों से खेल रहे थे और होंठ उसके होंठों से जुड़े थे. मैंने भी पहल नहीं की।अब कई दिन तक जब उसका कोई उतर नहीं मिला तो मैं उसे भूलने की कोशिश करने लगा। लेकिन मुझे सब याद करके बहुत बुरा लगता था. मैं उठी और जाकर दरवाजा खोला- हाय… ये क्या… दोनों गार्ड एक साथ!दोनों की शादी नहीं हुई है, दोनों काफी अच्छे शरीर है और लंड भी… एक बिहारी था और एक लोकल यहीं का!दोनों मुस्कुराते हुए अन्दर आ गये, एक ने दरवाजा बंद किया.

मैंने स्पीड भी बढ़ा दी। तभी उसकी चुत भी मचलने लगी और वो मुझे जोर से जकड़ कर बोलने लगी- अह.

उसने अभी तक वही साड़ी पहनी हुई थी।वो मस्ती में अआ ईईई उम्म्ह… अहह… हय… याह… उउऊ जैसी कामुक आवाजें निकाल रही थी।अब मैंने उसकी साड़ी को उसके बदन से अलग क़र दिया.

मैं बोला- पहली बार देखा है क्या?वो बोली- हाँ, इतना बड़ा और मोटा पहली बार देखा है. उसने लंड टिका दिया।बोला- लगाने को कुछ चिकना नहीं है।मैंने कहा- नई गांड नहीं है. एक्स एक्स एक्स सेक्सी film.comजिसके कारण उनका ऊपर का हिस्सा पूरी तरह से नंगा हो गया था।उन्होंने अपने हाथों से अपने मम्मों को छुपाने की कोशिश की.

अब तक खून का बहना लगभग रुक सा गया था।फिर हम दोनों ने अपने अंदरूनी वस्त्र धारण कर लिये और साथ में चिपक कर लेटे रहे।हम दोनों को ऐसी ही हालत में कब नींद आ गई, पता ही नहीं चला. मैंने सामने खड़ा होकर राजू के लंड के ऊपर से अपना लंड अपनी पत्नी की गांड में घुसेड़ दिया. तो मैं आधे लंड से ही उसे चोदने लगा। फिर वो भी मेरा साथ देने लगी।उसकी आवाज़ निकल रही थी- ओह उह अहहहहा.

लगभग एक घंटे बाद मेरी आँख खुली तो देखा कि फोन पर किसी अनजान नंबर से मिसकॉल आई हुई है. और उसने कहा- कौन है वहां खिड़की के पास?इतने में मेरा पानी निकल गया था। मैंने वैसे ही अपने अंडरवियर ऊपर किया और फिर पजामा ऊपर करके दूसरी तरफ से भाग कर उसके रूम पर नॉक किया।मैंने तेज आवाज में पूछा- क्या हुआ.

मैंने आसमान की तरफ देखा तो गर्मियों की शाम लाल रोशनी की चादर ओढ़े हुए आसमान को अपने आगोश में लेती हुई दिखाई दे रही थी.

रीना रानी ने चहक कर कहा- रात को भी मेरी माँ ही चुदेगी मादरचोद… पापा को रात को सोने से पहले मैं कहूँगी कि दो तीन दिन से मुझको रात में बड़े डरावने सपने आते हैं. मैं अपने सेंटर के टीचर के साथ काफ़ी फ्रेंक था इसलिए मैंने उसे बता दिया कि मैं उसे लाइक करता हूँ लेकिन वो बोला- ये ठीक नहीं है, ज़्यादा भाव खाएगी क्योंकि वो काफ़ी सुंदर थी. मेरी जानेमन, वो भी तो आखिर मानव अंग का ही छेद है, तो फिर होगा क्यों नहीं.

भोजपुरी सेक्सी वीडियो चोदा चोदी सेक्सी फिर राजे ने अचानक से मुझे कस के जकड़ा और मुझे लिए लिए एक कलाबाज़ी खाई तो वो मेरे ऊपर हो गया. चुदाई का तूफान अपने चरम पे था काका के मूसल ने लावा बरसाना शुरू कर दिया। उसकी गर्म धार मोना की चुत को बड़ा सुकून दे रही थी.

उसकी ब्रा खुलने के बाद उसके 36″ की चुची बाहर निकल कर आ गई, मैंने उसकी पेंटी भी निकाल दी, उसकी चूत बिल्कुल चिकनी पड़ी थी, मैंने उसकी चूत चूसना और खाना सुरू कर दिया. वहाँ जाकर लेटो। चलो अंधेरे में आपको रास्ता नहीं मिलेगा, मैं आपको आपकी खटिया तक छोड़ देती हूँ।इतना कहकर मीना ने मेरा हाथ खींचकर मुझे उठाया और बोली- चलो भी, इतना क्यों शर्माते हो।अब उसने मुझे झोपड़े के पीछे खटिया पर लगाये गए बिस्तर पर ले जाकर बिठा दिया।मीना बोली- अब मैं तो चलती हूँ जीजा जी अपना ख्याल रखना. उनकी वो काली ब्रा और काली पेंटी… मुझसे तो रहा ही नहीं गया, मैंने तुरंत उनको खोला और सीधा उनके चूचों पर टूट पड़ा.

सेक्सी टॉयज वीडियो

बाइक अंधेरी सड़क पर दौड़ती जा रही थी और संदीप के लंड में तूफान उछाले मार रहा था. अब मैं सोचने लगा कि लेकिन ऐसा होगा कैसे?उसी दिन शाम को करीब 4 बजे भाभी अपने रूम से उठ कर आई. मसकने में बहुत मज़ा आ रहा था।कुछ देर ऐसा ही चलता रहा, फिर मैं अपने हाथ को धीरे-धीरे नीचे उनकी चुत पर ले गया। उनकी चुत जैसे ही मेरे हाथों से टच हुई मुझे करंट सा लगा। उनकी चुत बहुत गरम थी। मेरा हाथ चुत पर लगते ही भाभी के मुँह से एक ‘अहह.

अजय ने विला को डोर बंद करते ही साराह को पागलों की तरह चूमना शुरू कर दिया. सुन्दर ने मुझे आवाज लगाई- मंजू, ये बर्तन ले जा तो!मैं जैसे ही अंदर गई उसने दरवाजे के पास ही मुझे पकड़ लिया.

मुझसे नहीं रहा जा रहा था मगर क्या करती… मैं उंगली के अलावा कुछ नहीं कर सकती थी.

अब वो मेरे लंड को ऐसे पकड़ कर देख रही थी कि उसकी चूत के अन्दर जाएगा कि नहीं. नीचे से एंड्रयू का लम्बा लंड चूत के छिलके उतार रहा था, तो पीछे से स्वान का मोटा लंड गांड की बखिया उधेड़ रहा था. मैंने अब पेंटी के अंदर हाथ डाल कर मुनिया के होंठों पर रखा तो मेरी उंगलियां मुनिया के चूत रस में भीग गई जिनको मैंने बाहर निकाल कर बिमलेश को दिखा के चाट गया।बिमलेश मुस्कुरा के मेरे सीने से लग गई.

कमरे में आने के बाद मैं तो कपड़े पहन कर बिस्तर पर ही लेट गया और माला कपड़े पहन कर दोपहर का खाना बनाने के लिए रसोई में चली गई. मैं इतनी स्वार्थी नहीं हूँ किरण!‘नहीं नहीं मैं दुखी बिल्कुल नहीं हूँ,’ जूसी ने कहा- बस मुझे बहुत अटपटा लग रहा है. इस बात पर मेरा दिमाग खराब हो गया, मैंने उसके मुँह को पकड़ा और अपना 7″ का लंड उसके मुँह में दे दिया.

’ बार-बार कह रही थी। उसकी कामुक आवाजें मेरे कानों में गूंज रही थीं।उसकी हरकतों से मेरा लंड पूरा कड़क हुआ जा रहा था.

ब्लू पिक्चर बीएफ हिंदी सेक्सी: इस बार मैंने उसकी कमर के नीचे दो तकिये रख कर उसकी टाँगें खोली और अपने लंड से चूत रगड़ने लगा।स्वाति की सिसकारियाँ अब और तेज हो रही थी. पहले तो वो थोड़ी डरी और फिर हाँ कर दी और कहा- तुम्हारे लिए तो जान भी हाजिर… गांड क्या चीज है!फिर मैंने मौसी की गांड भी मारी.

और फिर अगले दिन रीना काले सूट में आई, क्या बताऊँ… एकदम जबरदस्त माल दिख रही थी, उसको देखते ही मेरा लण्ड एकदम से तन कर खड़ा हो गया. बहुत टाईट है।फिर मेरी गांड थपथपाने लगे।मैंने कहा- सर आप आदेश करें, ढीली हो जाएगी।तो वे हंसने लगे. फिर अंश मुझे किस करने लगा, थोड़ी देर के बाद मेरा दर्द कम हुआ तो उसने पूरा दम लगाकर एक और धक्का मारा उसका लन्ड मेरी बुर को फाड़ते हुए अन्दर तक घुस गया.

राजे ने साफ बोल दिया- रंडी तू ये असंभव सा आईडिया को दिमाग से निकाल दे, कहीं ऐसा न हो तेरे जूसी रानी से सम्बन्ध ही टूट जाएँ, तेरा यहाँ आना जाना ही बंद हो जाए और जितनी चुदाई मिल रही है, तू उसे भी खो बैठे.

फिर मैंने उनसे पूछा- क्या हुआ मैडम, क्या आप ज़्यादा डर गई हो?मैडम बोली- नहीं तो!मैं बोला- फिर आप बिल्कुल चुप क्यों हो?तो मैडम बहुत ही धीरे से बोली- मुझे बहुत प्यास लगी है. तो मैं डर गई और चुदाई अधूरी रह गई थी। इसके बाद अब तक फिर कभी मौका ही नहीं मिला।लेकिन अब मेरा इंतज़ार खत्म होने जा रहा था।मैं इंजीनियरिंग में तीसरे साल में थी. उसने बोला- तुझे कैसे पता था कि मैं तुझसे प्यार करती हूँ?यह बात सुन कर मेरे दिमाग चकरा गया.