हिंदी बीएफ साड़ी पर

छवि स्रोत,बांग्ला भाषा सेक्स वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ ब्लू वीडियो दिखाएं: हिंदी बीएफ साड़ी पर, वो खुद को रोक रहा था, मगर शिवानी उसको कुछ ज़्यादा ही दिखा दिखा कर उसके लंड को पूरी तरह से गर्म कर रही थी.

सनी लियोन sexy video

मैं नीचे से अपने खड़े हुए लंड को उसकी जांघों से सटाने की कोशिश कर रहा था. পাকিস্তানের সেক্স ভিডিওथूक मलने के बाद मेरे घरवाले ने मेरी गांड के छेद पर अपने तगड़े लंड का मोटा सा सुपारा रख दिया और मेरी सांसें तेज होने लगीं.

मैं आज भी रीतिका को वैसे ही चोदता हूँ, जैसे उसे पहली रात को चोदा था. இந்தியன் ஆன்ட்டி செக்ஸ் வீடியோஸ்लंड बहुत अकड़ कर आता है मेरे पास … और पता नहीं क्या क्या बोलता है मेरी चुत में जाने से पहले.

इससे उसका पिछवाड़ा खुल गया और फिर लंड चूत से बाहर निकाल कर गांड के अन्दर डालने लगा.हिंदी बीएफ साड़ी पर: उन्होंने चूस-चूस कर मेरा लंड और उसके नीचे के बॉल्ज़ बिल्कुल गीले कर दिए.

कुछ दूर चलते ही एक लड़की ने झटके से इशिता को रेलिंग के सहारे झुका दिया.उसने दर्द के मारे चीखने की कोशिश की, लेकिन मैंने उसे होंठ बंद कर रखे थे … जिससे उसकी चीख ज्यादा जोर से नहीं आ पाई.

सेक्स सेक्सी फिल्म - हिंदी बीएफ साड़ी पर

”गौरी ने कुछ बोला तो नहीं पर कुछ सोचते हुए मेरे पास वाले सिंगल सोफे पर बैठ गई। मैं तो चाहता था वो मेरे वाले सोफे पर ही साथ में बैठ जाए पर चलो आज साथ वाले सोफे पर बैठी है कल मेरे बगल में बैठेगी और फिर मेरी गोद में। लंड महाराज तो बैठने के बजाय और ज्यादा अकड़ गए।गौरी ने मेरे लिए एक प्लेट में प्लेट में सैंडविच रख दिए और ऊपर सॉस डाल कर मुझे पकड़ा दिया।तुम भी तो लो?”मैं बाद में ले लूंगी.मैं उधर की ताज़ी हवा में खूब खाना और सोना करता था और स्विमिंग करता था.

मैंने मना किया तो उसने मुझे पैरों से जकड़ लिया और मेरा वीर्य उसकी चूत में ही गिर गया. हिंदी बीएफ साड़ी पर उसके साथ उसका यौन आकर्षण चरम पर था और नैतिकता, उम्र के अंतर और उसके व्यवहार को शामिल करने वाले सभी कारण उसकी उत्तेजना को और बढ़ा रहे थे.

पहुंचने के बाद उसने हम सब से पैसे एडवांस में लेने के लिए कहा और हम तीनों ने अपने-अपने हिस्से के 1200 रूपये अलग-अलग कर लिये.

हिंदी बीएफ साड़ी पर?

परवीन- मेरी सांस रुक गयी … इतनी भी देर कोई लिप टू लिप करता है … आआह. फिर शुरू हुआ हमारी बातों का सिलसिला और हम कभी मैसेज में तो कभी फोन पे घंटों बातें करने लगे. मैंने उस दूसरी लड़की को देखा, तो पता चला कि वो स्वरा थी और मेरे कॉलेज में ही पढ़ती थी.

मैंने उसकी गर्दन को चूसा, उसकी गांड को अपने हाथ से दबाया और फिर उसकी कमर के पास नीचे बैठ कर उसकी मैक्सी को उठा दिया. इस पोज में चोदने के बाद उन्होंने मुझे दीवार के सहारे लगा लिया और पीछे से मेरी गांड में लंड डाल दिया और चोदने लगे. लेकिन कहते हैं न कि एक ही काम बार-बार किया जाये तो फिर बोरियत हो जाती है.

मुझसे कहने लगे कि आप तो बहुत किस्मत वाले हो जो आपके ऋतु जैसी वाइफ मिली है. तौलिये से उसने अपनी चूत और पिछवाड़ा साफ किया और अब पंकज उसके ऊपर चढ़ कर उसकी चुदाई करने लगा. हालाँकि हर्ष काफी लंबा और हट्टा कट्टा था पर फिर भी उसके दोनों हाथों में मेरी गांड नहीं आ रही थी.

मैंने भी देर न करते हुए अनिता भाभी की लाल पेंटी को जाली वाली जगह से पूरा फाड़ कर अलग कर दिया. वापिस सोफे पर बैठते समय पिंकी बोली- चलो सब लोग पार्टनर्स बदल कर बैठो.

परवीन- जीशान इस सभी के लिए अभी समय नहीं है … जो भी करना है, जल्दी से कर दे.

तभी जैसे आंटी ने मेरा दर्द समझा और मेरी जींस का बटन खोल कर मेरी जींस और चड्डी को उतार दिया.

मैंने भी गुड मार्निग जान कहा … और फ्रेश होने के लिए बाथरूम में घुस गया. मैं रूम खोल कर धीरे से आवाज देकर बोली- अंकल लाइट चली गई है, मुझे अकेले सोने में डर लगता है. मैं उनकी चूत चूसने लगा और चूत को चूसते टाइम उनके चूचों को अपने हाथों से दबाने लगा.

इससे मेरा सिर थोड़ा तिरछा हो गया और उनका लंड आराम से मेरे गले में घुसने लगा. उसने कहा- तुम अपने कपड़े उतार कर सुखा लो और जब थोड़े से सूखने लगें, तो उन पर प्रेस करके पूरी तरह से सुखा लेना. वह अपने ससुर को देखकर सीधी होकर बैठ गई।पिता जी, मैं आपसे कुछ कहना चाहती हूं.

फिर उन्होंने मुझे अपने बेड पे बिठाया और अपनी बांहों में भर कर मेरे होंठों को चूमने लगे.

मैंने इसका कारण पूछा तो वह बोली- मेरी बरसों की आरजू आज पूरी होने जा रही है. दीदी के हाथ में डिल्डो था तो उसने मेरी चूत में डिल्डो घुसेड़ दिया और तेजी से मेरी चूत की चुदाई करने लगी. और अब मेरी बारी थी … वासना की आग में जल रही उसकी युवा पत्नी को मैंने आलिंगन में लिया और उसे भी निर्वस्त्र किया जिसमें उसने मुझे भरपूर सहयोग किया.

मैंने कहा- भाभी मैं झड़ने वाला हूँ … क्या करूं?तो उन्होंने कहा कि मेरे मुँह में अपना माल निकालो और मेरा लंड चूत से निकाल कर मुँह में ले लिया. … आप सबने मेरी पिछली सेक्स कहानीगांव की देसी भाभी की मालिश और चुदाईएक बार फिर मैं अपनी सच्ची कहानी आप सब लोगों के सामने पर लेकर आया हूँ. दीदी मेरी तरफ कुछ ऐसी नजरों से देखने लगीं, जैसे वो मुझसे जानना चाह रही हों कि वो कैसी लग रही हैं.

मैंने मौका देखते ही उनके होंठों को अपने होंठों में दबा लिया और हम एक दूजे में खो गए.

उसकी निगाह से निगाह मिलते ही, मैं थोड़ा डर गया और अपनी खिसियाहट छिपाने के लिए पेपर लेकर पढ़ने लगा. अपने खड़े हुए लंड पर सोनू ने कॉन्डम चढ़ा दिया और उसको मेरी गीली और चिकनी हो चुकी चूत पर रख कर मेरे ऊपर लेटता चला गया.

हिंदी बीएफ साड़ी पर नीलम के मान जाने के बाद समीर ने अपनी बहन ज्योति से दूरी बना ली थी और उसकी बहन ज्योति भी अपने पिता से चूत चुदाई करवा कर खुश रहने लगी. एक दिन मैं उनसे बात कर रही थी तो वो मुझसे बात करते करते मेरी चूची को घूर रहे थे.

हिंदी बीएफ साड़ी पर उन्होंने मुझसे पूछा- तुम्हारा पहली बार है क्या?तो मैंने उनको बताया कि मैंने तो आज तक किसी लड़की को नंगी तक नहीं देखा. इसलिए आपसे कहना चाहती हूँ कि मेरी कहानियों पर ‘मुझे भी एक मौका दो’ वाले कमेंट्स करने का कोई फायदा नहीं है.

मैं पूल के स्टेप्स के ऊपर आया और परवीन आंटी को ऊपर बुलाया क्योंकि वो नंगी थीं, मतलब ब्रा निकाल दी थी.

हिंदी बीएफ हिंदी हिंदी बीएफ

फिर मां बोली कि आदी को भी हम घर पर छोड़ देंगे ताकि तुम अकेली न रहो. फिर मैंने कुछ देर बाद कपड़े पहने और बाहर आ गया।दूसरा दोस्त दोस्त, जो कि बहुत ज्यादा उत्तेजित हो रहा था, उसने जल्दी-जल्दी किया और पाँच मिनट में वह बाहर आ गया।तीसरा दोस्त ने बहुत ज्यादा टाइम लगाया. वो मेरी चूत पर अपना लंड रगड़ने के साथ साथ मेरी चूची को भी दबा रहे थे.

मैंने अगले दिन अपने साथियों के साथ सारी लड़कियों के बारे में विचार विमर्श किया और कोई पांच लड़कियों को हमने चुन लिया और उनके नाम, आगे की कार्यवाही के लिए अपने हेड ऑफिस भेज दिए. एक बार तो उसने हैरानी से देखा लेकिन फिर वो नजर नीचे करके मुस्काते हुए अंदर चली गई. अगर इस साली को मेरा लंड नहीं मिलता तो ये शायद तुम्हारा लंड लेने के बाद पूरे लॉज के स्टाफ से चुदवा लेती.

एक दिन मैं घर आया, तो मम्मी ने मुझे बताया कि पापा और उन्हें दिल्ली जाना पड़ेगा.

हम चलने लगे तो चलते हुए पीछे से एक आदमी ने कहा कि बहुत मस्त माल है जीजा के पास तो. मैंने कार वापस घुमाई, मुझे पापा की बात याद आने लगी। शायद मेरी इस गलती की वजह से उन्हें कॉन्ट्रेक्ट गंवाना पड़ सकता था। मैं अपने आपको कोसने लगी, एक काम भी ठीक से नहीं कर सकती तुम।मुझे नितिन के बारे में भी बुरा लग रहा था, मैंने उसकी ओर देखा तो वह ग़ुस्से में बैठा था। शायद अभी तक उसने ऑनलाइन कंप्लेट नहीं की थी. फिर मेरी सास मुझे चाय देने आईं, उन्होंने मुझे ऐसे झुक कर चाय दी कि उनका पल्लू गिर गया, मुझे तो मानो जन्नत मिल गयी हो.

परवीन आंटी लंड के करीब आ गईं और अन्दर तक लंड लेकर गले के अन्दर लंड को हिलाने लगीं. तब वो कहने लगीं- ऐसा हो ही नहीं सकता कि तुम्हारी कोई गर्लफ्रैंड न हो. फिर क्या था … मैंने भी पूरा जोर लगा कर एक धक्का दे मारा और मेरा आधा लंड उसकी गांड में घुस गया.

उनका लंड अब पूरी जड़ तक मेरी चूत में घुस सकता था और उस कमीने ने भी इसका पूरा फायदा उठाया. भाभी तो मुझसे एक कदम आगे निकलीं, उन्होंने जोर से मेरे होंठों को अपने होंठों में ले लिया और किसिंग का मजा लेने लगीं.

घर में घुसने से पहले गर्मी और थकान से परेशान था लेकिन उस खूबसूरत चेहरे से टकराकर आंखों के साथ-साथ पूरे बदन को ठंडक मिल गई थी. पूल के गार्ड ने बताया कि सात से नौ के बीच तो केवल लेडीज या दो-चार कपल ही आते हैं. पहले मैं उनकी गर्दन पर किस करने लगा और साथ की साथ नाइटी के ऊपर से ही उनके चुचे भी दबाने लगा.

फिर आगे चल रही लड़की ने कार्ड से कमरे का दरवाजा खोला और इशिता को लेकर वो सब अन्दर चली गई.

इतने में यशिमा बोली- साली रंडी मुझे लगा था कि तू इसके साथ मजे करने का सोच रही होगी. मैंने एक बार मेरे पति से इसका जिक्र किया था, तो वो बोला था कि छी … कुछ भी करने के लिए मत बोल. वो अपना पूरा मूत पी गयी और बोली- यार एक बात बताऊं प्रकाश … मुझे ये सब बहुत पसंद है.

इन दोनों रंडियों के कोमल हाथों की छुअन से मेरे लंड का पानी छूटने को हो गया था इसलिए मैं थोड़ा पीछे हो लिया. शबनम और राजीव दोनों की जिन्दगी में ये पहला मौका था जब वो अपने पार्टनर के अलावा किसी और के सामने नंगे थे.

आज सच में मुझे ऐसा लग रहा था, मैं पहली बार किसी मजबूत मर्द के साथ हूँ. दोनों सर्वेन्ट्स इन्हें खाना खिला कर चले जाते थे तो उनके जाने के बाद सभी जोड़ियाँ और बेतकल्लुफ हो जाती. दीदी जाग जायेगी इस ख्याल से मैं लंड को हाथ में पकड़ कर चुपचाप सोता रहा।इतने में दीदी ने करवट बदली और सीधी लेट कर सोने लगी। इससे उनकी चूत का गुब्बारा बिल्कुल मेरी आंखों के सामने आ गया.

बीएफ सेक्सी एचडी चुदाई

मेरे पति से मैं बिल्कुल भी खुश नहीं थी, लेकिन मेरी माँ अकेली थी, पापा नहीं थे, तो मैं जैसे भी करके निभा रही थी.

मैं जब अन्दर आया, तो मेरी वाइफ बोली- आप भी चेंज कर लो और फ्रेश हो लो. बस इन सब में जो अपनी चूत में लंड लेने का मज़ा था, उसके सामने यह दर्द कुछ भी नहीं था. देखते-देखते लौड़ा बिना मेरी इजाजत के ही तन गया और लिंग के हुक्म पर हाथ अपने आप ही लोअर की इलास्टिक से जबरदस्ती अंदर घुस कर फ्रेंची के ऊपर से ही अंदर तने हुए, स्पर्श के लिए मचलते, मेरे प्यासे लिंग को सहलाने लगा.

कई बार तो मैंने पैसे देकर चूत मारी थी लेकिन उसमें ज्यादा मजा नहीं आता है. उनको हैंडल करना थोड़ा मुश्किल होता है जबकि बड़ी उम्र की औरतें तो खुद ही लंड पकड़ लेती हैं और मुंह में भी आराम से ले लेती हैं इसलिए मुझे उनके साथ सेक्स करना बहुत पसंद है. सक्सस वीडियोऔर हमारे क्लास टीचर हम सबको इंटरनल मार्क्स की शीट पर साइन करवा रहे थे.

राजीव ने अपने हाथ उसके कूल्हों पर लगाए तो पिंकी हँसते हुए ऊपर उचकी तो उसकी फ्रॉक उठ गयी और राजीव के हाथ में उसके नंगे चूतड़ आ गए. पता नहीं उसने मेरा लंड देखा या नहीं लेकिन उसके करीब पहुंचने से पहले ही मैंने अपने लंड को अंदर कर लिया था.

उसके बाद मीनू ने मेरे लंड को चूसना शुरू कर दिया और मैंने उसको बेड पर गिरा कर उसकी चूत को चाटना शुरू कर दिया. अगर मैं चाहता तो उसे वहीं पर चोद सकता था मगर ऐसा करना मुझे अच्छा नहीं लगा. मैं उसके दोनों दूधों को बारी-बारी से चूस रहा था और जोर जोर से दबा रहा था.

जब तक मैं तुम्हें देख रहा हूँ तुम भी मुझे देखो ना …”नीलम का सिर झुका हुआ था इसलिए जैसे ही महेश उसके सामने जाकर खड़ा हुआ उसका फनफनाता हुआ लंड सीधा नीलम की आँखों के सामने आ गया। नीलम की साँसें अपने ससुर के लंड को इतना क़रीब से देखकर उखड़ने लगीं और उसका पूरा जिस्म गर्म होने लगा, महेश का लंड बुहत ज़ोर से झटके खा रहा था। नीलम की आँखें अब भी अपने ससुर के लंड पर टिकी हुयी थीं. बीच में चूत का छेद का स्टॉप पड़ता तो उसमें जीभ थोड़ी लपलपा देता।ऊपर मेरे दोनों फावड़े जैसे हाथ उनके स्तनों का मर्दन कर रहे थे. मैं भी उन्हें मजे में चोद रहा था और बोल रहा था- हां मॉम … मेरी रंडी मॉम … मैं तुम्हें इसी तरह रोज चोदूंगा, तुझे अपनी रंडी बनाकर रखूंगा.

” मेरे मुंह से अचानक निकल गया।पता नहीं मधुर क्या सोच ले तो मैंने तुरंत बात को संवारते हुए कहा- हां … हाँ … बोलो क्या करना है?तुम इसे रोज थोड़ी देर अंग्रेजी पढ़ा दिया करो.

उसने मुझे नंगा करके मेरी पूरी बॉडी पर ऊपर से नीचे तक हाथ से सहलाया और फिर हमने एक-दूसरे को किस करना चालू किया. मैंने धीरे से लंड को अपने मुँह में ले लिया … और लंड को अपने मुँह से ही हिलाने लगी.

फिर रात में हम सबने साथ ही डिनर किया और अपने अपने कमरों में सोने चले गए. फिर वो बोली- प्रकाश एक बार मेरी चुत फिर से मार यार, जाने हम फिर कब मिलें या नहीं. जब ये पुख्ता हो गया कि मुझे किसी ने भी नहीं देखा, तो फिर मैंने उसे पकड़ लिया और किस करने लगा.

पहले मैंने उसके स्तनों को जोर से दबाया और फिर बारी-बारी से मुंह में लेकर उनका रस चूसने लगा. क्या हुआ भाई जान?” समीर ने आवाज़ सुनते ही सामने देखा तो उसकी 36 साल की छोटी बहन ज्योति दूसरे सोफ़े पर बैठी थी।तुम्हें पता है फिर क्यों पूछ रही हो?” समीर ने गुस्से से अपनी बहन को जवाब दिया।यार. उस दिन हम लोग बातें करते हुए मंदिर पहुंचे, वहां पूजा की और हम लोग वापस चल पड़े.

हिंदी बीएफ साड़ी पर खाना बनाने और सफाई के लिए दो नौकर मियां बीवी उन्हें मिले हुए थे जो बाहर ही बने सर्वेंट क्वार्टर में रहते थे. थोड़ी देर के घमासान पिलाई के बाद पंकज ने सारिका को घोड़ी बनने के लिए कहा.

बीएफ सेक्सी ट्रिपल वीडियो

करते रहो मेरी जान …”मैं तेजी से उसकी चूत को पेलने लगा और पांच सात मिनट की गर्मा-गर्म चुदाई के बाद मेरे लंड ने उसकी चूत में अपना वीर्य फेंकना शुरू कर दिया. उनकी आँखें थोड़ा बड़ी हुई पर वो एकटक मुझे देखती रही और मेरे टट्टे को सहलाते हुए फुल स्पीड में लंड हिलाने लगी।उनके हाथों के कंगन भी उसी तेजी से आवाज़ करने लगे. अगर शबनम अपनी बाहें ऊपर उठती तो शायद उसके मम्मे नीचे से हवा ले जाते.

मैं उनके पास गया, तो उन्होंने मेरे सारे कपड़े खोल कर मुझे नंगा कर दिया. फिर हम लोगों ने चाय पी, पर मेरी नजर सिर्फ उनके मम्मों को घूर रही थी. सनी लियोन की सेक्सी फिल्म वीडियोमैं लॉक को खोलने लगा और उन्हें ऊपर उठा कर हग कर लिया, मैं आंटी को चूमता रहा.

मैंने कुछ नहीं कहा जिससे उसको भी पता चल गया कि मुझे उसके साथ ये सब करने में मजा आ रहा है.

आह्ह … मैं समझ सकता हूं कि उसकी उठी हुई गांड को देख कर तुम्हारा लंड भी तुम्हारे काबू में नहीं रहा होगा. पहले पहल मैंने थोड़ा विरोध किया, पर उस हालत में थी, जहां से मेरा विरोध बेकार था.

मैंने भी उन्हें प्यार करने में देर नहीं की और एक को अपने हाथों से और दूसरे को अपने मुँह में भर लिया. इस वजह से मुझे किसी ऐसी चूत की तलाश थी जिसके साथ मैं खुल कर मजे ले सकूं. पिंकी राजीव के साथ, सीमा धीरज के साथ, नायरा मुश्ताक के साथ और शबनम राहुल के साथ हाथ में हाथ लेकर खड़ी हो गयी.

मुझे डर भी लग रहा था कि कहीं वो पेट से न हो जाये इसलिए मैंने उसको गर्भ ठहरने से रोकने वाली गोली भी खिला दी.

पर इस बार मेरे दिमाग में उसकी चूत नहीं, उसकी गांड मारने का प्रोग्राम चल रहा था. सर के लंड को अपने हाथों से हिलाते हिलाते, मैंने सर को बेड पर धक्का दे दिया. वो सकुचाते हुए बोली- वही सब।मैंने कहा- वही सब क्या?उसने मेरी बात का कोई जवाब न दिया तो मैंने शर्म की सारी हद पार करते हुए कह दिया- वही सब जो रात में किया जाता है?उसने मेरी बात सुन कर मेरे हाथ पर जोर से नोंच लिया और नीचे मुंह करके मुस्कराने लगी.

गांव की चूत की चुदाईहालाँकि पिछले बारह घंटों में उन सभी की जम कर चुदाई हुई थी पर अभी भी वो चुदाई को बेताब नजर आ रहीं थी. कुछ देर तक आंटी मेरे जिस्म को चूमती रही और फिर एकदम से आंटी के होंठ मेरे लंड पर जा सटे। आंटी मेरे अध-सोये लंड को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी.

राजस्थानी बीएफ सेक्सी एचडी

एक दिन मैं अञ्जलि को पढ़ा कर और उसको काम देकर आंटी से बात करने आ गया. सोनिका ने उससे बात करना छोड़ दिया तो इस बीच मैं और मोहनीश एक दूसरे से बहुत करीब आ गए. दीदी ने डिल्डो मेरे हाथ में दे दिया और कहने लगी- इसे अपने मुंह में लेकर चूसो और बताओ कि कैसा है।उनके कहने पर मैं डिल्डो को चूसने लगी.

घर पर पहुंचने के बाद मैंने देखा कि आंटी नीचे फर्श पर ही पैर पकड़ कर बैठी हुई थी. वाशरूम कि डोर लॉक होते ही सारिका ने राहुल को अपनी ओर खींच लिया और उसके होंठों से होंठ मिला दिए. वो उसे देख कर बुरी तरह शरमा गयी और उसने अपने दोनों हाथों से अपना चेहरा ढक लिया.

उसने मुझसे कहा कि वो मेरे पास रह कर कम्प्यूटर का कोर्स करना चाहती है. कुछ देर बाद विवान भैया मेरी ब्रा निकाल कर मेरी चूची को चूसने लगे और साथ में वो मेरे गर्दन को भी किस कर रहे थे. मैंने अपने लंड की तरफ देखा तो वो एक तरफ तन कर डंडे जैसा दिख रहा था.

मैंने उन्हें वैसे ही उलटा लिटाकर लंड को ऊपर से उनकी फुद्दी में डालकर बहुत ज़ोर से घस्से मारे, तो मेरा निकलने वाला हो गया. मैंने कहा- मेरी चूत को क्या होना था?वो बोली- देख मैं लंड लेने की पूरी खिलाड़ी हूँ.

मैंने आंटी की मैक्सी को उतार दिया और फिर उसकी चूत को चाटने के लिए नीचे झुका तो आंटी ने मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ लिया.

फिर उसने अपनी बड़ी सी हथेली पर ढेर सारा थूक लेकर मेरी छोटी सी चुत पर लगा दिया. सेक्सी पिक्चर ब्लू पिक्चर सेक्सी वीडियोइसमें हालाँकि ऐसा कुछ अलग नहीं था, लेकिन फिर भी उसको महसूस हो रहा था. भाभी क्सक्सक्स वीडियोमैं अपने यहां अपनी चूत में उंगली करती रहती थी और उधर से वो दोनों एक दूसरे के साथ नंगे लेट कर गर्म चुदाई की बातें करते हुए मुझे भी गर्म करते रहते थे. मैंने अपनी बीए की पढ़ाई पूरी कर ली है, अब मैं अपना खुद का काम करता हूँ.

आंटी की उम्र पैंतीस साल थी, लेकिन वो दिखने में बिल्कुल चौबीस का माल लगती थीं.

मैंने अपनी गांड को थोड़ी सी ऊपर उठाते हुए अपनी लोअर की इलास्टिक समेत फ्रेंची को भी खींच दिया. उसका सुपारा काफी मोटा था और उसका लंड मेरी चूत में पूरा फिट हो गया था. इतने में ही वो दरवाजे के पास आकर बाहर निकलने को हुईं, तो मैंने उन्हें रोक लिया और बांहों से पकड़ कर उनके होंठों पर अपने होंठ रख दिए.

मैं भी उनके होंठों को अपने होंठों में लेकर चूसने की पूरी कोशिश कर रही थी. कुछ पल बाद मैंने उसे उठाया और बेड के नीचे खड़ा करके उसे दोनों हाथ बेड पर रखकर घोड़ी बनने को कहा. मैं तो बनावटी तौर पर सामान्य दिखने की कोशिश कर रहा था, लेकिन मेरी सास एकदम गुमसुम सी थीं, उनको देख कर ऐसा लग रहा था, जैसे उनको कोई सदमा सा लगा हो.

राजस्थानी बीएफ वीडियो एक्स एक्स एक्स

वो बोले- कमरे तो सारे फुल हैं लेकिन हम आपके लिए व्यवस्था कर देंगे लेकिन उसके लिए आपको अतिरिक्त चार्ज देना पड़ेगा. उन्होंने चूस-चूस कर मेरा लंड और उसके नीचे के बॉल्ज़ बिल्कुल गीले कर दिए. जब वो भी सेक्स के लिए उत्तेजित हो गये तो उनके लंड से नमकीन पानी रस कर बाहर आने लगा.

मैंने दीदी की चूत पर लंड को लगाया और अंदर डालने की कोशिश करने लगा लेकिन लंड अंदर नहीं जा रहा था.

बहुत दिनों बाद किये हुए जबरदस्त सेक्स की वजह से मुझे सुस्ती आ गयी थी।थोड़ी देर बाद मैं अंगड़ाई लेते हुए उठी तो देखा अमित मेरी टाँगों के बीच बैठा हुआ था, उसका लंड दूसरे राउंड के लिए तैयार खड़ा था।नहीं … अब नहीं … मैं थक गयी हूँ … नितिन भी अभी आते ही होंगे.

फिर वो बोली- प्रकाश एक बार मेरी चुत फिर से मार यार, जाने हम फिर कब मिलें या नहीं. उस साल हमारे कुछ जूनियर आये थे उनमें से एक लड़की बहुत ही प्यारी सी थी. हिंदी www xxxजब मनु आयी और उसने मुझे देखा तो वो बोली- अरे, तुम्हारे बॉस ने तो तुम्हारा पूरा रस ही पी लिया.

वो जोर जोर से झटके मारे जा रहे थे और नीचे से पट पट की आवाजें आ रही थीं. तभी उन्होंने बात करते करते अपनी सलवार बाँधी, तो मुझे उनका पेट भी दिखा. उसका स्विमिंग सिखाने का तरीका इतना कामयाब था कि कॉलेज के लड़के और यहाँ तक कि प्रोफेसर भी उससे स्विमिंग सीखना चाहते थे.

चिकनी चूत होने के कारण मेरा पूरा लंड एक बार में ही भाभी की चूत की जड़ तक घुस गया. अब नीता तो अपना मुंह मोड़ के अपने होंठ रमेश के होंठ से मिला चुकी थी.

भाभी हंस कर बोलीं- इन चक्करों में पड़ा नहीं जाता, खुद ब खुद चक्कर पड़ जाते हैं.

यह कहते हुए चाची ने मेरे अंडरवियर को निकाल दिया और वे मेरे कड़क लंड को देखकर चौंक गईं- अरे जीशान. मैंने पूछा- और भाभी क्या हाल हैं?भाभी ने इधर उधर देखा और धीरे से कह दिया- तुमको तो सब हाल चाल मालूम ही हैं. वो बोले- अभी तक उसकी सील तो टूटी नहीं है … क्या किया होगा तेरे भतीजे ने.

हिंदी xxx कॉम इतने में परवीन आंटी उठ गईं- मैं सबसे बड़ी हूँ … तुम हटो, इसके लंड को ठीक से पहले मैं चूसूँगी. सलहज की चूत और गांड के बारे में सोच कर लंड काफी देर पहले से ही तना हुआ था इसलिए उसने अंडरवियर में ही टोपे को चिकना कर रखा था.

कहीं कुछ कोई कमी तो नहीं रह गई मुझमें? वो तो पूरी तरह से मेरा साथ दे रही थी. स्मायरा के पापा को दीपक ने मेरे बारे में बता दिया था कि स्मायरा मेरे साथ जोधपुर आ रही है. मैंने कहा- आप खुल कर बताओ ना … उस दिन क्या किया था … मुझे पूरा किस्सा सुनाओ न?पहले उन्होंने ना में सर हिलाया, फिर मेरे जोर देने पर वो पहले मुझसे लिपट गयीं.

हिंदी देहाती फिल्म बीएफ

फिर उधर शिवानी के पारदर्शी कपड़ों में से उसकी चूत और मम्मे पूरी तरह से सागर के लंड को गर्म कर रहे थे. वो जितना विरोध कर रही थी मेरा लंड उसकी चूत को चोदने के लिए उतना ही बेचैन होता जा रहा था. उन दिनों उनके बेटे की तबियत भी ठीक नहीं थी इसलिए वो भी नहीं जा रही थी.

मैंने भी मजाक में हँसकर उसके जांघ से थोड़ी सी दूरी पर हाथ रख दिया। उसका लंड उछाल मार रहा था. तभी गांव में किसी रिश्तेदार की शादी में सभी को भोपाल से 10 दिनों के लिए जाना पड़ा.

‘आह … क्या रसीले होंठ थे उनके!’मेरे किस करने से आंटी पहले तो अकबका गईं.

थोड़ी देर बाद मैंने आहिस्ता आहिस्ता उनके ब्लाउज के बटन खोलना चालू कर दिया. मैंने धीरे से से उसको सीधा सुलाने की कोशिश की, तो वो किसी मासूम बच्चे के जैसे मुझसे और जोर से चिपक कर सोने लगी. शैली तृप्त होकर खड़ी हुई।अब एक और रंग बोल, देखते हैं अगली बारी मेरी है या तेरी दीदी की?”गुलाबी.

मैं मन में ही सोच कर डरने लगी कि आज पता नहीं मेरी क्या हालत होने वाली है. शायद वो यह सोच रही थी कि अगर उसको गर्भ ठहर गया होगा तो ऐसी दवा खाने से नुकसान हो सकता है. इतना कहकर उसने अपनी ब्रा खोल दी और अपनी चूचियां मेरी छाती पर रगड़ने लगी जिससे मैं उत्तेजित हो रहा था.

हिना- उम्म्ह… अहह… हय… याह…चाची- हहह आआआय्य …परवीन- ऊऊम्म … मादरचोद काट मत.

हिंदी बीएफ साड़ी पर: जिसको मैं सह नहीं सका इसलिए मैंने उसके ब्वॉयफ्रेंड से तेज तुमको चोदा. दीदी ने उस लंड वाले खिलौने को मेरी चूत पर लगा कर रगड़ना शुरू कर दिया.

सब लोग अपनी अपनी सच्ची कहानी लिखते हैं तो मैंने सोचा कि क्यों न मैं भी अपनी एक वास्तविक घटना लिख दूं जिसने मेरी ज़िंदगी को एक नए मोड़ पर लाकर रख दिया है. मैं उनकी गुलाबी चूत के अंदर जीभ को डाल कर उनकी चूत का रस चूसने में मस्त हो गया था. पांच मिनट में अपने अपने कपड़े संभालते हुए पाँचों अपनी बीवियों के साथ अपने अपने कमरों में चले गए.

मैंने करवट बदल ली- यार रहने दे!अब मेरी पीठ उसकी तरफ थी, उसका लंड जो खड़ा था, मेरे अंडरवीयर के ऊपर से ही मेरे दोनों चूतड़ों के बीच में रगड़ने लगा.

जहां शिवानी की चुदाई बहुत रफ़ थी, वहीं पर मेरी चुदाई सागर प्यार से कर रहा था. साइड में दो हैण्ड टॉवल रखे थे, एक से शबनम ने अपनी चूत साफ़ करी और एक राजीव के लंड पर डाल दिया. उन्होंने मेरे मुँह को ऊपर किया और मेरे होंठों पर किस कर दिया … मैं शर्मा गया.