बीएफ xxx वीडियो

छवि स्रोत,हिंदी चुदाई वीडियो हिंदी चुदाई वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी पर सेक्सी: बीएफ xxx वीडियो, रेशमा- नहीं मांनूगी, आप बोलो तो!मैंने कह दिया- मुझे आपकी गांड बहुत अच्छी लगी.

বাবা মেয়ে চটি

मेरी माँ स्कूल से हमेशा टाइम पर आ जाती थी लेकिन काफी दिनों से वो देर से आने लगी. सेक्सी फिल्म चुदाई वालावहां जाने के बाद एक दिन मां ने मुझसे कहा कि इस लड़की के लिए कोई लड़का देख लो.

मैंने उसकी चूत को और फैलाया, इसके बाद फिर से लंड लगा कर एक जोरदार धक्का मारा और उसकी चूत की सील तोड़ता हुआ मेरा लंड अंदर जा घुसा. क्ष हिंदी वीडियोहमारे मुहल्ले में रहने वाले मीतेश का लिफाफा खोला तो मैं दंग रह गया.

निगार आंटी लाल लहंगे में क्या मस्त माल लग रही थीं … किसी परी की तरह दिख रही थीं.बीएफ xxx वीडियो: उसने कहा- अब और सहा नहीं जाता, डाल दो अपना लंड मेरी चुत के अन्दर और मेरी प्यास बुझा दो.

खैर, आपको मेरी गर्लफ्रेंड की चुदाई की अधूरी कोशिश की अन्तर्वासना स्टोरी हिंदी में पढ़ने में आनंद आया होगा.मुझे मेल करके जरूर बताएं कि मेरी xxx ग्रुप सेक्स पार्टी स्टोरी आपको कैसी लगी? मैं आप सभी के मेल का रिप्लाई जरूर दूंगी.

चूत चुदाई वाली पिक्चर - बीएफ xxx वीडियो

फिर ऐसे ही दौर चलता रहा, मेरी गर्लफ्रेंड आती रहीं और पिंकी सबका ख्याल रखती रही.मां बोली- वो सब तो ठीक है लेकिन मेरे दिमाग में भी उन दोनों पति पत्नी की चुदाई घूमती रहती है.

तकरीबन पांच मिनट चुत चाटने के बाद वो कहने लगीं- अब और मत तड़पाओ … मैं पागल हो रही हूँ. बीएफ xxx वीडियो कुछ देर चोदने के बाद उसने अपना लंड निकाला और दीदी के मुंह के सामने करके मुठ मारने लगा.

मैंने उनको जवाब देते हुए कहा- आंटी, मुझे अपने सोलर के काम के कारण टाइम नहीं ही मिलता.

बीएफ xxx वीडियो?

दरवाजा खुला तो देखा कि लवली के बाल बिखरे हुए थे और उसके चेहरे पर एक संतुष्टि भरी मुस्कान थी. ताई ने मुझे हैरानी से देखा और फिर गुस्से में आकर मुझे एक जोर का थप्पड़ मार दिया और वहां से गुस्सा होकर चली गयी. फिर मैंने कार से वो पार्सल निकाले और आंटी के साथ अन्दर उनके घर में आ गया.

वैसे तो अभी तक इस बात का फैसला नहीं हुआ था कि आज रात को कौन जिया मेम की गांड का उद्घाटन करने वाला है लेकिन इतना तो तय था कि आज जिया मेम की गांड फंस गयी थी. उस पर उसकी कजरारी आंखें और होंठों पर लाल लिपस्टिक, क़यामत लग रही थी।मैं उसे घर में लेकर आ गया. और साथ में दारु-पानी का भी तो इंतजाम है। आप आसानी से सहन कर पाओगी।यह सुनकर मैं मुस्कुराई तो वो भी मुझे देख मुस्कुरा दिया.

क्या मस्त लग रही थी भाभी … एकदम माल।भाभी ने एक पारदर्शी मैक्सी पहनी हुई थी जिसमें से उसकी रेड ब्रा और रेड पैन्टी साफ दिख रही थी. रोशन लाल लम्बी सांस भर कर खूशबू का मजा लेते हुए बोला- आह क्या मस्त जुल्फें हैं तेरी अलीज़ा जान. साथ ही चूचे भी छाती से मिल जाते हैं और लंड व चूत के बीच में सिर्फ बदन पर पहने कपड़ों की ही दीवार रह जाती है.

सबसे ज्यादा मजा तब आया, जब बड़े लंड वाले ने पीछे से प्रीति की गांड में और छोटे लंड वाले आगे से चूत में डाल दिया. खैर ये कहानी मैं आपको अगली बार सुनाऊंगा।मेरी ये सेक्स कहानी अच्छी लगी होगी.

चोदने के मन से ही गया था।उसको देखते ही दौड़ा तो वह भागकर वाशरूम में बंद हो गई।किसी तरह से गेट खुलवाया और बाहर आई। नहाकर तरोताजा दिख रही थी।मैंने उसका हाथ पकड़ा और ऊपर ले जाने लगा।घर में कोई नहीं था।ऊपर ले जाते ही उसके होंठों को जमकर चूसने लगा। इसके बाद वह मुझे दूसरे खुफिया कमरे में ले गई.

मेरी मामी की चूचियां ज्यादा बड़ी नहीं थीं … लेकिन उनकी कमर और गांड भरी हुई थी.

जिस बहन की कहानी मैं आपको बता रहा हूं उसके अलावा मेरी चार बहनें और भी हैं. आपको अच्छी लगी तो कहिये ‘यह है असली चुदाई’ मुझे मेल करके जरूर बताएं. वो तपाक से बोला- कोई बात नहीं, अंदर किसी रूम में कर लेते हैं अगर आपको कोई प्रॉब्लम न हो तो.

वो भी चॉकलेट सिरप डाल कर मेरा लंड चाटने लगी और बीच में मेरे आंड भी चाट लेती।ऐसा लग रहा था जैसे में जन्नत की सैर कर रहा हूं।वो लंड चूसने में एक्सपर्ट लग रही थी।अब हम 69 में आ चुके तो और एक दूसरे को चाट रहे थे।थोड़ी देर बाद वो घूम कर मेरे ऊपर आ गई और मेरे सीने को चाटने लगी।फिर मैंने उसे घुमा कर उसे नीचे गिरा दिया और उसके ऊपर आ गया. मैंने कहा- अच्छा और वो दूसरे वाले पार्सल में क्या है?आंटी ने कहा- उसमें तो मैंने कुछ किताबें मंगवाई हैं … वो हैं. अगली सुबह जब वो मेरे रूम में मुझे उठाने के लिए आई तो मेरी आंख खुल गयी.

उसने देखा कि उनका बेटा और बेटी एक दूसरे से एकदम नंगे होकर लिपटे हुए हैं.

मैंने कहा- ठीक है … आप लंड तो चूसो … तीन दिन तक मेरे माल की एक एक बूँद सिर्फ आपकी चूत में ही जाएगी. मुझे समझ आ गया था कि लौंडिया नई नकोर है और एकदम कुंवारी चुत के के भीतर मेरा लंड घुसा हुआ है. वो मेरे कान के पास आकर धीरे से बोलो- आज कुछ ज्यादा ही माल था … मेरा तो पेट भर गया, मुझसे कुछ ना खाया जाएगा.

निशा बहू की चूत का दाना सहलाते हुए मैंने एक उंगली उसकी चूत के अंदर घुसा दी. उन्होंने बताया कि अरे कुछ नहीं, आज मेरी तबीयत ठीक नहीं थी, इसलिए जल्दी चली आई. वो तीन नयी चूत मुझे कैसे मिली और मैंने उनकी चुदाई कैसे की, वो सब बातें मैं आपको अपनी आने वाली कहानियों में बताऊंगा.

इस समय जिया मेम पूरी तरह से गर्म हो चुकी थी इसलिए थोड़ी देर सर के मनाने पर जिया मेम मान गयी.

अन्तर्वासना मामी की चुदाई की कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरी जवान मामी हमारे घर आयी और हम दोनों के बीच नजदीकियां बढ़ गयीं और मामी की चूत और गांड तक पहुँच गयी. उसके मुंह से सिसकारियां अब बहुत तेज हो गयी थी- आआह्ह … ऊहह … आईई … याह्ह … उम्म … आह … आह्हआ … आआआ आह्ह … करके वो अपनी चूत को चुसवाते हुए मदहोश हो गयी.

बीएफ xxx वीडियो हम दोनों की पहले ही फोन पर काफी कुछ बातें हो चुकी थीं और मैं उसे पसंद कर चुका था. मैं एक हाउस वाइफ हूं। मैं पिछले काफी समय से अंतर्वासना पर हर तरह की सेक्स कहानियां और लेख पढ़ रही हूं।मुझे अंतर्वासना पर कहानी पढ़ना बहुत अच्छा लगता है। वहां पर मुझे लोगों के ख्यालों के बारे में पता लगता है। अपने यहां के लोगों की सोच के बारे में पता लगता है।खैर, आज मैं आप लोगों के सामने अपनी भी एक कहानी लेकर आई हूं.

बीएफ xxx वीडियो अब रोशन लाल ने अलीज़ा को सोफ़े पर सीधा लेटा दिया और अपना लंड चूत पर सैट करके एक धक्का दे दिया. मां और मामी हमारे लिए सामान खरीदने बाजार गईं तो मैं सो गई, रात को टीवी पर देर तक पिक्चर देखी थी और सुबह मां ने जल्दी जगा दिया था इसलिए मुझे नींद आ रही थी.

मेरा बाप इतने अच्छे माल को छोड़ कर मेरी रंडी बीवी के चक्कर में पड़ गया था.

करीना कपूर सेक्सी चुदाई

सेक्स करने के बाद वह सही से चल भी नहीं पा रही थी, तो मैं उसे अपनी गोद में उठाकर बाथरूम में ले गया और गर्म पानी से उसकी चूत को अच्छे से साफ किया. मैं बोला- अगर उनका नहीं होता है तो फिर अपनी ननद के बेटे के साथ ही कर लोगी क्या? वो भी तब जब मैं भी घर में था. इससे हुआ यूं कि किसी को भी नीचे का कुछ दिख नहीं सकता था कि मेरा हाथ कहां रखा हुआ है.

मगर न तो आज तक उसे फोन किया था और न मैसेज। उस दिन मैंने उसे पहली बार कॉल किया. आंटी के झड़ जाने के बाद मैं अपने कपड़े उतार कर सिर्फ अंडरवियर में उनके ऊपर चढ़ गया और लिप किस करते हुए चूमाचाटी करना शुरू कर दिया. मैंने अपने बैग से क्रीम निकाल कर भाभी की गांड में लगायी और उंगली डाल कर गांड का छेद ढीला किया.

न चाहते हुए भी मेरी नजर अक्सर मेरी मां के चूतड़ों पर ही जाती रहती थी.

फिर उनके पीछे आने वाले भी डर की वजह से उसी रास्ते पर चले आते हैं और उसी को धर्म से जोड़ देते हैं. मैंने उसको पास में पड़े सोफ़े पर लिटा दिया और उसकी टांगों को अपने कंधों पर रख कर चूत को चाटना शुरू कर दिया. कुछ पल बाद मेरा लंड सिकुड़ कर सलोनी की चूत से बाहर आ गया और मेरा लावा चूत से होता हुआ बाहर टपकने लगा.

मैं बोली- कितनी देर में निकलना है?वो बोला- एक घंटे में गाड़ी आ जायेगी. मैंने खाना लगा दिया और उनसे पूछा- आप बहाना बना कर क्यों रूकीं?तो उऩ्होंने कहा- रूको … खाना खाने के बाद बात करूंगी. मैंने बुआ को समझाया कि हां थोड़ा दर्द तो होगा … मगर फिर मज़ा भी बहुत आएगा.

प्रिया ने जिस तरह से मेरा लंड पकड़ा था … उससे थोड़ी ही देर में मेरी उत्तेजना जाग गयी थी. मैंने अपनी टी-शर्ट निकाल दी और दीदी के बाल को पकड़कर उनके मुँह में लंड अन्दर बाहर करते हुए सीत्कार करने लगा.

सर का एक हाथ जिया मेम की कमर पर था तो दूसरा हाथ जिया मेम के हाथ में था. मैंने एक पल रुक कर उसे देखा और कहा- प्रीति मुझे तो कोई दिक्कत नहीं है. आह … मुझे खुद ही अपनी अनचुदी बुर के रस के स्वाद का अहसास फिर से गर्म करने लगा था.

क्या बताऊं दोस्तो, यहां मैं उस सलहज का नाम नहीं बता सकता क्योंकि उन्होंने नाम बताने से मना किया है.

उसने धीरे धीरे मेरे लंड को पकड़ कर लोअर के ऊपर से सहलाना शुरू किया. एक औरत जब पराये मर्द को घर में बुला कर कुंडी लगाने लगे तो इसका मतलब वो जरूर उससे कुछ न कुछ चाहती है. फिर हम सिर्फ फोन पर बात करने लगे।एक दिन बात करते हुए उसने मुझे मिलने के लिए पूछा.

तभी उस आदमी ने अपने लंड के टोपे पर थूक लगाया और मां की गांड पर लंड सेट करके एक जोर का धक्का दे दिया. स्मृति का कद पांच फीट पांच इंच, तीखे नैन नक्श, गोरा रंग व भरा बदन मुहल्ले के सभी लड़कों के दिल में हलचल मचाये हुए था.

मैं कपड़े व गद्दी घर से लेकर आयी थी क्योंकि आज चूत का उद्घाटन होना था. आप कमेंट्स के जरिये अपने विचार रख सकते हैं अथवा मुझे मेरी ईमेल पर संपर्क कर सकते हैं. उसने साफ़ साफ़ लंड लेने की बात कही तो मैंने भी देर न करते हुए उसके दोनों पैरों को चौड़ा कर दिया.

सेक्सी + 10

मैंने भी अपने दोस्तों से इस बारे में काफी सुना था लेकिन यकीन तब हुआ जब मेरे साथ भी ऐसी ही मजेदार चुदाई की एक घटना हो गयी.

वो जोर जोर से सी… सीई… सीईई… करके आवाज़ करती रही।मैंने उसका एक हाथ मेरे हाथ में लिया और मेरे लंड की तरफ इशारा किया। पहले तो वो पैंट के ऊपर से ही मेरे लंड को मसलने लगी लेकिन फिर तुरंत बाद जोर से दबा कर वो मेरे लंड की तरफ मुड़ गयी। वो घुटनों के बल नीचे बैठ गयी।शायना ने मेरी बेल्ट को खोला और मेरी पैंट उतार कर एक तरफ रख दी। मैं अब उसके सामने अंडरवियर में खड़ा था. अब मैं तुम्हारे साथ ये सब ज्यादा नहीं कर सकती हूं और मेरा बॉयफ्रेंड भी है. मुझे उसकी इस बात पर थोड़ा गुस्सा आया और मैंने उसको थोड़ा मुँह बना कर देखा।अब वो समझ गया कि मुझे उसकी बात अच्छी नहीं लगी.

कभी उनकी गांड में और कभी उनके मुंह में लंड देकर मैं पापा के मजे लेता रहा. लंड को घुसा कर मेरी चूचियों को दबाते हुए वो मेरी पीठ पर बेतहाशा चूमने लगा. गांव की भाभी की सेक्सी वीडियोइतने में ही मेरे लंड का पानी निकल गया और मेरी बहन का पूरा हाथ मेरे वीर्य में सन गया.

वहीं सुनीता आंटी की लंबाई लगभग 5 फुट 5 इंच और उनका जिस्म लगभग 38 34 38 था. भाई बहन की कहानी के अगले भाग में मैं आपको बताऊंगा कि मैंने अपनी छोटी बहन की चुदाई कैसे की और हम दोनों ने कैसे मजे लिये.

वो बोली- आप सच बोल रहे हो क्या?मैंने कहा- हां, बिल्कुल सच बोल रहा हूं. उसने मुझे बताया कि तुम आज घर पर ही रुक सकते हो … मम्मी पापा कल आएंगे. बेड की चादर पर भी खून, मेरी चूत के मुख पर भी खून, सुमित के लंड पर भी खून लग गया था.

थोड़ी देर तक भाभी के इसी पोजीशन में सोने से मेरी तो हालत खराब होने लगी थी. ’मैंने आंटी के सीने पर अपने होंठों को सीने रखकर किस करना शुरू कर दिया. उसके बाद हमने क्या किया?भाई बहन की चुदाई की इस सेक्स कहानी के पिछले भागजीजा ने भाई से बहन की चूत चुदवाई-3में आपने जाना कि इस वक्त मैं घर में अकेला था और अपनी दीदी की चुत चुदाई के लिए बेकरार था.

बुआ बोलीं- धीरे कर … इतनी जोर से भी कहीं दबाए जाते हैं … उखाड़ेगा क्या!मैं हंस दिया और उनके गाल पर चुम्मी ले ली.

तभी वो पूरी ताकत लगा कर लगभग मुझे घसीटते हुए स्विचबोर्ड के पास पहुंची और लाइट ऑफ कर दी।उसका गर्म जिस्म मेरी बाँहों में था. हम दोनों ऐसे ही एक दूसरे से चिपके हुए अपनी सांसें नियंत्रित कर रहे थे.

इसके लिए मैंने दो दिन के लिए हनीमून स्वीट और चार दिन के लिए एक बीच हाउस बुक करवा दिया. मैं बोला- मगर मैंने ये कब कहा था कि मैं गांड मरवाऊंगा?वो बोला- मगर कुछ भी करने के लिए हां की थी. उसने झटके से अपने हाथ को हटा लिया और बोली- क्या कर रहा है?मैंने कहा- क्या हुआ यार?वो बोली- ये सब क्या था? ये सब यहां नहीं।उसका जवाब सुन कर मैंने भी मन मार लिया और इन्तजार करने लगा।जैसे तैसे फ़िल्म खत्म हुई और हम बाहर निकले.

मैंने उनकी कमर को पकड़ लिया और जोर जोर से धक्के लगा कर मामी की चुदाई करने लगा. उनके चूचे एकदम बाहर की ओर निकले हुए थे, कम से कम 36 इंच की चूचियां तो होंगी ही… भाभी की पतली कमर थी और सबसे अच्छी तो उनकी गांड 42 इंच के आस पास की रही होगी. मैंने उससे पूछा- मम्मी पापा को कितने बजे तक आना है?उसने अपने पापा को कॉल किया और पूछा- आपको कब तक आना है.

बीएफ xxx वीडियो ललिता तो चुदासी हो ही रही थी, मैं भी कुंवारी चूत चोदने को उत्सुक था इसलिए मैंने ललिता को गोद में उठाया और उसके बेडरूम में ले आया. वो मुझसे विनती करने लगी- अब्बू पूरी ताकत से जोर जोर से चोदो … अपने धक्कों की स्पीड बढ़ा कर अपनी बेटी को मसल दो … आह अपनी बिटिया को चोद दो … अच्छी तरह से रगड़ दो आज मुझे.

सेक्सी न्यूड पिक्स

क्योंकि उन्होंने रंग से खराब हो चुके सारे कपड़े उतार दिए थे और एक नए पेटीकोट के ऊपर एक टी-शर्ट डाल ली थी. उसके बाद मां को गांड चुदवाने में मजा आने लगा और निखिल अब पीछे की ओर आ गया. पर कुछ दिनों बाद कोमल दीदी ने ट्यूशन पढ़ाते हुए बताया कि उनकी मम्मी किसी रिश्तेदार के घर शादी में जाने वाली हैं और कुछ दिनों तक वहीं रहेंगी.

मुझे उस पर बहुत दया आयी कि कैसे मैंने अपनी ही मां को बरहमी से चोद कर अपनी हवस शांत कर ली. वापस आकर कुछ ही पलों में मैंने अपने लंड पर कॉन्डम चढ़ाया और दोबारा आंटी को चूसना शुरू कर दिया. सेक्सी सेक्सी सेक्सी एक्स एक्सउन्होंने कहा- सुन तो ले … पहली ये बात किसी को भी पता नहीं चलना चाहिए … किसी को भी मतलब, किसी को भी.

मुझे हल्का हल्का दर्द हो रहा था और हल्का हल्का दर्द ताई को भी हुआ मगर देखते ही देखते पूरा लंड अंदर चला गया.

मनोहर ने मुझसे एक पैर बेड पर रखने के लिए कहा जिससे कि वो मेरी चूत में लंड डाल सके. मैं सोच में पड़ गया था कि आज मेरी मां मेरे साथ करना क्या चाह रही है.

मैं अपना मुंह उसके चूतड़ों के काफी करीब ले गया और माँ की जवानी की गन्ध सूंघने लगा. दोस्तो, मेरा लंड एक नॉर्मल साइज़ का लंड है … मतलब छह इंच लम्बा और करीब ढाई इंच मोटा है, जो किसी भी औरत को संतुष्ट कर सकता है. आंटी ने कहा- तुमने ये पार्सल क्यों खोला?मैंने कहा- आंटी मैं तो बड़ा वाला ही खोल रहा था, लेकिन इसमें टेप लगी हुई थी … तो मैंने सोचा ये छोटा वाला ही खोलकर देख लूं.

मेरे ऐसा करने से वो बहुत ही कामुक सिसकारियां लेने लगी- आह्ह … उम्म … ओह्ह।तभी मैं घुटनों के बल बैठा और उसकी नाभि पर किस करने लगा.

तेजी से उसकी चूत को पेलने लगा और गाली देते हुए बोला- साली तू मेरी रखैल बन जा. मैंने उनकी तरफ देखा तो आंटी ने झट से अपनी साड़ी का पल्लू हटा दिया और मुझे उंगली के इशारे से पास बुलाया. वो बोली- तुमने आज से पहले तो कभी ये नहीं लगाया, फिर आज क्यों लगा रहे हो?मैंने कहा- इसको लगाने से आपको दर्द कम होगा और मजा ज्यादा आयेगा.

चुदाई फिल्म चुदाईइस पर वे लड़के हंसकर बोले- यह टेंपरेरी टैटू रहेगा जो कि 1 से 2 महीने के बीच में निकल जाता है. और गूंज रही थी मेरी चूत में लंड के अंदर बाहर होने की फच फच की आवाज।बीच-बीच में नीरव मेरे नितंबों पर थप्पड़ भी मार रहा था जिस थाप भी बहुत मधुर लगती थी।मानव और नीरव दोनों ने अपनी चुदाई की स्पीड दुगनी कर दी।क्या मजेदार अनुभव था।क्योंकि मानव मुझे गाड़ी में एक बार चोद चुका था इसलिए वह भी इतना जल्दी नहीं झड़ने वाला था.

देवर भाभी की सेक्सी देवर भाभी सेक्स

करीब 9:05 बजे पर अंजना की मॉम पूजा सिंह और डैड मोहित सिंह … दोनों हाथ में बैग लिए बाहर निकले. चोदते चोदते मैंने आंटी से फिर से बोला- आंटी बताओ न? आप मेरा साथ दोगी पीयूष की पत्नी को चूत चोदने में?आंटी ने हां कर दिया. उसे मेरा साथ पसंद आया और उसके साथ ही हमारी दोस्ती शुरु हो गई।उस दिन के बाद से रोज हमारी रात भर बात होती और दिन में रोज़ घूमने जाते थे.

ब्रा के ऊपर से ही रेखा की चूची दबाते हुए मैंने कहा- तुम्हारे कबूतर बहुत खूबसूरत हैं, इन्हें आजाद कर दो. मैंने उसे प्यार से समझाया और धीरे-धीरे उसको किस करते हुए उसके मम्मों को दबाते हुए उसे चुप कराया. पर इतने में मैंने अपने होंठ उसकी गुलाबी चूत की पंखुड़ियों पर रख दिए.

अब मेरे अंदर सेक्स का शैतान जाग गया था और मैं बिना कुछ सोचे मौसी की चूत में उंगली चलाने लगा. डिस्क्लेमर: (अस्वीकार्यता)- कहानी में गर्लफ्रेंड का सम्मान बनाये रखने के लिए ज्यादा अश्लील शब्दों का प्रयोग नहीं किया गया है. वो अब दर्द से जरा भी नहीं तड़फ रही थी … लेकिन उसकी आँखों में अभी चुदाई की मस्ती नहीं दिख रही थी.

मुझे उसका लन्ड चूसने में बहुत आनंद आ रहा था क्योंकि बहुत देर से ये मेरे सामने था. सोच कर रह जाता था कि यदि मां ने पापा को बता दिया तो मुझे घर से ही निकाल देंगे.

दोस्तो, मेरे लिये दुआ करना कि मुझे उस जवान लड़की की चूत चोदने का मौका मिल जाये.

उस दिन आंटी जैसे ही अपने रूम में आईं, तो मैंने उनको छिप कर देखा, पर मैं बाहर नहीं गया. बीपी हिंदी सेक्समैंने इधर उधर देखा तो उधर कोई दूसरी लड़की दिख ही नहीं थी, यानि ये आवाज उसने मेरी आहट पाकर शायद मुझे ही रूबी समझ लिया था. लंबा लंड की चुदाईअब इस सर्दी के मौसम में भी हम दोनों के जिस्म पसीने से तरबतर हो गए थे. मैं बोला- तो ठीक है, तो फिर आज भाभी की गांड चुदाई का सपना भी पूरा कर देता हूं.

मैं वॉशरूम के अंदर जाकर जेंट्स वाली साइड में चला गया और हल्का होने लगा.

विशाल ने अपनी उंगली से क्रीम मेरी गांड में अन्दर तक लगा दी और अपने लंड पर भी लगा ली. मेरी सलहज की चुत को काफी देर तक अलग अलग तरह से बजाने के बाद जब मैंने उससे पूछा- मेरा होने वाला है, रस कहां निकालूं?तो भाभी ने कहा कि सब माल अन्दर ही आने दो … मेरी इस प्यासी धरती पर बहुत दिनों से वीर्य की बारिश नहीं हुई है. अब मैं धीमे धीमे अपनी भाभी की सेक्सी नंगी चूत में लंड को चलाते हुए धक्के लगाने लगा.

कोमल दीदी मेरी तरफ इशारा करने लगीं, पर मैं कुछ नहीं बोला और वो बैग ले कर चलने लगी. मगर इतने में ही सुमित ने धक्का लगा दिया और उसका आधा लंड मेरी चूत में फंस गया. मैं सुनकर खुश हो गया और पापा को उल्टा लिटाकर उनकी गांड में लंड देकर चोदने लगा.

नंगी सेक्सी चोदते हुए वीडियो

वो बोला- मैडम मैं माफी चाहता हूं लेकिन आप ही बताओ कि आप इतनी अच्छी हो, इतनी सुंदर हो, अब कोई आप को नंगी नहाते देख ले तो कोई कैसे अपने आप को रोक सकता है? इसमें मेरी क्या गलती है? आप जैसे माल को तो मैं ज़िन्दगी में कभी चोद नहीं सकता और वो तो कहो कि मेरी किस्मत अच्छी है जो मैंने आपको नंगी देखा. बेटा खुले घर में अपनी बीवी को चोद रहा है और आप मुझे भी देखने के लिए कह रहे हो!पापा बोले- इसमें शर्म की क्या बात है. मैंने अनजान बन कर पूछा कि कौन पूछ रहा था?तब उन दोनों ने बताया यार वही दोनों चिकनी आई थीं, क्या नाम है उनका.

मगर पापा के चेहरे पर साफ दिख रहा था कि वो मुझसे नजर मिलाने की हालत में नहीं थे.

मैंने उनसे बोल दिया- क्या आप मुझसे शादी करेंगी?मेरी इस बात पर मनीषा बुआ एकदम से सन्न रह गई.

मैंने अपनी ब्लैक ब्रा भी ले ली और तौलिया-साबुन लेकर नहाने के लिए चली गयी. रही बात शादीशुदा होने की तो मैं आपसे शादी करने को नहीं बोल रही हूँ, केवल प्यार करने के लिए बोल रही हूँ. हिंदी में ब्लू फिल्म बताएंचूत चुदवाने के बाद मजा तो बहुत आया लेकिन उसके मोटे काले लंड ने चूत में दर्द भी कर दिया और गांड का बाजा भी अच्छी तरह से बजा दिया.

फिर बोली- लगता है दम नहीं है मेरे पर चढ़ने का?मैं- अच्छा!तभी मोसी भैंसे को अंदर बांधने चली गई. मैंने लंड उसकी चूत पर लगाकर लंड सैट किया … और लंड अन्दर डालने वाला था … तब उसने कहा- जरा ध्यान से डालना. मामी हंस कर बोलीं- अरे ये तो पुराने कपड़े हैं … रंग से खराब न हो जाएं इसलिए मैं ये पहन लिए हैं.

मैं भाभी को चूमते हुए उनकी सारी लार पी गया और किस करते हुए उनके जिस्म को टटोलने लगा. एक टैक्सी आई हुई थी, वे दोनों उसमें बैठ गए और मैंने उन्हें जाते हुए देखा.

आप एक काम करो, सबसे पहले आप हमारी ननद को चोद कर फ्री करो, जिससे हम दोनों अपने घर जा सकें क्योंकि घर से निकले हुए हम दोनों को बहुत देर हो गई है.

उन्होंने बताया कि अरे तुम आजकल आनन्द में हो, कल मुझे भी वहीं आना है. हालाँकि मैंने भी उसको मुस्करा कर जवाब दिया लेकिन मुझे यकीन नहीं हुआ कि वो मुझे देख कर मुस्काराई होगी. मनोहर मेरे कंधों के पास हाथ रख कर मेरे ऊपर झुक गया और मैं अपने हाथ में उसका लंड पकड़ कर अपनी चूत पर रगड़ रही थी और मनोहर मेरे होंठों को चूम रहा था.

સેકસી ગાને इतने दिनों के बुरे वक्त के बाद आज मुझे लंड मिला था और वो भी एक नहीं पूरे तीन तीन लौड़े. हम दोनों एक दूसरे को बुरी तरह से चूमने चाटने लगे और 69 की पोजीशन में आ गये.

वो कुर्सी पर बैठ कर हम दोनों को चूमा-चाटी करते हुए आराम से देख रहे थे. वो अब दर्द से जरा भी नहीं तड़फ रही थी … लेकिन उसकी आँखों में अभी चुदाई की मस्ती नहीं दिख रही थी. उसके बाद दीदी ने मेरे लंड को मुँह में ले लिया और दो मिनट तक चूसती रहीं.

प्रियंका चोपड़ा सेक्सी डांस

करवाचौथ से लगभग तीन दिन पहले शुक्रवार को जब मैं शाम को घर आ रहा था, तो आंटी घर के गेट पर ही मिल गईं. अब वहां चूंकि बैठने के लिए जगह कम थी तो वो इसी बेंच पर थोड़ा सा आगे को होकर बैठ गया. अगर वो ब्रा और पैंटी से खेले तो इसका मतलब है कि वो भी आपके साथ मजे करना चाहता है.

किसी रोज रात को समय निकाल कर मैं खुद तुमसे मिलूंगी।फिर सामने वाले शख्स ने दीदी से क्या कहा ये तो मुझे पता नहीं. उसके बाद वो मुझसे नहाने के लिए कह कर बाहर आ गयी और बोली कि तू भी जल्दी से नहा ले, उसके बाद मैं तेरे कपड़े धो दूंगी.

हुआ यूं कि मैं रोज़ाना की तरह बुर्का पहने बस स्टैंड पर खड़ी बस आने का इंतज़ार कर रही थी.

यह प्रेम पत्र मैंने अपने हाथों से ललिता को दिया और कहा- इसे पढ़ लेना, मुझे तुम्हारे जवाब का इन्तजार रहेगा. अब मैंने पूछा- अब बताइए भाभी … कुछ ख़ास काम था क्या?भाभी अपने मुँह से कुछ नहीं बोलीं. इस पर अम्मी कोई भी प्रतिक्रिया नहीं देती थी क्योंकि उन्हें सिर्फ जनाजे के लिए जल्दी पहुंचना था.

अब नहीं करूंगा।इतना बोल कर पापा ने मुझे गले से लगा लिया।मैं- पापा छोड़ो आप, मुझे स्मैल आ रही है आपके बालों में से।वो बोले- तू जो बोलेगा वो दे दूँगा, बस किसी से इस बात के बारे में मत बोलना, बहुत बेइज्जती हो जायेगी. उसकी बड़ी बहन ने कहा- ऐसा लगता है आप अमिता तो रात भर सोने नहीं देते हो. उस दिन मैंने रेड कलर में बड़े गले का टॉप पहना हुआ था, जिसमें से मेरे 36 इंच के चूचे साफ नजर आ रहे थे.

अब सक्सेना सोफे पर बैठ गया और मुझे मेरी चूत उसके मुंह पर रखने को बोला.

बीएफ xxx वीडियो: फिर मैं रोज उसके घर जाने लगा और जब भी मैं चाची के सामने या आसपास होता … तो उनको घूरता रहता था. भाभी कहने लगीं- नहीं … मैंने आज तक गांड नहीं मरवाई है … बहुत दर्द होगा.

जब मेरा माल निकलने को हो गया तो उसने अपने किसी भी छेद में निकालने से मना कर दिया. उनको मेरी बात पर यकीन नहीं हुआ, तो वो मुझे कहने लगीं- तू मुझसे क्या चाहता है?मैंने उनकी तारीफ की- आंटी आप मुझे बेहद खूबसूरत लगती हैं. एक दिन कार में बैठे हुए उसने मेरी जांघ पर हाथ रख दिया और छेड़ने लगा.

मैं उनके बेटे को अपने साथ किचन में ले गया और उनके लिये चाय बनाने लगा.

धीरे धीरे करके अब मैं रोज़ाना किताब पढ़ने लगा और रोज ही बहन की पैंटी में मुठ मारने लगा. जीजा जी दीदी के होंठों को चूमने लगे और मैं दीदी की मस्त गांड को सहलाने लगा. मेरी सोच के मुताबिक, मौसा की जो सेक्स फाइलें थीं और चुदाई के जो वीडियो मैंने देखे थे उनके बारे में और ज्यादा जानने के लिए मैंने कैमरे का प्रयोग करने की सोची कि ये सब सच है या कल्पित है.