बीएफ चोदी चुदाई

छवि स्रोत,बीएफ सेक्सी वीडियो एचडी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

थ्री एक्स बीएफ दिखाइए: बीएफ चोदी चुदाई, जाने से पहले एक दिन दोनों ने करीब आधा दिन ब्यूटी पार्लर में बिताया, बदन को चमकाया, घर आकर चुत को चिकना बनाया और फिर रात के दो बजे की फ्लाईट से हम दोनों कोह फांगान के लिए रवाना हो गयी.

रिया के बीएफ

जैसे मैंने मेरा लंड उनकी चुत में डाला तो लगा कि मेरा लंड किसी गरम आग की भट्टी में चला गया हो. बीएफ फिल्म लंड चूतजब जॉन ने अपनीबहन की चुतको चाट कर एकदम साफ कर दिया, तब फ्लॉरा को होश आया कि अभी जो हुआ वो क्या था.

मेरी पड़ोसन गर्लफ्रेंड की चुदाई स्टोरी कैसी लग रही है?पड़ोसन गर्लफ्रेंड की चुदाई स्टोरी का अगला भाग:माँ को चोद कर बेटी की फैंटसी पूरी की-2. हिंदी के बीएफ हिंदी की बीएफमैं किसी तरह से अपनी भावनाओं को अन्दर ही अन्दर रख कर जिये जा रही थी.

दोनों बोले- ठीक है, हमें मंजूर है, और अगर तुम ये सब ना कर पाए तो तुम्हें इसके दुगने पैसे हमें देने होंगे.बीएफ चोदी चुदाई: वाशरूम से फ्रेश होकर निकला तो बहू रानी चाय लेकर आ रही थी, उसने चाय साइड टेबल पर रख दी.

टीना- बात पहले की है जब मैं बहुत छोटी थी, तब पापा का बिजनेस अच्छा चलता था और मेरे एक अंकल थे जो उनके पार्ट्नर थे.मैंने अपनी लंड की महक रुमाल में ली और फिर बाहर आकर वो रुमाल भाभी को दे दिया.

बीएफ पंजाबी वीडियो में - बीएफ चोदी चुदाई

कोई भी उसे देखकर उसको प्रपोज़ करके चोदने की ज़रूर सोचेगा क्योंकि वो एक मस्त माल है.फिर मैं उसके बूब्स को दबाने लगा और वो बहुत ही खुशी से अहह अह्ह्ह करने लगी.

यह सुन कर मेरे मन में निराशा छा गई, पर एक तरफ ये भी लगा- चलो, अभी नहीं तो चार पांच दिन बाद सही!फिर उसी रात अंकल का अलग कमरे में बिस्तर लगा दिया और वो थके होने के कारण जल्दी सो गए और पूजा मेरी बहन के साथ सोने लगी. बीएफ चोदी चुदाई उसके मुँह से हल्की सी दर्द भरी सिसकारी निकली, जो शायद उसके मम्मे दबाने के दर्द से निकली थी, मगर वो सिसकारी मेरे मुँह में ही दफन हो कर रह गई.

सुनो, मैं जब स्कूल में थी, तब मुझे अंकल का व्यवहार अलग सा लगने लगा.

बीएफ चोदी चुदाई?

मेरी उम्र 39 साल है, पर कोई भी मुझे देख कर यह नहीं कह सकता है कि मेरी उम्र 39 साल की है. मैं तब तक नहीं हटा, जब तक मेरा माल नहीं गिरा, और जब गिरा तो मैंने उसका सर अपने पूरे ज़ोर से खींच कर अपने पेट से लगा लिया. माँ भी अपने चूतड़ों को तेज़ी के साथ नचाते हुए अपनी गांड को मेरे जीभ पर धकेल रही थीं और मैं उनकीचूत को जीभ से चोद रहा था.

ऊपर होते हुए अब मैंने उसकी समीज निकाल दी, वो पिंक एयरटाइट ब्रा में थी. जैसे ही मामा का हाथ मेरी चूत पर गया, मेरी चिकनी चूत पाकर मामा की आँखों में एक चमक सी आ गई और मुझसे पूछे- चुत के बाल कहाँ गए?यही सरप्राइज था. कैसे उन दोनों ने मुझे चोदा और कैसे उन्होंने मेरी जवानी के रस का आनन्द लिया.

’ की आवाज निकली और फिर चुप हो गई, पर अब भी वो मेरा साथ नहीं दे रही थी. कहानी का पिछला भाग :सहकर्मी भाभी ने दोस्ती करके चूत चुदाई-1वाह भाभी, आज तो तूने कमाल ही कर दिया… क्या मस्त जोरदार चुदाई कर डाली… आज तो असली जवानी की चुदाई का मजा आ गया। बहुत धम-धम चुदाई थी. माँ मेरा हाथ पकड़ कर अपने रूम में ले गई और बिस्तर पर बैठ कर बोली- क्या तुम अपनी माँ के साथ भी यही पाप करना चाहोगे?‘माँ, तुम ये क्या कह रही हो, मैं तुम्हारा बेटा हूँ?’‘बेटे तुमने मुझे बहुत गर्म कर दिया है, तुम्हारे माल की धार बहुत तेज है.

और अचानक से सबीना शांत हो गई, उसने ढेर सारा चूत रस जमीला के मुँह में छोड़ दिया जो बीयर के साथ मिलकर जमीला के पेट में चला गया. मैं पिछले 5 सालों से चैटिंग कर रहा हूँ लेकिन कोई लड़की मुझसे पटती ही नहीं थी.

गुलशन- वाह भाई आज तो मज़ा आ गया, मगर एक बात बताओ मॉल में तुमने ऐसा क्यों कहा कि आपको किसी की इच्छा से क्या लेना-देना! क्या मैं तुम्हें कभी किसी बात के लिए मना करता हूँ.

कुछ पल रुक कर अपने आपको ठंडा करने के लिए मैंने फव्वारा स्टार्ट किया.

मुझे मजा आ रहा है।मैंने उसको और ज़ोर से चोदने लगा और फ्रेंच किसिंग भी करता रहा। कुछ धक्कों के बाद मैं भी झड़ गया और सारा माल उसकी चुत में ही छोड़ दिया।हम दोनों पसीने-पसीने हो गए थे, तब भी एक-दूसरे में चिपके रहे।कुछ देर बाद फिर से जवानी मचलने लगी।उसके बाद उसने मुझे जीभ किस किया और डॉगी पोज़िशन में बैठ गई। मैंने उसके हाथों को पीछे से पकड़ा और लंड चुत में डालकर चुदाई चालू की।अबकी बार वो कह रही थी- अह. आप क्यों बोल रहे थे चुत फट जाएगी?संजय- अरे पागल अभी इतना समझाया कुछ नहीं फटी. मैं सबीना के साथ पिछली सीट पर मस्ती करता हुआ आया और फिर आने का वादा लेकर मुझे विदा किया.

उसने मारे सर को पकड़ लिया और अपनी कमर थोड़ी सी ऊपर को उठाई, शायद उसको मज़ा आया. जब संजय ने देखा की पूजा की आँखें अभी भी भीगी हुई हैं तो उसने पूजा के आँसू साफ किए और उसको बेतहाशा चूमने लगा. सुमन अब गुलशन जी के ठीक सामने खड़ी थी मगर उसने एक ग़लती कर दी उसे जल्दी वहां से निकल जाना चाहिए था क्योंकि चुत की जगह पे हल्का सा गीलापन था और गुलशन जी की नज़र सीधी वहीं चली गई.

मैंने लण्ड को चूत पर रखकर एक ही झटके में सारा का सारा लण्ड घुसेड़ दिया.

उन्होंने एक बड़ी ही कातिल मुस्कान से देखा मुझे और फिर अगले ही पल उनके नीचे वाले होंठ को मैंने अपने होंठ में ले लिया और गुलाब की पंखुड़ियों से रस चूसने का कम शुरू किया. तुझे कैसे पता? और ये मर्द जात वाली क्या बात है मेरे लंड को उसी ने खड़ा किया था।टीना- यार इससे भी एक साल छोटी थी मेरी फ्रेंड. अब यश अपने मेरे निप्पल चूसते हुए मुझे झंझोड़ रहा था, मेरे दूसरे मम्मे पे तड़ातड़ चांटे मार रहा था.

इसके बाद से मैं कोई ना कोई बहाना ढूँढ रहा था कि कैसे फिर से चाची की चूचियों के दर्शन हों. उसने अचानक ही मेरे बाल पकड़े और मेरा मुँह उसके लंबे ताजे लंड पर दबा दिया जिससे उसका लंड मेरे कलेजे तक पहुँच गया. वहाँ पर मैं सबसे मिला क्योंकि मेरी सबसे बनती थी। जब मैं वापिस अपने घर जाने लगा तो मुझे एक टीचर ने बुलाया।उन मैडम का नाम राजू था.

कविता नहीं समझी तो विनय बोला- ये बिना कंडोम के करती नहीं, अब तू मौसी कैसे बनेगी.

मैंने उनकी ब्रा और पेंटी को निकाल दिया और उनके मम्मों पर तेल लगा कर उन्हें मसलने लगा. जब मैं ऊपर गई और उसके रूम के सामने गई तो देखा कि उसके रूम की लाइट जल रही है.

बीएफ चोदी चुदाई नताशा ने भवें झुका कर मुझसे पूछा- क्या सचमुच तुम्हें ऐतराज़ है डियर?‘अगर तुम्हारा मन है खेलने का तो मुझे कोई ऐतराज़ नहीं!’ मैंने सहर्ष स्वीकृति दे दी. मैं अपनी बहन के बारे में ये सब सोचकर गुस्से होने के बजाय ये सब होने के बारे में सोचकर अपने ख्याल बुनने लगा.

बीएफ चोदी चुदाई मैं- पर मैं तुम्हारी चूत चुसना चाहता हूँ!ऋतु- कोई बात नहीं तुम मेरी चूत चूसो और मैं तुम्हारा लंड… हम 69 की पोजीशन ले लेते हैं. आज की कहानी विनय और रीना की है, जिनकी शादी छह महीने पहले ही हुई है.

अब क्या करता मैंने पैन्ट उतारी, उसने तुरंत मेरी चड्डी नीचे सरका दी और मेरी गांड को हाथों से सहलाने लगा.

सेक्सी कॉम सेक्सी कॉम

आगे की बात उन्हीं की जुबानी सुनो:ओह मनोज, इतनी सुबह क्यों फ़ोन कर दिया? रात को भी बहुत देर हो गई थी. अब तो मेरी और फट गई, मैं बदहवास हो गया, क्योंकि ऎसी बेइज्जती से तो मरना बेहतर है, मैं आत्महत्या का विचार मन में लाने लगा और ऐसे ही सोने के बहाने लेटा रहा. खाना खाने के बाद जो करना है, कीजिएगा और आपके लिए एक सरप्राइज़ भी है.

मैंने उनकी आंखों में देखा तो उनकी आंखों में मुझे दर्द का एहसास हुआ. लेकिन मेरा तौलिया निकल गया तो तेरी जाँघों के टच से मेरा लंड खड़ा हो गया. मैंने उन्हें फ्रिज से ठंडी बियर निकाल कर पीने को दी, और बैठ कर गप मारने लगे.

फेरों का समय आया जिसमें ज़्यादा वक़्त तो लग ही जाता है, मेरे कुछ दोस्त खाना खाने चले गये और मैं पुजारी को किसी सामान की ज़रूरत ना पड़े इसलिए वहीं रुक गया, दोनो फॅमिली के मेंबर भी फेरे वाले मंडप को घेरे हुए बैठे थे तो मैं भी सबके पीछे कुर्सी लेकर बैठ गया, पंडित को जब भी किसी चीज़ की ज़रूरत पड़ती, मैं उसे लाकर दे देता.

मैंने कहा- तुम खुद ही मेरी पैन्ट उतार दो…तो उसने मेरी बेल्ट खोली और फिर पैन्ट खोल दी और मेरे घुटनों तक आ गई और अब तक मेरा लंड दर्द से फटा जा रहा था और अंडरवियर में टेंट बन चुका था. वो थोड़ा पीछे हुई और हम दोनों बेड पर गिर पड़े और उसका नाजुक सा शरीर मेरे नीचे मचलने लगा. वो खुद भी पीछे की तरफ चूतड़ों को हिला-हिला कर चुदाई में साथ दे रही थी।मैंने उसको गोद में उठा लिया और खड़ा होकर अपना लंड उसकी चुत में डाल दिया। वो मुझसे लिपटी हुई थी.

सोनू ने बताया कि कल उसका बहुत दिल किया तो उसने अपनी उंगली से आग शांत करने की कोशिश की परन्तु मजा नहीं आया. फिर माँ हमेशा तुम्हें जली कटी क्यों सुनाती है?वो बोली- इसके पीछे भी एक कहानी है, दरअसल मेरी बीमारी की वजह से मेरी शादी नहीं हो पाई, तो एक रात जीजाजी ने दारू के नशे में मुझे पकड़ लिया, मैं तो कहीं भाग के जा भी नहीं सकती थी, और मेरे अपने भी अरमान थे. फ्लॉरा की बात की टीना ने बीच में काटकर कहा- चलो जाने दो अगर तुम्हें नहीं बताना तो चलो भाई खाना-वाना लगा लो यार.

अगले 3 दिन तक मैं कॉलेज नहीं गया और इस दिनों में हम दोनों ने शायद ही कोई कपड़ा पहना हो. तब मैंने उनसे पूछा- भाभी किसी हेल्प चाहिए?भाभी रो पड़ीं और कहने लगीं- तुम्हारे भाई एक नामर्द हैं.

अब खेल शुरू करने के नजरिये से मैंने अगले दिन बड़े गले वाली नाइटी पहनी, वो भी बिना ब्रा के, जिससे मेरी चुची नाइटी में उभर कर दिख रही थीं. मैंने उनके घर के आगे बाइक रोकी तो वो मुझे अंदर आने के लिए कहने लगी. अगले दिन मैंने कुछ नहीं खाया, बस रात में अर्जुन ने फ्रूटी ला के दी थी.

अब मैं उसके पेट से होता हुआ नीचे आया और उसकी बुर पर जैसे ही नजर पड़ी.

वहाँ का हर कमरा सेक्स के लिए परफेक्ट था बस कमी थी तो जवान मर्द की जो मस्त चुदाई कर सके. कुछ देर बाद जैसे ही दोनों लड़कों ने पानी छोड़ा तो तुरंत उनकी जगह नए लड़कों ने ली और चुदाई चालू रखी. रानी के मुंह पर पीड़ा के चिह्न उभरे लेकिन वो दर्द को पी गई पर मुंह से कुछ न बोली.

मैंने साइड पे देखा तो अरमान ने रुचिका की चूत को अपने मुंह में लिया हुआ था, उसे चूस रहा था और रुचिका उसके नीचे पड़ी सिसकार रही थी. अब मेरा उनके परिवार से पारिवारिक सम्बन्ध हो गया है, मैं जब भी मुंबई जाता हूँ, उनके वहाँ रुकता हूँ, और कोई ना कोई बहाने से उसकी माँ जरूर चोदता हूँ.

उसने एक हाथ से अपने स्तनों को छुपाया और दूसरा हाथ अपनी चिकनी चूत पे हाथ रख के उसे छुपाने लगी. तभी मुझे पैर में कुछ महसूस हो रहा था, मैंने देखा तो कामिनी मेरे पैरों से खेल रही थीं और स्माइल कर रही थी. और कोई समय होता तो मैं शरमाती, लाज की गठरी बन जाती; आपको कहीं भी हाथ न लगाने देती आसानी से लेकिन आज इन सब बातों का समय नहीं है.

सेक्सी ब्लू पिक्चर सेक्सी में

सांचे में ढला हुआ बदन, गोरा गुलाबी रंग जैसे दूध में केसर घोल दी हो! वासना की अगन में जलती हुई नवयौवना का मादरजात नंगा बेदाग़ जिस्म मुझे जैसे चीख चीख कर पुकार रहा था कि आओ और रौंद डालो मुझे…उसके दोनों पुष्ट स्तन भी अभिमान से जैसे सिर उठाये मुझे चुनौती देने के अंदाज़ में तने हुए थे.

‘जी कहीं नहीं भाबी जी, आप कुछ बता रही थी?’ तिवारी अपने आप को ठीक करते हुए बोला. उसने वैसा ही किया, रोहन बोला- मुझे सर दर्द हो रहा है, मैं सोना चाहता हूँ. उसके बाद हमारी नॉर्मल बात हुई और उसने मुझसे शादी की पिक्स माँगे जो मैंने उनको भेज दिए.

”ये मोर पंख से क्या करोगे?”बस देखती जाओ!”आआ गुदगुदी हो रही है… मत करो न!”उम्म्म्म स्स्स्स उईईइ आआआ स्स्स्स चूत में गुदगुदी मत करो, मैं तड़प रही हूँ. फिर उसने पूछा- मुझे अपनी गर्लफ्रेंड बनाओगे?मैं बोला- क्यों मज़ाक कर रही हो. न्यू बीएफ पिक्चरफिर मैंने पैरों की तरफ से उनकी साड़ी को खींच कर कमर तक चढ़ा दिया और हिम्मत करके अपना हाथ उनकी टांगों पर रखा.

उन्होंने मेरा पेंट उतार कर मेरे लंड को अपने हाथ में ले लिया और धीरे से अपने मुँह को मेरे लंड के सुपारे पर लगाने लगीं. अब मैं उसे देख रहा था और वो मुझे… मैंने तुरंत उसे गले लगा लिया और हम वैसे ही खड़े रहे.

मेरे साथियो, आप मेरी इस बहन की चुदाई की सेक्स स्टोरी पर मर्यादित भाषा में ही कमेंट्स करें. थोड़ी देर बाद रिया आई, उसने जोर से कहा- लव यू निकी डार्लिंग! तुम्हारी वजह से मैं तो जन्नत में आ गयी यार!मैंने भी उसे ख़ुशी ख़ुशी गले लगा लिया. मैंने अपना लंड चाची के पेटीकोट से साफ किया, फिर अपने कपड़े पहनने लगा.

आज मानसी की चूत की धज्जियाँ उड़ने वाली थी और मेरे लंड की वो दावत होने वाली थी जो इसकी कभी ना हुई थी और ना कभी ज़िन्दगी में दोबारा होनी थी. मम्मी शर्म से पानी पानी हो गयी… फिर हौले से बोली- दामादज़ी, प्लीज़ जाने दीजिए, बात क्यों बढ़ा रहे हैं. ”हाँ, पर तुम से ज्यादा नहीं!”ये लो, इनमें से कुछ भी पहन लो!”ठीक है तुम वापिस जाओ, मैं कुछ पहन कर आती हूँ!”मनोज वापिस चला गया.

जब गोपाल ने नीतू के पैर उसे चोदने के लिए फैलाए, तभी पीछे से मोना ने गुस्से में आवाज़ लगाई- ये क्या हो रहा है?जिसे सुनकर गोपाल की सारी वासना हवा हो गई.

क्या कर रहे हो? दूध कपड़े से छान कर पी रहे हो क्या?हाँ जानू!”मैं अब चूत के चारों और पजामे के ऊपर से ही किस कर रहा था. अचानक मम्मी ने मुँह खोल कर जीजाजी का हथौड़ा अपने होंठों से दबा लिया और जंगली बिल्ली की तरह चूसने लगी.

अब वो मादक आवाजें निकालने लगी- ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… उन्ह… आअह्ह… उईईइ… मेरे सजन मुझे और जोर से चोद… मर्र गयी… मेरे जानम, मेरी चूत फाड़ दे आज… आह्ह… ओहहो… उम्म्म… अहह… हई… याह… उईई… क़र उह्ह्ह… आआअह्ह… बहुत मजा आ रहा है… मुझे तूने पहले क्यों नहीं चोदा मेरे सनम!मैं भी उसकी हर बात का उत्तर अपने लंड के झटके से लगातार दे रहा था और उसे अपनी बातों से गर्म भी कर रहा था. चूस ना, मज़ा नहीं आ रहा क्या तुझे?सुमन- मज़ा तो बहुत आ रहा था मगर इसमें से अजीब सा पानी निकल रहा है जिसका टेस्ट भी अजीब है?टीना- अरे पागल. उसकी चीख निकल गई ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ मैंने उसके दोनों चूतड़ों को पकड़ा और स्पीड से चोदने लगा.

उसके छोटे-छोटे निप्पलों को उंगली से सहलाने लगा, कभी उसके बूब्स को पूरा मुँह में लेता, तो कभी जीभ से निप्पल को घुमाता. जरूर मानेंगे, अगर हम उनकी तड़प को इतना बढ़ा दें कि बिना सेक्स किए वो रह ना पाएं, तो वो मान जाएँगे. जानबूझ के तौलिया मैंने नहीं लिया था और कपड़े भी बाहर सोफे पर ही रख के मैं अन्दर चला गया.

बीएफ चोदी चुदाई रोहन ने मुझसे कहा- अंजलि, तुम हमारी मॉडल को बुला कर उसे सब समझा दो. तो सबीना और जमीला दोनों एक साथ बोली- तुमको हमारी चिकनी चूतों की कसम!मैं बोला- एक शर्त पर बीयर पी सकता हूँ.

सेक्सी गोल्ड वीडियो

मैं भी जोश में आकर नेहा का मुख चोदन करने लगा। गुम्म गुंम्म… की आवाज करते हुए मुँह खोल के लौड़ा लेने लगी।करीब दस मिनट तक लौड़ा चुसाई और मुख चोदन करने के बाद नेहा के मुँह में ही लौड़े की पिचकारी फच्च फच करके मार दिया उसका मुँह अपने लौड़े के शानदार रस से भर दिया. आओने वो कहावत तो सुन रखी होगी कि कुत्ते की पूंछ को बारह साल तक नलकी में रखो, तब भी सीधी नहीं होती. फिर उन्होंने मुझे सेक्सी बुक्स पढ़वाई और कुछ वीडियो हम सभी ने वीसीआर पे देखे.

मेरी कोई अपनी साली नहीं है, लेकिन मेरी मौसी सास की लड़कियां हैं जो कि मेरी सालियां हैं, दोनों मस्त माल हैं. तभी किसी शेर की तरह दहाड़ते हुए चंगेज़ ने झड़ना शुरू कर दिया… उसकी मोटी, सफ़ेद वीर्य की बूंदें सुन्दरी की जीभ पर टपकने लगी, और फिर उसके होंठ, गले और छाती पर गिरते हुए उसे पूरी तरह से ढक दिया. निशा की बीएफहेमा- आपको सोना नहीं है क्या जी??गुलशन- तुम सो जाओ, मुझे थोड़ा काम है.

नताशा के मीठे थूक से खूब सन चुके अपने भयानक लंड को उसने कुछ देर बाद बाहर निकाला, तो वो चमक मार रहा था.

अब तक की इस चोदन कहानी में आपने पढ़ा था कि सुमन अपनी माँ से अपने इकलौते होने के कारण पर सवाल-जबाव कर रही थी. मूवी शुरू होने के थोड़ी देर बाद उसने मेरे कंधे पर सर रख लिया और मूवी देखने लगी.

मैंने उसका मुंह उसकी मनपसंद मिठाई से भर दिया और वो सारी रसमलाई खा गई. अचानक उसने अपना मुंह खोल दिया ‘आ’…मैंने भी उसका इशारा समझ के अपना मुंह उसके मुंह के ऊपर खोल दिया. उसकी मादक सिसकारियाँ और तेज़ हो रही थीं और वो लगातार बोले जा रही थी- और जोर से.

उसने मेरे बारे में पूछा तो मैंने पूछा- आपके घर कमरा किराए पर मिलेगा?तभी उसकी मम्मी आ गई और नमस्कार करके बोली- बाहर क्यों खड़े हैं, अंदर आ जाइये, मैं आपको अच्छी तरह से जानती हूँ.

नीतू- सच जीजू मगर ये सब होगा कैसे?गोपाल- देख तू मुझे खुलकर मज़ा लेने दे. मैंने उसे ‘किस’ किया और वह बाय कह कर जाते हुए बोल गई कि सांय 8 बजे के बाद फोन पर बात करेंगे. मैं खुद को और कंट्रोल कर नहीं पाया और मैंने उनके मम्मों को दबाने लगा.

सेक्सी एक्स वीडियो बीएफतू सिर्फ़ सर ही अच्छा दबाती है या हाथ-पाँव भी अच्छे से दबा लेती है?नीतू- हाँ दीदी मैं सब अच्छे से दबा देती हूँ. तुझे कैसे पता? और ये मर्द जात वाली क्या बात है मेरे लंड को उसी ने खड़ा किया था।टीना- यार इससे भी एक साल छोटी थी मेरी फ्रेंड.

நீக்ரோ செக்ஸ்

चाची ने हम दोनों को जाते-जाते ही बोला- इसकी बहन आई तो उसे भी भेज दूँगी. जब सुमन नहा चुकी तो उसने अपने जिस्म को अच्छे से पौंछा और सिर्फ़ टॉवल लपेट कर वो बाहर आ गई. झड़ने के बाद नीतू एकदम बेजान सी पड़ी रही, जैसे चुत के रास्ते उसके जिस्म का सारा खून बाहर निकल गया हो.

नीतू को बिस्तर पे पटक कर गोपाल ने जल्दी से अपने कपड़े निकाले और फिर वो नीतू पे टूट पड़ा. दोनों बोले- ठीक है, हमें मंजूर है, और अगर तुम ये सब ना कर पाए तो तुम्हें इसके दुगने पैसे हमें देने होंगे. मतलब उसको सभी जगह किस किया।उसके बाद मैंने अपना लंड उसकी चुत पर रखा और ज़ोर का झटका दे दिया तो लंड अन्दर तक चला गया। उसकी सील को तो उसने पहले ही तोड़ दिया था, तो उसको बहुत मज़ा आ रहा था। मुझे भी इतनी टाइट चुत को चोदने का मज़ा आ रहा था क्या बताऊं यारो!मैंने उसको चोदना स्टार्ट किया.

सविता, कहीं ये लोग भी तो हमारी आवाज और हमें देख तो नहीं पाएंगे न?”अरे समीर नहीं, बस हम ही देख और सुन सकते हैं. यह सोच कर मैं वहीं आकर खड़ा हो गया जहां से उसे मेरा लौड़ा मसलना दिखाई दे. मैं समझ गयी कि उनका भी स्खलन हो रहा है, मैंने उनको बाहों में लेकर अपनी छाती से कसकर चिपका लिया.

दस मिनट के बाद चाची ने एक बहुत ही जोर का उछाल लिया और पूरा बदन अकड़ा लिया, आह… अशोक आह्ह… आह्ह… अशोक अशोक आह्ह्हह ह्ह… अशोक मैं आई… उईई उईई अशोक ईई उईई उपफ उफ़ उफ्फ्फ्फ़ की तेज आवाज़ के साथ ही https://www. मैं रोना चाहता था, चीखना चाहता था मगर जय का लंड अभी भी मेरे मुँह में था तो मेरी चीख अंदर ही दब गयी.

मैंने सुनीता की ओर देखा, वो मुस्कुरा दी। उसकी मुस्कान में भी इतराना था, जैसे वो अपने बड़े बड़े मम्मों पे नाज़ करती हो।मैंने सैंडी का मम्मा अपने हाथ में पकड़ कर दबाया- नहीं आंटी जी, सैंडी के मम्मे भी अच्छे हैं.

मैंने महसूस किया कि शहज़ाद का ध्यान मूवी में नहीं था और वो बैचैन भी महसूस कर रहा था और बीच-बीच में चोर निगाहों से मुझे देखने की कोशिश भी करता. सेक्सी बीएफ भोजपुरी बीएफ सेक्सी बीएफजॉन के हाथ में एक थैली थी, उसने वो टेबल पे रखी और फ्लॉरा के पास जाकर बैठ गया और उसको बांहों में लेकर उसके होंठों पे एक किस कर दिया. फुल सेक्सी बीएफ इंग्लिशगोपाल- क्यों मेरी जान मेरे बिना वहाँ तू बड़ी बेचैन रही होगी ना?मोना- हाँ गोपाल, आपकी बहुत याद आती थी. अभी तक जो पाठ मैं किताबों से या ब्लू फिल्मों से सीखता था, वो मेरे साथ प्रेक्टिकल रूप से हो चुका था, फिर भी मैंने सभी लड़कियों के चूतड़ को जमकर सहलाया, लड़कियाँ भी मेरे चूतड़ या लंड को सहला देती थी, उनमें से काफी लड़कियाँ थी जो मुझसे बोली कि वास्तव में मेरा लंड बहुत ही लम्बा और मोटा है, कैसे अन्दर जायेगा.

उसने मुझसे बोला- अंजलि तुम्हें वॉशरूम में जाने की जरूरत नहीं है, तुम यहीं बदल सकती हो.

वह मुझसे थोड़ा लंबा था इसलिए मैं उसके गले और छाती तक ही पहुँच रहा था. हुआ यह जब आज मैं और रोहन ऑफिस पहुंचे, तो रोहन ने मुझे बताया कि आज हमारी एक अफ्रीकन क्लाइंट के साथ मीटिंग है. मैंने उस घटना को मजेदार बनाने के लिए मसाले या झूठ का सहारा नहीं लिया.

फिर मैंने उसके पैरों को खोल कर उसकी गुलाबी चुत के दाने पर अपनी जीभ को फेरा. विनय जाने को तैयार था, विनय ने हमेशा की तरह कविता को फ्लाइंग किस दिया. फिर चाची ने मेरी कैप्री की चैन खोली और लंड को बाहर निकाल लिया और सहलाने लगीं.

सेक्सी व्हिडीओ बंगाली सेक्सी

बी-ग्रेड मूवी में क्या-क्या होगा, उसने मुझे बताया और साथ में यह भी बोला कि तुम्हारा फिजिकल एक्जामिनेशन भी होगा. वो तो गोरे-गोरे सॉफ्ट गेंद की तरह थे। मैं उन मम्मों को बड़ी बेताबी से चूस रहा था।कोई 5 मिनट के बाद उसने बोला- सिर्फ़ तुम ही चूसते रहोगे या मुझे भी लॉलीपॉप चूसने का मौका दोगे?मैं उसकी बात समझते हुए उठा और उसने मेरे सारे कपड़े उतार कर मेरा 7 इंच का लौड़ा अपने हाथ में ले लिया।उसने बोला- अरे वाह. मगर जब अपने पापा का लंड उसने सीधे चुत पे महसूस किया तो उसकी जान निकल गई.

तो मैंने दूसरी चाल चली, मैंने कहा- चाची आप जाकर सो जाओ, मैं फिल्म देखूंगा.

एक दो बार जब वो मुझसे कुछ थोड़ा बहुत बोली होगी, लेकिन जब भी मैं कहीं अकेला खड़ा होता, तो वो मेरे पास या बगल में आ कर खड़ी हो जाती, वो शायद इसलिए कि मैं अपने आप को अकेला न समझूँ और बोर न होने लगूँ.

उसकी दाढ़ी इस प्रक्रिया में मेरी पत्नि की गांड से रगड़ खाने लगी, जिससे ब्लोंड लड़की के होठों पर मुस्कान और खिल गई. इसी वजह से मेरा लंड फिर से पूरी तरह खड़ा हो गया और कैप्री में तम्बू बन गया. बिहारी देसी सेक्सी बीएफउन्होंने सुमन से बहाना किया कि तुम अन्दर जाओ मैं थोड़ी देर में आता हूँ मगर सुमन नहीं मानी और उनको अन्दर साथ ही लेकर गई, जहाँ सबसे पहले उनकी मुलाकात ममता से ही हुई और ममता को एक सेकेंड भी नहीं लगा अपने भाई को पहचानने के लिए.

आप भी इसे लड़की की मधुर आवाज में सुनें!अन्तर्वासना ऑडियो सेक्स स्टोरीज सुनने के लिए सबसे अच्छाब्राउज़र क्रोम Chrome है. रुस्लान ने मेरी धर्मपत्नि की खुल चुकी गांड को अपने दोनों हाथों से काफी देर तक चौड़ा करने का खेल खेला. फ्लॉरा- ससस्स आह भाई उफ़फ्फ़ उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह बहुत अच्छा लग रहा है.

मैं अभी पाँच लंड का इस्तेमाल कर रही थी…या यूं कहना चाहिए कि मैं पाँच लंडों की रानी थी. आह आह चुदक्कड़ साली… आह आज तेरी गांड तक चुद जाएगी!मैं झटकों पे झटके लगाता हुआ अपना लंड उसकी चूत की गहराई तक उतारता चला गया.

भाभी घर में रह कर घर के काम करती थी और उसकी ननद लाडो हॉस्पिटल में रहती थी बूढ़े के पास.

मैं डर रहा था क्योंकि यहाँ पर मशीन लगी हुई थी जिनमें करेंट था और उजाला भी काफी कम था. भाभी ने अपनी चुत में मेरे लंड को जज्ब करते हुए भाभी ने आँखें बंद कर लीं और मोन करने लगीं. ऐसी चुदाई मैंने पॉर्न मूवीज में ही देखी थी, मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि मैं कभी ऐसे चुदूँगी.

बीएफ फिल्म दिखाएं हिंदी यह भोजन मुझे इतना स्वादिष्ट लग रहा था कि क्या बताऊँ!खाना समाप्त होने के पश्चात वह जाने लगी तो मैंने उससे यहीं सोने का आग्रह किया तो वह बोली- कुछ देर बातें करते हैं. मेरी जिज्ञासा और बढ़ गई… मैंने कहा- पत्नी तो वो आपके दोस्त की है, तो आपने उसकी चूत कैसे मारी?तो उसने बोला- बहुत लंबी कहानी है… जैसे तुझे मेरा लौड़ा पसंद आ गया, वैसे ही इसको भी मेरा लौड़ा पसंद आ गया था.

अभी आई बस।टीना ने उसको वॉशरूम बता दिया, फिर वो जल्दी से सबके पास गई और शॉर्ट में पूरी बात बता दी।विक्की- ये क्या यार, तू अकेला मज़ा करेगा. अबकी बार सुपारा अन्दर जाकर फंस गया और वो जोर से उछल कर चिल्लाने लगी- अह जीजू ,मर गई. थक गई होगी।सुमन- पापा एक बात कहनी थी आपसे।गुलशन- हाँ कहो बेटी क्या बात है?सुमन- पापा वो सब ड्रेस तो मैंने आपकेदोस्त की बेटीके हिसाब से लिए है, वो लन्दन से आई है ये सोच कर मैंने इसमें कुछ ज़्यादा ही मॉर्डन ड्रेस ले लिए हैं।गुलशन- अरे तो क्या हुआ.

नोट ओपन सेक्सी फोटो

मेरे सामने अब वो काले रंग की ब्रा में थी, क्या गजब का माल लग रही थी. मुझसे कैसी शर्म!बस सविता समझ गईं कि उनकी अदाकारी काम कर गई और उन्होंने अपने ब्लाउज को प्रेम के सामने खोल दिया. फिर वहां से वो खून वाली टी-शर्ट हटा दी और पूजा के पास लेट कर उसके मम्मों को सहलाने लगा.

इसलिए मैं उसके ऊपर चढ़ गया और मेरे ऊपर चढ़ते ही उसने मुझे जोर से अपनी बांहों में जकड़ लिया. मैं- इफ़ यू डोंट माइंड, मैं तुम्हें सॅटिस्फाइ कर सकता हूँ।यह सुनते ही वो बोली- अरे नहीं, इट्स ओके.

वो लड़का पेशाब करने बाहर निकल गया और उसके साथ मैंने भी जाकर पेशाब करने के बहाने उसके 9 इंच के लंड को खूब चूसा, उसने अपना वीर्य मेरे मुंह पर झाड़ दिया और झाड़ियों के पीछे से बाहर आ गया.

उनके दो बच्चों में लड़की बड़ी थी, उसका नाम अंकिता था और उसकी उम्र 19 साल थी. मैंने उन्हें पकड़ लिया, पर हम दोनों एक-दूसरे को कंट्रोल नहीं कर पाए और एक-दूसरे के होंठों को लड़ा बैठे. यह हम दोनों का पहला सेक्स था, पर वह मुझसे ज्यादा आहें ले रही थी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मैंने उसकी नाईटी को खोल दिया और फिर मैंने जो देखा उसे देखकर तो मेरी गांड सूख गई.

जमीला मेरे हाथ से बीयर की बोतल खुद लेकर खुद कभी बियर डालती तो कभी बीयर की घूँट लेकर मस्ताना पर उगल देती. इस पर राहुल ने भी हां में हां मिलाई और मेरे बूब्स को दबाना चालू रखा. बरखा- मुझे कोई प्राब्लम नहीं है, आज की रात जो चाहो करो, मगर शादी के बाद नहीं.

अब तक की इस सेक्सी कहानी में आपने पढ़ा कि सुधीर मोना को चोदने के लिए आतुर हो उठा था और मोना भी उसको अपना चुदाई का टेलेंट दिखाने की बात कह रही थी।अब आगे.

बीएफ चोदी चुदाई: चाय मैं बाद में पी लूँगा, पहले तुम थोड़ी देर मेरे पैरों की मालिश कर दो. मैंने कई बार खुले बाथरूम में नीलम को पेशाब करते समय निखिल को उसकी चूत को घूरते हुए देखा था.

फिर कुछ देर ऐसे ही बैठने के बाद मैंने रिया से कहा- और बता, कुछ ख्वाहिश रह तो नहीं गयी तेरी यहाँ? अभी बता, पूरा दिन पड़ा है. मेरी पैन्ट निकल चुकी थी तो मैं नीचे से नंगा ही था और वो ऊपर से नंगी थी. मैं सोफे पर बैठ गया, वह नीचे कालीन पर घुटने के बल बैठ कर मेरा लंड मुंह में ले कर चूसने लगी.

!पर मैंने कहा- क्या इतना ही प्यार है आपका?तब रीना मेरे पीछे-पीछे कमरे में चल दी.

सुमन ने अपने पापा के लंड के सुपारे को मुँह में ले लिया और उसको मजे से चूसने लगी. और उसने मेरे सीने को अपनी मुठ्ठियों में भींच लिया और मैंने सबीना की चूत को मुँह में दबा लिया तो सबीना की भी चीख निकल गई और जमीला मेरे ऊपर ही गिर गई. सुमन के नर्म होंठ लंड से सटे हुए थे और गुलशन जी के शरीर में करंट दौड़ने लगा था.