साड़ी वाली वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,एक्स एक्स एक्स बीएफ ओपन हिंदी

तस्वीर का शीर्षक ,

अंग्रेजी सेक्सी 2021: साड़ी वाली वीडियो बीएफ, थाने चलकर रिपोर्ट लिखवाने और कोर्ट का नाम सुनते ही वे औरतें एकदम बोली- हमें नहीं पड़ना कोर्ट कचहरी के चक्कर में!और इतना बोलते ही वे सब खिसकने लगी.

नंगी पिक्चर वीडियो भेजो

कुछ देर इसी अवस्था में बैठे रहने के बाद मैंने मौका देख कर उसके गाल पर किस किया, तो वह बोली- कोई देख लेगा. ब्लू सेक्स मूवीसमैंने अपना सारा वीर्य आँटी की चूत में डाला और लण्ड चूत से बाहर निकाला.

मोबाइल को पलंग किनारे रख दिया और विजय के सामने ही गांड मटकाती हुई नंगी ही बाथरूम में घुस गई. बीएफ में हिंदी बीएफपाठको, चुदाई इंडियन हॉट चूत की कैसी लगी आपको? यह कहानी मैं यहीं पर समाप्त कर रहा हूँ.

अब मेरी बात सुनो कि कैसे मैं तुम्हारी मदद कर सकती हूं ताकि तुम पूरी उत्तेजना में आकर अपनी वीर्य निकाल दो और तुम्हें चरम सुख मिले.साड़ी वाली वीडियो बीएफ: गीतिका की चूत पर कहीं भी कोई काला रंग नहीं था, चूत का गोरा रंग ऐसा ही था जैसे गीतिका के गाल थे.

मैं- अच्छा चूचियों को चूचियां और बुर को बुर नहीं तो क्या बोलना है!वो- तुम तो वाकयी आगे ही बढ़ते जा रहे हो.उसने भी मुझे बांहों में भर लिया और जोर-जोर से मेरे होंठों को काटने लगा.

व्हिडीओ एचडी बीएफ - साड़ी वाली वीडियो बीएफ

इस पर उसने भी साफ साफ कह दिया कि मैं ऐसा कुछ नहीं चाहती हूँ … शादी की बात तो क्या, मैं तो मिलना भी नहीं चाहती हूँ.बड़ी औरत की समझदारी इसी में है कि वह इस बात का ध्यान रखें कि उसकी लड़कियों को वक्त पर सही लण्ड मिल जाए, उनकी चूत की प्यास सही तरीके से बुझ जाए ताकि वह कहीं बाहर खराब ना हो.

तो मेरी हिम्मत बढ़ गई मैंने उसको अपनी बांहों में भर लिया और और उसके होंठों को चूसने लगा। शायद वो भी चुदाई के लिए तरस रही थी तभी उसने मेरी किसी हरकत का नाममात्र भी विरोध नहीं किया. साड़ी वाली वीडियो बीएफ रवि भी नीचे से धक्के लगाते हुए सिसकार रहा था- हां साली रंडी … तेरी गांड को चोद कर मेरा लंड बहुत खुश हो रहा है.

मगर मेरे मन में एक उम्मीद जरूर थी कि भाभी हमारी दुकान पर दोबारा वापस जरूर आयेगी.

साड़ी वाली वीडियो बीएफ?

तो दोस्तो, कैसी लगी मेरी सेक्सी गांड Xxx स्टोरी, मुझे मेल करके ज़रूर बताएं. गहरी नाभि, रंग एकदम दूधिया तन बुर्के में ढके रहने के कारण।अब अगर जींस टी-शर्ट पहना दी जाए तो उसके चूचे और कूल्हे पच्चीस से ज़्यादा नहीं लगते।मेरी नज़र से झेंपकर आएशा मेरे बांहों में झूल गई। उसका गुदाज़ और गर्म जिस्म मेरे तन बदन में आग लगा रहा था।धीरे धीरे मैंने उसकी रसीले होंठों और नर्म चूचियों को चूसना शुरू कर दिया. मैंने कहा- एक बार आप लोग अपना सामान यहाँ ले आइये, फिर मैं हेल्प कर दूँगा.

मेरा जब मन करेगा, जैसे मन करेगा वैसे तुझे चोदूंगा और उसका वीडियो भी बना सकता हूं. इतने में वो अपनी छत के सामने उठी दीवार से लगकर सामने किसी से बातें करने लगी. रॉनी ने गांड का छेद खुला हुआ देखा, तो उसने अपना लंड मेरी गांड पर सैट कर दिया और जोर लगा दिया.

मैडम मुझे किस करती हुई बोलीं- तुम्हारा बहुत बहुत धन्यवाद … बड़ा सुख दिया है. जीजू पीछे से बोले- मेरी रानी अभी भाग जाओ … लेकिन आज तो तुझे पक्का चोद कर रहूँगा … फिर चाहे तेरी मर्जी के खिलाफ ही क्यों न मुझे तेरी चुदाई करनी पड़े. कविता भी पीछे पीछे आकर मेरे पास कुर्सी पर बैठ गयी और फिर मुझसे बातें करने लगी.

वो- अरे … मैं तो भूल ही गयी थी, रुको एक मिनट, मैं चाबी लेकर आती हूँ. मेरे मुंह में दर्द होने लगा था तो मैंने उनके लंड को मेरे मुंह से बाहर निकाल दिया.

पर कोई फायदा नहीं मम्मी मेरी तरफ बढ़ी और मेरे दोनों हाथों को ऊपर उठाते हुए मेरी कुर्ती उतार दी।अब मैं ब्रा में थी.

ये सेक्स स्टोरी मेरी और मेरी आंटी की है … जो उम्र में मुझसे 7 साल बड़ी हैं.

उस रात सनी ने देसी गर्ल की चुत चुदाई इतनी कर दी थी कि मैं अगले दिन ठीक से चल भी नहीं पा रही थी. मुझे बताती है कि लड़कियों को कैसे गर्म करना चाहिए, लड़की की चुदाई मैं कैसे उसे ज्यादा से ज्यादा मजा दिया जा सकता है. मैंने समझा कि शायद किसी और का होगा, इसलिए मैंने उसका रिप्लाई नहीं दिया.

उस सेक्स कहानी में मैंने आपको बताया था कि कैसे मैंने प्रिया भाभी को पटाकर चोदा था. इन 45 दिनों में मुझे तू रोज़ चोदना बस बीच में 2-3 दिन छोड़ देना … ताकि मैं तेरे मामा से भी चुदवा लूं ताकि उन्हें मेरे पेट से होने पर कोई शक ना हो. मेरे शरीर में कोई भी ऐसी जगह नहीं बची थी, जिस पर सनी ने अपने लंड से प्रहार न किया हो और स्पर्म न छोड़ा हो.

मैंने भी बेड के किनारे पर खड़े होकर आंटी की टांगों को ऊपर उठाया और खड़े खड़े आंटी के घुटनों को थोड़ा मोड़ा और लंड का सुपारा चूत के ऊपर रख दिया.

एक समय ऐसा आया कि हम दोनों ही जोर जोर से चुदाई करने लगे और उसने अपने लंड के लावा से मेरी गांड को भर दिया. मगर 2017 में उनके ही एक बेटे को मैंने जन्म दिया।हमारा मिलना आज भी जारी है और हम दोनों एक दूसरे से काफी खुश हैं।उम्मीद है आपको मेरी जिंदगी का ये अहम हिस्सा पसंद आया होगा। हिन्दी फुल सेक्सी कहानी पर अपने विचार जरूर बताएं. कहानी पर अपनी राय देने के लिए मुझे नीचे दी गयी ईमेल पर अपने संदेश भेजें.

हम तीन और कुछ और लोगों के अलावा किसी को उस जगह के बारे में नहीं पता है कि वहां पर क्या होता है. ”यार … देखो सारी रात तुम्हारा इंतज़ार किया और अब तुम और इंतज़ार करने का बोल रही हो … प्लीज!” मैंने उसकी मिन्नतें करने सफल अभिनय किया।ओह … आप भी पूरे जिद्दी हो. फिर मैं बैठती चली गई और अपनी चूत को उसके मुँह पर रगड़ रगड़ कर चुसवाती हुई चुत साफ करवाने लगी.

अरुण को गणित के कुछ प्रश्न हल करने को देकर मैं सलोनी भाभी के कमरे में जाकर उनसे फिर से लिपट गया और पीछे जाकर उनके चूचों को मसलने लगा.

भाभी उसी के बहाने अपनी बात कह रही थी।मैंने कहा- जैसा आपको ठीक लगे, अब तो मैं आपकी व्यवस्था का हिस्सा हूँ. मैं बोला- साले यह कोई कीमती चीज है क्या? कीमती तो वो होती है, जिसकी सील अखण्ड हो.

साड़ी वाली वीडियो बीएफ उसने पर्स से दस हजार रुपये निकाल कर मेरी ओर बढ़ाये तो मैंने कहा- कोई बात नहीं, आप पहले एक बार अपने हस्बैंड को बुलाओ. मैंने कहा- कहां जाने की तैयारी हो रही है?एकता बोली- सूरत जाना है सभी को ही.

साड़ी वाली वीडियो बीएफ कोरियर वाला- सर, ये शायरा जी‌ यहीं रहती हैं?मैं- हां … यहीं रहती हैं, पर इस समय वो घर पर नहीं है, कोई काम है?कोरियर वाला- ज्…जी … उनका ये कोरियर है, मैंने उनके‌ ऑफिस में फोन करके भी बताया था, वो यहीं मिलने वाली थीं … पर शायद अभी तक आई नहीं. उस रात आँटी ने डिनर के बाद मुझे नीचे ही सुला लिया और हम सारी रात चुदाई करते रहे.

वो इतनी चुदासी हो गयी कि उसने रमेश को नीचे पटक लिया और खुद ही उसके लंड के ऊपर बैठ कर उसके लंड पर कूद कूद कर चुदने लगी- आह्ह … ओह्ह यस बेबी … आह्ह फक मी … आह्ह उम्म … आह्ह … मर जाऊंगी मैं … हह याल्ला।उसका ऐसा रूप देख कर रमेश भी अपने वीर्य वेग को नहीं रोक सका और उसने पांच मिनट में ही अपना सारा वीर्य रेहाना की गांड में खाली कर दिया.

मोटा लंड चूत

मैं समझ गयी कि अब दोनों को ठंडक मिल गयी होगी, इसी वजह से दोनों शांत हो गईं. जैसे ही मैंने अपनी जुबान उनकी चुत पर फ़िराना चालू की, वो गांड उछालने लगीं. वो बाहर निकलती इससे पहले रमेश ने उसे कमरे के अंदर खींच लिया और बोला- तो तुम धंधा करने लगी हो?रेहाना- नहीं अंकल… वो वो … वो!रमेश- क्या वो-वो कर रही है, बता?रेहाना- सॉरी अंकल मुझे माफ़ कर दीजिये.

इधर जमीन पर बैठी मैं अपने हाथों से अपने स्तनों और योनि को छिपाने का असफल प्रयास करने लगी. दादी ने मुझे जकड़ लिया और बेतहाशा चूमते हुए अपने चूतड़ उचकाते हुए बोलीं- ऐसा कैसे चलेगा, विजय? मुझे तो तुम्हारे लण्ड की आदत हो गई है, मल्लिका के घर रहते तो मेरी चूत तड़पती रहेगी. मैं- वो ऐसे कि जब तुम मेरे पास आओगी, तो मैं तुम्हें सबसे पहले अपनी बांहों में भर लूंगा और गले से लगा लूंगा.

भाभी देसी सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरी जवान पड़ोसन ने मुझसे दोस्ती करके सेक्स के लिए उकसाया.

वह कहने लगा- आप ऐसा करें, आप इन लड़का लड़की के साथ पार्क के बाहर तक आ जाओ, इन्हें इनके घर भेज देंगे और हम अपनी ड्यूटी पर चले जायेंगे. आपको जरा भी झिझक नहीं लगती इस गंदी जगह पर मुंह रखने से, हटो मेरे पास से!” वो किंचित रोष पूर्वक बोली. मैं सोचने लगा इससे बात कैसे शुरू की जाए।उसने सामान खरीद लिया और बिल चुकाने के बाद जाने लगी.

मैंने भी मन ही मन में सोच लिया था कि अगर शमा शाही सर से चुद गई, तो मैं भी उसे अपने जॉनी भाई से मिलवा दूंगी. भाभी के शरीर की मालिश करने से लेकर फ़ोरप्ले और सेक्स करते हुए मुझे एक घंटा से भी ज्यादा हो चुका था. कविता की योनि अत्यधिक गीली थी और चिपचिपाहट से ऐसी भरी हुई थी मानो झाग बन गया हो.

दो बार के बाद तो आँटी ने बसन्त अंकल को कहा कि बार बार लाइट जाने लगी है अब हम यह कमरा खाली करवा लेते हैं, मैं बच्चों के साथ ऊपर ही सो जाया करुँगी. कमसिन रंजू मुझसे छूटने के लिए गुहार करती रही … लेकिन पानी नहीं निकलने तक मैं उसकी चुत का मान मर्दन करता रहा.

मुस्कान के उसके साथ सैट हो जाने से मुझे घंटा फ़र्क नहीं पड़ा … बल्कि पूजा और मेरा रास्ता खुल गया. मैंने फिर से अपनी बात शुरू की और भाभी से पूछा कि बताओ कि वो आपका क्या ध्यान नहीं रखता?भाभी बोलीं- आप अपनी बीवी का जितना ध्यान रखते हो, वो इतना भी नहीं रखता है. मगर फिर भी मैंने अपने आप पर कंट्रोल बनाए रखा और वो दोनों मेरे जिस्म से खेलते रहे.

फिर किसी तरह बहाना बना कर मैं अपने कमरे में जाकर सोने की तैयारी करने लगी.

चाचा जी बोले- देखो बेटा, मैं मानता हूँ कि तुम्हारी और मेरी उम्र में बहुत फर्क है, फिर भी मैं तुमसे गुजारिश करूंगा कि अगर मैं सेक्स के दौरान गाली गलौच करूं … तो तुम बुरा नहीं मानना. सायं को जब मैं सोसाइटी में पहुंचा तो उनका सामान ट्रक से उतर चुका था. तब तक तू रत्न को फ़ोन कर दे। बाय।रवि- बाय।रिया चुपके से रमेश की सारी बातें सुन रही थी.

मगर मैंने उसे मना करते हुए कहा- आज तो नहीं … फिर किसी दिन किसी रूम का इंतज़ाम कर लेना और मेरी फुद्दी के साथ जितना मर्ज़ी खेल कूद कर लेना!इस बात पर वो बूढ़ा मान तो गया, मगर अपनी फुद्दी की तस्वीरें दिखाने के लिए कहने लगा. फिर जैसे ही गीत की गांड संजय के लंड के बराबर आई तो संजय ने गीत के चूतड़ों के नीचे हाथ लगा कर उसे अपने लौड़े पर एडजस्ट किया.

उसके बाद मैंने कहा- अभी कुछ देर मुझे आराम करना है, थोड़ी देर बाद और जो कोई आना चाहे, आ सकता है. अब तो मैं किसी भी हालत में नहीं रुक सकता था चाहे उनके पति के सामने ही भाभी की चुदाई करनी पड़ती. करीब दस मिनट की घनघोर चुदाई के बाद महंत और अनु दीदी दोनों तड़प तड़प कर झड़ रहे थे.

इंडिया का सबसे फेमस गेम कौन सा है

लेकिन मैं आपकी कहानियों को पढ़कर आप से करीब दो-तीन महीने पहले से बात करने की कोशिश कर रही हूं.

प्रत्युत्तर में निष्ठा ने मेरी बांह पकड़ कर अपने ऊपर झुका लिया और अपनी बाहें मेरी गर्दन में डाल कर मुझे अपने आप से चिपटा लिया. वो मेरी चूत को अपने मुंह में लेकर चूसने लगे।मैंने अपने दोनों हाथों से बेड की चादर को पूरी तरह से जकड़ लिया था क्योंकि मुझसे वह आनंद बर्दाश्त नहीं हो रहा था. लेकिन मैं उसी रफ्तार से तेज़ी से अंदर-बाहर करने लगा।फच्च फच्च फच्च फच्च फच्च फच्च फच्च फच्च की आवाज तेज हो गई.

अचानक से मेरा पेन नीचे गिर गया जो रुबीना की चेयर के पीछे जाकर गिरा. फिर मैंने जिया की चुत से लंड खींचा और उसको कुतिया बन जाने का इशारा किया. தமிழ் ஆன்ட்டி குளிக்கும் வீடியோदेसी गर्ल की सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मेरे पड़ोस की एक जवान लड़की ने लॉकडाउन में मुझसे पैड मंगवाए.

उसने मेरे बालों को पकड़कर जोर-जोर से मेरे मुंह को चोदना शुरू कर दिया. फिर उसकी मम्मी ने बोला- एग्जाम खत्म हो गए, तो तुम बैग लेकर कहां घूम रहे हो निलेश!मैंने बोला- पूजा की बुक्स वापस करनी थी आंटी, इसलिए बैग में ले आया हूँ.

जैसे ही वो बेड की ओर जाने लगी तो मैंने एक बार फिर से उसे पकड़ कर खींच लिया. दरअसल मुझे बिन्दू को चोदने का पूरा मौका नहीं मिल रहा था और जल्दबाजी में मैं कुछ करना नहीं चाहता था, क्योंकि जल्दबाजी में आदमी अपना काम तो कर लेता है लेकिन लेडी का काम रह जाता है और फिर औरत उस आदमी से चिढ़ने लग जाती है. कभी वो सुपारे की चमड़ी को नीचे करती, तो कभी लंड के मुख मंडल पर अपने अंगूठे को चलाने लगती.

मैं भगवानदास … सभी खड़े लंडों को नमस्कार और चटकती चुतों को दंडवत प्रणाम!दिखने में 21 साल का एक कसरती बदन का मालिक परन्तु सूरत सामान्य है. वो भी साला कुत्ता मादरचोद मेरे मुँह को अपने लंड से चोदने का मजा ले रहा था. com/imranovaish2एक लड़की की प्यासी चूत कहानी का अगला भाग:मज़हबी लड़की निकली सेक्स की प्यासी- 3.

लेकिन कमसिन जोड़ी में महंत के साथ रंजू सिर्फ एक दूसरे से गुत्थम गुत्थी कर रहे थे.

एक अलग खुशबू मेरी नाक और मुँह से होते हुआ मेरे फेफड़ों में जा रही थी. मैंने उसके टॉप को ऊपर उठा कर चुचियों को बाहर निकाला और उन्हें दबाने और मसलने लगा.

उसने अपनी दोनों आंटियों को चोदने के बाद मुझे कई मेल किए, जिसके बाद मैंने वहां जाने का फैसला किया. मगर मैंने उसे मना करते हुए कहा- आज तो नहीं … फिर किसी दिन किसी रूम का इंतज़ाम कर लेना और मेरी फुद्दी के साथ जितना मर्ज़ी खेल कूद कर लेना!इस बात पर वो बूढ़ा मान तो गया, मगर अपनी फुद्दी की तस्वीरें दिखाने के लिए कहने लगा. मैंने उसकी तरफ मुस्कराते हुए पीछे देखा और फिर से आगे की तरफ देखने लगी.

वो बोली- आप मेरे काम के लिए अपना काम छोड़कर आए हैं, तो आपको कुछ तो लेना ही होगा. अभी जो लोग फ्लैट खाली करके गए थे वे दो बुजुर्ग पति पत्नी थे, जो रिटायरमेंट के बाद अपने शहर चले गए थे. लगभग 15 मिनट लंड चुसाई के बाद वे खड़े हुए और मुझे वहीं पर घोड़ी बना दिया.

साड़ी वाली वीडियो बीएफ [emailprotected]भाभी की बुर की कहानी का अगला भाग:लॉकडाउन में मस्त पड़ोसन की चुदाई- 3. अपनी गांड चुत को साफ़ किया और बीस मिनट के बाद बाथरूम से बाहर निकलने लगी.

सुहाग्रात कैसे मनाई जाती है

मैंने बोला- आप अभी स्नानघर में जाकर अपनी चुत साबुन से धोकर आइए, मैं आपकी चुत चूसूंगा, फिर देखिए आपको कितना अच्छा लगेगा. एक भाभी जब पति के साथ होते हुए भी चुदवा लेती है तो सोचो कि उसकी चूत में कितनी आग होगी. फिर हमने आधे घंटे के अंदर खाना खत्म किया और वो मुझे अपने बेडरूम में ले गयी.

उसने अपनी टांगें हवा में उठा दीं तो मैं समझ गया और मैं उसकी पैंटी उतारने लगा. मेरी बाइक स्पोर्ट्स बाइक थी, तो इस पर पैर एक साइड करके बैठना सम्भव नहीं था. दीपिका पादु की सेक्सीविनोद मुझसे कहने लगा कि तेरा और उसका (जिया) का कोई चक्कर तो नहीं है?मैंने बोला- नहीं यार, हम दोनों सिर्फ़ क्लोज़ फ्रेंड हैं.

मुझे पता नहीं क्यों, ऐसा लगा कि सुरभि हमारे बारे में अब जान चुकी है और वो अनजान बने रहने का नाटक कर रही है.

अनीता का पति रोस्टेड चिकन के साथ ब्रांडी की बोतल और सिगरेट के पैकेट ले आया था. उसका लण्ड लगभग 4 इंच का थोड़ी मोटी भिंडी जैसा था जिसका आगे का टोपा लण्ड से थोड़ा मोटा था.

अब तो मैं किसी भी हालत में नहीं रुक सकता था चाहे उनके पति के सामने ही भाभी की चुदाई करनी पड़ती. मैंने उन्हें हंस कर देखा, तो उन्होंने मुझसे बोला कि कल दोपहर 12 बजे तैयार रहना. ऐसे ही मैंने भी अपने टाइमपास का तरीका अपनी एक फीमेल फ्रेंड के जरिए ढूंढ ही लिया था।मेरी फ्रेंड ने मुझे अंतर्वासना के बारे में बताया था। उसने मुझे बताया कि अंतर्वासना एक बहुत अच्छी साइट है जहां आप अपना अकेलापन दूर कर सकते हो.

एक संडे के रोज मैं किसी काम से नीचे गया तो मुझे एक बंगाली सा दिखने वाला कपल दिखाई दिया.

उधर फोन पर लड़की थी- हैलो कौन!मैंने कहा- आप कौन हैं मोहतरमा … कब से मिस कॉल पर मिस कॉल किए जा रही हैं!उधर से- सॉरी ये नंबर मेरे मोबाइल में बिना किसी नाम के सेव था. मैंने नैना का कुरता थोड़ा सा ऊपर उठा कर उसके पेट पर चूमा, तो वो चिहुंक उठी. लगता है कि इसका उद्घाटन अभी तक नहीं हुआ।मैं समझ गई कि वो गांड की बात कर रहे हैं.

बिहारी सेक्सी गानेमैंने उसको दीवार के सहारे खड़ा कर अच्छे से उसके होंठों को चूसा और उसकी चूची दबायी।उसने ऐसी बहुत ही मादक सिसकारियां भरी।उसको मैंने पूरा अपने बांहों में सिमटा लिया। उसकी आँखों में देखा तो वो हल्की सी भर गई थी।वो बोली कि उसका पति उसको बिकुल समय नहीं देता और न प्यार देता है; ना ही इज्जत!मैंने बोला- कोई बात नहीं, आज मैं तुमको पूरा प्यार दूंगा. मैंने एक बार झुक कर आंटी के मम्मों को मुंह में लेकर दो- तीन बार चूसा.

कैटरीना कैफ की bf

थोड़ी देर बाद रति को होश आया और उसने देखा कि वह अपने रूम में अपने बेड पर लेटी है. दीपिका के इशारों से भी पता लग रहा था कि वो भी अपने पति से खुश नहीं है और वो भी मुझमें रुचि ले रही है. धीरे धीरे हम दोनों को एक दूसरे का साथ पसंद आने लगा … और आखिरकार हमारी दोस्ती प्यार में बदल ही गयी.

गंवाने के लिये वक्त कम है अपने पास। शिवम ने कहा।चलो। मैंने उठते हुए कहा।हम साथ ही खड़े हुए थे और साफ होने के लिये अलग-अलग बाथरूम जाने की भी जरूरत नहीं थी। हम एक साथ ही बाथरूम पहुंचे और शावर चला कर नंगे ही नहाने लग गये।साथ ही हमने साबुन से अपने-अपने हथियार भी कायदे से साफ कर लिये. बुक्का फाड़ के रोये! मुझे पास ना लगने दे!बहुत देर रोयी फिर अपने आंसू पौंछे और खड़ी हो गयी. तुम एक काम करो, जाओ अभी मेरे बाथरूम का शॉवर चला कर खड़े हो जाओ और अच्छे से नहा लो.

मैंने ओके कहा और भाभी ने अपनी ब्रा मुँह में डाल कर मुझे इशारा कर दिया कि चोद दो. थोड़ी दूर चलने पर विजय ने कार का एक्सीलेटर कम ज्यादा करना शुरू कर दिया और कार को झटके खिलाने लग गया जानबूझकर!झटके खाती कार को देखकर मैं विजय से बोली- क्या हो रहा है?तो विजय ने बोला- कार में कुछ दिक्कत आ गई है देखना पड़ेगा!विजय ने कार हाइवे पर एक बहुत बड़ी होटल के सामने रोक दी. और फिर वह उल्लू का पठ्ठा मुझे बीच में छोड़ कर एक साइड में हो कर सो गया.

मैंने उसे उठा कर पलंग पर लिटा दिया जहां दीपक बेसुध पड़ा था।मैंने भाभीजान की दोनों टांगों को फैला कर चूत के दर्शन किए. थोड़ी देर तक मैं ऐसे ही पड़े सोचता रहा कि लॉक डॉउन न होता, तो साली की चूत कभी न मिलती.

मैंने अपने होंठों को उसके होंठों पर रख दिए और उसके होंठों को स्मूच करने लगा.

जब मेरा होने वाला था, तो मैंने विनीता से पूछा- मेरा होने वाला है, कहां निकलूं?वो कहने लगी- मेरी चूत में ही छोड़ दो. सविता भाभी की बीएफसाड़ी इतनी कसी थी कि उसकी गांड बिल्कुल बाहर निकलने को होकर उठी हुई दिखाई दे रही थी. चालू आंटीउसने तो मुझे मज़ाक में पकड़ा था, लेकिन ना जाने क्यों उसके स्पर्श से मेरे शरीर में एक करंट दौड़ गया. तभी निशु और रोहन कपड़े उतारने लगे और निशु ने मुझसे बोला- जल्दी कपड़े उतारो, तैयार नहीं होना क्या?वो दोनों मेरे सामने ही नंगे हो गए.

मैं भी उन दोनों के बाल पकड़ कर लंड को उनके मुँह में अन्दर तक डालने लगा था.

इस तरह बीतते समय के साथ हर उम्र की महिला ग्राहकों के लिये मेरा नजरिया एक नादान उम्र के निश्छल आकर्षण से हटकर उनके जिस्म को छूने और टटोलने की ओर हो गया था. मैंने उत्तर दिया- तुम अपनी इच्छा प्रीति के साथ पूरी कर चुकी हो, फिर मुझे क्यों मजबूर कर रही हो? तुम जानती हो मैं इस तरह का सम्भोग नहीं पसन्द करती. फिर उनके दोस्तों ने उनसे पूछा कि यहाँ क्यों बुलाया है?तो अंकल ने कहा- दोस्तों को जन्नत की सैर कराता हूं.

पहले पहल तो मुझे भी हल्का सा दर्द हुआ … क्योंकि उसकी चुत इतनी ज्यादा टाइट थी कि लंड फंसता सा लग रहा था. मैंने आँटी के चेहरे को देखा तो उस पर मेरे काटने और चूसने के हल्के निशान बन गए थे. बहुत दिनों बाद किसी का लंड अन्दर लेने में भाभी को भी दर्द होने लगा था, पर प्यार से उन्होंने मेरे लंड का अपनी चुत में वेलकम किया.

एक्स एक्स एक्स चैनल

तभी कविता भाभी भी टीवी का रिमोट लेकर मेरी गोद में चढ़ कर बैठ गईं और उन्होंने मेरे हाथ से सिगरेट ले ली. उसने पीछे से मेरे दोनों मम्मों को पकड़ा और अपने लण्ड को मेरी गांड में चुभोने लगा. तीसरे दिन मंदिर जाकर आने के पश्चात शाम को खाना खाने की तैयारी हो रही थी.

उसकी आंखों पर चश्मा, मुँह पिचका हुआ, लगभग 5 फुट 5 इंच का होगा जो उस लेडी के साथ चलता हुआ भी अजीब लग रहा था.

उन्होंने मुझे अपने बारे में बताया।मगर जैसा मुझे मेरी फ्रेंड ने बताया था कि भरोसा जरा सोच समझ कर करना … वह बात हमेशा मेरे दिल और दिमाग में घूम रही थी.

उसने अपना लंड सहलाया और मेरे मुँह के पास अपना लंड लाकर बोला- अपनी चीज को चूस ले मेरी जान!मैंने अपना मुँह खोल दिया और रॉनी के लंड को मुँह से चूसते हुए अन्दर बाहर करने लगा. मैंने लौड़े को बाहर निकाला और दीदी के मुंह के ऊपर हिला हिला कर पूरा वीर्य दीदी के मुंह में निकाल दिया. मुस्लिम बीएफ मूवीकॉलेज गर्ल चुदाई कहानी में पढ़ें कि आधा अधूरा सेक्स करने के बाद मेरी कामवासना बहुत बढ़ गयी थी.

मैंने उसको आगे भेज कर एक बार सभी को गौर से देखा, सब बेसुध सो रहे थे. मैंने झट से उनके हाथ से वो टेबलेट ले ली और मुँह रख कर ऊपर से दूध का गिलास पीकर गोली खा ली. जब मैं उनके बेडरूम में उनकी तैयारी को देख रहा था, तो वो किसी परी से कम नहीं लग रही थीं.

फ़िर बड़ी चाची ने मुझे गाली देकर कहा- मादरचोद … मुझे ही नंगी करवाएगा या खुद भी लंड निकालेगा?मैं बेड पर ही उठ खड़ा हुआ और नीचे उतर कर मैंने दोनों को अपनी बांहों में ले लिया. मैंने अपनी बांहों से गीत को और कस लिया ताकि संजय के झटका लगाने की वजह से गीत ज्यादा हिलजुल न जाए और मेरा लंड जो गीत की चूत में पहले से ही है वो बाहर न आ जाये.

वे तो सिर्फ चूत के प्यासे होते हैं।वैसे मैं इससे पहले एक दो बार गर्मियों में दीदी के पास रहने आयी थी.

और जब हम दोनों का ही पानी निकल गया तो नहा कर बाहर आ गए।फिर हम दोनों ने खाना खाया और उसके बाद शुरू हुई मोनिका की असली चुदाई।मैंने उसे बेडरूम में ले जाकर नंगी बिस्तर पर लेटा दिया।मैं फ़्रिज से रात का बचा हुआ केक से क्रीम लाकर उसकी पुद्दी और निप्पल पर लगा दिया।और बारी बारी से क्रीम चाटते हुए उसकी पुद्दी और निप्पलों को चूसता रहा।जब वो अच्छी तरह से गर्म हो गई तो इस बार मैंने उसे अपने ऊपर लिटा लिया. बीते वक्त में मेरे साथ कुछ ऐसी घटनाएं हुईं कि मुझे मेरी पहली सेक्स स्टोरी लिखने पर मजबूर होना पड़ा. मैंने भी खुद को उनके लंड की दिशा में एडजस्ट किया और फिर उनका मोटा टोपा मेरी चूत में घुस गया.

सेक्स suhagrat शाम को लगभग 4:00 बजे के करीब मेरी आंख खुली तो मैंने देखा कि मैं नंगी ही बिस्तर पर लेटी हुई हूं. मतलब उस दिन मैं घर पर अकेली थी।सुबह-सुबह मम्मी ने मुझे फोन किया और कहा- आज अस्पताल जाकर डाक्टर से एक बार चैक करवा लेना!मैंने मना कर दिया.

उस थूक से लंड के टोपा को गीला करके मैं हल्के से गांड के अन्दर डालने लगा. प्रिया भाभी अपनी गांड उठाते हुए मुझे दूध चूसने का इशारा कर रही थीं और कह रही थीं- आह चूसो न … इसमें अहसान जैसा कुछ भी नहीं है. करीब एक हफ्ते बाद मुझे सूरज ने बोला- चलो, तुम्हारे लिए लंड का इंतजाम हो गया है.

न्यू गले की डिजाइन

मैं रास्ते में बोला- घूंघट क्यों किया था?गुड्डी बोली- ताकि कोई हमारे गांव वाला मुझे देख न ले. उसकी पांच मिनट की लंड चुसाई के बाद जब मेरी सहन शक्ति जवाब देने लगी, तो मैंने गांड को ऊंचा कर दिया. कई प्रशंसकों ने मुझे और भी ज्यादा खुली भाषा में सेक्सी कहानी लिखने को कहा.

मैंने चुत की गर्मी पाकर फिर से एक बार पूरी ताकत से झटका मारा और इस बार मेरा पूरा लंड अर्चना की चूत में समा गया. उसके बाद निशु ने मुझे और रोहन को सेक्स बढ़ाने वाली गोली दी और बोला- लो ये गोली खा लो.

इंडियन विलेज भाभी सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे बैंक की लाइन में एक देहाती भाभी से मेरा नैन मटक्का हुआ.

कुछ दूर जाकर मैंने गाड़ी रोकी और अपना मोबाइल निकाल कर ओयो ऐप से हम दोनों के लिए एक अच्छा सा होटल बुक कर लिया और उसी होटल की तरफ गाड़ी मोड़ दी. अब मैंने पूछा- भाभी आपने मेरी झूठी कॉफी क्यों पी?भाभी बोलीं- झूठा पीने से प्यार बढ़ता है. मेरे नीचे खड़े खड़े ही पीछे से संजय ने गीत के दोनों चूतड़ों की दरार में गीत की गांड के ऊपर अपना लंड रख दिया जिसकी वजह से गीत भी थोड़ा अंदर से शायद किसी लहर या दर्द आने के इंतज़ार में एक तरह से रोमांचित सी हो गयी.

पिछली सेक्स कहानीअपने यार से मैंने गांड मरवा लीमें आपने जाना था कि मैंने अपने यार से गांड मराई थी. विजय ने अपने दोनों हाथों से मेरी टांगों को फैला कर चौड़ा कर दिया और जोर-जोर से अपना लौड़ा मेरी चूत में पेलने लगा. मैंने अपनी कमर ऊपर उठा ली और उसके लंड के हर एक वार को अपनी चुत के सुराख पर सहने लगी.

जब अनामिका अपने चेहरे पर संतुष्टि के भाव लिए उठी तो प्रियंका ने उसका हाथ पकड़ कर कमरे में लिया और दीवान पर बिठा दिया.

साड़ी वाली वीडियो बीएफ: इस बात पर रमेश गुस्सा हो गया और रिया के लिए एक बार फिर से रवि का कॉल आ गया. उस रात आँटी ने डिनर के बाद मुझे नीचे ही सुला लिया और हम सारी रात चुदाई करते रहे.

उसी की अगले दिन की घटना जिसमें मैंने पड़ोसन को चोदा, को लेकर फिर से हाजिर हूँ. फिर बस स्टॉप पर आकर शायरा तो बस के इंतजार में वहीं खड़ी हो गयी मगर मैं कॉलेज जाने के लिए वहां से पैदल ही निकल लिया. एक बात और कहूं, प्रत्येक चूत का अपना विशिष्ट, दर्शनीय सौन्दर्य होता है जिसके दर्शन का आनंद कुछेक को ही मिल पाता है शेष तो सब चूत ‘मारने’ के फेर में ही उलझे रहते हैं बस उनके पास चूत का सौन्दर्य निहारने की वो दृष्टि ही नहीं होती.

रोहिणी का पेटीकोट ऊपर खींच कर उसकी चुत पर हाथ फेरा; तो पाया कि उसकी चुत एकदम साफ थी; लग रहा था कि चुत की वैक्सिंग अभी कल ही करवाई हुई थी.

ऊपर वाले की मेहर से मेरे पास इतने पैसे तो हैं कि मैं अपनी जिन्दगी राजाओं की तरह जी सकूं. जिया हंस कर लंड चूसते हुए बोली- यदि पता होता, तो क्या करते?मैंने कहा- अब तक तो तुम्हारे मुँह को हजार बार चोद चुका होता जिया जान. उसकी लम्बी सुराहीदार सेक्सी गर्दन, बहुत ही सुन्दर नयन नक्श, बड़े बड़े मम्मे, गदराया शरीर, नशीली आंखें यानि कि हर लिहाज से सुंदरता में लाजवाब थी.